Monthly Archive: June 2017

खुदरा मीट व्यापारियों ने अपनी मांगो को ले कर नगर मजिस्ट्रेट कार्यालय पर दिया धरना

जनपद के मजदूरों, खुदरा मीट व्यापारियों / रेहडी पटरी के दुकानदारों,ने पुलिस अधीक्षक नोएडा के खिलाफ कार्यवाही एवं मेहनतकशो के विभिन्न जन मुद्दों / माँगो पर सीटू के नेतृत्व मे नगर मजिस्ट्रेट कार्यालय पर धरना दिया

नोएडा में लगेंगे CND प्लांट नोएडा ने बढ़ाया ए क कदम प्रदूषण से राहत के लिए ,

नोएडा – मोदी सरकार केस्वच्छ भारत अभियान के तहत नोएडा में भी सफाई व्यवस्था को बेहतर किया जा रहा है। वहां इकट्ठा हो रहे मलबे को भी ठिकाने लगाने की योजना बनाई गई है। मलबे से निपटने के लिए वहां कंस्ट्रक्शन एंड बिल्डिंग वेस्ट डिमोलिशन एंड मैनेजमेंट (सीएनडी) प्लांट के निर्माण का विचार किया जा रहा है। इसके लिए उसके निर्माण और उसकी उपयोगिता की जानकारी जुटानी शुरू कर दी है। उम्मीद है कि इस साल के अंत तक प्लांट का निर्माण कार्य शुरू कर दिया जाएगा। लांट का निर्माण करने के लिए करीब साढ़े तीन एकड़ जमीन की जरूरत होगी। मलबा को प्लांट में पहुंचाने के बाद उसे क्रश किया जाएगा। उससे सीमेंट ब्रिक्स, ब्लॉक टाइल्स, टाइल्स सहित कई प्रकार के उत्पाद बनाए जाएंगे, जो बाद में निर्माण कार्य में प्रयोग किए जा सकेंगे। उम्मीद है कि प्लांट के शुरू होने के बाद शहर में इधर-उधर मलबा दिखाई नहीं देगा। 300 टन मलबा प्रतिदिन प्रोर्सेंसग करने वाले इस प्लांट के निर्माण पर करीब 13 करोड़ रुपये की लागत आएगी। प्लांट के निर्माण और उसके उपयोग में प्रयोग होने वाली तकनीक, मलबे की प्रोसेसिंग, इससे बनने वाले उत्पाद और प्लांट की अधिक जानकारी लेने के लिए शनिवार को नोएडा प्राधिकरण कार्यालय में एक एजेंसी द्वारा प्रजेंटेशन दिया जाएगा। इस प्रजेंटेशन के जरिए प्लांट के निर्माण में आने वाले खर्च और इसकी उपयोगिता के आधार पर प्लांट बनाने पर निर्णय लिया जाएगा। प्लांट की उपयोगिता, निर्माण खर्च और प्रतिदिन निकलने वाले मलबे की मात्रा के आधार पर जमीन का निर्धारण किया जाएगा। अभी यह तय नहीं किया गया है कि कितनी क्षमता का प्लांट लगाया जाएगा, इस कारण अभी जमीन का निर्धारण नहीं किया गया है।

नोएडा में मेट्रो ट्रैक पर मिला व्यक्ति का शव, जांच शुरू

नोएडा – थाना सेक्टर 20 क्षेत्र के सेक्टर16 मेट्रो स्टेशन में आज ट्रैक पर एक व्यक्ति का शव पड़ा हुआ मिला। अभी यह स्पष्ट नहीं हो पाया है कि क्या इस व्यक्ति ने आत्महत्या की है। थाना सेक्टर 20 के थानाध्यक्ष अनिल शाही ने बताया कि आज सुबह करीब पांच बजे हमें सूचना मिली कि सेक्टर-16 स्थित मेट्रो स्टेशन के ट्रैक पर एक अज्ञात व्यक्ति का शव पड़ा है घटना की सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। थाना प्रभारी ने बताया कि शव की शिनाख्त करने का प्रयास किया जा रहा है । उसके पास कोई ऐसा सामान नहीं मिला है जिससे उसकी शिनाख्त की जा सके। उन्होंने बताया कि ऐसा प्रतीत होता है कि देर रात को व्यक्ति आत्महत्या करने के इरादे से मेट्रो ट्रैक पर कूद गया जिससे मेट्रो ट्रेन की चपेट में आ कर उसकी मौत हो गई। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

