Noida Latest News

An open letter through TenNewsNoida whatsapp group to @dr_maheshsharma and @pksbjp on Noida civic woes @myogiadityanath

Respected MP Mahesh Ji / MLA Pankaj Ji : As we reaching end of August present government at UP , about to complete 150 days in office ,we residents of Noida, request you to please convey our problems to State government​ as there is no change in our suffering Due to poor working of System specially NA. 50,60 % street lights are not working across Noida , specially sec 62,61,60,59,68 etc and in the name of E tendering n reducing corruption ( corruption any how can never be removed ) NA playing with life’s of Residents by not repairing street light from last September due to artificial shortage of material /spare parts.I have complain number /SMS dating back to April 2016 on above issue n hardly ,10% issues are fixed.Have raised this issue to you ,CEO at multiple times by me , others n suggested to issue small tenders to get spare parts but nothing moving. The point to be noted here ,4.8KM Elevated road was open in June 2017 and have proper working street lights on both side ,which show that government /NA not serious about sectors/Noida issues but believe in more of show off. My kind request please act as new government was selected bcz of high expectations n poor working of previous government but it seems last 5 years were better then current 150 days.

 

Amit Gupta

Noida’s Responsible Citizen

नोएडा में जल विभाग मुख्यलय पर नाराज कर्मचा रियों ने वेतन ना मिलने पर विरोध प्रदर्शन किया

नोएडा सेक्टर 5 मुख्य जल विभाग पIर सैकड़ों कर्मचारियों ने 2 महीने से वेतन ना मिलने के विरोध में प्रदर्शन किया। एक कर्मचारी देवेंद्र कुमार शर्मा ने बताया कि समझौते में प्राधिकरण के प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा आश्वासन किया गया था । कि 15 दिन के अंदर सभी कर्मचारियों को विभाग से सीधे जुड़ने के लिए शासन से अनुमति लेने हेतु पत्र शासन को भेजा जाएगा । लेकिन इस पत्र की कार्रवाई में विलंब किया गया है । पिछले वर्ष में महंगाई को देखते हुए प्राधिकरण के नियमानुसार हर वर्ष 6 माह में हम कर्मचारियों की वेतन वृद्धि होती थी। जो कि 3 जुलाई से वेतनवृद्धि नहीं हुई है । इस वेतन वृद्धि में वित्त नियंत्रक महोदय वह अन्य संबंधित अधिकारी कुछ भी लिखकर अवरोध पैदा कर रहे हैं। वह हर बार की तरह वेतन वृद्धि के नाम पर हमें धरना प्रदर्शन करने पर मजबूर किया जा रहा है । वही महासचिव विनोद कुमार ने बताया कि नोएडा के प्राधिकरण के अधिकारियों के द्वारा ही कई बार कार्यालय पर आदेश जारी किया गया था। कि सभी कर्मचारियों को हर माह की तारीख को वेतन दे दिया जाएगा। लेकिन आलम यह है। कि पिछले 2 माह से वेतन नहीं मिला है । वेतन के समय से ना मिलने का सबसे बड़ा कारण हमारे समस्त परियोजना अभियंता मुख्य अभियंता वित्त नियंत्रक महोदय आदि अधिकारियों की लापरवाही से हर महीने कर्मचारियों को मानसिक व सामाजिक व आर्थिक प्रताड़ना झेलनी पड़ रही है।

नोएडा में बारिश से लोगो को उमस भरी गर्मी से मिली राहत

नोएडा में बारिश से लोगो को उमस भरी गर्मी मिली राहत,
नोएडा में काफी देर से रुक रुक कर हो रही है बारिश , काफी दिनों से नोएडा और उसके आसपास के इलाके में काफी धूप के साथ उमस भरी गर्मी पड़ रही है। जिसके कारण लोगो जीना बेहाल हो रहा है । जिसकी वजह से गर्मी से बीमारिया काफी फैल रही है आज लोगो को बारिश से काफी राहत मिल रही है । और बच्चे भी बारिश में नहाकर आनंद ले रहे है । खबर लिखे जाने तक ,अभी भी बारिश काफी तेज हो रही थी ।

