Daily Archive: May 17, 2017

एमिटी में ˝रियल टाइम आॅटोमेटिक एयर माॅनिट रिंग स्टेशन˝ का शोकेस किया आयोजन

एमिटी इंस्टीटयूट आॅफ एनवांयरमेंटल टाॅक्सीकोलाॅजी सेफ्टी एंड मैनेजमेंट , एमिटी इंस्टीटयूट आॅफ एनवांयरमेंटल सांइेस एंव राष्ट्रीय पर्यावरण विज्ञान अकादमी द्वारा आज ˝रीयल टाइम

आॅटोमेटिक एयर माॅनिटरिंग स्टेशन˝ के शोकेस का कार्यक्रम एमिटी विश्वविधालय सैक्टर 125 नोएडा में किया गया। उत्तर प्रदेश प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड (यूपीपीसीबी) ने इस माॅनिटरिंग स्टेशन को सैक्टर 125 स्थित एमिटी विश्वविधालय में लगाया है। इस मशीन के माध्यम से लोग प्रदूषण के बारे में जानकारी आॅनलाइन प्राप्त कर सकते है। इस एयर एंबियंट माॅनिटरिंग सिस्टम से 12 पैरामिटर पर हवा का आकलन हो सकता है। इससे एनओ 2, एसओ 2, सीओ 2, के अलावा एयर क्वाॅलिटी इंडेक्स के बारे में जानकारी प्राप्त होगी। इस अवसर पर वायु प्रदूषण स्त्रोत और शमन रणनीतियां विषय पर कार्यशाला का आयोजन किया गया। जिसका शुभारंभ नारायण के राष्ट्रीय
पर्यावरण अभियांत्रिका अनुसंधान संस्थान के वरिष्ठ प्रिंसिपल वैज्ञानिक एंव अध्यक्ष श्री एस के गोयल, केंद्रीय सड़क अनुसंधान संस्थान की मुख्य वैज्ञानिक डा अनुराधा शुक्ला, प्रतिष्ठित प्राचार्य प्रोफेसर ऐके अग्रवाल, एनवाइरेटिक इंस्ट्रमेंट्स प्राइवेट लिमिटेड के एमडी श्री ऐस के गुप्ता, आॅस्ट्रेलिया के इकोटेक के एमडी डा निकोलस, एमिटी इंस्टीटयूट आॅफ एनवांयरमेंटल टाॅक्सीकोलाॅजी सेफ्टी एंड मैनेजमेंट की निदेशिका डा तनु जिंदल ने किया।

जिसे मेहनत करनी आती है सफलता उसके पीछे पीछ े भागती है – निशा कोठारी

कोई भी किरदार छोटा या बड़ा नहीं होता, पर जरुरी यह है की आप छोटे से किरदार में भी अपनी क्या पहचान बना रहे हो आज के समय की बात करे तो नवाजुद्दीन को अपनी पहचान बनाने में लगभग दस साल लग गए और छोटे छोटे किरदार निभा कर वो एक सफल अभिनेता बन गए है, यह कहना था सरकार, डरना जरुरी है, द किलर, शिवा और जेम्स जैसी हिंदी फिल्मो की हीरोइन साथ ही तमिल की सुपरहिट हीरोइन निशा कोठारी का जो मारवाह स्टूडियो के छात्रों को वर्कशॉप देने पहुंची। इस अवसर पर मारवाह स्टूडियो के निदेशक संदीप मारवाह ने कहा की यह इस स्टूडियो में दूसरी बार आयी है और मुझे ख़ुशी है की आज भी उतनी ही खूबसूरत और मेहनती है। छात्रों के सवालो का जवाब देते हुए निशा ने बताया की मैं बिज़नेस परिवार से थी लेकिन मैने अपनी फैमिली से कुछ नहीं माँगा, खुद ही स्ट्रगल किया। जिसे मेहनत करनी आती है सफलता उसके पीछे पीछे भागती है कहने को तो मैं टीवी सीरियल भी कर सकती थी पर मेरा पैशन फिल्मे है। इस अवसर पर नाइजीरिया के फैशन डिज़ाइनर जॉन ऊचे जीसस ने कहा भारत में फैशन में काफी वैराइटी है जो मुझे अच्छा लगता है।

अधिकारियों पर योगी सख्त , विकास कार्यो में आएगी तेजी

यूपी में बीजेपी सरकार बनने के बाद उत्तर प्रदेश के सीएम के सख्त आदेश के बाद शहर में चल रही वर्तमान परियोजनाओं में तेजी लाने के प्रयास शुरू कर दिए गए हैं। अब सभी वर्क सर्किल के परियोजना अभियंताओं को दोपहर 12 बजे से शाम छह बजे तक अपने क्षेत्र में साइट पर मौजूद रहना होगा। साथ ही प्रत्येक परियोजना की प्रतिदिन की रिव्यू रिपोर्ट उच्च अधिकारी को देनी होगी। उच्च अधिकारी भी प्रतिदिन किसी न किसी परियोजना का मौके पर जाकर निरीक्षण करेंगे। इससे दो फायदे होंगे। पहला, परियोजना के निर्माण में तेजी आएगी। साथ ही परियोजना की गुणवत्ता, निर्माण सामग्री व आने वाली अड़चनों का मौके पर ही निस्तारण किया जा सकेगा।

नोएडा के यश पब्लिक स्कूल में किया गया पौधा रोपण

पं दीन दयाल उपाध्याय जन्मशताब्दी कार्यक्रम के दौरान विशनपुरा गांव में यश पब्लिक स्कूल के समाने वाले पार्क में पौधारोपण पूर्व मंत्री नवाब सिंह नागर द्वारा किया गया। इस दौरान नवाब सिंह नागर ने कहा कि पौधों का आगे ख्याल रखना उन सभी कि जिम्मेदारी है जो पौधा लगा रहे हैं। शहर में बढ़ते प्रदुशण, वाहनों की संख्या व उद्योगों के धुंऐ के आगे लगे हुये वृक्ष कम है ऐसे में हमें नियमंत्रित करने के लिये पौधारोपण करना चाहिये। हर नागरिक की जिम्मेदारी है कि वो पौधारोपण करें। आज के कार्यक्रम में कुलदीप तंवर, बिल्लू नागर, रिन्कू नंबरदार, राजन तंवर, सुदर धामा, उदवीर यादव, विनोद कसाना, सुनील नागर, राहुन नागर, व यष पब्लिक स्कूल के स्टाफ ने सहयोग दिया।

नोएडा विधायक पंकज सिंह ने विधानसभा में उठ ाया निजी स्कूलों की मनमानी का मुद्दा

यूपी के हाईटेक शहर के नोएडा विधायक पंकज सिंह ने विधानसभा में निजी स्कूलों की मनमानी का मुद्दा उठाया। आपको बता दे की उन्होंने निजी स्कूलों पर नियंत्रण और फीस बढ़ोतरी के लिए नियामक प्राधिकरण बनाने की मांग की। पिछले काफी दिनों से नोएडा-ग्रेटर नोएडा के विभिन्न स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों के अभिभावक आंदोलन कर रहे हैं। उन्होंने विधायक पंकज सिंह से मिलकर स्कूलों की मनमानी रोकने के लिए नियामक प्राधिकरण बनाने की मांग की थी। इसके अलावा पंकज सिंह ने पिछले 15 साल के भ्रष्टाचार की उच्चस्तरीय जांच कराने की मांग की।