Daily Archive: September 20, 2017

एमिटी की छात्रा ने की आत्महत्या, थाना 39 इला के की घटना

नोएडा के सेक्टर 45 आम्रपाली सफायर सोसाइटी में एमिटी की एमबीए फर्स्ट ईयर की छात्रा ने की आत्महत्या । नोएडा के थाना 39 क्षेत्र इलाके की घटना। सुचना मिलते ही मौके पर पहुँची पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

कालिंदी कुंज मार्ग ओखला बैराज गेट की मरम् मत के लिए करीब डेढ़ माह तक रहेगा बंद

दिल्ली व नोएडा को जोड़ने वाला कालिंदी कुंज मार्ग ओखला बैराज गेट की मरम्मत के लिए करीब डेढ़ माह तक बंद रहेगा। दिल्ली से आने वाले लेन को रात 10 बजे से सुबह छह बजे तक बंद करने व डायवर्जन के लिए यूपी सिंचाई विभाग ने गौतमबुद्ध नगर और दिल्ली टै्रफिक पुलिस से अनुमति मांगी है। दरसल 22 सितंबर से छह नवंबर तक इस मार्ग को बंद करते हुए बैराज के गेट बदले जाएंगे। हालांकि, गौतमबुद्ध नगर ट्रैफिक पुलिस ने मरम्मत का काम दुर्गा पूजा बाद शुरू करने की सलाह दी है।

गेट बदलने व मरम्मत कार्य के दौरान सामान लाने व ले जाने के लिए गाड़ियों को कोई समस्या नहीं होगी। सिंचाई विभाग के अनुसार बैराज के गेट काफी पुराने हो गए हैं। इसके कारण उन्हें बदलना जरूरी है। 24 घंटे काम होगा, लेकिन ट्रैफिक व्यवस्था और आम लोगों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए दिल्ली से आने वाले लेन को केवल रात के समय ही बंद करने की अनुमति मांगी गई है। सिंचाई विभाग प्रयास करेगा की जल्द से जल्द कार्य पूरा हो सके।

प्रदेश के इंजीनिरिंग -मैनेजमेंट कॉलेजों में पढ़ने वाले छात्र अब किसी भी संस्थान की लै ब का कर सकेंगे इस्तेमाल

प्रदेश के इंजीनिरिंग -मैनेजमेंट कॉलेजों में पढ़ने वाले छात्र अब किसी भी संस्थान की लैब का इस्तेमाल कर सकेंगे। इसके लिए डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम प्राविधिक विश्वविद्यालय (एकेटीयू) छात्रों को स्टार्टअप कार्ड देगा। एकेटीयू के नोएडा कैंपस में एक बैठक का आयोजन किया गया। जिसमें शोध-अनुसंधान को बढ़ावा देने के मुद्दे पर विस्तार से चर्चा हुई।

विवि के अधिकारियों ने कहा कि शोध को बढ़ावा देने के लिए जरूरी है कि कॉलेज अपने संसाधनों को आपस में साझा करें। उदाहरण के तौर पर किसी कॉलेज में मैकेनिकल ब्रांच की लैब काफी अच्छी है तो किसी में इलेक्ट्रिकल की। ऐसे में सभी संस्थानों के छात्रों को इसका फायदा मिलना चाहिए। ताकि वे लैब में अपने आइडिया को मूर्त रूप दे सकें। इसी को ध्यान में रखते हुए स्टार्टअप कार्ड देने की योजना तैयार की गई। कम से कम 250 छात्रों को कार्ड प्रदान किया जाएगा। जो एक साल तक वैध होगा। अगर किसी छात्र का प्रोटोटाइप विशेषज्ञों को पसंद आता है तो उसे स्कॉलरशिप भी दी जाएगी। साथ ही प्रोजेक्ट पर कार्य करने के लिए जगह भी मुहैया कराई जाएगी। बैठक में एकेटीयू के कुलपति प्रो. विनय कुमार पाठक, यूपी इंस्टीट्यूट ऑफ डिजाइन (यूपीआईडी) के निदेशक प्रो. विरेंद्र पाठक, सलाहकार श्रीजन पाल सिंह समेत करीब 50 कॉलेजों के प्रतिनिधि मौजूद थे।