Author Archive: attachowk.com

About attachowk.com

www.attachowk.com : Noida Live Blog - News, Events, Issues, Developments , Comments on issues, suggestions, Public grievances - as it happens

नोएडा प्राधिकरण ने अस्थाई कर्मचारियों को 500 और 1000 के नोट में बाँट रही है सैलरी

केंद्र सरकार के बैन के बावजूद नोएडा प्राधिकरण अपने कर्मचारियों को बांट रहा है 500 और 1000 के नोट में सैलरी आपको बता दें कि 8 तारीख को पीएम नरेंद्र मोदी ने 500 और 1000 के नोट को बैन कर दिया था इन नोटों को बैंक में जमा कर आप अपनी करेंसी को बदल सकते थे लेकिन नोएडा प्राधिकरण पर पीएम मोदी का भी आदेश जारी नहीं है नोएडा प्राधिकरण ने अपने कर्मचारियों को सैलरी का भुगतान किया जिसका ं कर्मचारियों ने विरोध किया उनका कहना है कि है जब केंद्र सरकार इन नोटों को बैन कर चुकी है तो आखिर प्राधिकरण के अधिकारी सैलरी के नाम पर हमें यह नोट क्यों दे रहे हैं

पुलिस और बैंक अधिकारियों के बीच सुरक्षा व ्यवस्था को लेकर हुई वार्ता

केंद्र सरकार द्वारा पांच सौ और हजार के नोट पर पाबंदी लगाई जाने के बाद अब सरकार ने कहा है कि बैंकों में यह नोट बदले जा सकेंगे,जिस पर लोगों की भारी भीड़ जमा हो सकती है इसको लेकर नोएडा पुलिस ने आज बैंक के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ नोएडा के सेक्टर 6 ऑफिस में एक मीटिंग की और सुरक्षा व्यवस्था को लेकर हुई इस मीटिंग में बैंकों के अधिकारी ,sp सिटी दिनेश यादव सभी पुलिस अधिकारी मौजूद थे

नोएडा के एसएसपी धर्मेंद्र सिंह ने ट्रैफिक कर्मचारियों को मास्क का वितरण किया

गौतम बुद्ध नगर में ट्रैफिक पुलिस द्वारा नवंबर महा को सड़क सुरक्षा माह के तौर पर मनाया जाता है जिसको लेकर आज नोएडा के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक धर्मेंद्र सिंह ने जिले के सभी ट्रैफिक कर्मचारियों को मास्क का वितरण किया आपको बता दें कि दिल्ली एनसीआर में पिछले कई दिनों से वातावरण में काफी अशुद्धि आई हुई है जिसको लेकर पुलिस अधिकारियों ने ट्रैफिक पुलिस के कर्मचारियों को मास्क प्रदान किए जिसके चलते ट्रैफिक के कर्मचारी सुचारु रुप से अपनी सेवाएं दे सकेंगे

NOIDA TRAFFIC OR TERRIFIC POLICE ?

Noida : कर्तव्य का निर्वहन करते शहीद सिपाही के सलामी समारोह में अधिकारीयो का अमानवीय व्यवहार, कोई नहीं पहुचा पार्थिव शरीर पर दो फूल चढाने

नोएडा पुलिस के अधिकारियो का अमानवीय चेहरा एक बार फिर उजागर हुआ जब सड़क हादसे में मारे गए अपने आन डियूटी कांस्टेबल की मौत पर आयोजित सलामी समारोह में भाग लेने कोई भी अधिकारी नहीं पहुचा। सिपाही के अन्य साथी सिपाही जहा अधिकारियो के इस रवैये से आहत महसूस कर रहे है। वही पुलिस अधिकारियो के इस रवैया से नाराज सिपाही शशि कान्त के परिजन दाह संस्कार करने के लिए मेरठ अपने पैतृक गांव चले गए।

कर्तव्य का निर्वहन करते हुए मौत पर व्यक्ति को शहीद का दर्जा दिया जाता है , यह मौत चाहे सरहद पर हो या सड़क पर। लेकिन नोएडा के पुलिस अधिकारियों ने अपने स्वार्थ के कारण इतने अमानवीय हो गए है , कि एक शहीद को सम्मान देना भी उन्हें गवारा नहीं है। नोएडा ट्रैफिक पुलिस में पिछले पाच साल से कांस्टेबल पद पर तैनात 79 बेंच के शशिकांत कल रात जेवर के पास यमुना एक्सप्रेस वे पर में जाम खुलवाते समय अज्ञात वाहन की टक्कर से मौत हो गई थी।

आज जब पोस्टमार्टम हुआ तो उसके बाद पार्थिव शव को पुलिस लाइन ले जाने के बहाने , वही सड़क किनारे रख सलामी देने की तैयारी शुरू कर दी गई , लेकिन कोई आलाधिकारी नहीं पहुच तो टी आई ने सलामी लेने लगे। सिपाहीयो में रोष पैदा हो गया और परिजन भी नाराज हो गए और एम्बुलेंस में शव रख कर मेरठ रवाना होने लगे , तब एसपी ट्रैफिक मौके पर पहुचे लेकिन सलामी नहीं दिया और परिजनों से ही मिले। यह है नोएडा के पुलिस अधिकारियो का अमानवीय व्यवहार , जिसके चलते पुलिस कर्मिओ में काफी रोष है।

