Noida Latest News

NOIDA AUTHORITY IS IGNORING MAJOR ISSUES

Except Garbage cleaning no major issues are take-up by Noida Authority/DCEO sir till now.

We are tax payer citizens and pay top class circle rates to Noida Authority but we forced to live in slum.

Cleaning of Drains, cleaning of parks, repairing of roads are very basic things that people demands through this group. It’s my personal thought that it’s a failure of system/Authority if such silly complaints are demanding by Residents

If you not permitted then it’s not justified.

We are elected by Residents for these work only.

Regards,
SANJEEV RWA

PUNISH THE PEOPLE WHO DUMP GARBAGE IN OPEN : RAJIV GOYAL NOIDA

What can easily be noticed through past few days photos that dumping of garbage & piling up of the same is major issue brought forward by members and thankfully ACEO sahab is directing to take care to get matter resolved with the support of his team.

What I intend to say that this problem being perpetual would require permanent solution as keeping engaged Sr officer may result into over stressing to them.

In my locality I have seen that even very well off people refuse to hire sweeper’s service which is only @ 75/- per month and instead throwing garbages directly on road. Probably this must be happening at many locations.

Then how to resolve this issue. It’s also a matter of specialised services requiring contribution from all concerned, financial supports from government, when all services carry 0.5% swacch Bharat cess.

There is an urgent need to strengthen :
a. Vigilance upon them who are source to dump garbage & fine them including notices to such dwelling units. A team of 100 people vested with powers to fine or get arrested violators may be deployed to cover entire noida city. This team can be financially independent with money generated through fines. I hope strict follow ups & inspection can reduce this problem by 10-20% easily.

b. Promote solid & liquid waste management at dwelling unit itself. Fora plot of 250 mtr, cost is around Rs 50 K to convert entire garbage into manure. One can actually have Cost return by selling manures in 5 years of period.

c. Above 2 are very difficult to implement. However, Rs 2/- per mtr per month from each plot can be standard fee like water charges for deploying waste management services by appointing standard private companies.

d. Using waste management services and generate electricity to meet 5% demand of noida city only. VGF of Paisa 25 per unit of electricity generated may be required to fund. Ash can be used for making bricks. Probably, expert of this field can provide better solutions too.

Submitted for exploring better & permanent solutions, involving experts of this field. We have every chance to be cleanest city in India.

In NOIDA CCTVs are must for security and safety : RAJIV GOYAL

Community participation is very much required to prevent any big incident in any city. I do also keep asking suspicious people nearby my house & park, and sometime get abuses also. One of the biggest trouble in sector 12 near Bhau Devras School is about indecent behaviour by boys & girls. You will be surprised when many boys go away silently, girls start abusing more.

I really appreciate your efforts; your one daring step might result into prevention of bigger crime.

I have put up 6 camera covering my house & road incl entry gate of street. It has reduced the problem a lot. My suggestion will be to promote CCTV at individual houses, compulsorily CCTV at shops, markets & industries. This may not eliminate crime but definitely will help police & authority to solve the cases much faster..It’s my view only which can be rectified if find with some error 🙏🏻🙏🏻🙏🏻🙏🏻🙏🏻

#BULANDSHAHR RAPE – CANDLE MARCH WILL UNITE THE SOCIETY AGAINST EVIL ACTS BY RAJIV GOYAL

I used to feel candle light does not make any difference. But then some social activist madam who is renowned personality, during my interaction with her at one airport, changed my views. As this is also results into binding society which increases confidence into people & make criminals little worry. She told me remember that such gathering is not a new phenomenon but old age practice against suppressions. It gives a strength to victim & their family members too. It will help in mobilising in society to behave with sensitivity with rape victims and extending emotional support

However, in such matters state is giving advocates, so I donot know whether one can be given advocate personally. Apart from this, state got punishment to culprits in court …but then no result…

Financial assistance is very much required for family. Crowdsource funding may be done for family

Mind set of the people is important : PRABAL PRATAP SINGH #NOIDA POLICE OFFICER ON #GANGRAPE

I disagree with your opinion ..
I think it is the society and the people which is important .
The mindset of society is important.
No matter who does what, the people living around the rape surviver or any other victim play a very important role.
Ultimately this the temperament of society which is reflecting in what government machinery is doing .
If society understands its responsibility to maintain and protect the dignity of every individual then i think any government machinery would not be able to ignore any individual..
So i believe responsibility lies with us to strengthen ourselves. Make ourselves a better and responsible citizen and making us answerable to our society.
I believe that the moment we change our mindset and become more responsible and sensitive things and scenario would certainly change ..

