Daily Archive: May 9, 2017

सभी फ्लैट बायर्स को मिलेगा उनका हक़- जन शक्त ि सेवा समिति।

आज सेक्टर-50 स्थित जन शक्ति सेवा समिति के कार्यालय पर जन शक्ति सेवा समिति कीकार्यकारिणी की मीटिंग आयोजित की गयी जिसमे उत्तर प्रदेश रेडसीडेंट्स एक्ट के सम्बन्ध मेंपरिचर्चा की गयी। सर्वसम्मति से समिति द्वारा यह निर्णय लिया गया कि शीघ्र ही एक संगोष्ठी काआयोजन किया जाये और संगोष्ठी में नोएडा क्षेत्र के सभी आर डब्लू ए और सामजिक संस्थाओ तथासभी अपार्टमेंट्स ओनर एसोसिएशन के लोगो को बुलाये जाने की सहमति हुई। आगामी होने वालीसंगोष्ठी में प्रमुख रूप से नेफोमा, अंसल फार्च्यून आर्केड ओनर्स वेलफेयर एसोसिएशन, चौखानीस्क्वायर वेलफेयर एसोसिएशन, सिल्वर टावर वेलफेयर एसोसिएशन, सब मॉल ओनर वेलफेयरएसोसिएशन, सेण्टर स्टेज मॉल ओनर वेलफेयर एसोसिएशन, पार्स्वनाथ ओनर वेलफेयरएसोसिएशन आदि एसोसिएशन के पदाधिकारीगण शामिल होंगे।

मीटिंग में मुख्य रूप से जन शक्ति सेवा समिति के चेयरमैन रवि कांत मिश्रा, अध्यक्ष वीरेश तिवारी,महासचिव शिवलाल सिंह, कोषाध्यक्ष ध्रुव अग्रवाल, सचिव नरेश उपाध्याय, नेफोमा के अध्यक्ष अन्नूखान, उपाध्यक्ष रामजी दुबे, केशव शर्मा, भजन लाल डंगला, मीडिया सलाहकार ज्योत्स्ना भट्ट औरअविनाश यादव उपस्थित थे।

जल्द शुरू होगी नोएडा के जिला अस्पताल रेटि नपैथी सेवा

यूपी के हाईटेक नोएडा शहर में एक नई पहल शुरू होने जा रही है जी हाँ आपको बता दे की नोएडा सेक्टर 30 स्थित सुपर स्पेशियलिटी जिला अस्पताल में जल्द ही रेटिनपैथी सेवा (परदे से जुड़ी बीमारियों का इलाज) का आगाज हो सकता है। वही इससे जिला अस्पताल में मरीजों का इलाज हो सकेगा | इसके लिए स्वास्थ्य विभाग व स्वास्थ्य मंत्रालय को पत्र लिखकर जरूरी मशीनों की आपूर्ति कराने की मांग की गई है।वही जिला अस्पताल के नेत्र सर्जन डॉ. चेन्नई से रेटिनोपैथी की विशेष ट्रेनिंग लेकर आए हैं। उन्होंने करीब तीन माह तक गहनता से यह ट्रेनिंग हासिल की है। वापस आने के बाद से ही उन्होंने जिला अस्पताल में रेटिनोपैथी का इलाज शुरू करने की इच्छा जाहिर की, जिसके बाद प्रस्ताव बनाकर शासन-प्रशासन को भेज दिया गया है। अगर यह मंजूरी मिल जाती है तो गौतमबुद्ध नगर ऐसा पहला जिला बन जाएगा, जहां के जिला अस्पताल में रेटिनोपैथी का इलाज मौजूद होगा। इसमें आंख के परदे से जुड़ी सभी बीमारियों का इलाज संभव हो सकेगा।

