Daily Archive: May 31, 2017

बिल्डर उ०प्र० अपार्टमेंट एक्ट की उड़ा रहे है धज्जियां, प्रोजेक्टो में कर रहे अवैध निर्म ाण, नेफोमा के साथ एन पी एक्स प्रोजेक्ट के बॉयर ्स ने एसीईओ से की बैठक ।

नोएडा एनपी एक्स टॉवर के बॉयर्स ने नेफोमा अध्यक्ष अन्नू खान के साथ एसीईओ अशोक कुमार श्रीवास्तव से की मीटिंग और कहा कि बिल्डर को आदेश करे कि ऊ० प्र० एक्ट 2010 की अवहेलना न करे और बॉयर्स के हितों की रक्षा के लिए कड़े कदम उठाए, नेफोमा ने बिल्डर की 20 खामिया प्राधिकरण को गिनाई जो बिल्डर उ० प्र० अपार्टमेंट एक्ट 2010 के विरुद्ध काम कर रहा है

नेफोमा अध्यक्ष अन्नू खान ने बताया ज्यादातर अधिकारियों से बात करने से पता चलता है कि उनको उ०प्र० अपार्टमेंट एक्ट 2010 की जानकारी ही नही है इसीलिए एक्ट के तहत कोई कार्यवाही नही होती है या जानबूझ कर बिल्डर को बचाने के लिए कार्य करते है, हमने अधिकारी को ज्ञापन दिया है और बोला है उचित कार्यवाही करें ।

एन पी एक्स टावर के अध्यक्ष पंकज नागलिया ने बताया बिल्डर कभी भी मीटिंग करने नही आता, कोई बात सुनने के लिए तैयार नही है यूनिट केंसिल करने की धमकी दे रहे है आधी अधूरी तैयारी के साथ पोजेशन लेने के लिए दबाब बनाया जा रहा है

1. बिल्डर ने आवंटीयों को बिना किसी पूर्व सूचना के और बिना अनुमति के उनकी इकाइयों के स्थान, मंजिल एवम क्षेत्रफल में परिवर्तन कर दिया.
2. भूतल के आवंटीयों को बिना उनकी अनुमति के उनकी इकाइयों को प्रथम तल के आवंटीयों के साथ समाहित कर दिया. एवम भूतल को STILT बना दिया.
3. बिल्डर को Completion Certificate प्राप्त होने के बावजूद , अभी तक फर्श, पलास्टर एवं दीवारों अदि का कार्य अधूरा है.
4. किन्ही दो इकाईओं के मध्य , ईंट के दीवारों के अपेक्षा दो इंच मोटा जिप्सम का विभाजक बना दिया गया है.
5. इकाई के बाहर केवल शीशा लगा दिया गया है ,और Rolling Shutter न होने के कारण सुरक्षा प्रभावित हो गई है.
6. फर्श के नाम पर 6” से 9” तक के गहरे गड्ढे हैं जिसमे भराव एवं कच्चा फर्श का कार्य शेष है.
7. इकाई तक बिजली की तारें नहीं डाली गयी हैं , तथा अन्य बिजली के कार्य शेष हैं. Air- Conditioning का कार्य भी अधूरा है.
8. निर्माण का स्तर इतना घटिया है कि, जरा से तूफ़ान अथवा तेज बारिश में बाहरी शीशे एवं एल्युमीनियम की Cladding जो कि पहले भी गिर चुकी हैं, के गिरने से जान माल की हानि का खतरा बना हुआ है.
9. फर्श-प्लेट एवं बाहरी शीशे/एल्युमीनियम- पैनल के मध्य 12” से 24” के Gap हैं . जिसको बिल्डर अवैध रूप से Carpet Area में गणना कर रहा है. एवं गैर कानूनी तरीके से FAR बढ़ा रहा है.
10. बिल्डर ने न तो आवंटीयों को , न ही नॉएडा अथॉरिटी के सक्षम अधिकारी को स्वीकृत नक़्शे, Fixtures, Fittings, Details of Design, Specifications, का कोई विवरण अथवा लेखा-जोखा दिया है.
11. “Form of Declaration” जिसके द्वारा Loading की प्रमाणिकता सिद्ध होती है. बिल्डर द्वारा अभी तक देय है.
12. बिल्डर के द्वारा विभिन्न आवंटीयों की 40% से 50% की Loading बढ़ा दी गयी है जो की अनुचित एवं गैर कानूनी है.
13. इकाई के क्षेत्रफल के मापन में भी वास्तुविद के नियमों को ताक पर रख कर इकाई के अन्दर आने वाले Columns, दीवारें , शीशे तथा Gaps को भी नपाई में ले लिया है.
14. बिल्डर द्वारा Builder Buyer Agreement का पंजीकरण नहीं करवाया गया है.
15. बिल्डर द्वारा नियमों के विरुद्ध बगैर Sub-Lease करवाये, Fit-Out के लिए कब्ज़ा लेने के लिए आवंटीयों पर दवाब बनाया जा रहा है. जबकि नॉएडा प्राधिकरण से अभी पंजीकरण की अनुमति नहीं मिली है. निश्चित अवधि में कब्ज़ा न लेने की स्थिति में Holding Charges एवं Cancellation की लिखित धमकी दे रहा है.
16. “NPX Tower Owners Association” विधि सम्मत है क्यूंकि इसका गठन एवं पंजीकरण दिनांक 24.06.2015 को सोसाइटी रजिस्ट्रेशन एक्ट 1860 एवं UP Apartment Act , 2010 के अंतर्गत Model Bye-Laws का अनुपालन करते हुए हुआ है. आवंटीयों को बिना इस Association का सदस्य बनाये, बिल्डर अवैध रूप से उनकी Sub-Lease करवाना चाह रहा है.
17. Act के अनुसार किसी भी बिल्डिंग के रखरखाव का उत्तर्दायित्व आवंटीयों के संघ का होता है , जबकि बिल्डर आवंटीयों से जबरदस्ती 33 Page के Maintenance Agreement पर हस्ताक्षर करवा रहा है. तथा इसके आभाव में कब्ज़ा देने से मना कर रहा है. यह Act द्वारा प्रदत्त आवंटीयों के रख रखाव के अधिकार का हनन है.
18. बिल्डर ने पहले ही IFMS (Interest Free Maintenance Security ) के नाम पर धन इकठ्ठा कर लिया है. इसके अतिरिक्त काफी आवंटीयों से CRC (Capital Replacement Charges) ले चुका है, एवं औरों पर यह राशी वसूलने के लिए अनुचित दवाब डाल रहा है. जबकि Builder Buyer Agreement में CRC कोई जिक्र नहीं है.
19. CRC के न देने पर आवंटीयों द्वारा पूरा भुगतान देने के पश्चात भी , बिल्डर NDC (No Dues Certificate) नहीं दे रहा.
20. सर्वाधिक कष्टदायक है कि नॉएडा प्रहिकरण के Board Room में सम्पन्न 31.01.2017 की त्रिपक्ष्य वार्ता में बिल्डर को दिए गए पत्र की घोर अवहेलना करते हुए अभी तक कोई उत्तर नहीं दिया है.

मीटिंग में प्रो० एन एस ढींगरा, पंकज नागलिया, दीपक अग्रवाल, राकेश संत, वी जी कॉम, पी के अहलूवालिया, दिनेश झा, गौतम मेहरा आदि बॉयर्स ने हिस्सा लिया ।