NOIDA NEEDS IT ENABLED TRAFFIC MANAGEMENT

RAJIV GOYAL NOIDA

Traffic jams is an issue in every city specially after rains due to various reasons. Noida being city full of innovative & IT people; some solution in the form of mobile app or mass informative system may be provided by a startup wherein not only location of traffic jam can be pointed but also suggested routes may be provided.

Similarly, if rules permit in U.P., roping of volunteers for traffic management on crossing, with powers to provide support for challans for traffic violators through authorised officer of police department; may be explored too. More than 5000 such volunteers work in Kolkatta @ Rs 175 per day for duty of 4-6 hrs and assist traffic police in managing traffic. I have felt it’s working fine there.

As many roads are under construction specially Viswabharti to sector 61; it divides entire city into two parts. On many main roads entries into sectors are restricted by closing doors leading to undesired choking on almost every crossing as people have to take lengthy routes. A simulation may be done with the help of SPA or IIT delhi in this matter. Probably opening of all sector gates during peak hours can only remove traffic jams. Whatever be the flyovers or elevated roads, they can bring people to sector but if there is limited mobility to enter into sector; choking of traffic is bound to happen.

Noida needs water harvesting to check mate waterlogging

Shared info in public interest – Today measured 36 mm rain at greater noida till 8 pm. In July average rain recorded is around 300 mm, maximum in one day 62 mm near Wipro.

Point is 300 mm water is equivalent to 30 KL for 100 sqmt plot if water harvesting is done, sufficient for one month of consumption. What could be an opportunity, becomes mess on road & inefficiency in services.

Making pucca parking on roads actually stop water seepage into earth & results into water logging

Let’s promote water harvesting at each house / factory / parks / road / wherever possible to make our city free from water-logging.

EK SHAAM KARGIL SHAWEDON K NAAM BY NAI PEHAL IN NOIDA

Shared – प्रेस विज्ञप्ति

28-07-2016
14:20

30 जुलाई 2016 को सायं 7 बजे ,नोएडा स्टेडियम के मुख्य भवन के वातानुकूलित हॉल में नई पहल नोएडा द्वारा "एक शाम कारगिल शहीदों के नाम "कार्यक्रम का भव्य आयोजन संपन्न हुआ । कार्यक्रम में देश की रक्षा के लिए अपने प्राणों की बाजी लगा देने वाले अमर शहीदों के परिजनों को सम्मानित किया गया और सुप्रसिद्ध कवियों द्वारा देशभक्ति कविताओं का पाठ हुआ । कार्यक्रम में मुख्य अथिति के रूप में यूपी बोर्ड एवं सीबीएसई बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष श्री बी पी खंडेलवाल जी उपस्थित रहे । ब्रिगेडियर चितरंजन सावंत जी के सानिध्य में आयोजित इस कार्यक्रम में शहीदों के परिजनों की गरिमामय उपस्थिति कार्यक्रम की शोभा बढ़ा रही थी ।जिनमें शहीद विजयंत थापर जी के पिताजी कर्नल श्री वी एन थापर,शहीद कैप्टन शशिकांत शर्मा जी के पिताजी श्री जेपी शर्मा,माता जी ,भाई डॉ नरेश शर्मा जी उपस्थिति उल्लेखनीय है ।कारगिल की पूरी लड़ाई को पूरे देश में लाइव दिखाने वाले वरिष्ठ पत्रकार गौरव सावंत जी की उपस्थिति एवं उनका कारगिल लड़ाई पर दिया गया व्यक्तव्य उपस्थित सभी लोगों में जोश भर देने वाला था । कार्यक्रम में नई पहल द्वारा माल्यार्पण, शॉल ओढ़ाकर,मोमेंटो प्रदान कर शहीदों के परिजनों का सम्मान किया गया और उनके संस्मरण,उनके अनुभव,उनके वक्तव्य को खूब मन से सुना गया । कारगिल युद्ध और उनकी कुर्बानियाँ सुनकर लोगों के आँखों में आँसू आ गए थे परंतु देश के प्रति उनके त्याग और बलिदान सभी उपस्थित लोगों के दिलों में श्रद्धा,देशभक्ति के भाव एवं उत्साह भर रहा था ।कवि विनोद पांडेय के संयोजन एवं संचालन में काव्य-पाठ करने वाले कवियों में सर्वश्री चेतन आनंद,चेतन चैतन्य ,अरविंद पथिक,विनय विनम्र,योगेश समदर्शी,कवियित्री स्नेह भारती,अभिमन्यु पांडेय "आदित्य ", देवेन्द्र त्रिपाठी "वतन ",पीयूष मालवीय,स्वदेश यादव एवं ब्रिगेडियर कौशिक जी प्रमुख थे ।