डीएम बीएन सिंह ने सेक्टर 3 हरोला सेक्टर 4 ,9,31, 2 5, 62 एवं सेक्टर 18 का सुबह स्थलीय निरीक्षण किया

नोएडा – जिलाधिकारी गौतम बुद्ध नगर बीएन सिंह के द्वारा नोएडा की सफाई व्यवस्था को दृष्टिगत रखते हुए आज सुबह 6 बजे अपने कैंप ऑफिस से सेक्टर 3 हरोला सेक्टर 4 ,9,31, 25, 62 एवं सेक्टर 18 का सुबह स्थलीय निरीक्षण करते हुए नालों की सफाई एवं अन्य सफाई व्यवस्था का अवलोकन किया। उनके भ्रमण के दौरान मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर अनुराग भार्गव, एवं नोएडा प्राधिकरण के अधिकारी गण साथ में उपस्थित रहें। जिलाधिकारी ने अपने भ्रमण के दौरान पाया की अधिकतम नालियों एवं नालों में बहुत ही गंदगी भरी हुई पायी और सभी नालो एवं नालियों में पॉलिथीन की थैलिया बहुता की संख्या में जमा होना पाई। जिसके कारण शहर में डेंगू, मलेरिया, स्वाईन फ्लू आदि बीमारी पैदा करने वाला लरवा पनपने की आशंका बहुत अधिक बढ जाने पर डीएम ने इसे बहुत ही गम्भीरता से लिया हैं। जिलाधिकारी ने इस संबंध में शहर के नालों एवं नालियों की गुणवत्ता पूर्व सफाई कराने के उद्देश्य से प्राधिकरण के अधिकारियों को तत्काल पत्र प्रेषित करते हुए गंभीरता से लेने को कहा है और तुरंत कार्रवाई करते शहर के नालों की पर्याप्त समुचित सफाई कराने के लिए भी ध्यान आकर्षित किया गया है । डीएम के द्वारा अपने निरीक्षण के दौरान लिए गए फोटो को भी पत्र के साथ भेजा है ताकि प्राधिकरण के अधिकारी इस प्रकरण में तत्काल कार्यवाही कर सके। इस संबंध में उन्होंने मौके पर उपस्थित मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ अनुराग भार्गव को भी आवश्यक दिशा निर्देश देते हुए कहा कि है उनके द्वारा तत्काल प्रभाव से कार्रवाई करते हुए नालो एवं नालियों में एंटी लार्वा का छिड़काव प्रमुखता के साथ कराया जाए, ताकि शहरवासियों को घातक बीमारियों से बचाया जा सके। ज्ञातव्य हो कि जिलाधिकारी के द्वारा यह भ्रमण आज प्रातः 6:00 बजे से आरंभ किया गया और 3 घंटे तक शहर का स्थलीय निरीक्षण करते हुए नाले की सफाई व्यवस्था का जायजा लिया गया और स्वयं गंदगी के संबंध में फोटो भी लिए गए।

छेड़छाड़ के विरोध पर किशोरी को छत से फेंकन े के दो आरोपी को पुलिस ने किया गिरफ्तार

नोएडा – मोरना गांव में छेड़छाड़ के विरोध में किशोरी को पहली मंजिल से फेंकने के मामले में पुलिस दो युवकों को थाना सेक्टर-24 पुलिस ने सिटी सेंटर के पास से गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। दोनों की पहचान टीकम राघव और रोहित राघव निवासी चीमनपुर, चंडौस अलीगढ़ के रूप में की है वहीं घटना के बाद से कोमा में किशोरी की हालत गंभीर है। उसे नाक के रास्ते तरल खाद्य पदार्थ दिया जा रहा है। हैरानी की बात यह है कि पुलिस ने जिन दो युवकों को गिरफ्तार किया है। उन्होंने ऐसा क्यों किया इस बारे में पुलिस अब तक उनसे इसका कारण उगलवा नहीं सकी है। वहीं गिरफ्तारी के बाद फेंके जाने के कारण का खुलासा न होने पर पुलिस पर भी सवाल उठ रहे हैं।

