Noida Latest News

हाई सिक्युरिटी नंबर प्लेट न होने के कारण दिल्ली में कट रहे है चालान , लोगों में डर

नोएडा :– सभी वाहनों में एक अप्रैल से हाई सिक्यॉरिटी नंबर प्लेट अनिवार्य है, लेकिन जिले का परिवहन विभाग इन सब से बेखबर है। ऐसे में अगर आप पुराने नंबर प्लेट वाले वाहन से दिल्ली जाते हैं तो आपका चालान कट सकता है। हाई सिक्यॉरिटी नंबर प्लेट कहां लगेगी, कैसे लगेगी, कौन लगाएगा, पुराने वाहन वालों को क्या करना होगा? ये सब सवाल लोगों को परेशान कर रहे हैं। विभाग ने भी इसको लेकर कोई कवायद शुरू नहीं की है। अधिकारियों का कहना है कि चुनाव की वजह से वह इस तरफ ध्यान नहीं दे पाएं। अब जिले में स्थित संबंधित कंपनियों के डीलर्स चिह्नित करने का काम किया जाएगा और अप्रैल के अंतिम सप्ताह तक इस बारे में बता पाएंगे कि पुराने वाहनों पर हाई सिक्युरिटी नंबर प्लेट कैसे लगेगी।

दिल्ली जाने से डर रहे हैं लोग

सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय ने दिसंबर 2018 में यह नोटिफिकेशन जारी किया था कि एक अप्रैल 2019 से पूरे देश के सभी वाहनों में हाई सिक्यॉरिटी नंबर प्लेट अनिवार्य होगी। इसे बाद उन वाहनों का चालान होगा, जिनमें नई नंबर प्लेट नहीं होगी। दिल्ली में पिछले चार साल से इसे लगाने का काम चल रहा है। नोएडा से हजारों वाहन रोज दिल्ली जाते हैं। तमाम लोगों के आय दिन चालान हो रहे हैं। वहां चालान कटने के बाद लोगों को इसके बारे में पता चलता है कि यह अनिवार्य कर दी गई है। जिले में जागरूकता के लिए अभी तक कोई प्रयास नहीं हुआ है।

खास है हाई सिक्युरिटी नंबर प्लेट

यह हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट टैम्पर प्रूफ होगी। सुरक्षा के लिए इस नंबर प्लेट में अशोक चक्र की इमेज के साथ एक होलोग्राम भी होगा। नीचे की तरफ लेजर मार्क से लिखी गई कम से कम 7 अंकों वाली स्थाई पहचान संख्या होगी। इसे निकाला नहीं जा सकता। ऐसा करने पर ये प्लेट टूट जाएगी। इस तरह के नंबर प्लेट लगने से वाहन चोरी और फ्रॉड की घटनाओं पर भी लगाम लग सकेगी। कार, स्कूटर, टैक्सी, कैब, ट्रक आदि सभी वाहनों की ऑनलाइन ट्रैकिंग संभव होगी। इससे कैब में महिलाओं के साथ आपराधिक घटनाओं को रोकने में भी मदद मिलेगी। इससे अपराधियों को पकड़ना आसान होगा। प्लेट की मदद से वाहन स्वामी की तमाम जानकारी एक क्लिक पर कंप्यूटर स्क्रीन पर आ जाएगी।

हाईलाइटर

-मंत्रालय ने नोटिफिकेशन में साफ लिखा है कि इसके लिए किसी भी नए ग्राहक से अतिरिक्त शुल्क नहीं लिया जाएगा।

पुराने ग्राहक से कितने पैसे लिए जाएंगे, इसका जिक्र नोटिफिकेशन में नहीं है। 200-400 तक के खर्च में लगने का अनुमान है।