नोएडा में सरकारी बैंक हड़ताल की वजह से खाता धारियों को हुई निराशा

नोएडा – तीन मुद्दों पर विरोध और छह मांगों को मनवाने को लेकर आज देश भर के 10 लाख से ज्यादा बैंक कर्मचारी आज हड़ताल पर हैं। नोएडा में भी इसका बैंक हड़ताल का मिलाजुला असर देखने को मिला । सरकारी बैंक तो बंद मिले । वही दूसरी और प्राइवेट बैंक खुले हुए है । और लोगो का लेनदेन का काम सुचारू रूप से होता नजर आया। इस हड़ताल का असर प्राइवेट बैंकों पर देखने को नहीं मिलेगा, क्योंकि इस हड़ताल में सरकारी बैंकों के कर्चारी हिस्सा ले रहे हैं। बता दें कि बैंक कर्मचारियों की ये हड़ताल श्रम कानूनों में परिवर्तन और बैंकों का विलय करने के खिलाफ को लेकर है। यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियन (यूएफबीयू) के आह्वान पर देश के 10 लाख बैंक कर्मचारी हड़ताल पर हैं।

बता दें कि एसबीआई, पीएनबी, बैंक ऑफ बडौदा, इलाहाबाद बैंक, यूनियन बैंक, यूको आदि बैंकों के अधिकारी- कर्मचारी यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियन के बैनर तले आज हड़ताल पर हैं। यूनाईटेड फोरम की मांग है कि सरकार बैंकिंग सुधारों को वापस ले और बैंकों में पर्याप्त भर्ती शुरू करे। साथ ही एनपीए वसूली के लिए प्रभावी कदम उठाए जाएं। अगर सरकार न चेती तो 15 सितंबर को दिल्ली कूच होगा।
बैंक कर्मचारियों का कहना है कि सरकार सुधारों के नाम पर भारतीय बैंकिंग क्षेत्र का निजीकरण और एकीकरण करना चाहती है। कर्मचारियों का कहना है कि सरकार बैंक बोर्ड ब्यूरो (बीबीबी) का गठन करके सार्वजनिक क्षेत्र के सभी बैंकों को एक बैंकिंग निवेश कंपनी के तहत लाने का काम करने जा रही है, जिसका कर्मचारी विरोध कर रहे हैं।

केंद्र सरकार के नियंत्रण से बाहर होकर किस तरह लूट रही है जनता को पेट्रोल कंपनियां

नोएडा – शायद आप भी यह नहीं जानते होंगे कि तेल कंपनियों ने पेट्रोल-डीजल की कीमत में कितना इजाफा कर दिया है ? पिछले एक महीने में तेल कंपनियों ने पेट्रोल-डीजल के दामों में 12 फीसदी का इजाफा कर दिया है,इंडियन ऑयल के मुताबिक 1 जुलाई से 15 अगस्त के बीच पेट्रोल की कीमतों में 5 रुपए की बढ़ोतरी हुई है,जबकि डीजल की कीमतों में 4 रुपए का उछाल आया है,

औऱ आप यह जानकर चौक जाएंगे कि डेढ़ महीने में वास्तव में क्रूड आयल की कीमतें लगभग 7.25 फीसदी घटी हैं, लेकिन यह विसंगति बताने को कोई तैयार नही नही

दरअसल यह हादसा बेहद खामोशी से हुआ है, अब तेल कंपनियों को यह अधिकार मिल चुका है कि वह हर दिन अपने दाम बढ़ा सकती हैं ,पहले सिर्फ डेढ़ दो रुपये की वृद्धि पर सरकार को कटघरे में खड़ा किया जा सकता था लेकिन अब कोई आवाज उठाने को राजी नहीं है

आज के कारोबारी मीडिया का रोल यह है कि वह जनहित की अपेक्षा सरकारी हित को अधिक तरजीह देता है इसलिए जब नयी व्यवस्था में शुरुआत के दिनों पेट्रोल-डीजल के दाम कम हुए तो उसने इस बात को खूब उछाला था लेकिन आज 12 प्रतिशत की वृद्धि होने पर वह मुँह खोलने को तैयार नहीं है

साल 2014 के जून के महीने में ब्रेंट क्रूड ऑयल की कीमत 115 डॉलर प्रति बैरल हो गई थी तब पेट्रोल की कीमत 82 रु चली गयी थी और देश में हाहाकार मच गया था आज उसी आयल की कीमत 49 रु है और कीमत लगभग 69 रु के आसपास है यदि इस हिसाब से देखे तो कल जब क्रुइड की कीमत वापस 110 से 115 के बीच चली जाएगी तो आपको पेट्रोल 150 रु लीटर मिलने से दुनिया की कोई ताकत नही रोक पायेगी