मालूम हो कि समस्तीपुर बिहार का रहने वाला परिवार मोरना गांव में पिछले 20 साल से परिवार के साथ किराये पर रहता है। परिवार में पति पत्नी के अलावा तीन बेटी और तीन बेटे हैं। पीड़ित पिता इलेक्ट्रॉनिक की दुकान चलाते हैं। उन्होंने बताया कि बीती 19 मई की रात परिवार के साथ दूसरी मंजिल पर सो रहे थे। उनकी 17 वर्षीय बड़ी बेटी रात 12.20 बजे बाथरूम करने के लिए गई थी। वह रात 1.00 बजे घर के सामने सीढिय़ों के पास घायल अवस्था में मिली। उन्होंने नोएडा और दिल्ली के कई अस्पतालों में इलाज कराया।

सीसीटीवी कैमरे से हुआ था खुलासा: परिवार को लगा कि बेटी का पैर फिसल कर गिर गई है लेकिन जब 14 जून को उन्होंने सामने के घर में लगे सीसीटीवी फुटेज देखा दो उन्हें पता चला कि टीकम और रोहित ने उनके बेटी को पहली मंजिल से फेंक दिया था। उन्होंने कोतवाली सेक्टर-24 में दोनों के खिलाफ मामले की एफआईआर दर्ज कराई। पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। कर्ज लेकर हो रहा है इलाज: किशोरी के परिजन कर्ज लेकर बेटी की दवा करा रहे हैं। अभी तक बेटी के इलाज में 8.50 लाख रुपये खर्च हो चुके हैं। परिवार की स्थिति यह है कि अब उनके पास खाने के लिए भी रुपये नहीं हैं। पीड़ित पिता ने बताया कि उनके दो अन्य बेटी और तीन बेटे हैं।

12वीं रिजल्ट के बाद विश्वविद्यालयों में एड मिशन के लिए छात्रों की जोर आजमाइश जारी

नोएडा. 12वीं के रिजल्ट आने के बाद दिल्ली से लेकर यूपी के सभी विश्वविद्यालय और कॉलेजों में एडमिशन की दौड़ शुरू हो गई है। इसी चरण में चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय (सीसीएसयू) के नोएडा स्थित राजकीय डिग्री कॉलेज में गुरुवार से ऑनलाइन आवेदन शुरू हो गया है। सीसीएसयू से संबंधित राजकीय डिग्री कॉलेज में एडमिशन लेने के इच्छुक छात्र गुरुवार यानी 22-6-2017 से ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। सुबह 10:00 बजे से विश्वविद्यालय द्वारा दाखिले के लिए जारी की गई सभी साइट को खोल दिया गया है। इसमें यूजी और पीजी कोर्स के लिए सरकारी सहायता प्राप्त और निजी कॉलेजों में दाखिले की प्रक्रिया शुरू होगी। दाखिला लेने के इच्छुक छात्र इन साइटों पर 7 जुलाई तक आवेदन कर सकते हैं।
> इस बार सीसीएसयू में कम आवेदन होने की है संभावना
> आपको बता दें कि इस वर्ष जिले के डिग्री कॉलेज में कम संख्या में पंजीकरण होने की संभावना है। इसका कारण कॉलेज में एडमिशन से संबंधित नियमों में विश्वविद्यालय द्वारा बदलाव करना भी है। इस बार आधार कार्ड और अन्य जरूरी दस्तावेजों के होने पर ही छात्र ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। आपको बता दें कि आधार कार्ड नहीं होने पर छात्र एडमिशन के लिए आवेदन नहीं कर सकेंगे।
> इस बार नहीं होगा ऑफलाइन आवेदन
> डिग्री कॉलेज के प्रोफेसर आरके गुप्ता ने बताया कि इस बार यूजी और पीजी कोर्स के छात्रों को ऑनलाइन ही आवेदन करना होगा। इस बार ऑफलाइन आवेदन नहीं होंगे। सीसीएसयू द्वारा जारी की गई साइट पर ही छात्र दाखिले के लिए अपने सभी दस्तावेजों के साथ आवेदन करें।
> 15 जुलाई से कॉलेज में लगेगी लिस्ट
> प्रोफेसर ने बताया कि 7 जुलाई दाखिला लेने के लिए आवेदन की अंतिम तिथि है। इसके बाद कॉलेज में दाखिले की प्रक्रिया शुरू होगी। जिसमें अंकों के आधार पर कॉलेज में छात्रों को एडमिशन दिया जाएगा। पहली लिस्ट 15 जुलाई को लगाई जाएगी। प्रोफेसर गुप्ता के मुताबिक गुरुवार सुबह से यूजी कोर्स के लिए ऑनलाइन पंजीकरण शुरू हो गए हैं। पीजी कोर्स के लिए शाम तक पंजीकरण शुरू हो जाएंगे।