-5 साल की गारंटी होगी। इनमें लगा लेजर मार्क निकाले जाने पर खराब हो जाएगा।

-निर्माता या वाहन डीलर ही ग्राहकों को उपलब्ध कराएंगे।

-हाई सिक्यॉरिटी रजिस्ट्रेशन प्लेट 2001 में लगाने का फैसला किया गया था। कोर्ट में मामला जाने से लागू करने में लग गए 8 साल।

वही इस मामले में नोएडा के एआरटीओ एके पांडे का कहना वैसे तो एक अप्रैल 2019 से इसे लागू कर दिया गया है, लेकिन चुनाव में व्यस्त होने के चलते हम लोग इस तरफ ध्यान नहीं दे पाए। पुराने वाहनों के लिए अप्रैल के अंत तक चिह्नित डीलर्स की लिस्ट जारी कर पाएंगे।

नोएडा में 15 दिन से पानी की दिक्कत से जूझ रहे हैं व्यापारी , अधिकारीयों ने दिया आश्वासन

नोएडा में 15 दिन से पानी की दिक्कत से जूझ रहे हैं व्यापारी , अधिकारीयों ने दिया आश्वासन

नोएडा :–   नोएडा प्राधिकरण की कार्यशैली और ढुलमुल रवैये से सेक्टर- 9 के लगभग 5 हजार व्यवसायियों को पानी की किल्लत का सामना करना पड़ रहा है। पिछले 15 दिनों से इस सेक्टर में पानी सप्लाई की व्यवस्था चरमराई हुई है, लेकिन इसका समाधान अब तक नहीं हो सका। इससे व्यवसाय करने में उन्हें दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है।

नोएडा सेक्टर-9 में ए से आई ब्लॉक में 4800 व्यवसायी अपना रोजगार करते हैं। यह सेक्टर कंस्ट्रक्शन से संबंधित चीजों की मुख्य मार्केट है। जहां पूरे जिले के साथ ही दिल्ली से भी लोग खरीदारी करने आते हैं। यहां पर पिछले 15 दिनों से पानी की समस्या है। जिसकी शिकायत के बावजूद अभी तक इसका निदान नहीं हो सका है। जिससे उनमें आक्रोश है। यहां पर सेक्टर- 15 मे लगे पंप नंबर 7/15 से पानी की सप्लाई होती है, वह खराब है। वहीं, आरोप है कि सेक्टर-8 और 9 की झुग्गियों में वॉटर प्लांट चलाने वाले लोग पाइप लाइन को डैमेज करके अपना अलग से व्यवसाय कर रहे हैं। इस एरिया में पानी की चोरी धड़ल्ले से हो रही है।

नोएडा असोसिएशन के अध्यक्ष राजीव गोयल का कहना है की सेक्टर-9 में पिछले 15 दिनों से पानी की सप्लाई बाधित है। इसकी शिकायत करने के बाद भी समाधान नहीं हो रहा है। इससे व्यवसाय करना मुश्किल हो रहा है।

वही इस मामले में नोएडा प्राधिकरण के पीई जल निगम मुकेश जैन का कहना है की पंप में तकनीकि खराबी है। जिसका असर सी, ई और आई ब्लाक के कुछ एरिया में है। हम इस पर काम कर रहे हैं, जो 24 घंटे में सही हो जाएगा।

नोएडा @ 43 – समाजसेवी एवं सामाजिक संस्थाओंका योगदान

विवेक श्रीवास्तव

नोएडा -NOIDA (New okhla Indusrtial devlopment authority) उत्तर प्रदेश के गौतम बुद्धनगर का एक महत्वपुर्ण नगर ,दिल्ली से सटा हुआ नगर, देश विदेश में अपनी पहचान बना चुका ये स्मार्ट सिटी ,

