Daily Archive: November 30, 2018

नोएडा सेक्टर-75 गोल्फ़ सिटी प्लॉट में बाउं सरों ने जम कर मचाया उत्पात

शुक्रवार रात नोएडा की एक हाउसिंग सोसाइटी में बाउंसर्स का उपद्रव देखने को मिला।

जानकारी के अनुसार बुलमैन वेंचर्स कंपनी के मालिक विकास शर्मा के आफिस के कुछ लोग बी-2 टावर के फ्लैट नंबर 302 में रहती हैं। लोगों का कहना है कि बिल्डर विकास शर्मा ने यहां अय्याशी का अड्डा बना रखा है।

कल रात विकास शर्मा अपने बाउंसर्स के साथ इस फ्लैट पर आया। टावर के सिक्योरिटी गार्डों ने जब उससे रजिस्टर में एंट्री के लिए बोला तो वो भड़क गया और उसने अपने साथ चल रहे 6 बाउंसर्स से गार्ड को मारने का आदेश दिए। बाउंसर्स ने पिस्तौल निकाल ली और गार्ड को पीटने लगे।

उन्होंने सोसाइटी के गार्डों को पिस्टल की नोक पर जमकर मारा पीटा। मारपीट के दौरान जब सोसायटी के रेसिडेंट्स बीच बचाव करने पहुँचे तो उन्हें धमकाया। पीसीआर को जब कॉल की गई तो बाउंसर बाउंडरी कूद कर भाग निकले। वो अपनी मर्सेडीज़ और सफारी स्टॉर्म कार छोड़कर भाग गए। पुलिस ने सफारी स्टॉर्म में 2 राइफल बरामद की है।

जानकारी के मुताबिक ये बाउंसर विकास शर्मा के हैं जो बुलमैन वेंचर्स नाम की कंपनी का मालिक है जिसका आफिस नोएडा के सेक्टर-75 में है। विकास शर्मा के बाउंसर्स 3-4 बार पहले भी मारपीट कर चुके हैं। मौके पर पहुंचे सब इंस्पेक्टर नीरज यादव ने बताया कि हमे कार में 2 राइफल मिली हैं। मामले की जांच कर रहे है और पुलिस उचित कार्रवाई करेगी। पुलिस को दो शिकायतें दी गईं हैं। एक शिकायत पीड़ित गार्ड कुलदीप यादव की और से दी गयी है। दूसरी शिकायत सोसाइटी के फैसिलिटी मैनेजर देवाशीष की तरफ से दी गई है।

देवाशीष ने बताया कि विकास शर्मा के ये बाउंसर्स अक्सर फ्लैट में पार्टी करते हैं। शोर शराबे का विरोध करने पर रेसिडेंट्स को धमकाते रहते है। जिसके चलते 3-4 बार पहले भी पुलिस में इनके शिकायत की जा चुकी है।

एसपी अशोक कुमार के साथ उधमियों ने की बैठक, अ पराध के मुद्दों पर की चर्चा

सेक्टर 6 स्थित नोएडा एंटरप्रिनियोर्स एसोसिएशन (एनइए) कार्यालय में उद्योगों की सुरक्षा को लेकर बैठक का आयोजन किया गया। इस दौरान गौतमबुद्ध नगर के पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार सह व अग्निशमन अधिकारी कुलदीप कुमार मौजूद रहे।

बैठक में एनइए अध्यक्ष विपिन मलहन ने बताया कि औद्योगिक सेक्टरों में शाम 6 बजे के बाद चेन, पर्स, मोबाइल झपटमारी की घटनाएं अधिक होती हैं। ऐसे में शाम को पेट्रो¨लग बढ़ाई जाए। इसके अलावा शहर में कई प्लेसमेंट व फर्जी कॉल सेंटर चलाए जा रहे हैं जो नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी कर रहे हैं। अधिकतर समय 100 नंबर डायल पर फोन दिल्ली में मिलता है। एटीएम के जरिए फर्जी तरीके से पैसे निकाल लिए जाते हैं।

कई बार उद्यमियों को आयकर विभाग के नाम पर फोन कर इकाई में आयकर सर्च के लिए आने की बात की जाती है। इन नंबरों को साइबर क्राइम आज तक ट्रेस नहीं कर सकी है। इस पर एसपी क्राइम अशोक कुमार ¨सह ने कहा कि 100 नंबर डायल करने पर फोन लखनऊ में मिलता है, जिसका फीड बैक लिया जाता है। सभी कॉल की जांच भी की जाती है। साइबर क्राइम को रोकने व उद्यमियों को जागरूक करने के लिए जल्द ही बैठक की जाएगी।

इस दौरान महासचिव वीके सेठ, वरिष्ठ उपाध्यक्ष धर्मवीर शर्मा, उपाध्यक्ष मोहम्मद इरशाद, किशोर कुमार, सचिव कमल कुमार, कोषाध्यक्ष शरद चंद्र जैन, सहकोषाध्यक्ष नीरू शर्मा, सहसचिव पियूष मंगला, मीडिया प्रभारी सुधीर श्रीवास्तव आदि मौजूद रहे।