तांत्रिक के ठिकाने पर छापा मार वनविभाग ने बरामद किए प्रतिबंधित वन्यजीव वस्तु

नोएडा. वन विभाग की टीम ने नोएडा के पॉश मार्केट सेक्टर-18 में एक ज्योतिषाचार्य के ऑफिस पर छापेमारी की। इस छापेमारी में भारी मात्रा में प्रतिबंधित जीव-जंतुओं से बनी सामग्री बरामद की गई है। बताया जाता है कि इनका उपयोग तांत्रिक काला जादू, इंद्रजाल व अन्य तंत्र मंत्र विद्या में किया जाता था। वन विभाग के अधिकारियों का दावा है कि ज्योतिषाचार्य के ऑफिस में मिले दस्तावेज व कम्प्यूटरों में दर्ज ब्यौरे से अन्तर्राष्ट्रीय वन्य जीव तस्करी करने वाले रैकेट से ज्योतिषाचार्य के तार जुड़ रहे हैं। वहीं, विभाग ने आशंका जाहिर की है कि पिछले दिनों मेरठ में वन्य जीवों की तस्करी व अवैध पिस्टलों की तस्करी के आरोप में पकड़े गए पूर्व कर्नल व उसके बेटे के रैकेट से भी तांत्रिक के तार जुड़े हो सकते हैं। इसकी छानबीन की भी की जा रही है। छापेमारी के दौरान वन विभाग की टीम ने ज्योषिताचार्य को भी पूछताछ के लिए हिरासत में ले लिया है।
>
> काला जादू, इंद्राजाल में इस्तेमाल की आशंका
> जानकारी के मुताबिक सेक्टर-18 में वन विभाग की टीम ने थाना सेक्टर-20 पुलिस की मदद से अंसल फॉर्च्यून आर्केड बिल्डिंग में स्थित एस्ट्रो देवम नाम के ज्योतिषाचार्य के ऑफिस पर छापेमारी की। इसके मालिक ज्योतिषाचार्य कल्लीकृष्णन है। वन विभाग की टीम ने बेसमेंट व प्रथम तल स्थित ऑफिस पर छापेमारी कर वहां से प्रतिबंधित समुद्री जीव व अन्य जीव जंतुओं से बनी वस्तुओं व अन्य सामग्री जब्त की है। शंका है कि इसका प्रयोग तांत्रिक काला जादू, इंद्राजाल व तंत्र-मंत्र में करता होगा।
> ज्योतिष और कर्मचारियों से शुरू की पूछताछ
> वन विभाग ने ऑफिस में मौजूद कर्मचारी व ज्योतिषाचार्य को पूछताछ के लिए हिरासत में ले लिया। इसके बाद दोनों ऑफिस की गहनता से छानबीन की। ऑफिस में मिली डायरी, आठ कम्यूटरों के डाटा चेक किए, जिसमें देश व विदेश से डील किए जाने वाले लोगों के नंबर मिले हैं। छापेमारी के दौरान मौजूद डीएफओ एचबी गिरीश ने बताया कि सूचना के आधार पर कार्रवाई की गई है। आशंका है कि जांच के बाद एक बड़े अन्तर्राष्ट्रीय रैकेट का खुलासा होगा। वहीं, छापेमारी के बाद पता चला कि ज्योतिषाचार्य लोगों को वास्तु ज्ञान, जन्मकुंडली, रत्न, रूद्राक्ष व तंत्र मंत्र के लिए प्रतिबंधित साम्रगी भी देते थे।