प्रदेश को सबसे ज्यादा राजस्व देने वाला नगर ।
"करीब 12 साल पहले जब अपने घर लखीमपुर से यहाँ आया तो रह रह के यही ख्याल आता था कि बस अगले साल तक वापस चला जाऊंगा" , लेकिन यहाँ की आधुनिकता , गगन चुम्बी इमारतें, आईटी कंपनी , बीपीओ, केपीओ, एक्सपोर्ट हाउसेस , अत्याधुनिक स्वास्थ्य सेवाएं, सड़कें, माल कल्चर , बेहतरीन स्कूल, कॉलेज ,टेक्नोलॉजी,विकास की गति जहाँ एक ओर विदेश में रहने का एहसास दिलाते है वही यहाँ सामाजिक सरोकार, सामाजिक गतिविधि नगर के एक एक आदमी को ऐसे जोड़े हुए कि किसी एक छोटे से नगर का एहसास दिलाते है, किसी भी त्यौहार या किसी आयेजन को सामजिक संस्थाओ द्वारा मिल जुल के ऐसे मनाया जाता है जैसे मानिए किसी छोटे से गाँव में पुरा गाँव एकजुट हो जाता है,
इतना प्यार इतना अपनापन इस तरह के अत्याधुनिक शहर में तो आप को बिलकुल भी देखने को नहीं मिलेगा ।
किसी विषम परिस्थिति में भी सब एक जुट होकर ऐसे आगे आगे आते है कि जैसे सब एक ही घर से एक साथ निकले हो,
ऐसा जज्बा अपनेपन का इस नगर में की "अब लगने लगा है थोड़ा और रुक जाते हैं"
जब यही रुकने का सोचा तो अपने तराई लखीमपुर क्षेत्र के साथियों को भी यहाँ एक जुट करना था मेरे जैसे और भी बहुत से साथी है उन्हें भी यहाँ अपनेपन का एहसास कराना था तो "तराई वेलफ़ेयर एसो." का भी गठन हो गया।

सामाजिक कार्यो के ऐसे ऐसे उदहारण है यहाँ के कि सब कुछ लिख पाना संभव नहीं है ,
नगर के समाज सेवियों की यदि लिस्ट भी यहाँ शुरू करूँ तो बहुत लंबी लिस्ट हो जायेगी,
नोएडा की एक ऐसी आवाज जो अधिकतर मंच से आप को सुनने को मिल जायेगी, नगर को एक सांस्कृतिक नगर धरोहर बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ी, सांस्कृतिक आयोजन चाहे गायक रफ़ी जी की याद में हो या गायक किशोर कुमार, मुकेश जी , या फिर "जो आये वो गाये" का नया कॉन्सेप्ट हो या फिर दिवाकर , श्रेया बासु और न जाने कितनी छुपी हुई प्रतिभाओं को रास्ट्रीय स्तर तक पहचान दिलाने वाले नवरतन फाउंडेशन के अध्यक्ष श्री अशोक श्रीवास्तव जी और मुझे गर्व है मै भी संस्था से जुड़ा हूँ

वही दूसरी ओर आर्थिक रूप से कमजोर जनता का भी ध्यान रखते हुई नगर में रोज 5 रूपये में देशी घी का बना खाना खिलाने वाले दादी की रसोई-श्री अनूप खन्ना जी , रोज करीब 300 लोग इसका लाभ प्राप्त करते है, इसी क्रम में श्री राजन श्रीवास्तव जी भी मात्र 5 रुपय में ही रोजाना 500 लोगो को खाना खिला रहे हैं, इनके द्वारा समाज हित में ऐसे बहुत से काम चुप चाप करते रहते है, पिछले कुछ सालों में इन्होंने समाज सेवा की एक नयी मिसाल कायम की है

श्री विनीत चौधरी हो, श्री विपन मल्हन जी , ज्योति सक्सेना जी,शहीद भगत सिंह सेना, नोएडा लोक मंच के श्री महेश सक्सेना जी , ऋतू सिन्हा जी आदि आदि ऐसी सैकड़ो की लिस्ट है जमीनी स्तर के समाज सेवियों की इस स्मार्ट सिटी में।