नोएडा एवं आस-पास के कई गणमान्य व्यक्तियों की उपस्थिति कार्यक्रम में चार चाँद लगा रही थी जिनमें वरिष्ठ साहित्यकार एवं सीनियर आई ए एस श्री गणेश शंकर त्रिपाठी जी,प्रोजेक्ट इंजीनियर एस सी मिश्रा जी ,वरिष्ठ पत्रकार विनोद शर्मा जी ,चेतना मंच के प्रमुख आर पी रघुवंशी जी एवं एवं नोएडा प्राधिकरण के एक्स. चीफ मेंटेनेंस इंजीनियर एम पी शर्मा जी एवं उनकी धर्मपत्नी ,नवरत्न फाउंडेशन अध्यक्ष श्री अशोक श्रीवास्तव जी,ब्रिगेडियर गौर जी एवं उनकी धर्मपत्नी ,ब्रिगेडियर कौशिक जी,दिल्ली पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी श्री ज्ञानेंद्र अवाना जी ,NEA अध्यक्ष विपिन मलहन जी ,कर्नल मेहता जी ,महेंद्र अवाना जी ,गवर्नमेंट पी जी कॅालेज की प्रिंसिपल श्रीमती मंजू शर्मा जी,युवा प्रतिभा रिया शर्मा,आर एन श्रीवास्तव,नोएडा लोकमंच अध्यक्ष महेश सक्सेना,समाजसेवी श्री त्रिलोक शर्मा जी, मूलचंद अवाना जी,राजीव गर्ग जी,अभिषेक अवस्थी जी जैसे प्रमुख उल्लेखनीय नाम है ।

कार्यक्रम का आगाज रिया शर्मा ने अपने सुमधुर आवाज में ऐ मेरे वतन के लोगों और कहाँ तुम चले गये जैसे गीतों से किया फिर दीप प्रज्वलन के पश्चात शहीदों के माता-पिता,भाई को सम्मानित कर नई पहल संस्था स्वयं में गौरवान्वित महसूस कर रही थी ।कार्यक्रम की अगली कड़ी में गौरव सावंत जी एवं शहीदों के परिजनों का अनुभव सुनकर पूरा सदन भावविभोर हो गया साथ ही साथ सभी के चेहरे पर राष्ट्र के प्रति श्रद्धा,भक्ति एवं उत्साह के भाव भी साफ उभरते हुए दिखाई रहे थे ।