जल्द ही नोएडा होगा गड्ढा मुक्त शहर

यूपी में योगी सरकार ने आते ही अपना काम दिखाना शुरु कर दिया हैं आए दिन यूपी के मुख्यमंत्री योगी अदित्यनाथ हर विभाग का निरक्षण कर रहे हैं और उनमें पाई जा रही खामियों को दूर करने के लिए नियम भी लागू कर रहे हैं। वही अब शहर की सड़कों को 15 जून तक गड्ढा मुक्त किया जा सकेगा। इसके लिए एनजीटी ने प्राधिकरण को राहत देते हुए तीन हॉट मिक्स प्लाट खोलने के निर्देश दिए हैं। ये प्लाट सिर्फ तीन सप्ताह के लिए खोले जा सकेंगे। दरअसल, 28 अप्रैल को यूपीपीसीबी व सेंट्रल प्रदूषण बोर्ड ने मिक्स प्लाट को लेकर 10 दिन का समय मागा था। 8 मई को रिपोर्ट जमा की गई। इसी रिपोर्ट पर सोमवार को एनजीटी ने तीन प्लाट खोलने का फैसला लिया है। यह भी ध्यान रखने को कहा गया कि यह प्लाट पर्यावरण मानकों का पूरा ध्यान रखे। प्राधिकरण ने एनजीटी के फैसले के बाद अभियान चलाकर शहर के 27 हॉट मिक्स प्लाट को सीज कर दिया था। साथ ही प्लाट मालिकों पर 5.5 लाख रुपए का जुर्माना लगाया गया था। नवंबर से यह प्लाट बंद थे। ऐसे में शहर की जरूरी परियोजनाओं का काम पूरा होने में पाच से छह माह देरी होना स्वाभाविक था।

GST KI PATHSHALA TO ROCK IN GAUTAM BUDH NAGAR DISTRICT MARKETS

*Subject: Training camps for GST to the traders of the entire Goutam buddh Nagar will be organized as GST KI PATHSHAL Fedration of traders and industrial and jewellers associations of Gautam budh nagar*

Today, the Chairman , Board of fedration of Trade Industrial and Jewellers associations of gautam budh nagar Mr. Sushil Kumar Jain informed that traders and industrialists jewellers from across the country are being added on a single platform through the various social networks, small and medium businessmen are invited at various places to train for GST as the Government of India is going to impose new tax we will provide information to traders and hearing problems of traders which is going to be implemented from July a program to provide more information *GST KI PATHSHALA* to be organised all over District Gautam Budh Nagar .The new indirect tax system is bringing some new challenges by the GST where small traders, it will provide many new faciliteis and business opportunities. Many of these things are not available to the traders in the existing VAT, excise or service tax, experts say that by the turnover of Rs 20 lakh, the traders will be free from the GST, but even after coming into its realm of Rs 1.5 crore turnover they will get many concession They have special arrangements for even paying taxes and filling returns.
GST expert *Sushil Kumar Jain* told, 50 million bucks simplified composition scheme of GST for traders with turnover has a special attraction. Under this, a fixed percentage (1%) of tax on the declared turnover, according to the fixed rate, because such dealers will not get input tax credit on the tax paid, in this case it is most suitable for those small retail shops, which Directly sell goods to the final consumer, not those are value additions. He said that for the first time restaurants (50 lakh turnover) has been exempt from the dual burden of VAT and service tax with the bringing under the scheme, only 5 per cent tax.
*Sushil Kumar Jain said,On the implementation of GST, 2 percent of the interstate sales tax were not allowed credit by central sales, in lieu of which the input tax credit will not be available, but the credit will now be received on the paid IGST*

So far, ITC was not available on excise and service tax, which will now be available. ‘
Experts say that till 1.5 million turnover, the traders do not have to put the Hormanised System of NonConnect (HSN) code in their invoices, whereas for the traders upto 5 crores in two points and its big traders in four digits It is mandatory to write code that VAT returns have the option to write item code, in which the traders in the country are quite oppossed by the business community.
The traders struggling with the pending VAT refund can also get relief for years, like the GST, the deadline for refund has been fixed at 60 days, after which the government will have to pay interest, exporters will receive 90 per cent of their refund within a week. Will the traders comply with the state government to turnover of Rs 1.5 million and a provision to appoint them *GST facility center rules and tax returns preparers .All features of GST-N rules facilitation center* GST related returns refunds etc to any trader will be provided.