तो इस तरह के अनोखे स्मार्ट सिटी जहाँ ऐसा समावेश ऐसा संगम हो कि आधुनिकता-संस्कृति -सांस्कृतिक-सामाजिकता-संस्कार किसी भी चीज की कोई कमी नहीं लगे…………………….तो फिर थोड़े दिन और रुक ही जाते हैं।

उम्मीदों का शहर आज 43 साल का हो गया : डॉक्टर हरवंश चतुर्वेदी , @bimtechnoida

उम्मीदों का शहर आज 43 साल का हो गया ।

ये एक नज़ारा है उस शहर का जो समूचे उत्तर भारत में एक उम्मीदों के शहर के रूप में जाना जाता है। जी, हां ! आपने सही पहचाना ये है नोएडा जो आज अपनी 43वी वर्षगांठ मना रहा है। शहर की आबादी करीब 12 लाख होगी और इसमें से 8 लाख लोगों को उद्योग धंधों में रोजगार मिला हुआ है। आज भारत की कोई भी देसी विदेशी आईं टी कंपनी नहीं होगी जो यहां अपना कारोबार नहीं चलाती होगी।

उत्तर प्रदेश ने २० वीं सदी में कानपुर जैसे औद्योगिक शहर का पराभव देखा। आज हम स्वर्गीय नारायण दत्त तिवारी की कल्पनाशीलता को याद करते हैं कि ४३ साल पहले उन्होंने इस शहर को दिल्ली के एक विकल्प के रूप में ओखला के पास एक औद्योगिक बस्ती के रूप में बसाने का सपना देखा।

 नौकरी दिलाने का झांसा देकर युवती के साथ किया दुष्कर्म, 2 सप्ताह बाद फेस 3 पुलिस ने दर्ज की शिकायत

 नौकरी दिलाने का झांसा देकर युवती के साथ किया दुष्कर्म, 2 सप्ताह बाद फेस 3 पुलिस ने दर्ज की शिकायत

एक युवती ने नौकरी दिलाने के नाम पर एक युवक पर दुष्कर्म करने का आरोप लगाया है। लड़की ने यह आरोप लगाया है कि आरोपी ने उसको कोल्ड ड्रिंक में नशीला पदार्थ मिलाकर पिला दिया और उसके बेहोश होने के बाद उसके साथ दुष्कर्म किया। जब युवती ने पुलिस में शिकायत करने की बात कही तो आरोपी ने उसे जान से मारने की धमकी भी दी। पीड़िता ने नोएडा कोतवाली फेस 3 में मामले की शिकायत की है।

गाजियाबाद की रहने वाली पीड़िता नौकरी तलाश रही थी। इसी बीच 15 मार्च को उसकी मुलाकात उज्जवल पंचाल निवासी राहुल विहार, गाजियाबाद से हुई। युवती का आरोप है कि उज्जवल ने नौकरी दिलाने का झांसा देकर 28 मार्च को नोएडा सेक्टर 70 में स्थित सहानी गेस्ट हाउस में ले गया और वहां कोल्ड ड्रिंक में नशीला पदार्थ मिलाकर उसको पिला दिया। जब युवती बेहोश हो गई तो उज्जवल उसके साथ दुष्कर्म कर वहां से भाग गया।

युवती का आरोप है कि वो पिछले 2 सप्ताह से नोएडा फेस 3 कोतवाली और गाजियाबाद की विजय नगर कोतवाली में आरोपी की खिलाफ शिकायत दर्ज कराने की कोशिश कर रही है। अब जाकर फेस 3 कोतवाली ने शिकायत दर्ज की है और मामले को संज्ञान में लिया है। वहीं फेस 3 के एस एच ओ अखिलेश त्रिपाठी ने बताया कि युवती की शिकायत पर घटना की जांच की का रही है, जांच के बाद कार्यवाही की जाएगी।

सोशल मीडिया पर भगवान हनुमान की आपत्तिजनक तस्वीर डालने पर नोएडा पुलिस ने दो को किया गिर फ्तार