केन्द्रीय मंत्री डॉ महेश शर्मा ने लंदन मे ं आयोजित वर्ल्ड ट्रेवल मार्किट में इंडिया पे वेलियन का उद्घाटन किया

माननीय केंद्रीय पर्यटन एवं संस्कृति राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डॉ. महेश शर्मा जी ने लन्दन में आयोजित वर्ल्ड ट्रेवल मार्केट में इंडिया पेवेलियन का उद्घाटन किया तथा भारत के लगभग 42 अन्य स्टाल्स का निरिक्षण भी किया ।

12 नवम्बर को आयोजित होने वाली राष्ट्रीय लोक अदालत में अधिकाधिक वादों का निस्तारण करें अ धिकारी गण-जिला जज

जिला जज श्री अनिरूद्ध सिंह ने समस्त जिला स्तरीय अधिकारियों एवं न्याय विभाग के अधिकारियों को निर्देश देते हुये उनका आहवान किया कि आगामी 12 नवम्बर को आयोजित होने वाली राष्ट्रीय लोक अदालत का लाभ अधिक से अधिक जनसामान्य को प्राप्त हो इसके लिये विभागीय अधिकारी गण अपने अपने स्तर पर बैनर तथा अन्य माध्यमों से व्यापक प्रचार प्रसार करें ताकि आम नागरिक गण इसका अधिक से अधिक लाभ उठाकर अपने वादों एवं प्रकरणों का निस्तारण करा सके।
जिला जज अपने सभागार में इस सम्बन्ध में एक महत्वपूर्ण बैठक की अध्यक्षता करते हुये अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दे रहे रहे थे।
उन्होनें कहा कि जिन न्यायालयों एवं अधिकारियों के कार्यालय में ऐसे वाद एवं प्रकरण है जिनका निस्तारण राष्ट्रीय लोक अदालत में आपसी सुलह एवं समझौते के आधार पर किया जा सकता है या ऐसे वाद लम्बित है जिनका निस्तारण करने से सीधे लाभ जनसामान्य को प्राप्त होगा सभी प्रकरणों को चिन्हित कर लिया जाये और ऐसे भरसक प्रयास किये जाये कि 12 नवम्बर को अधिक से अधिक वादों एवं प्रकरणों का निस्तारण सम्भव हो सके।
श्री सिंह द्वारा राष्ट्रीय लोक अदालत में निस्तारित होने वाले वादों की प्रकृति के बारें में विस्तार से बताया कि आयोजित लोक अदालत में भूमि अध्याप्ति, बैंक वसूली, किरायेदारी, उपभोक्ताफोरम, कर वसूली, सेवा निवृत्ति परिलाभ, पंजीयन एवं स्टाम्प, केबल नेटवर्क, मेढबंदी व दाखिल खारिज, पर्यावरण व प्रदूषण, अध्यापकों के वेतन व भुगतान, राशन कार्ड, बीपीएल जाति एवं आय प्रमाण पत्र, सेवा एवं श्रम विवाद, आयकर, पुलिस अधिनियम, मोटर यान अधिनियम, मनोरंजनकर, उ0प्र0 दुकान एवं वाणिज्यकर, बाट-माप, चलचित्र अधिनियम, वन अधिनियम, नगरपालिका, विकास प्राधिकरणों द्वारा किये गये चालान, लघु शमनीय, दीवानी, अधिकरण, मनरेगा, जल एवं विद्युत आपूर्ति, कन्टोनमेंट एवं बोर्ड, 138 एनआई एक्ट, मोटरयान दुर्घटना, वैवाहिक एवं परिवार, भूमि अधिग्रहण, राजस्व, दैवीय आपदा, खनन अधिनियम, चकबंदी तथा प्रि-लिटीगेशन के मामलें आदि वादों एवं प्रकरणों का निस्तारण किया जा सकता है। उन्होनंे सभी अधिकारियों को यह भी निर्देश दिये कि विभागीय अधिकारियों के द्वारा आयोजित रा0 लोक अदालत में जिन वादों एवं प्रकरणों का निस्तारण किया जाना है उसकी सूचना प्रभारी अधिकारी को तत्काल उपलब्ध करा दी जाये ताकि इस सम्बन्ध में आवश्यक कार्यवाही की जा सके। इस अवसर पर प्रधान न्यायधीश परिवार न्यायालय/नोडल अधिकारी रा0लो0अ0 श्री ए के सिंह, सिविल जज सि0डि0 श्री अरूण कुमार राय, अपर जिलाधिकारी भू0अ0 केपी सिंह, एआरटी रंचना यदुवंशी, अन्य जिला स्तरीय अधिकारी गण भी मौजूद रहे।

जनपद के समस्त पात्र विकलांगों का नाम मतदात ा सूची में दर्ज कराने के उद्देश्य से जिलाधिका री अपने कार्यालय में अधिकारियों के साथ बैठक करते हुए

जनपद के समस्त पात्र विकलांगों का नाम मतदाता सूची में दर्ज कराने के उद्देश्य से जिलाधिकारी अपने कार्यालय में अधिकारियों के साथ बैठक करते हुए