At the same time, a demand note to the council of GSTN of the Government of India will be presented to oppose to GSTN problems. and the legal rights given to the authorities such as fir penulties to send the businessmen jails.

Sushil Kumar Jain
CHAIRMAN
FEDRATION OF GAUTAM BUDH NAGAR TRADERS AND INDUSTIAL AND JEWELLERS ASSOCIATIONS.

9650682888

EMAIL SUSHILKUMARJAIN

नोएडा में बढ़ाई जायेगी थानों की संख्या

नोएडा – नोएडा शहर की जिस तरह आबादी बढ़ रही है। उसी तरह अपराध भी बढ़ रहे हैं, लेकिन पुलिस के संसाधन सीमित हैं। इसके चलते थाना का क्षेत्रफल बढ़ा होने के कारण न तो ठीक से गश्त हो पा रही है और न ही दर्ज अपराधों की जांच, ऐसे में नोएडा शहर में छह और नए थाने खोले जायेंगे। नोएडा पुलिस प्रशासन शासन से और नए थानों की मांग भी करता आया है और जनसंख्या के आधार के अनुसार पुलिसकर्मियो की संख्या भी काफी कम है इसका प्रस्ताव शासन में अंतिम मुहर लगने का इंतजार कर रहा है। उम्मीद है कि अगले दो से तीन माह में इस प्रस्ताव पर मुहर लग जाएगी। एसपी सिटी दिनेश यादव के मुताबिक नोएडा का विकास तेजी से हो रहा है। कई सेक्टर पिछले तीन सालों में तेजी से विकसित हुए हैं। जहां कर्मियशल व रिहायशी सेक्टर बन गए हैं।

ऐसे में शहर के थानों में पुलिस बल की संख्या व संसाधन सीमित होने के कारण कानून-व्यवस्था पर इसका असर पडऩे लगा है। तीन सालों में साठ से ज्यादा पुलिस चौकियां खोली गई हैं, लेकिन भविष्य में जनसंख्या व सेक्टरों की सुरक्षा को देखते हुए कुछ माह पूर्व पुलिस मुख्यालय में नोएडा में छह नए थाने खोलने का एक प्रस्ताव भेजा गया था। इसमें थाना सेक्टर-20 के सेक्टर-1,2,3,4,5,6,7,8,9,10 को थाना फेज वन, सेक्टर-39 थाना क्षेत्र के ओखला बैराज से लेकर सेक्टर-125 व 125 से लेकर सेक्टर-132 तक का क्षेत्र काटकर थाना ओखला बैराज, सेक्टर-49 थाने के दो गांव सर्फाबाद व सौरखा गांव के अलावा उसके आसपास के सेक्टरों में बसी सोसाइटियों के लिए थाना सेक्टर-115 व सेक्टर-105 में नया थाना, जिसमें सेक्टर-135 के आगे के कुछ सेक्टर व गांव जो फिलहाल सूरजपुर थाना क्षेत्र में लगते है। उन्हें शामिल किया जायेगा। यह थाना इसलिए भी महत्वपूर्ण होगा, क्योंकि सेक्टर-142 में आईएसबीटी तैयार किया जा रहा है। इसकी सुरक्षा महत्वपूर्ण होगी। इसके अलावा फेज थ्री थाने से सेक्टर-63 व छिजारसी गांव को हटाकर नया थाना सेक्टर-63ए बनाया जाएगा, नए थानों का निमार्ण कार्य प्राधिकरण करेगा। इसके संबंध में नए थानों के प्रस्ताव में प्राधिकरण के पूर्व चेयरमेन व सीईओ रमा रमण ने भी एक पत्र लिखकर नए थानों पर होने वाले खर्च का पूरा ब्यौरा भी दिया है, थाना सेक्टर-49 का नाम भी बदलने का प्रस्ताव शासन में भेजा गया है। भौगोलिक स्थिति के मुताबिक मौजूदा थाना सेक्टर-48 में है।लेकिन उसे सेक्टर-49 के नाम से जाना जाता है। ऐसे में इस थाने का नाम थाना सेक्टर-48 करने का प्रस्ताव पुलिस अधिकारियों ने भेजा है।