ओर हम कुछ नही कर पाएंगे आप समझिए कि जून 2010 से पहले पेट्रोल, डीजल, एलपीजी इत्यादि की कीमतें सरकार द्वारा नियंत्रित और निर्धारित होती थीं। अंतर्राष्ट्रीय बाजार में रोज-रोज बदलती कच्चे तेल की कीमतें पेट्रोल, डीजल इत्यादि की कीमतों को प्रभावित नहीं करती थीं

अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों के बढ़ने के कारण होने वाले नुकसानों की भरपाई ‘ऑयल बांड’ जारी करते हुए कर दी जाती थी और जब अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कीमतें कम होती थीं तो ‘ऑयल बांड’ वापिस खरीद लिये जाते थे। वर्ष 2010, जून माह में सरकार ने पेट्रोलियम पदार्थों की कीमतें बाजार पर छोड़ना तय कर दिया

लेकिन आप को आश्चर्य होगा कि उस वक्त भी तेल कम्पनियो को कोई नुकसान नहीं होता था
फिर एक दौर आया जब डीजल और पेट्रोल के दाम सरकारी नियंत्रण से छूटकर सरकारी तेल कंपनियों के द्वारा तय होने लगे और कच्चे तेल के 15 दिनों के औसत मूल्यों के आधार पर दोनों तेलों के दाम तय किये जाते थे यह दौर भी लम्बा चला

जून 2010 में जब तेल की कीमतों पर नियंत्रण समाप्त किया गया तो मात्र एक ही महीने में पेट्रोल की कीमत 6 रुपए प्रति लीटर बढ़ गई थी। यानी कहा जा सकता है कि नियंत्रण समाप्त होते ही पेट्रोलियम कंपनियों ने अधिकतम लाभ कमाने की दृष्टि से नई व्यवस्था का नाजायज लाभ उठाया था

ओर आज साल 2017 में भी यही कहानी दोहराई गयी इस बार भी एक महीने में दाम 5 रुपये तक बढे हैं

जहाँ तक अंतरराष्ट्रीय तेल की कीमतों में रोज बदलाव के तर्क के आधार पर पेट्रोल-डीजल के दाम बदलने की बात की गयी थी तो आपको इस संदर्भ में याद दिला दूं कि बड़ी-बड़ी कंपनियों द्वारा तेल खरीद के सौदे अग्रिम तौर पर ही करती हैं इसलिए कीमतों में बदलाव उन्हें प्रभावित नहीं करता

एक तर्क दिया जाता है कि विकसित देशों में भी ऐसा होता है, तो यह तर्क भी गलत हैं क्योंकि वहां तेल की कीमतें प्रतियोगिता के आधार पर कंपनियां अलग-अलग तय करती हैं जबकि हमारे यहां सभी तेल कंपनियों द्वारा इकट्ठा मिलकर कीमत तय की जाती है। यानी ये कंपनियां कार्टेल बनाकर कीमतों को ऊंचा रख सकती है चीन में भी दाम 10 दिनों में एक बार बढ़ाया घटाया जाता है, कोरिया थाईलैंड ओर ब्रिटेन में आज भी साप्ताहिक दाम बढ़ाने घटाने की व्यवस्था है, अतः यह तर्क भी खोखला है

तेल के दामों के ऊपर सरकार अब तक एक स्टेबलाइजर का रोल निभाती आई थी इस भूमिका से पैर पीछे खींच लेने से अब बेहद परेशानी पैदा होगी और इकनॉमी में व्यवहारगत उतार-चढ़ाव पैदा होंगे जिससे सामान्य व्यवहार में दिक्कतें आएगी जो जीएसटी की व्यवस्था पर भी अपना असर डालेगी

अब यह समझते हैं कि मोदी सरकार इस व्यवस्था पर राजी क्यों हो गयी एक समय वो इसी व्यवस्था की विरोधी हुआ करती थी

