Daily Archive: April 3, 2018

थानाध्यक्षों में फिर बदलाव, क्या कभी थाना स्तर पर कानून व्यवस्था भी बदलेगी ?

नोएडा

जिले की कमान संभालने वाले पुलिस कप्तान हर कुछ महीनों में थानों की कमान में फेर बदल करते रहे हैं । हर कप्तान के कार्यकाल में यह क्रम बदस्तूर जारी रहा है, पर थानों के मद में आनी वाली चैन स्नेचिंग, मोबाइल स्नेचिंग जैसी घटनाएं ज्यों की त्यों बनी रही है। अब इस नए फेरबदल के बाद भी कुछ बदलाव आएंगे या ये भी मात्र खानापूर्ति तक सीमित रहेगा, यह तो वक्त बताएगा । बरहाल अभी थानाध्यक्ष 20 के वरिष्ठ आर एस एस नेता राकेश सिन्हा के साथ कथित तौर पर की गई बदसलूकी के बाद विभिन्न थानों में फिर बदलाव किए गए है ।

अखिलेश त्रिपाठी अब बिसरख की कमाान संभालेंगे तो मनीष सक्सेना को थाना 20 सौंपा गया है । पंकज राय सूरजपुर, सत्येन्द्र राय फेज 2 और दिलीप बिष्ट थाना 24 के सर्वेसर्वा बने है।

बरहाल जनता अभी भी थानों से उतना ही बचना चाहती है जितना कि पहले किसी भी और कार्यकाल में। पिछले कप्तान ने भी थानों से संबंधित अनेकों शिकायतें देखी और बदलाव की कोशिश करते रहे पर उनकी जनप्रिय कार्यशैली ऐसी रही की लोग दरोगा से तो डरते रहे पर हर छोटी बड़ी बात पर उनकी चौखट पर भीड़ हमेशा बढ़ती रही।

अब क्या थाना स्तर के मामलों का निपटारा वहीं होगा या कुछ और मंजर देखने को मिलेगा इसपर सबकी निगाहें टिकी हैं । नए कप्तान के नेतृत्व में कहां और कितना बदलाव आता है ये देखने वाली बात होगी।

CAG submits report on DND toll collection to Supreme Court, hearing in July!

Comptroller and Auditor General (CAG) today submitted its report on Delhi-Noida-Delhi (DND) flyway toll collection case to Supreme Court. Court is expected to hear the matter in July reported ANI.

DND toll collection has been stopped following an order of the court. However CAG led inquiry was ordered to investigate the toll collection details of the Delhi Noida Delhi Flyway which is accessed by very large number of vehicles everyday.

नॉएडा में छात्र उत्पीड़न के मामले में अभिभ ावक व् स्कूल प्रबधक आपस भिड़े , थाने में हुआ मा मला दर्ज

नॉएडा : एक छात्र के अभिभावक ने निजी स्कूल के ऊपर छात्र को मानसिक उत्पीड़न करने का साथ ही

अभिभावक

ने थाने में शिकायत दर्ज की है। मामला थाना 24 का है , सेक्टर-33 स्थित एसीसी कॉन्वेंट स्कूल पर एक छात्र के

अभिभावक

ने छात्र के मानसिक उत्पीड़न का आरोप लगाते हुए कोतवाली सेक्टर-24 पुलिस से शिकायत की है। तो वहीं इन आरोपों को स्कूल प्रबधक ने ख़ारिज करते हुए उल्टा ही छात्र के अभिभावक पर स्कूल फूंकने की धमकी देने और वाइस प्रिंसिपल से बतमीजी करने का आरोप लगाते हुए छात्र केअभिभावक के खिलाफ पुलिस से शिकायत की है। पुलिस दोनों की शिकायत के आधार पर

