Daily Archive: April 3, 2017

एमिटी में ‘महिला आरक्षण विधेयक’ पर परिचर् चा का आयोजन

एमिटी इंस्टीट्यूट आॅफ सोशल सांइस द्वारा आज ‘महिला आरक्षण विधेयक’ विषय पर परिचर्चा सत्र का आयोजन सी ब्लाक सभागार, एमिटी विश्वविधालय सेक्टर 125 नोएडा में किया गया। जिसका शुभारंभ सेंटर फाॅर सोशल रिर्सच की निदेशिका डा रंजना कुमारी, प्रख्यात पत्रकार एंव
पूर्व राज्यसभा सांसद श्री एच के दुआ, दिल्ली यूनीवर्सीटी अकादमिक एंड पावरफुल वाॅइस आॅन वूमेन राइटस की प्रो विजयालक्ष्मी नंदा, नेशनल फेडरेशन आॅफ इंडियन वूमेन की सुश्री एन्नी राजा, कलेक्टीव विलेज आॅफ प्रधान सुश्री विमलेश शर्मा एंव एमिटी इंस्टीट्यूट आॅफ सोशल सांइस की निदेशिका डा निरूपमा प्रकाश ने किया। कार्यकम की अध्यक्षता संयुक्त महिला कार्यक्रम की डा ज्योत्स्ना चटर्जी ने की। संयुक्त महिला कार्यक्रम की डा ज्योत्स्ना चटर्जी ने कार्यक्रम की
अध्यक्षता करते हुए कहा कि देष के संविधान मे हम सभी के समान अधिकार की बात लिखी है। इसके बावजूद कई बार कई फैसले महिलाओं के हक में या उनके पक्ष में नही होते। महिलाओं को भी अपने अधिकारों के लिए लड़ाई लड़नी पड़ती है। संसद एंव विधानसभाओं में महिलाओं की संख्या कम है क्योकी महिला आरक्षण विधेयक जैसे मुद्दों को गंभीरता से नही लिया जाता। हमें युवाओं के सहयोग की आवश्यकता है जिससे समान अधिकार प्राप्त हो सके।

सिटीजन चार्टर के लिए फोनरवा के साथ आए नोएड ा के युवा

यूथ लीडर्स ऑफ़ नॉएडा सामाजिक संस्था आज फोनरवा अध्यक्ष श्री एन पी सिंह से मिली एवं उनसे नॉएडा प्राधिकरण के सिटीजन चार्टर के बारे में शहरी जनता को जागरूक करने के लिए उनकी मदद मांगी , युवाओं की तरफ से संस्था के संस्थापक सदस्य एवं दिल्ली उच्च न्यायालय के अधिवक्ता श्री रंजन तोमर ने संवाददाताओं को बताया के नॉएडा ,जिसे विकसित शहरों की तरह देखा और माना जाता है ,एवं यहाँ जनता में साक्षरता दर पूरे प्रदेश में उच्चतम कुछ शहरों में है ,वहां भी लोगो में सरकारी योजनाओ के प्रति उदासीनता है , यहाँ न पंचायती राज है न ही नगरपालिका ऐसे में छोटी से छोटी समस्याओं को हल करवाने को आम आदमी को नॉएडा प्राधिकरण ही जाना पड़ता है , बिजली, पानी , पाइपलाइन का टूटना , जल संचयन , रोड का धंस जाना, नाली से अतिप्रवाह ,सीवर का भर जाना , पेड़ों की छंटाई , पार्कों की सफाई, स्ट्रीट लाइट ख़राब होना ,पानी का कम प्रेशर पर आना , अतिक्रमण की शिकायत, सिविल एवं प्लाट आदि समस्याएं ,इन सब को मिलाकर कुल 187 सेवाएं नॉएडा प्राधिकरण ‘सिटीजन चार्टर’ के द्वारा देने को बाध्य है , यदि वह ऐसा नहीं करता तो यह कानून का उल्लंघन होगा , ख़ास बात यह है के पढ़े लिखे भद्रजनो के शहर में भी बहुत कम जनता इस आसान हल को जानती है , अतः युवाओं ने यह मुहीम गाँवों और शहर में पिछले कुछ समय से छेड़ी हुई है।

