Daily Archive: August 29, 2017

नॉएडा के जिला अस्पताल में मिले डेंगू के दो मरीज।

नॉएडा के जिला अस्पताल में डेंगू से ग्रस्त दो मरीज इनमे से एक मरीज दिल्ली का है और दूसरा नॉएडा के सेक्टर 58 का है दिल्ली से आए डेंगू के मरीज की रिपोर्ट दिल्ली के स्वास्थ्य विभाग को भेजी जायगी जबकि नॉएडा के सेक्टर 58 के मरीज के यहाँ स्वास्थ्य विभाग की टीम जायगी और उसके घर के आस पास का जायजा लेगी और जहाँ जहाँ डेंगू का लार्वा मिलेगा वह या लार्वा पनापने वाले स्थानों में दवाई का छिड़काव किया जायेगा व अन्य लोगो की स्वास्थ्य की जाँच की जायेगी । हलाकि इस बार डेंगू के मरीजों की संख्या काफी कम मात्रा में मिली है जबकि स्वाइन फ्लू के 55 मरीजों की पुष्टि स्वास्थ्य विभाग ने की है । डॉक्टर की माने तो डेंगू का ज्यादा खतरा सितंबर और ऑक्टूबर के महीने में होता है । ऐसे में मच्छरों से बचाव के एतिहात बरतना चाहिये।

नोएडा में 30-31 अगस्त को योगी का उच्चस्तरीय म ंत्रीमंडल सुनेगा लोगो की समस्याएँ

नॉएडा – सीएम योगी आदित्यनाथ ने गौतमबुद्ध नगर व् गाज़ियाबाद समस्याओ के समाधान के लिए नगर विकास एव संसदीय कार्य मंत्री सुरेश खन्ना की अगुवाई में 3 मंत्रियो की कमिटी बनाई है। तीनो मंत्री 30 व् 31 अगस्त गौतमबुद्ध नगर नॉएडा ,ग्रेटर नॉएडा व् गाज़ियाबाद के लोगो से मिलेंगे। ये दोनों जिलों की समस्याओ पर रिपोर्ट सोपेंगे। गौतमबुद्ध नगर एनसीआर ही नहीं प्रदेश का प्रमुख है। यहां की समस्याओ की स्टडी करने व् उनके समाधान के लिए योगी आदित्यनाथ ने सुरेश खन्ना की अगुवाई में अधोगिक विकाश मंत्री सतीश महाना और गन्ना विकास मंत्री एव चीनी

उधोग राज्यमंत्री सुरेश राणा राणा की कमेटी बनाई है। यह कमिटी शीघ्र ही मुख्यमंत्री रिपोर्ट सौपेगी। मंत्री 30 ,31 अगस्त को गौतमबुद्ध नगर नॉएडा समेत जगह के लोगो की समस्याएँ सुनेगे।

मज़हब नही सिखाता, आपस मे शोर करना”, नॉएडा ट्र ैफिक पुलिस ने संत के साथ दिया सन्देश

"मज़हब नही सिखाता, आपस मे शोर करना" इसी मंत्र के साथ अंतरराष्ट्रीय आध्यात्म गुरु स्वामी दीपांकर ने बढ़ते ध्वनि प्रदूषण को कम करने की एक बड़ी मुहिम की शुरुआत की है

ध्वनि प्रदूषण को रोकने के लिय एक मुहीम की शुरुआत नोइडा ट्रैफिक पुलिस के साथ मिलकर मज़हब नही सिखाता, आपस मे शोर करना नाम से एक जागरूकता मुहीम शुरू करी । इसी मंत्र के साथ अंतरराष्ट्रीय आध्यात्म गुरु स्वामी दीपांकर ने बढ़ते ध्वनि प्रदूषण को कम करने की एक बड़ी मुहिम की शुरुआत की है ।

आज सड़क पर लाखों गाड़ियां दौड़ती हैं और बेवजह हॉर्न और प्रेशर हॉर्न का इस्तेमाल करती है। जिससे ज़बरदस्त ध्वनि प्रदूषण होता है। इस ध्वनि प्रदूषण के जानलेवा नुकसान हैं । लोग बहरे होने लगते हैं । उनके सुनने की क्षमता कम होने लगती है। ऐसे में गाड़ी चलाने वाले लोग कम हॉर्न का इस्तेमाल करे, यही सिखाने के लिए स्वामी दीपंकर ने नोएडा के सेक्टर 18 में ट्रैफिक पुलिस के साथ मिलकर बेवजह हॉर्न बजाने वाली हर गाड़ी के ड्राइवर गुलाब का फूल देकर गुज़ारिश की कि बेवजह हॉर्न का इस्तेमाल ना करे ।अमूमन बेवजह हॉर्न बजाने और प्रेशर हॉर्न का इस्तेमाल करने पर ट्रैफिक पुलिस चालान करती है लेकिन स्वामी दीपांकर के साथ मिलकर ट्रैफिक पुलिस ने भी लोगो को हिदायत दी।

अंतरराष्ट्रीय स्वामी दीपंकर ने ये मुहिम नो टू नॉइज़ के नाम से शुरू की है । नोइडा से इस मुहिम की शुरुआत कर इसे देश भर में ले जाने और शोर काम करने के लिए लोगो को जागरूक करने का मिशन है नो टू नॉइज़ । नॉएडा ट्रैफिक पुलिस और स्वामी महाराज ने अपील करि है की अगर आप भी गाड़ी चलाते हैं तो हॉर्न का कम इस्तेमाल करें ।

इस ट्रैफिक मुहीम में नॉएडा ट्रैफिक पुलिस के टीआई लायक सिंह ने जरुरी सहयोग प्रदान किया।

आम्रपाली बायर्स ने माँगा प्रधानमंत्री से मिलने का समय, देश के चौकीदार से हस्तक्षेप की म ांग!

