Daily Archive: February 10, 2017

Chk ur voter slip through mobile

मोबाइल से मतदाता पर्ची (Voter’s Slip) sms से निन्न प्रकार देख सकते हैं.

ECI <10digit epic no.> को 166 पर भेज दे.
इससे आपको एक sms प्राप्त होगा जिससे आप अपना मतदाता क्रमांक और मतदान स्थल का नाम जान जाएंगे. मतदाता पहचान पत्र, पासपोर्ट, ड्राइविंग लाइसेंस, पैन कार्ड, बैंक पासबुक ,फोटोयुक्त परिचय पत्र ,पेंशन प्रपत्र ,आधार कार्ड , मतदाता पर्ची , मनरेगा जॉब कार्ड ,स्वास्थ्य बीमा smart card, एनपीआर स्मार्ट कार्ड, mp /mla को जारी पहचान पत्र में से कोई एक पहचान पत्र लेकर मतदान कर सकते हैं .

नोएडा को पंकज सिंह पसन्द हैं?

चन्द्रपाल प्रजापति
नोएडा विधान सभा को बीजेपी का गढ़ माना जाता है। जहाँ विधानसभा बनने के बाद से ही बीजेपी जीतती आ रही है। जहाँ से 2012 मे डॉ. महेश शर्मा 27676 मतो से विजयी हुए थे और 2014 के उपचुनाव मे बिमला बाथम 58952 मतो से विजयी हुई थीं। नोएडा की प्रमुख समस्याएं किसानों के साथ न्याय नही हो पाना अगर उनकी जमीन चली गयी तो भविष्य मे उनकी संतानो को बेरोजगारी की समस्या से गुजरना पड़ सकता है, अन्य राज्यो के प्रवेश वाली सड़को से गुजरने वाले लोगो को घण्टो जाम की समस्या से गुजरना पड़ता है, घर का सपना देखने वाले छोटी आय के लाखों लोगो को नोएडा विकास प्राधिकरण और बड़े बड़े बिल्डरों की मिलीभगत से निवेशकों को भारी नुकसान झेलना पड़ रहा है, दिनों दिन अपराधों का ग्राफ बढ़ने से लोगो को परेशानियों से गुजरना पड़ रहा है । और भी बड़ी बड़ी समस्याएं हैं जिनकी वजह से आम आदमी बहुत ही ज्यादा चिंतित है। वो चाहता है कि जब वह काम से वापस लौटे तो उसका परिवार ऐसा ही मिले जैसा छोड़कर गया था।
नोएडा से भारतीय जनता पार्टी के उत्तरप्रदेश महामन्त्री एवं मा. गृहमंत्री राजनाथ सिंह के पुत्र पंकज सिंह का नोएडा विधानसभा से चुनाव लड़ने से लोगो को आशा की किरण दिखाई दे रही है। पंकज सिंह जो उच्च शिक्षित हैं और लगभग 15 वर्षो से सामाजिक एवं राजनीतिक रूप से उत्तरप्रदेश मे सक्रीय हैं। युवा होने के नाते कुछ भी कर दिखने का जज्बा है , जो बेदाग हैं और हर समस्या का समाधान करने का दमखम रखते हैं।
नोएडा की समस्याएं केवल नोएडा स्तर पर खत्म होने वाली नही हैं उनके लिए कड़े निर्णय लेने होंगे अगर आवश्यकता पड़ी तो कानून बनाने की जरूरत भी पड़ सकती है। उसके लिए पंकज सिंह सक्षम हैं और वो ये मुद्दा उत्तरप्रदेश विधान सभा मे उठा सकते हैं और जरूरत पड़ी तो केंद्र की मदद भी ली जा सकती है। ये सभी बातें सभी नोएडा वासी भलीभांति जानते हैं और पंकज सिंह के साथ हैं।