पूरे देशभर में इस समय चुनाव चरम सीमा पर है, चुनावों में लगातार धर्म के आधार पर वोट मांगे जा रहे हैं। चुनावों से ठीक पहले जिलाधिकारी बीएन सिंह और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक वैभव कृष्णा ने प्रेस वार्ता कर सोशल मीडिया पर लोगों को सचेत रहने को कहा था। चुनाव आयोग लगातार सोशल मीडिया पर पैनी नजर गाड़े हुए है।

इसी क्रम में नोएडा पुलिस ने दो लोगों को भगवान हनुमान जी की आपत्तिजनक तस्वीर फेसबुक पर पोस्ट करने के मामले में आज गिरफ्तार किया है। सहायक पुलिस अधीक्षक डॉक्टर कौस्तुभ ने बताया कि झुंडपुरा चौकी प्रभारी महेश चौधरी को सोमवार रात सूचना मिली कि दो लोगों ने भगवान हनुमान की आपत्तिजनक तस्वीर फेसबुक पर अपलोड की है जिसमें भगवान हनुमान संविधान निर्माता बाबा भीमराव आम्बेडकर के समक्ष झुके हुए दिखाए गए हैं।

एएसपी ने बताया कि चौकी प्रभारी ने इस मामले की रिपोर्ट थाना सेक्टर 20 में दर्ज कराई जिसके बाद घटना की जांच शुरू की गई। उन्होंने बताया कि जांच के दौरान पुलिस को पता चला कि झुंडपुरा गांव में रहने वाले दो लोगों ने यह तस्वीर फेसबुक पर अपलोड की थी। दोनों आरोपियों को आज सुबह गिरफ्तार कर लिया गया। उनके खिलाफ कार्यवाही की जा रही है।

नोएडा प्राधिकरण ने वेस्ट पत्तियों के लिए बनाई परियोजनाएं, पत्तियों से बनेगा ब्लैक गोल्ड

नोएडा प्राधिकरण ने वेस्ट पत्तियों के लिए बनाई परियोजनाएं, पत्तियों से बनेगा ब्लैक गोल्ड
नोएडा प्राधिकरण शहर में वेस्ट होने वाली पत्तियों का प्रयोग राजस्व बढ़ाने के लिए करेगा। इसके लिए प्राधिकरण शहर के विशेषज्ञ व वॉलिंटियर्स के जरिए तीन स्थानों पर इन पत्तियों से कंपोस्ट तैयार करेगा, जिसे बेचकर राजस्व मिलेगा। प्राधिकरण ने इसे ब्लैक गोल्ड का नाम दिया है।
शहर में इन दिनों पत्तियों के विशाल ढेर देखने को मिल रहे हैं। इन बेकार पत्तो की समस्या से निबटने के लिए कुछ लोग इन पत्तो में आग लगा देते है लेकिन इससे वायु प्रदूषण बढ़ने का खतरा रहता है। लिहाजा नोएडा प्राधिकरण ने इन पत्तों को काले सोने में बदलने का फैसला किया है। प्राधिकरण ने पूरे क्षेत्र के विशेषज्ञों को साथ लेकर एक पायलट प्रोजेक्ट पर काम शुरू किया है जिससे प्राकृतिक रूप से बागवानी कचरे का इलाज किया जा सके और उन्हें जैविक खाद में बदला जा सके।
नोएडा में इस तकनीक का प्रयोग पहली बार किया जा रहा है, जहां शून्य बजट में कचरे को जैविक खाद में तब्दील कर उससे राजस्व कमाया जा सकता है। इसके लिए प्राधिकरण ने तीन पायलट परियोजनाएं वर्तमान में शुरू की है इन परियोजनाओं से तैयार खाद को बेचकर इनकी लागत भी निकाली जा रही है।
3 परियोजनाएं जिसमें पहली यमुना रिवर फ्रंट, दूसरी यमुना बैंक के साथ सेक्टर 15a के विपरीत व तीसरी सेक्टर 8 नोएडा प्राधिकरण नर्सरी में बनाई गई है। इस नर्सरी को नोएडा की रोल मॉडल नर्सरी के रूप में विकसित किया जा रहा है। इन स्थानों पर तीन अलग-अलग तरीकों से खाद बनाई जाती है जो कि पर्यावरण के अनुकूल व एरोबिक तरीका है।

