Daily Archive: April 12, 2018

35 IAS UTTAR PRADESH OFFICERS ARE TRANSFERRED

उत्तर प्रदेश में 35 आईएएस अफसरों के तबादले

चंचल कुमार तिवारी अपर मुख्य सचिव राजस्व

राजेंद्र तिवारी अपर मुख्य सचिव पंचायतीराज

सुरेंद्र चंद्रा प्रमुख सचिव श्रम

अवधेश तिवारी सीईओ ग्रामीण सड़क

राजमणि यादव सचिव सिंचाई

शरद कुमार सिंह सचिव खेलकूद

श्रुति सिंह विशेष सचिव कृषि विभाग

नरेंद्र प्रसाद पांडेय विशेष सचिव दिव्यांग

शिवप्रसाद सचिव राज्य सूचना आयोग

ब्रह्मदेव तिवारी एमडी रोडवेज

कुशीनगर डीएम आंध्रा वाम्सी हटाए गए

विशेष सचिव इलेक्ट्रानिक बने आंध्रा वाम्सी

डॉ. अनिल कुमार सिंह डीएम कुशीनगर

बाराबंकी डीएम अखिलेश तिवारी हटाए गए

अखिलेश तिवारी विशेष सचिव गृह बने

उदयभान त्रिपाठी डीएम बाराबंकी बने

संगीता सिंह विशेष सचिव श्रम

डीएम सुल्तानपुर संगीता सिंह हटाई गई

विवेक जिलाधिकारी सुल्तानपुर बने

सुधेश ओझा मंडलायुक्त देवीपाटन बने

मिर्जापुर डीएम विमल दुबे हटाए गए

विमल दुबे एमडी सहकारी चीनी मिल

अनुराग पटेल डीएम मिर्जापुर बने

वैभव श्रीवास्तव विशेष सचिव परिवहन

अमित बंसल वीसी गोरखपुर प्राधिकरण

विवेक वार्ष्णेय एमडी यूपी एमडी सीएनडीएस

अनिल मिश्रा विशेष सचिव कार्यक्रम क्रियान्वयन

एस. राजलिंगम मिशन निदेशक ग्रामीण आजीविका

सुरेंद्र राम विशेष सचिव ग्राम्य विकास

अनुज झा जिलाधिकारी बुलंदशहर

उज्जवल कुमार निदेशक सूचना उत्तर प्रदेश

यशु रुस्तगी विशेष सचिव वित्त

अजय चौहान से एमडी पीसीएफ का काम हटा

सचिव सहकारिता बने रहेंगे अजय चौहान

नॉएडा : सेक्टर 18 मार्किट एसोसिएशन ने नॉएडा प्राधिकरण की कूड़ा प्रणाली पर उठाए सवाल

नॉएडा : कूड़े के निस्तारण के लिए राजनीतिक दलों से लेकर सामाजिक संस्थाओं ने अनेको बार सड़को पर उतरकर शासन व प्रशासन के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया , लेकिन आज तक कूड़े का समाधान नही हो सका । वही कूड़े की समस्या आज भी नोएडा के हर सेक्टरों में ऐसी बनी हुई है। जिसकी वजह से आज सड़को व मार्किट के आसपास कूड़े के ढेर लगे हुए है । जिसका असर लोगो के साथ साथ व्यापार पर भी पड़ रहा है । इसी गंभीर मुद्दे को लेकर आज सेक्टर 18 मार्किट एसोसिएशन ने नोएडा प्राधिकरण द्धारा शहर से अचानक कूङा न उठाए जाने पर प्राधिकरण के खिलाफ आक्रोश जाहिर किया गया । इस मौके पर सेक्टर 18 मार्किट एसोसिएशन के अध्यक्ष सुशील कुमार जैन ने कहा कि सेक्टर 18 मे जगह-जगह कूङो के ढेर लगे होने पर अपनी आपत्ति एवं चिंता व्यक्त की ।

साथ ही प्राधिकरण से कुछ सवाल किए :– (1) क्या प्राधिकरण ने जब शहर की परिकल्पना की और समय समय पर नोएडा का मास्टर प्लान बनाया तब कूङा डालने के लिए ऐसे डम्पिंग यार्ड क्षेत्र की परिकल्पना क्यों नही की, कूड़ा डालने के लिए आबादी से दूर क्षेत्र की चिन्हित किया जाए , जिससे की बार बार जनता आन्दोलन कर सङक पर न उतरे।
(2) क्या नोएडा के बनने के इतने समय बाद भी आज तक कोई कूड़ा निस्तारण की आधुनिक तकनीक का सृजन नही हो सकता था।
(3) क्या शहर मे जगह जगह कूङा ना उठने की बजह से बीमारिया महामारी की तरहा नही फैलेगी।

वही उनका कहना है की नोएडा के सेक्टर 18 मार्किट की गंदगी की बजह से बाजार की प्रतिष्ठा को गहरा धक्का लग रहा है। नोएडा के सभी मार्किट की सफ़ाई ग्राहक के आने से पहले सुनिश्चित की जानी चाहिए , परन्तु एसा नहीं हो रहा है। हर मार्किट में लगातार दिन में तीन से चार बार कुंडा उठना चाहिए । साथ ही उन्होंने बताया की एक तरफ देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी स्वक्छ भारत को बनाने के लिए अहम कदम उठा रहे है , इसके बावजूद सरकारी अधिकारी और कर्मचारी इस अहम कदम में सहयोग नहीं दे रहा है |