Daily Archive: December 7, 2018

नोएडा में पुलिस और बदमाशों के बीच मुठभेड़, ए क बदमाश घायल

नोएडा के सेक्टर 58 में बदमाशों और पुलिस के बीच मुठभेड़ हुई है, जिसमें एक बदमाश घायल हो गया है। ज्ञात हो कि नोएडा सेक्टर 58 थाना क्षेत्र के एनआईबी इलाके में शुक्रवार को पुलिस और बदमाशों के बीच जबरदस्त मुठभेड़ हुई। इसमें अकबर नाम के एक बदमाश को पैर में गोली लगी है।

पुलिस ने मौके से हथियार और लूटी गई एक गाड़ी बरामद की है। वहीं एक बदमाश मौके से फरार हो गया है जिसकी तलाश जारी है।

नॉएडा के सेक्टर 46 में सरे आम गोली मारकर की ग यी हत्या।

बीती रात नॉएडा के सेक्टर 46 में हुई फायरिंग में एक युवक की जान चली गयी और दूसरा युवक गंभीर रूप से घायल है। ये घटना नॉएडा के सेक्टर 46 में एचडीएफसी बैंक के पास हुई , जिसमे दो अज्ञात हमलावरों ने कई राउंड फायरिंग की और मौके से फरार हो गए।
एसएसपी अजय पाल शर्मा ने बताते हुए कहा की "मृतक की पहचान अनिल के रूप में हुई है जो की फ़िरोज़ाबाबद का रहने वाला है, और दूसरे युवक की पहचान हरिनाथ के रूप में हुई है। हरिनाथ को डिस्ट्रिक्ट हॉस्पिटल के द्वारा दिल्ली रेफेर करदिया गया है"।
एसएसपी ने बताते हुए कहा की "अभी तक की जांच से ये पता लगा है की अनिल के खिलाफ फ़िरोज़ाबाद थाने में और एक अन्य थाने में कुल छह मामले दर्ज हैं, जिसमे हत्या, लूट, गैंगस्टर के तहत ये मामले दर्ज हैं। और अनिल कुछ दिन पहले ही हत्या के मामले में जेल से छूट कर आया था"।
दोनों के पास एक बैग बरामद हुआ जिसमे बस के टिकट प्राप्त हुए हैं जिससे ये अंदाज़ा लगाया जा रहा है की ये दोनों आज ही फ़िरोज़ाबाद से आये थे। यह दोनों किस्से और क्यों मिलने आए थे इसकी अभी तक पुष्टि नहीं हो पायी है। और साथ ही साथ हमलावरों की भी अभी तक कोई पुष्टि नहीं हो पायी है।
बीती रत करीबन 7:30 बजे अनिल और हरिनाथ पेदल सेक्टर 46 के एचडीएफसी बैंक के पास से गुज़र रहे थे तभी अचानक अज्ञात हमलावरों ने दोनों पर ताबतोड़ फायरिंग करदी। मृतक के सर में गोली लगी जिससे उसकी घटना स्थल पर ही मौत होगयी और घायल युवक के सर के आस पास गोली लगी, जिससे उसकी हालत गंभीर है।
एसएसपी शर्मा ने सेक्टर 46 में हुई इस घटना के तुरंत बाद ही सेक्टर 39 के प्रभारी निरीक्षक अमित कुमार सिंह को लाइन हाज़िर कर दिया है। इंस्पेक्टर उदय कुमार को नया प्रभारी बनाया गया है।
एसएसपी शर्मा ने कहा की "3 दिन पहले ही अमित कुमार को कार्यशैली में सुधर करने के निर्देश दिए गए थे जिसके बावजूद भी अपराध में कोई कमी नहीं हो रही थी, इसी वजह से उनपर ये कार्यवाई हुई है।