ईंधन के दाम रोजाना घटाने-बढ़ाने की छूट मिलने पर रिलायंस इंडस्ट्रीज और एस्सार ऑयल जैसी प्राइवेट कंपनियां भी अपने हिसाब से कीमतें तय करने के लिए आजाद हो गयी हैं पहले उन्हें सरकारी कंपनियों की तरफ से तय कीमतों पर पेट्रोल और डीजल की बिक्री करनी पड़ती थी, इस से अब वह कार्टेल में घुसकर आसानी से अपनी बात मनवा सकेगी, क्योकि सरकार खुद अपनी आयल कम्पनियो के पर कतर देगी टेलीकॉम के क्षेत्र में बीएसएनएल का भट्टा भी इसी तरह से बैठाया गया था

वैसे हम लोगो को ये बात समझ नही आने वाली है क्योंकि हम केवल गाय और हिंदुत्व और अन्य धर्म के मुद्दों में लगे रहते है ।

गौरक्षा के नाम पर निर्दोषो पर अत्याचार करन े वालो के खिलाफ हो कड़ी करवाई, वीएचपी

नोएडा – सरस्वती शिशु मंदिर के अंदर विश्व हिंदू परिषद नोएडा महानगर का अखंड भारत संकल्प दिवस को लेकर एक कार्यक्रम हुआ। कार्यक्रम में मुख्य वक्ता के रूप में श्रीमान महावीर प्रसाद जी केंद्रीय मंत्री विश्व हिंदू परिषद, डॉक्टर नरेश शर्मा- चेयरमैन कामधेनु ट्रस्ट, अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त क्रिकेटर परविंदर अवाना जी, विपिन सिंगला जी, विश्व हिंदू परिषद के क्षेत्र संगठन मंत्री श्रीमान ईश्वरी प्रसाद जी, महानगर के विश्व हिंदू परिषद के अध्यक्ष उमानंदन कौशिक आदि ने भाग लिया। भारी संख्या में विश्व हिंदू परिषद व बजरंगदल के कार्यकर्ताओं ने अपनी उपस्थिति दर्ज कराई। शिशु मंदिर का हॉल खचाखच भरा हुआ था। लोग साइड में खड़े हुए थे, बाहर सड़क पर भी लोगों का हुजूम लगा हुआ था। देखने ही लग रहा था कि जैसे पूरा महानगर शिशु मंदिर में उतर आया हो। श्री नरेश जी ने गाे माता के लिए अपने विचार रखे और उन्होंने कहा कि गाय प्राणी नहीं हमारी माता है। गो को भजने से, गो का पालन करने से, गो की सेवा करने से एक छोटे से नंदलाला गोविंद बने, गोपाल बने और उन्होंने गोपाल बनने का श्रेय प्राप्त किया। गौ हमारी माता है अगर पूरे भारतवर्ष में गोवंश के ऊपर कहीं पर भी अत्याचार होगा तो हमारे कार्यकर्ता उस का पुरजोर विरोध करेंगे और जरूरत पड़ी तो आतताइयों हत्या करने से भी नहीं चूकेंगे, हां कुछ झूठे गोपालक जो एक पार्टी विशेष के इसारा पर हमारे कार्यक्रमों के अंदर आकर, गोवंश पालक का चोला पहनकर मेरे ही समाज के व्यक्तियों के ऊपर अत्याचार कर रहे हैं। सामान्य निर्दोष लोगों के पिटाई कर रहे हैं जिससे बजरंग दल व हमारे अन्य गोपालक संगठन बदनाम हो। हम उनकी यह चालक कभी पूरी नहीं होने देगें। निर्दोष व्यक्तियों को मारने वाले विश्व हिंदू परिषद और बजरंग दल आदि गोवंश सेवकों के कार्यकर्ता नहीं हो सकते। विश्व हिंदू परिषद बजरंग दल ऐसे कार्यकर्ताओं पर निगाह रखे हुए हैं, कि जो हमारे संगठनों के नाम पर निर्दोष लोगों को पीड़ित प्रताड़ित कर रहे हैं। केन्द्रीय मंत्री श्रीमान महावीर जी ने कहा कि जब जर्मनी एक हो सकते हैं, वियतनाम एक हो सकता है, दक्षिण कोरिया और उत्तरी कोरिया एक साथ आने के लिए बात करते हैं तो हम पूर्वी पाकिस्तान और उत्तर-पश्चिमी पाकिस्तान को एक जगह भारत के साथ में क्यों नहीं मिला सकते। 