Daily Archive: December 26, 2017

नॉएडा : बच्चो को जहर देने का परिजनों ने दुक ानदार पर लगाया आरोप

नॉएडा : छिजारसी गांव में दो बच्चो को एक दूकान के अन्दर जहर खिलाने का मामला प्रकाश में आया है। बच्चो के परिवार वालो ने दुकानदार के ऊपर आरोप लगाया है। छिजारसी में सैलून से निकलते ही दोनों बच्चे जब उल्टियां करने लगे, तब परिजनों ने बच्चों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया। मंगलवार दोपहर बाद जब इसकी शिकायत पुलिस से की गई तब फेज थ्री पुलिस ने दुकानदार को हिरासत में ले लिया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। छिजारसी निवासी शहाबुद्दीन एक फैक्ट्री में काम करते हैं। उनके बेटे आठ वर्षीय समीर व चार वर्षीय अयान पड़ोस में एक सैलून में बाल कटाने आए थे। बाल कटाने के बाद दोनों जब सैलून से बाहर निकले तब उल्टियां करने लगे। इसके बाद परिजनों ने दोनों अस्पताल में भर्ती कराया और पुलिस को सूचना दी। कोतवाली फेज थ्री के प्रभारी निरीक्षक जितेंद्र कुमार का कहना है कि आरोपी को हिरासत में ले लिया गया है और अस्पताल में भर्ती दोनों बच्चे की हालत में सुधार हो रहा है। परिजनों की तहरीर व मेडिकल रिपोर्ट के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी। परिजनों ने पुलिस को अब तक कोई लिखित तहरीर नहीं दी है। पुलिस आरोपी सैलून दुकानदार आसिफ से पूछताछ कर रही है।

नॉएडा : पैकेजिंग कंपनी में लगी आग लाखो का मा ल जलकर हुआ खाक

नोएडा। देर रात कपंनी में में भयंकर आग लग गयी , आग बुझाने के लिए दमकल विभाग की 14 गाड़ियों ने आग पर काबू पाया। जानकारी के अनुसार नॉएडा फेस 2 सेक्टर- 83 स्थित में देर रात करीब डेढ़ बजे सकोपैकेजिंग कंपनी में आग लग गई जिसमें लाखों का माल जलकर खाक हो गया है। हालांकि आग सुबह तक ही बुझ पायी, दमकल विभाग का कहना है आग लगने की सूचना देरी से दी गई थी। यदि समय से सूचना मिल जाती तो इतना नुकसान नहीं होता। रात ए 40, सेक्टर- 83 फेज टू के फैक्ट्री मालिकों द्वारा आग लगने की सूचना देरी से दी गई। जिसके बाद फायर विभाग की दो गाड़ियों को दस मिनट के अंदर मौके पर भेजा गया। लेकिन हमारे कर्मियों ने जानकारी दी कि आग बहुत फैल चुकी है जिसके चलते हमारे द्वारा आसपास के स्टेशनों से 14 और गाड़ियों को मौके पर भेजा गया। जिसके बाद आज सुबह आग पर काबू पाया जा सका
अधिकारी ने बताया कि इस कंपनी में प्लास्टिक और कागज की पैकेजिंग रेपर तैयार किए जाते हैं और फिलहाल नुकसान कितना हुआ है उसपर कुछ कहना मुश्किल है। उन्होंने बताया कि नुकसान लाखों में हुआ है लेकिन इसके बारे में कंपनी मालिक ही सही आंकलन करके बताएंगे। वैसे तो कंपनी पूरी तरह जलकर खाक हो चुकी है लेकिन दमकल विभाग जांच करके आग लगने के कारणों का पता लगाएगा।