नॉएडा में चोरो का बढ़ता आतंक, ऑफिस का ताला तोड़ चुराए कई दर्जन लैपटॉप

नॉएडा में चोरो का आतंक, ऑफिस का ताला तोड़ चुराए कई दर्जन लैपटॉप
नोएडा के सेक्टर 6 में शातिर चोरों ने ग्रिल काटकर उड़ाए कई दर्जन लैपटॉप। बगल में बन रही इमारत के रस्ते से दाखिल हुए बिल्डिंग में।
फर्स्ट और सेकंड फ्लोर में बने आफिस का ताला तोड़ कर चोरों ने लाखो के लैपटॉप किये चोरी।  मौके पर पहुची पुलिस कर रही है जांच। सीसीटीव फुटेज से चोरों की पहचान करने की कोशिश।

कैश डिपोजिट कंपनी का कर्मचारी ग्राहकों के 10 लाख रुपए लेकर हुआ फरार, पुलिस जांच में जुटी

कैश डिपॉजिट कंपनी का एक कर्मचारी अलग अलग ग्राहकों के कुल ₹10,80,000 लेकर गायब हो गया। गबन का पता चलने पर कंपनी की ओर से थाना सेक्टर 20 में शिकायत दी गई। जब पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं करी तो कंपनी ने कोर्ट का दरवाजा खटखटाया। अब कोर्ट के आदेश पर सेक्टर 20 पुलिस ने आरोपी कर्मचारी पर गबन का मामला दर्ज किया है।

पुलिस के मुताबिक सेक्टर 2 में सेफगार्ड कंपनी का दफ्तर है यह कंपनी कारोबारियों से कैश इकट्ठा करके सुरक्षित तरीके से बैंकों में जमा करवाती है। कंपनी के अधिकतर ग्राहक सेक्टर 18 स्थित डीएलएफ मॉल के शोरूम संचालक हैं।

कंपनी के सहायक प्रबंधक चंदन कुमार का कहना है कि उनकी कंपनी में दिल्ली के संगम विहार का रहने वाला प्रेम कुमार ग्राहकों के रुपए जमा करता था। उस पर यह आरोप है कि उसने पिछले कुछ महीनों में कई कंपनियों से करीब 10 लाख रुपए जमा किए लेकिन रकम बैंकों में जमा नहीं करवाई। वह कंपनी के ग्राहकों के रुपए लेकर फरार हो गया।

शोरूम संचालकों की सूचना पर कंपनी ने प्रेम कुमार को पैसे लौटाने के लिए कहा लेकिन उसने इंकार कर दिया इसके बाद पुलिस में शिकायत दी गई वहां सुनवाई ना होने पर अदालत का दरवाजा खटखटाया गया।

एसएचओ राजवीर सिंह चौहान ने बताया कि कंपनी को शिकायत पर प्रेम कुमार के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया है और पुलिस मामले की जांच में जुटी है।

ब्रेकिंग – नाले में गिरे छह वर्षीय मासूम क ा शव बरामद

नोएडा में सोमवार को एक नाले में गिरे छह वर्षीय बच्चे का शव आज सुबह बरामद कर लिया गया है। एनडीआरएफ के एक अधिकारी ने बताया कि शव आज सुबह पौने नौ बजे मिला। पुलिस ने बताया कि कुछ बच्चे सोमवार दोपहर को सलारपुर खादर गांव के निकट नाले को पार कर रहे थे तभी बच्चा उसमें गिर गया था। बच्चे की पहचान सौरभ के रूप में की गई है, जो सेक्टर 81 के एक गांव में अपने परिवार के साथ रहता था।