1971 में जब हमने बांग्लादेश बनवा दिया, तो वह दिन भी दूर नहीं जब हम पाकिस्तान के टुकड़े टुकड़े करके बलोचिस्तान, सिंध गिलगिट, पीओके में बांट देंगे और वहां पर राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा फिर लहराएगा। हम पाकिस्तान के टुकड़े टुकड़े कर देंगे और उनको भारत में मिलाकर अखंड भारत का अपना सपना पूरा करेंगे। आपको यह दिवास्वप्न लग रहा होगा लेकिन 1925 में जन्मा राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ आज अपनी ऊंचाइयों पर पहुंच चुका है और वह दिन भी दूर नहीं जब पूरे भारतवर्ष में केसरिया ध्वज लहराएगा राष्ट्रीय ध्वज के तिरंगे में से केसरिया ध्वज अपनी छवि पूरे भारत में छोड़ेगा। उन्होंने आगाह किया कि अगर हिंदू नहीं जागे तो कश्मीर समस्या जैसी स्थिति अन्य प्रदेशों जैसे आसाम, पश्चिमी बंगाल, मणिपुर केरल, मिजोरम, अरुणाचल प्रदेश आदि अनेक प्रदेशों में उभरती दिखाई दे रही है। अगर आज हिंदू और राष्ट्रवादी ताकतें खड़ी नहीं होंगी तो वह दिन भी दूर नहीं है जब यहां पर हिंदू अल्पसंख्यक होगा और कश्मीर जैसी समस्याएं अन्य प्रदेशों में भी विकराल हो जाएंगी। उन्होंने हिंदुओं को आगाह करते हुए अतीत से सीख लेने की बात कही। उन्होंने मुसलमानों पर कटाक्ष करते हुए कहा कि यह वह कायर लोग हैं जो अपनी माताओं, बहनों, बेटियों को मुसलमानों के हरम में सौंप आए और उनकी रक्षा नहीं कर पाए और मुसलमान बन गए। यह आज हमें हिंदू होने पर की दुहाई देते हैं आज हमें परिवर्तित करने की बात कहते हैं। यह तो महा कायर लोग हैं। कार्यक्रम की अध्यक्षता विपिन सिंगला जी ने की। नोएडा महानगर के अध्यक्ष उमानंदन कोशिक ने कहा कि नोएडा के कार्यकर्ता यह मत समझें कि आप बहुत सुरक्षित स्थान पर हैं। नोएडा के अंदर भिन्न भिन्न कालोनियों में मुसलमानों के रूप में आतंकवादी छिपे हुए हैं और वह उस समय का इंतजार कर रहे हैं कि कब उनका आका उनको आदेश करें और हम यहां पर नरसंहार करें। आपको भारत का सजग प्रहरी होकर आंतरिक समस्याओं से भारत को मुक्त करना है। आपको निगाह रखनी है हमारी बहनें और बेटियां कभी किसी विधर्मी के साथ में मित्रता तो नहीं बना रही है। यह लोग आपके घर में घुसकर आपकी बहन- बेटियों पर निगाह रखते हैं और उनको लव जिहाद में फंसाकर उनका जीवन पर बात कर देते हैं। उमानंदन कोशिक जी ने थल सेना अध्यक्ष श्री विपिन रावत जी का एक संस्मरण याद दिलाया। उन्होंने कहा था कि भारतीय सेना ढाई मोर्चों पर लड़ने के लिए सक्षम है। एक मोर्चा चीन के साथ में दूसरा मोर्चा पाकिस्तान के साथ में और आधा मोर्चा आंतरिक विध्वंसकारी शक्तियों के साथ में। विश्व हिंदू परिषद बजरंग दल थल सेना अध्यक्ष महोदय को यह सुनिश्चित कर देना चाहता है कि आप बाहरी मोर्चोे पर हमारी सेना को सक्षम बनाएं आधे मोर्चे आन्तरिक मोर्चा तो बजरंग दल सभालों लेगा।

