Daily Archive: July 22, 2018

Why a comman man required references for registered his complaint to Police station in Noida City.

How safe we are in a Metropolitan City/NCR. We are talking about Noida City adjacent to Delhi capital of India.

What a joke ? A common citizen is not able to registered his complaint in police station. A common man is now searching some references for registered his complaint with police who has refused to help him.

Friends, if we go through this application we are able to find that our resident raised his voice against noise pollution and villagers have given him life threat.

A big question raised here is that if some one give you life threat then where you you will go, *Police station or Noida authority?*

Another question is as to who is responsible for administring policies during night like Noise polution, (loud music, inconvenience, Noise, etc.) Police or Noida Authority ?

Everybody know that for these problem we have to dial hundred (dial 💯) and registered our complaint to our police station.

But what we do when our senior officers of police refuse to registered complaint and even refused to accept a written complaint?

The police authorities of police station sector-49 Noida has refused to accept the written complaint from a resident of sector 51 Noida .

The police authorities have asked the resident to approach CEO, Noida authority for this . According to police authorities the problem is violation of court directives by the villagers which amounts to be a contempt of court case against Noida police, Noida District magistrate and CEO Noida authority as well as the villagers who are threatening the sector residents. But to our surprise no body has come to his reseque.

Where the sector residents to go now?

He is without any protection. The villagers are bent upon to harm or kill him and his family because he called PCR during night because of louder music as well as other nuisance by bad elements in his neighbour.

*Will any body help him?*

Regards

Sanjeev Kumar
General Secretary
RWA-51, Noida

सावन के गीतों से गूंजेगा एनईए ऑडिटोरियम, न वरत्न फाउंडेशन की संगीतमय संध्या का आयोजन आज !

नॉएडा के एनईए ऑडिटोरियम में आज एनईए फाउंडेशन द्वारा सावन के गीतों से सजी एक संगीतमय महफ़िल का आयोजन किया जा रहा है। पावस संगीत संध्या और जो आए वो गाये के सीजन 2 के अंतर्गत कई मनमोहक प्रस्तुतियों से दर्शकों को सावन के स्वागत में संगीत संग झूमने का मौका मिलेगा।

नवरत्न फाउंडेशन ने आयोजित की “नव स्वास्थ स ंरक्षण में योग की भूमिका” पर स्वास्थ्य परिचर ्चा

एनईए ऑडिटोरियम में चल रहे कार्यक्रम में योगाचार्य योगाचार्या विनय भारती द्वारा स्वस्थ जीवन के लिए योग के उपयोग पर परिचर्चा आयोजित की गई है। इस स्वास्थ्य परिचर्चा को नवरतन फाउंडेशन ने आयोजित किया है।

इसके बाद सावन के गाने से भरे पावस संगीत और जो आये वो गए के सीजन 2 का भी आयोजन किया जाएगा।

ग़ाज़ियाबाद में गिरी 4 मंजिला निर्माणाधीन ईम ारत, कई के दबे होने की आशंका!

शाहबेरी हादसे को लोग भूल पाते इससे पहले ही ग़ाज़ियाबाद के मसूरी इलाके में हुए एक दुखद घटनाक्रम ने सबको चौंका दिया है। ग़ाज़ियाबाद के आकाश नगर कालोनी में एक 4 मंजिला निर्माणधीन बिल्डिंग तेज बारिश के बीच चरमरा के गिर गई।

बताया जा रहा है की 4 से 6 मजदूर इस ईमारत के मलबे के नीचे दबे हो सकते हैं। राहत एवं बचाव कार्य के लिए पुलिस और एनडीआरएफ की टीम मौके पर पहुँच चुकी है।

*विवो कंपनी से मोबाइल फोन लोड कर गायब करने व ाले 2 शातिर लुटेरों को किया गिरफ्तार, 16 लाख के फ ोन बरामद*