देश को रिप्रेजेंट करने का मजा ही कुछ और है – सृष्टि कौर

किसी चीज़ को इतनी शिद्दत से चाहो की सारी कायनात तुम्हे उससे मिलाने के लिए तैयार हो जाए, मेरा हमेशा यही ख्वाब था की मैं मिस यूनिवर्स का ख़िताब भारत के लिए लेकर आऊं और यह मेरी कोशिश कामयाब रही मैंने भारत को मिस टीन यूनिवर्स का ख़िताब दिलाया और नोएडा जैसी सिटी को विश्व में पहचान दिलाई, यह कहना था 2017 की मिस टीन यूनिवर्स बनी सृष्टि कौर का जो मारवाह स्टूडियो में 95वें बैच की ओपनिंग के लिए पहुंची, उन्होंने छात्रों को बताया कि शुरू से ही मैं सुष्मिता सेन से की मुस्कराहट व बॉडी लैंग्वेज से बहुत प्रभावित रही हूँ साथ ही मुझे क्रिकेटर युवराज सिंह ने भी काफी प्रेरित किया जिन्होंने देश के लिए वर्ल्ड कप लिया और अपने लिए जिंदगी की जंग जीती। मैं कैंसर पीड़ितों के लिए भी काम करना चाहती हूँ। हमारे देश में काफी प्रतिभा है बस उन्हें सामने आने की जरुरत है। इस अवसर पर संदीप मारवाह ने कहा की बड़ी खुशी होती है जब छोटी जगह से निकलकर इंसान बड़ा बन जाता है तो उसका कैनवास भी बड़ा हो जाता है सृष्टि ने मुझे इस चीज़ का एहसास भी दिलाया की आज की युवा पीढ़ी हमसे कही ज्यादा समझदार और इंटेलिजेंट है जो अपने साथ साथ देश के लिए भी सोचती है। इस अवसर पर मोटिवेटर रीता गंगवानी ने कहा की मैं हमेशा से ही युवाओ को प्रेरित करती हूँ क्योकि उनके अंदर जो ऊर्जा है जो आग है वो देश को बदलने का जज़्बा रखती है। इस अवसर पर संगम कला ग्रुप ने एक रंगारंग कार्यक्रम भी प्रस्तुत किया।

भीषण गर्मी से नोएडा एनसीआर का हुआ बुरा हाल

ग्रेटर नोएडा -नोएडा – नोएडा और आसपास के इलाको में पिछले कुछ दिनों से सूरज लगातार आसमान से आग के गोले बरसा रहा है, सोमवार को भी सूरज की किरणों ने जमकर आग बरसाई। इससे भीषण गर्मी का प्रकोप झेलना पड़ा, तेज गर्मी के कारण दिन भर शहर का जनजीवन अस्त-व्यस्त रहा. और लोगो से निकलना भी दुर्भर हो रहा है गर्मी का असर इतना ज्यादा था कि रात आठ बजे तक भी चलने वाली हवाएं आग की भट्ठियों से निकलती हुईं प्रतीत हो रही थीं।

मौसम विभाग के अनुसार गर्मी और उमस का यह सिलसिला आगे भी जारी रह सकता है। सोमवार का अधिकतम व न्यूनतम तापमान (43 व 27 डिग्री) रविवार के मुकाबले (44 व 30) से कम होने के बावजूद कल का दिन ज्यादा गर्म रहा। तेज उमस से लोगों का बुरा