संस्था के श्री आदित्य श्रीवास्तव ने बताया के गाँवों में इसकी आवश्यकता इसलिए है के वहां न अब ग्राम पंचायत है न ही कोई जन प्रतिनिधि जिससे समस्याएं सुलझाने को कहा जाए , इसलिए संस्था लगातार भिन्न गाँवों में जाकर जानकारी का प्रचार करती है , पर शहर में फोनरवा आदि संस्थाओं एवं आर डब्लू ए की मदद से यह प्रयास किया जा रहा है , इससे प्राधिकरण पर दबाव बनेगा और आम जनता के हाथ में एक ऐसा टूल आएगा जो समस्याओं को आसानी से , सतत विकास द्वारा हल कर सकेगा , इस सुविधा का इस्तेमाल फ़ोन द्वारा , वेबसाइट द्वारा एवं एप्प द्वारा आसानी से किया जा सकता है !

श्री एन पी सिंह ने आश्वासन दिया के सभी आर डब्लू ए को पत्र लिखकर इस बारे में सूचित किआ जाएगा एवं हर सेक्टर में लोगो को जागरूक किया जाएगा ! इस दौरान संस्था के अंकित अग्गरवाल , अजय चौहान , पुनीत राणा , प्रवीण चौहान , प्रतीक सेठी , प्रशांत कुमार ,कंचन लोहिया आदि उपलब्ध रहे !

जांच के नाम पर व्यापारियों का बंद हो उत्पी ड़नः नरेश कुच्छल

व्यापार प्रतिनिधि मंडल के पदाधिकारियों ने जिला अध्यक्ष नरेश कुच्छल के नेतृत्व मे खाद्य सुरक्षा अधिकारी जिला कलेक्ट्रेट स्थित कार्यालय में महेंद्र श्रीवास्तव से मुलाकात की और व्यापारियों की समस्याओं से अवगत कराया। उन्होंने कहा कि आम व्यापारी और मीट बेचने का काम करने वाले व्यापारी जिले में खासे परेशान हैं उनकी समस्याओं का समाधान जल्द किया जाये। नरेश कुच्छल ने कहा जिले में गठित खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन को दस जोनों मे बाँटने का व्यापारी वर्ग स्वागत करता है और व्यापारी चाहता है कि गलत काम करने वाले व्यापारी पर कार्यवाही हो परन्तु अनावश्यक किसी भी व्यापारी को सताया न जाये और जो भी अधिकारी किसी भी प्रतिष्ठान में जाए अपना परिचय पत्र जरूर दिखाये और उन्होंने मांग की कि जल्द ही बाजारों मे कैम्प का आयोजन किया जाये जिससे व्यापारियों को खाद्य सुरक्षा अधिनियम की बारीकियों को समझने मे आसानी हो। मीडिया प्रभारी चंद्रप्रकाश गौड़ ने मीट व्यापारियों को जल्द लाइसेंस देने का आग्रह किया जिससे वह जल्द अपने व्यापार को पुनः प्रारम्भ कर सकें क्योंकि मीट का व्यापार बंद होने से व्यापारी काफी परेशान हैं। महेंद्र श्रीवास्तव ने कहा कि हमने जिले के सभी दस जोनो पर तैनात अधिकारियों को निर्देशित किया है कि पहले अपने स्थानीय क्षेत्रों का सर्वे करने का कार्य करें एवं व्यापारियों को खाद्य सुरक्षा अधिनियम और लाइसेंस के लिए उपयोग होने वाले दस्तावेजो के विषय में पूर्ण जानकारी देने का कार्य करें। उन्होंने आश्वासन दिया कि किसी भी व्यापारी को परेशान नहीं किया जायेगा और मीट व्यापारियों के समाधान के लिए युद्धस्तर पर काम किया जा रहा है अगले 3-4 दिन मे इसका समाधान हो जायेगा। इस अवसर पर अध्यक्ष अट्टा मार्किट राजेश अवाना, सुनील कुमार, मो. तस्लीम, नीटू, अमर सहित अन्य व्यापारी मौजूद रहे।