नॉएडा के सेक्टर 62 में स्थित आम्रपाली के दफ्तर के सामने बायर्स का धरना लम्बे समय से जारी है । बायर्स पिछले 12 अगस्त 2017 से सेक्टर 62 में धरने पर जमे है।
मंगलवार को भी बायर्स ने बिल्डर , प्रशासन और सरकार के खिलाफ जम के नारे बाजी की और विरोध प्रदर्शन किया । हर जगह से हारकर अब बायर्स ने ईमेल- पत्र के द्वारा प्रधानमंत्री से मिलने का समय माँगा है और गुहार लगाई है कि प्रधानमंत्री उनकी मदद करे और बिल्डर के खिलाफ कार्यवाही कर उन्हें उनका घर दिलवा दे.
बायर्स ने जो ईमेल व पत्र भेजा है उसमें बायर्स ने बिल्डर और प्रशासन की तरफ से हो रही परेशानियों से अवगत करते हुए बताया कि न तो बिल्डर हमारी सुन रहा और ना ही प्रशाशन। हमने अपनी गाढ़ी कमाई से घर के लिये पैसे जमा कराया था पर बिल्डर हमारे साथ धोखा कर रहा है और प्रशासन भी कोई सुनवाई नहीं कर रहा है ।
इसके अलावा बायर्स ने आरोप लगाया है की सरकार या विपक्ष के तरफ से जो नेता आते है वो सिर्फ आश्वाशन दे कर चले जाते है और हमारी समस्या वहीँ की वहीँ बने रहती है बायर्स ने प्रधानमंत्री से मांग की है कि वो हस्तक्षेप कर के हमें हमारे घर जल्द दिलवाया जाए।

नॉएडा में 57 पहुँचा स्वाइन-फ्लू मरीजों का आ ंकड़ा, स्वास्थ विभाग में मची हड़कंप !

नोएडा में स्वाइन फ्लू के मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है | जिसको लेकर स्वास्थ विभाग ने अपनी कमर कसनी शुरू कर दी है | नोएडा में तीन नये मरीजों में बीमारी की आधिकारिक पुष्टि होने के बाद कुल स्वाइन फ्लू का आंकड़ा 57 तक पहुंच गया है। साथ ही अब तक 1500 से अधिक स्वाइन फ्लू के संदिग्ध मरीज विभिन्न निजी व सरकारी अस्पताल में सामने आ चुके हैं। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. अनुराग भार्गव ने बताया कि शनिवार को राष्ट्रीय रोग नियंत्रण केंद्र से तीन नये मरीजों में स्वाइन फ्लू होने की पुष्टि की गई है।

चोरों ने पेट्रोल कार में डलवाया डीज़ल, स्टा र्ट न होने के कारण पकड़ी गई परसों नॉएडा शोरूम स े लूटी कार!

नोएडा में बदमाशों के हौसले बुलंद होते जा रहे है | दरसल मामला है नोएडा के सेक्टर 62 का जहाँ बदमाशों ने रेनो सर्विस सेंटर से गार्डों की पिटाई कर चार डस्टर गाड़ी को लेकर फरार हो गए थे | हलाकि पुलिस इस मामले की जाँच कर रही थी | खासबात ये है की लूटी हुई चार डस्टर में से एक डस्टर बदमाद हो गई |

लूटी हुई डस्टर कैसे हुई बदामद

रेनो सर्विस सेंटर से गार्डों की पिटाई कर लूटी गई चार में से एक डस्टर कार गढ़ मुक्तेश्वर हापुड़ से बरामद हो गई है। कार सेक्टर 62 में रहने वाली शिखा मिश्रा की है। नोएडा में लूट करने के बाद बदमाश चारों डस्टर कार लेकर हापुड़ भागे थे। गढ़ के एक पेट्रोल पंप पर उन्होंने चारों गाड़ियों में तेल डलवाया। शिखा की डस्टर कार पेट्रोल इंजन की है। जिसमें बदमाशों ने डीजल डलवा दिया। इस कारण वह स्टार्ट नहीं हो सकी। जिसे पेट्रोल पंप पर ही छोड़कर बदमाश फरार हो गए। कार पर सेक्टर 62 नोएडा आरडब्ल्यूए का स्टीकर लगा था। जिसके आधार पर पेट्रोल पंप संचालकों ने सेक्टर 62 आरडब्ल्यूए दफ्तर का नंबर खोजा। उस नंबर पर फोन कर डस्टर बरामद होने की जानकारी दी। साथ ही हापुड़ पुलिस को बताया। जहां से नोएडा पुलिस को जानकारी दी गई। नोएडा पुलिस ने कार को कब्जे में लिया है। सर्विलांस की मदद से जांच चल रही है। बदमाशों के बारे में पुलिस को अहम सुराग हाथ लगे हैं। जिससे उम्मीद जताई जा रही है कि सर्विस सेंटर पर डकैती करने वाले बदमाशों को जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा। सर्विस सेंटर कर्मचारी ने दिया है वारदात को अंजाम
पुलिस को जांच में पता चला है कि सर्विस सेंटर से लूट में एक कर्मचारी का भी हाथ है। वह घटना के बाद से लापता है। पुलिस उसके बारे में पता लगा रही है। जिस तरह से वारदात को अंजाम दिया गया था, उससे पुलिस को पहले ही साफ हो गया था कि वारदात में सर्विस सेंटर के कर्मचारी का हाथ है।