कवि सम्मलेन का आगाज कवियित्री स्नेह भारती जी जी के सरस सरस्वती वंदना से हुआ ।तत्पश्चात युवा कवि स्वदेश यादव पकिस्तान की दोगली नीतियों पर प्रहार करते हुए शानदार रचनाएँ सुनायी ।एक ओर जहाँ युवा कवि पीयूष मालवीय ने देश के अंदर की स्थितियों पर प्रहार करते हुए "ओवैसी पर जूतियाँ बजाने वाला चाहिए ,देश पे कुर्बान होने वाला चाहिए "जैसी पंक्तियों से देशभक्ति सार्थक की वही दूसरी ओर कवि योगेश समदर्शी ने "जिसे पढ़कर मिले हिम्मत कहानी वो गढ़ी जाये " कविता पढ़कर सदन वाहवाही लूट ली । स्नेह भारत जी ने "देश है महान मेरे देश को प्रणाम " कविता पढ़कर राष्ट्रवंदना की तो बरेली से आये चैतन्य चेतन जी ने शहीदों के परिजनों के भाव प्रस्तुत करते हुए "थाल में राखी सजा बैठी बहन खामोश है " कविता पढ़ी । अरविन्द पथिक ने "चेत सके तो चेत नही तो फिर कभी चेत ना पायेगा " कविता पढ़कर दुश्मन देशों की नीतियों पर प्रहार किया ।अभिमन्यु पांडेय "आदित्य " जी ने मुक्तक "सफर पे आखिरी जाऊँ तिरंगा ओढ़ के जाऊँ " पढ़ा तो पूरा प्रांगण तालियों से गूंज उठा । ब्रिगेडियर कौशिक जी ने अपने भाव शहीदों के प्रति कविता में व्यक्त किये और कवि विनोद पांडेय ने अपने छंदों से सभी को गुदगुदाया और राष्ट्रहित में शहीद हुए जवानों को नमन किया । पड़ोसी मुल्क को चेतावनी देते हुए उनके छन्द "टाँग न अड़ायें नहीं टाँग कट जायेगी "को सभी ने खूब पसंद किया गया । अंत में सुप्रसिद्ध कवि एवं पत्रकार चेतन आनंद जी ने अपनी कविताओं से सबको खूब आनंदित किया । उनकी शहीदों पर रचना "एक तार से तार तार सब तार हुए "खूब सराहा गया ।

कार्यक्रम के अंत में एस सी मिश्रा जी ने सभी का धन्यवाद व्यक्त किया । सभी उपस्थित गणमान्य अथितियों ने नई पहल के इस प्रयास को बहुत सार्थक बताया और विश्वास व्यक्त किया कि एक दिन नई पहल की गूँज पुरे देश में होगी ।उनका सुन्दर वक्तव्य सभी के लिए बेहद सार्थक और प्रेरणादायक रहा । उन्होंने सभी कवियों के कविताओं को खूब प्रशंसा की ,आयोजकों को एक सफल कार्यक्रम के लिए बधाई दी और भविष्य के लिए ढेर सारी शुभकामनाएँ दी।

कवि सम्मेलन में उपस्थित सभी सुधी श्रोताओं ने खूब कविताओं का आनंद लिया साथ ही साथ कवियों के उत्साहवर्धन में जरा भी तालियाँ कम नही पड़ने दी।कवि सम्मेलन में नोएडा के कई सम्मानित लोग उपस्थित रहें ।