इस अवसर पर नोएडा महानगर के उपाध्यक्ष श्री लालमणि पांडे, विनोद पाल, कोषाध्यक्ष हरीश मिश्रा, महानगर संयोजक अजीत गेझा, जिला सुरक्षा प्रमुख ललित भारद्वाज, सह संयोजक विपुल जौहरी, विद्यार्थी प्रमुख आलोक भारद्वाज, अखंड प्रमुख अजय राठोर, गोरक्षा प्रमुख प्रकाश गुप्ता, समरसता प्रमुख कृष्णपाल शर्मा, धर्माचार्य प्रमुख बृजेश जी शास्त्री, सत्संग प्रमुख सुनील जी, प्रचार प्रमुख प्रदीप मिश्रा, व सभी 15 भागों के कार्यकर्ता भारी संख्या में पहुंचे । हमारे चौड़ा प्रखंड के मंत्री कुलदीप जी व किरणपाल सिंह जी जाटव भी विशेष रूप से उपस्थित रहें और उनका बहुत सहयोग कार्यक्रम में रहा। कार्यक्रम में लगभग 1314 कार्यकर्ताओं की संख्या रही। अंत में अजीत जी गेझा ने सभी कार्यकर्ताओं का धंयवाद करके भोजनोपरांत कार्यकर्ताओं को विदा किया ।

नोएडा पुलिस ने अट्टा गांव में सट्टे के अड् डो पर मारा छापा, 30 से ज्यादा गिरफ्तार

नोएडा – नोएडा पुलिस ने सेक्टर 18 के पास अट्टा गांव मे चल रहे अवैध रूप सट्टे के अड्डो पर छापा मारकर मौके से 30 से 40 लोगो को पकड़ा। पुलिस ने नोएडा में अट्टा गांव में काफी दिनों से अवैध रूप से कई जगह पर सट्टा खेला जा रहा था । और पुलिस को काफी दिन से इस तरह की सूचना मिल रही थी । आज मुखबिर की पुख्ता सूचना के आधार पर पुलिस ने भारी सुरक्षा बलों के साथ मिलकर अचानक अवैध सट्टे के अड्डो पर छापा मारकर 30 से 40 को धरदबोचा । साथ ही मोके से कुछ कैश भी बरामद किया। मौके पर एसपी सिटी ने आकर मुआयना किया। पुलिस अभी और भी छापेमारी कर रही है।

नोएडा महानगर कांग्रेस कार्यकताओ ने स्वर् गीय राजीव गांधी की 73वी जयंती मनाई

नोएडा – महानगर काँग्रेस कमेटी ने नोएडा के पदाधिकारियों द्वारा आज 21वीं सदी के जननायक पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न स्वर्गिय राजीव गांधी की 73वीं जयंती पार्टी कार्यालय गिझोड़ पर मनाई गई।इस अवसर पर सभी पदाधिकारियों ने राजीव गांधी की फोटो पर पुष्पांजली अर्पित कर उनको याद किया। अध्यक्ष मुकेश यादव ने राजीव गांधी को याद करते हुए कहा कि आज भाजपा के लोग राजीव गांधी की मूर्तियों को खण्डित कर उनकी यादों को मिटाना चाहते हैं लेकिन राजीव गांधी जो लोगों के दिलों में बसे हैं उनको नही मिटा सकते । आज संचार क्रांति के माध्यम से युवा इतनी ऊंचाईयों को छू रहे हैं यह सब राजीव गांधी की देन है। आज की मोदी सरकार में बैठे लोग इसी संचार क्रांति का विरोध करते थे आज उसका श्रेय लेना चाहते हैं। वरिष्ठ नेता रमेशचंद्र शर्मा ने कहा कि भाजपा इसी संचार क्रांति के माध्यम से सत्ता में आई है, कांग्रेस को भी इसी के माध्यम से भाजपा सरकार की दमनकारी नीतियों को लोगों के सामने लाना चाहिए और भाजपा के नेताओं के दोगले चेहरों पर से नकाब हटाना चाहिए। आज के कार्यक्रम में शामिल पदाधिकारियों में महिला नगर कांग्रेस अध्यक्ष पुष्पकाण्डपाल, योगेश शर्मा, दिनेश अवाना, लखमीचंद शर्मा, लियाकत चौधरी,सहाबुदीन,राजकुमार भारती, ऋषिगौतम, सतेन्द्र शर्मा, ललित अवाना, यतेन्द्र शर्मा, दयाशंकर पाण्डेय, पंकज बाल्मिकी, अब्बास रिज़वी, नज़म अब्बास, संजय मिश्रा, गौरव अधाना, सतीश पंचाल, अरुण प्रधान सहित कई अन्य कार्यकर्ता उपस्तिथ रहे।