थाना इकोटेक प्रथम पुलिस द्वारा मुखबिर की सूचना पर सिलिकॉन कॉलोनी से दो लुटेरों को विवो के 146 मोबाइल फोन के साथ गिरफ्तार किया गया।

बरामद किए गए मोबाइल फोन की कीमत ₹16 लाख रूपय बताई जा रही है। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार लुटेरे शातिर किस्म के अपराधी हैं जिन्होंने पूछताछ में बताया कि 14-7-2018 को कैंटर में विवो कंपनी से मोबाइल फोन लोड करते वक़्त गायब कर दिए गए थे। जिस के संबंध में थाना इकोटेक प्रथम पर मुकदमा पंजीकृत किया गया था।

पुलिस ने दोनों लूटेरो को गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। दोनों लुटेरों की पहचान मुकेश अग्रवाल पुत्र मदनलाल निवासी मेला रोड द्वारकापुरी नियर सरना होटल जनपद लखीमपुर खीरी और राकेश कुमार पुत्र हरिलाल मोहल्ला अहिरान थाना पलिया जनपद लखीमपुर खीरी के रूप में हुई है ।

एलकॉन स्कूल छात्रा आत्महत्या मामले में प् रिंसिपल सहित 2 शिक्षकों को हुई न्यायिक हिरास त।

नोएडा में स्थिति एल्कॉन स्कूल की 9वीं की छात्रा को आत्महत्या के लिए उकसाने के आरोप में बीते मंगलवार की रात स्कूल के प्रधानाचार्य सहित 2 शिक्षकों को जिला अदालत ने बुधवार से 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया है।

सेक्टर 24 पुलिस ने तीनो आरोपियों को हाईकोर्ट के आदेश पर मंगलवार देर रात गिरफ्तार करके कोर्ट में पेश किया था। आरोपितों के अधिवक्ता ने जमानत देने की मांग की लेकिन कोर्ट ने उनकी मांग को ठुकरा दिया। वही आरोपी को न्यायिक हिरासत में भेजे जाने जाने के बाद छात्रा के परिजनों ने संतोष जताया है

आपको बता दें कि नॉएडा के सेक्टर 52 निवासी छात्र दिल्ली के एल्कॉन स्कूल में नौवीं की छात्रा थी। उक्त छात्रा ने 20 मार्च 2018 को अपने घर में आत्महत्या कर ली थी।

इस बाबत परिजनों ने स्कूल के प्रधानाचार्य धर्मेंद्र गोयल, शिक्षक राजेश अग्रवाल, नीरज आनंद पर छात्रा को परेशान करने का आरोप लगाते हुए रिपोर्ट दर्ज कराई थी। आरोप था कि छात्रा को जानबूझकर कम अंक दिया गया था, इससे छात्रा मानसिक रूप से प्रताड़ित थी।

पुलिस रिपोर्ट दर्ज होने के बाद आरोपियों को गिरफ्तार नहीं कर रही थी जिसके बाद परिजनों ने कोर्ट का दरवाजा खटखटाया। मंगलवार को कोर्ट ने एसएसपी को तलब किया और जांच के प्रति असंतोष जताते हुए सही जांच के निर्देश दिए इसके बाद पुलिस ने तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेजा।

नौकरी से परेशान युवक ने नोएडा की सोसायटी म ें पंखे से लटककर दी जान

सेक्टर 128 स्थित पवेलियन हाइट्स 1 में फरीदाबाद निवासी विकास कुमार ने देर रात फंखे से फांसी लगाकर खुदखुशी कर ली । सूचना मिलने पर एक्सप्रेस-वे थाना पुलिस ने मौके पर पंहुचकर शव को अपने कब्जे में लिया और पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया। वहीं दूसरी तरफ परिजनों को भी इस बाबत सूचना दे दी गई है।

शुरुआती जांच में पता चला है कि परिजनों द्वारा मृतक के बिना मर्जी के किसी निजी कंपनी में उससे काम करवाया जा रहा था जिससे वो नाखुश था। मृतक ने तंग होकर ये कदम उठाया हो सकता है।