Daily Archive: August 8, 2018

प्राधिकरण अधिकारियों ने किया सेंचुरी आपर ्टमेंट का दौरा।

नोएडा : वर्षों से चली आ रही समस्याओं का धरातल पर देखने आज प्राधिकरण के महा प्रबंधक व निदेशक उधान श्री राजीव त्यागी जी व उनकी टीम श्री पोखरियल जी उप महा प्रबन्धक, श्री आर के माथुर जी उप निदेशक उधान व श्री रतिक जी सहा0 प्रबंधक व अन्य प्राधिकरण अधिकारी कर्मचारी मौके पर पहुंचे आर डब्लू पदाधिकारियों के अलावा निवासियों ने सोसिएटी की समस्याओं से उन्हें अवगत करया जिसमे प्रमुख
1. समुदायक भवन व पार्क का निर्माण कार्य जाय।
2. बाहरी नाले का निर्माण पूर्ण करया जाय जिससे पानी ग्रीनबेल्ट में न भरे।
3. अधूरी पड़ी सर्विष रोड का निर्माण करया जाय।
4 पेडों व सड़क किनारे खड़ी झाड़ियों, घास की कटाई-छटाई कराई जाए।
उक्त सभी जल्द कार्यवाई का आस्वासन दिया व कल से छटाई आदि का कार्य शुरू करने के निर्देश अधीनस्थों को दिए।

इलेक्ट्रॉनिक एंड प्रिंट मीडिया वेलफेयर ए सोसिएशन (इंडिया) द्वारा मीडिया कॉन्क्लेव 2018 क ा आयोजन किया गया ।

नोयडा के सेक्टर 16 स्थित Stardom में दिनांक 7 अगस्त 2018 को इलेक्ट्रॉनिक एंड प्रिंट मीडिया वेलफेयर एसोसिएशन (इंडिया) द्वारा मीडिया कॉन्क्लेव 2018 का आयोजन किया गया ।

इस कॉन्क्लेव में मीडिया के साथ समाज के विभिन्न पहलुओं पर चर्चा, आपसी सामंजस्य, राष्ट्र निर्माण में सकारात्मक भूमिका, पुलिस प्रशासन व मीडिया के सामंजस्य, मीडिया कर्मियों की समस्याएं, अधिकार व सुरक्षा, वर्तमान में मीडिया की भूमिका, मीडिया से समाज की अपेक्षा, सोशल मीडिया, प्रिंट व इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के बढ़ते दायरे, खबरों का विश्लेषण आदि मुख्य विषय पर चर्चा हुई।

मीडिया कॉन्क्लेव के प्रथम चरण में पुलिस प्रशासन के साथ पत्रकारों का संवाद हुआ जिसमें मुख्य रूप से एसएसपी नोएडा अजयपाल शर्मा, राजेश कुमार osd नोएडा प्राधिकरण, SP सिटी अरुण सिंह, SP देहात आशीष श्रीवास्तव, SP STF राजीव नारायण मिश्र, SP ट्रैफिक अनिल झा, CO राजीव, CO अनित कुमार, CO स्वेताभ पांडे, CO अवनीश कुमार समेत कई अधिकारियों की पत्रकारों के साथ आपसी सामंजस्य समेत कई विभिन्न मुद्दों पर चर्चा हुई ।

इस मौके पर एसएसपी नोएडा ने संबोधित करते हुए कहा- " मीडिया और पुलिस एक दूसरे के पूरक हैं, खट्टे मीठे संबंध होते है लेकिन मीडिया और पुलिस को आपसी सहयोग से समाज के हित मे कार्य करना चाहिए और हमें यह देखना चाहिए कि समाज मे पुलिस की जो आम छवि है वह अच्छी रहे व उसके लिए हम प्रयासरत रहते है। अच्छे कार्यो में पुलिस का मनोबल बढ़ाने में मीडिया का सहयोग मिलता हमेशा मिलता रहा है।

दूसरे चरण में पत्रकारों की वार्ता सामाजिक संगठनों, किसान यूनियन, साहित्यकार, पर्यावरणविद के साथ पत्रकारों के आपसी सामंजस्य को लेकर चर्चा हुई जिसमे शहर के सामाजिक संगठनों ने बढ़चढ़ कर हिस्सा लिया । ग्रीन मैन विजयपाल बघेल, करप्शन फ्री इंडिया के संस्थापक प्रवीण भारतीय, आलोक सिंह, हरेंद्र भाटी, अनुराग तिवारी इंडियन आयल, आलोक नागर, रूपा गुप्ता, प्रवीण गोयल, अधिवक्ता आर पी शर्मा, प्रमेन्द्र भाटी, अजित भाटी नीरज भाटी, संतराम भाटी, सुनील बंसल, अनिल भाटी, रविदत्त कौशिक, नीरज चौहान अमरुद्दीन खान, जीत नागर, समाजसेवी विनीता गौतम आदि ने सामाजिक सुधारों, महिला सशक्तिकरण, मीडियाकर्मियों की समस्याओं पर अपने विचार रखे।