खाते से आधार लिंक कराने के नाम पर ठगे 80,000 हजा र रुपये

नोएडा – भंगेल निवासी एक युवक से आधार लिंक कराने के नाम पर 80 हजार रुपये ठग लिए गए। आरोपी ठग ने बैंक खाते से आधार कार्ड को लिंक कराने के नाम पर पीड़ित से ठगी की। पीड़ित युवक ने घटना की शिकायत फेज-2 पुलिस से की।
पुलिस ने युवक को साइबर सेल में भेज दिया। मूलरूप से देहरादून उत्तराखंड निवासी निमेश रावत भंगेल में किराये पर रहते हैं। उन्होंने बताया कि सोमवार शाम वह घर पर थे। तभी उनके मोबाइल पर एक कॉल आया।
कॉल करने वाले शख्स ने खुद को बैंक कर्मी बताते हुए आधार लिंक कराने की बात कही। शख्स ने उन्हें झांसे में लेकर खाते की पूरी जानकारी ले ली। फोन कटने के करीब 2 घंटे बाद उनके मोबाइल पर खाते से रुपये निकलने के 6 मेेसेज आए।
ठग ने उनके खाते से 3 बार में 60 हजार रुपये और एक बार में 10 हजार रुपये और दो बार में 10 हजार रुपये खाते से निकाल लिए। उन्होंने तुरंत कस्टमर केयर पर कॉल कर घटना के बारे में जानकारी दी। तब जाकर उनके खाते से रुपये निकलना बंद हुए। उन्होंने घटना की शिकायत साइबर सेल पुलिस से की है।

नाबालिक से रेप के आरोपी को 7 साल की कठोर सजा

नोएडा जिला कोर्ट ने साल 2013 में एक नाबालिग से रेप के आरोपी को 7 साल के कठोर कारावास की सजा सुनाई है। कोर्ट ने आरोपी पर 1 हजार का आर्थिक जुर्माना भी लगाया है। प्रथम अतिरिक्त सत्र न्यायधीश रामनरेश मौर्य की कोर्ट में मामले की सुनवाई हुई। इस दौरान पीड़िता सहित कुल साल लोगों की गवाई हुई। सजा सुनाये जाने के बाद आरोपी को हिरासत में लेकर जेल भेज दिया गया। अतिरिक्त जिला शासकीय अधिवक्ता ओमप्रकाश यादव के अनुसार मूलरूप से बिहार के छपरा का रहने वाला एक परिवार नोएडा सेक्टर-10 स्थित झुग्गियों में रहता था। परिवार मेहनत मजदूरी करता था। 16 सितम्बर 2013 को परिवार के सभी सदस्य काम पर गये थे। 13 साल की नाबालिग लड़की घर पर अकेली थी। तभी पड़ोस में ही रहने वाले समस्तीपुर निवासी कुशेश्वर सिंह का बेटा श्रवण सिंह नाबालिग को घर पर अकेली पाकर उसके पस पहुंच गया। आरोपी ने जबरन पीड़िता के साथ रेप किया और उसकी अश्लील विडियो बना ली। आरोपी ने इस बारे में किसी को बनाते पर विडियो को वायरल करने और उसको जान से मारने की धमकी दी। डर के कारण पीड़िता ने किसी को अपने साथ हुई घटना के बारे में कुछ नहीं बताया। आरोपी को पीड़िता का भाई भी जानता था। एक दिन उसने आरोपी के मोबाइल से गाने अपलोड करने के लिए उसका मोबाइल ले लिया। इस बीच पीड़िता के भाई ने आरोपी द्वारा बनाई विडियो देख ली। घर पहुंचकर पीड़िता के भाई ने परिजनों को घटना के बारे में बताया।पीड़िता से पूछने पर उसने सारी घटना परिजनों को बता दी। परिजनों ने 25 सितम्बर 2013 को मामले की शिकायत कोतवाली सेक्टर-20 में की। पुलिस ने मामला दर्ज कर पीड़िता को मेडिकल के लिए भेज दिया। मेडिकल में रेप की पुष्टि हो गई। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था।