अभिभावक

और स्कूल प्रबधक की शिकायत पर जांच कर रही है। घटना 23 मार्च की है।पुलिस जानकारी के मुताबिक, सेक्टर-71 निवासी अभिषेक साह सेक्टर-33 स्थित एसीसी कॉन्वेंट स्कूल में सातवीं क्लास का छात्र है। कुछ दिनों पहले स्कूल की ओर से रिजल्ट डिकलेयर किया गया, जिसमें अभिषेक दो सब्जेक्ट में फेल हो गया। बताया जाता है कि, अभिषेक की मदर स्कूल पहुंची और वाइस प्रिंसिपल से मिली। उन्होंने स्टूडेंट को सातवीं क्लास में पास करने के लिए वाइस प्रिंसिपल पर दबाव बनाया। लेकिन, प्रिंसिपल ने ऐसा करने के लिए बिल्कुल मना कर दिया। आरोप है कि, इस दौरान छात्र की मदर ने वाइस प्रिंसिपल से गलत बर्ताव किया,और गालीगलौच की। स्कूल प्रबधक ने आरोप यह भी लगाया गया है कि छात्र के पिता भी स्कूल पहुंचे और प्रिंसिपल से उन्होंने छात्र को पास न करने पर स्कूल में आग लगाने की भी धमकी दी। तो वहीं छात्र के

अभिभावक

का आरोप है कि, स्कूल ने उनके बेटे का मानसिक उत्पीड़न भी किया और जानबूझकर उनके बेटे को सातवीं क्लास में फेल किया। फिलहाल, पुलिस का कहना है कि

अभिभावक

और स्कूल प्रबधक द्वारा जो आरोप लगाए गए हैं उनकी जांच की जा रही है।स्कूल परिसर सीसीटीवी से लैस है। कयास लगाए जा रहे है कि, यह घटना भी सीसीटीवी कैमरों में कैद हो सकती है। वहीं पुलिस का कहना है कि, स्कूल मैनेजमेंट से भी सीसीटीवी फुटेज मांगी गई है। जांच के बाद जो भी आरोपी पाया जाता है उसके खिलाफ एफआईआर दर्ज कर उचित कार्रवाई की जाएगी

नॉएडा : लूट की घटनाओ को अंजाम देने वाले फर् जी पत्रकार सहित चार गिरफ्तार ,

नॉएडा : चोरी के मोबाइल ऑनलाइन कॉमर्स वेबसाइट व्

ओएलएक्स

पर बेचने वाले एक गोरोह का पुलिस ने पर्दाफाश करके चार लोगो को गिरफ्तार किया है साथ ही इनके पास से 5 मोबाइल फ़ोन ,2 बाइक और 2 तमंचे भी बरामद किये है। थाना सेक्टर- 58 पुलिस ने चारों को कोर्ट में पेश करने के बाद जेल भेज दिया। पुलिस जानकारी के अनुसार सोमवार को

सेक्टर-58 में पुलिस ने चेकिंग के दौरान बहलोलपुर के राघवेंद्र सिंह, खोड़ा कॉलोनी के विशाल यादव और नवादा सेक्टर-62 के श्रवण कुमार व कपिल को पकड़ा गया। इनमें श्रवण चाय की दुकान, विशाल यादव कॉल सेंटर पर, कपिल हाउस कीपिंग और राघवेंद्र सिंह एक्सपोर्ट कंपनी में काम करता है। इस गिरोह का सरगना राघवेंद्र सिंह है। उसने खुद को मीडियाकर्मी बताकर लूटपाट करने और लूट के माल को ओएलएक्स पर बेचने का तरीका बाकी साथियों को बताया था। असल में

राघवेंद्र सिंह ने ही इस गेंग की नीव रखी थी और ये ही अपनी टीम का मास्टरमाइंड था , लूट की घटनाओ को अंजाम देते समय भी ये अपने गिरोह के साथ रहता था। ताकि बाकी लोग लूट करते और बाद में राघवेंद्र पत्रकार बनकर थाने में जाकर अंदर की टोह लेता। पूछताछ में चारों आरोपियों ने अपना गुनहा कबूला किया है अब तक 100 से ज्यादा मोबाइल फोन ओएलएक्स पर बेच चुके हैं। और 70 से जयादा वारदातों की घटनाओ अंजाम दे चुके है।