कॉन्क्लेव के तीसरे चरण में राजनीतिक विषयों पर मीडियाकर्मियों से संवाद हुआ । सरकार से पत्रकारों की मांगे और पत्रकारों की सुरक्षा को लेकर चर्चा हुई । जिसमें मुख्य अथिति के रूप में केंद्रीय मंत्री डॉ महेश शर्मा, प्रवीण कुमार निषाद सांसद गोरखपुर , जेवर विधायक धीरेंद्र सिंह, भाजपा से वरिष्ठ नेता सुनील भराला, बीजेपी कार्यसमिति सदस्य चौधरी शेर सिंह, बीजेपी नेता वीरेंद्र प्रताप सोलंकी, लोकदल नेता रविन्द्र भाटी, कांग्रेस नेता वीरेंद्र सिंह गुड्डू के साथ वरिष्ठ महिला पत्रकार पूनम द्विवेदी, वरिष्ठ पत्रकार आलोक द्विवेदी, उच्चतम न्यायालय की अधिवक्ता व समाजसेवी ऋचा पांडेय समेत कई पत्रकारों ने हिस्सा लिया।

केंद्रीय मंत्री डॉ महेश शर्मा ने कहा कि मीडिया ने चौथे स्तंभ के रूप में देश को मजबूत करने का श्रेय जाता है, मीडिया के माध्यम से हमेशा ही पीड़ित शोषित लोगों को न्याय मिलता है, उन्होंने कहा कि जनता से ज्यादा समझदार और पत्रकार से ज्यादा जानकर कोई नहीं होता, पत्रकार वह प्राणी है जो हो सकता है कि सुबह झुग्गी में मिले और हो सकता है कि रात को प्रधनमंत्री, राष्ट्रपति के साथ डिनर करता मिले । डॉ महेश शर्मा ने मीडिया कॉन्क्लेव 2018 के आयोजकों और इलेक्ट्रॉनिक एंड प्रिंट मीडिया वेलफेयर एसोसिएशन को बधाई दी ।

डिजिटल बोर्ड्स से होती है 40 लाख की कमाई, समा जसेवी रंजन तोमर ने आर टी आई से मंगवाई जानकारी

डिजिटल बोर्ड्स से 40 लाख की कमाई , पर सरकारी योजनाओं को दिखाने में फिसड्डी समाजसेवी रंजन तोमर ने आर टी आई से मंगवाई जानकारी , योजनाओं को जनता तक पहुंचाने की अपील

नॉएडा – युवा समाजसेवी एवं अधिवक्ता श्री रंजन तोमर द्वारा लगाई गई एक आर टी आई से कुछ सामाजिक हित सम्बन्धी खुलासे हुए हैं , डिजिटल ज़माने में किस प्रकार सरकारी योजनाओं को प्राधिकरण आम जनता तक आसानी से पंहुचा सकता है किन्तु क्रियान्वित नहीं कर रहा है, इस बात की बानगी इस जवाब से होती है।

शहर के सेक्टर 18 , एक्सप्रेस वे से पहले एवं अन्य जगह डिजिटल बोर्ड्स पर आप दिन भर प्राइवेट बिल्डर्स, मॉल ,बड़ी बड़ी कंपनियों इत्यादि के विज्ञापन देखते होंगे , किन्तु सरकारी योजनाओं को इन डिजिटल बोर्ड्स पर नहीं दिखाया जाता है , जबकि प्राधिकरण सिर्फ पैसा कमाने में लगा हुआ है सरकार द्वारा जिले की कोई भी योजना बोर्ड्स पर दिखाई नहीं देती है।

समाजसेवी रंजन तोमर से मिली जानकारी के अनुसार इन बोर्ड्स से होने वाली कमाई के बारे में प्राधिकरण से पूछा गया तो कोई जबाब नहीं दिया डिजिटल बोर्ड्स से प्राधिकरण को 39. 45 लाख की धरोहर राशि इसी साल 28 जून 2018 को प्राप्त हुई है , साथ ही यह पूछा गया था के क्या इन बोर्ड्स पर सरकारी योजनाओं सम्बन्धी बात भी दर्शाई जाती है , यदि हाँ तो जानकारी दी जाए , जिसके एवज़ में जन सूचना अधिकारी ने यह कहा है के प्रधान मंत्री जी के स्वागत के लिए दिए गए विज्ञापन , स्वच्छ भारत अभियान से सम्बंधित एवं लू से बचाव के विज्ञापन दिखाए गए , अब सवाल यह उठता है के क्या प्रधानमंत्रीजी का स्वागत करना सरकारी योजना है ? सिटीजन चार्टर , गाँवों और पिछड़ों के लिए सरकारी योजनाओं सम्बंधित जन जागरूकता के लिए प्राधिकरण क्या कर रहा है ? क्या इन डिजिटल एल ई डी बोर्ड्स के सहारे आसानी से यह कार्य नहीं किया जा सकता ? फिर भी प्राधिकरण ऐसा नहीं कर रहा है। क्या प्राधिकरण उस बोझ से बचना चाहता है जो उसपर पड़ेगा यदि जनता जागरूक होगी और शिकायतें ज़्यादा आएँगी , अगर ऐसा है तो यह बेहद शर्मनाक है ,क्यूंकि प्राधिकरण का काम ही यहाँ की समस्याएं सुलझाना है , एक बड़ा सवाल यह भी है के इन बोर्ड्स से संविदाकर्मी करोड़ों की कमाई कर रहे हैं तो फिर उन्हें ठेका इतने सस्ते में कैसे दे दिया गया ? हमारी मांग हे कि इसकी जांच हो ,साथ ही प्राधिकरण स्वयं डिजिटल बोर्ड्स को अपने हाथ में क्यों नहीं ले लेता जिससे कमाई के साथ साथ जनहित भी होता रहे।