हाल था। थोड़ी-थोड़ी देर के अंतराल पर लोगों के गले सूखते जा रहे थे। मंगलवार का अधिकतम व न्यूनतम तापमान 43 व 28 डिग्री सेल्यिस रहने की संभावना है। उमस और भी ज्यादा तेज हो सकती है। और लोगो को यही सलहा दी है की हो सके तो भीषण गर्मी से बचने की कोशिश करे और घर से कम ही निकले तेज गर्मी से जो भी बचाव हो करे , और गर्मी से बचने के लिए पानी और जूस लस्सी, छाछ, दही, नारियल पानी, खीरा-ककड़ी, आम का पना, प्याज जायदा खाए पिए, सर पर टोपी ,गमछा ,छाता का प्रयोग करे ,

एलिवेटेड सड़को द्वारा नोएडा दिल्ली जाम स े मिलेगी जल्द राहत

नोएडा – नोएडा शहर जल्द ही जाम से मुक्त होने जा रहा है नोएडा से दिल्ली आने जाने का समय भी कम लगेगा, दिल्ली से वाया नोएडा गाजियाबाद तक पहुंचने में महज 45 का मिनट समय लगेगा। इसके लिए मास्टर प्लान रोड नंबर-2 पर निर्माणाधीन अंडरपास व एलिवेटेड रोड को जून के अंत तक खोल दिया जाएगा। शहर की यह पहली सिग्नल फ्री सड़क होगी। जहा बिना जाम के वाहन चालक आसानी से सफर तय कर सकेंगे। इन दोनों का काम युद्धस्तर पर चल रहा है। 15 जून तक काम पूरा करने के बाद 15 दिनों में फिनिशिंग का काम पूरा किया जाएगा।

एमपी-2 रोड पर यातायात के अत्यधिक दबाव के चलते 11 अप्रैल 2015 को विश्वभारती स्कूल से शाप्रिक्स मॉल तक एलिवेटेड रोड बनाने की आधारशिला रखी गई। करीब 4.80 किलोमीटर लंबी एलिवेटेड रोड के निर्माण में 415 करोड़ रुपए खर्च किए जा रहे हैं। नवंबर में सेक्टर 61 से एनटीपीसी तक लगभग 2.04 किलोमीटर लंबी एलिवेटेड रोड पहले खोली जा चुकी है। इस पर ट्रैफिक का संचालन जारी है। इस मार्ग पर ट्रैफिक प्रारंभ करने के पश्चात एनटीपीसी चौराहे से सीधे फ्लेक्स चौराहे से बायें मुड़कर सीधे गाजियाबाद, सेक्टर-62, 63, 64, 65 व एनएच-24 पहुंचा जा सकता है। फ्लेक्स चौराहे पर ही अंडरपास का निर्माण किया जा रहा है। करीब 680 मीटर लंबे अंडरपास के निर्माण में 60 करोड़ रुपए खर्च किए जा रहे हैं। इसे दिसंबर 2016 में खोला जाना था लेकिन काम में देरी होने के चलते इसे दिसंबर के अंतिम सप्ताह में खोला जा रहा है। यह अंडरपास सेक्टर-60, 61 यानी 32 से 62 मेट्रो लिंक से होकर गुजरेगा। यानी एलिवेटेड रोड व अंडरपास के एक साथ शुरू होने से ऐसे वाहन चालक जो दिल्ली से गाजियाबाद वाया नोएडा पहुंचना चाहते हैं। वह एमपी टू रोड के जरिए पहले एलिवेटेड रोड फिर फ्लेक्स चौराहे से अंडरपास फिर आगे मॉडल टाउन अंडरपास का प्रयोग कर सीधे गाजियाबाद जा सकेंगे।

एससी मिश्रा, प्रोजेक्ट इंजीनियर, नोएडा प्राधिकरण का कहना कि एलीवेटेड रोड का 90 प्रतिशत से ज्यादा काम पूरा किया जा चुका है। इसका शेष काम 15 जून तक पूरा कर लिया जाएगा। इसके बाद फिनिशिग का काम पूरा कर जनता के लिए खोल दिया जाएगा। जबकि अंडरपास का अभी थोड़ा सा काम बाकी है। इसे दिसंबर तक शुरू किया जाएगा।