धन्यवाद
विनोद पांडेय
संयोजक ,नई पहल

EK SHAAM KARGIL SHAHEEDON K NAAM – KAVI SAMMELAN BY NAI PEHAL IN NOIDA

Noida : 30 जुलाई 2016 को सायं 7 बजे ,नोएडा स्टेडियम के मुख्य भवन के वातानुकूलित हॉल में नई पहल नोएडा द्वारा "एक शाम कारगिल शहीदों के नाम "कार्यक्रम का भव्य आयोजन संपन्न हुआ । कार्यक्रम में देश की रक्षा के लिए अपने प्राणों की बाजी लगा देने वाले अमर शहीदों के परिजनों को सम्मानित किया गया और सुप्रसिद्ध कवियों द्वारा देशभक्ति कविताओं का पाठ हुआ । कार्यक्रम में मुख्य अथिति के रूप में यूपी बोर्ड एवं सीबीएसई बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष श्री बी पी खंडेलवाल जी उपस्थित रहे । ब्रिगेडियर चितरंजन सावंत जी के सानिध्य में आयोजित इस कार्यक्रम में शहीदों के परिजनों की गरिमामय उपस्थिति कार्यक्रम की शोभा बढ़ा रही थी ।जिनमें शहीद विजयंत थापर जी के पिताजी कर्नल श्री वी एन थापर,शहीद कैप्टन शशिकांत शर्मा जी के पिताजी श्री जेपी शर्मा,माता जी ,भाई डॉ नरेश शर्मा जी उपस्थिति उल्लेखनीय है ।कारगिल की पूरी लड़ाई को पूरे देश में लाइव दिखाने वाले वरिष्ठ पत्रकार गौरव सावंत जी की उपस्थिति एवं उनका कारगिल लड़ाई पर दिया गया व्यक्तव्य उपस्थित सभी लोगों में जोश भर देने वाला था । कार्यक्रम में नई पहल द्वारा माल्यार्पण, शॉल ओढ़ाकर,मोमेंटो प्रदान कर शहीदों के परिजनों का सम्मान किया गया और उनके संस्मरण,उनके अनुभव,उनके वक्तव्य को खूब मन से सुना गया । कारगिल युद्ध और उनकी कुर्बानियाँ सुनकर लोगों के आँखों में आँसू आ गए थे परंतु देश के प्रति उनके त्याग और बलिदान सभी उपस्थित लोगों के दिलों में श्रद्धा,देशभक्ति के भाव एवं उत्साह भर रहा था ।कवि विनोद पांडेय के संयोजन एवं संचालन में काव्य-पाठ करने वाले कवियों में सर्वश्री चेतन आनंद,चेतन चैतन्य ,अरविंद पथिक,विनय विनम्र,योगेश समदर्शी,कवियित्री स्नेह भारती,अभिमन्यु पांडेय "आदित्य ", देवेन्द्र त्रिपाठी "वतन ",पीयूष मालवीय,स्वदेश यादव एवं ब्रिगेडियर कौशिक जी प्रमुख थे ।

नोएडा एवं आस-पास के कई गणमान्य व्यक्तियों की उपस्थिति कार्यक्रम में चार चाँद लगा रही थी जिनमें वरिष्ठ साहित्यकार एवं सीनियर आई ए एस श्री गणेश शंकर त्रिपाठी जी,प्रोजेक्ट इंजीनियर एस सी मिश्रा जी ,वरिष्ठ पत्रकार विनोद शर्मा जी ,चेतना मंच के प्रमुख आर पी रघुवंशी जी एवं एवं नोएडा प्राधिकरण के एक्स. चीफ मेंटेनेंस इंजीनियर एम पी शर्मा जी एवं उनकी धर्मपत्नी ,नवरत्न फाउंडेशन अध्यक्ष श्री अशोक श्रीवास्तव जी,ब्रिगेडियर गौर जी एवं उनकी धर्मपत्नी ,ब्रिगेडियर कौशिक जी,दिल्ली पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी श्री ज्ञानेंद्र अवाना जी ,NEA अध्यक्ष विपिन मलहन जी ,कर्नल मेहता जी ,महेंद्र अवाना जी ,गवर्नमेंट पी जी कॅालेज की प्रिंसिपल श्रीमती मंजू शर्मा जी,युवा प्रतिभा रिया शर्मा,आर एन श्रीवास्तव,नोएडा लोकमंच अध्यक्ष महेश सक्सेना,समाजसेवी श्री त्रिलोक शर्मा जी, मूलचंद अवाना जी,राजीव गर्ग जी,अभिषेक अवस्थी जी जैसे प्रमुख उल्लेखनीय नाम है ।

कार्यक्रम का आगाज रिया शर्मा ने अपने सुमधुर आवाज में ऐ मेरे वतन के लोगों और कहाँ तुम चले गये जैसे गीतों से किया फिर दीप प्रज्वलन के पश्चात शहीदों के माता-पिता,भाई को सम्मानित कर नई पहल संस्था स्वयं में गौरवान्वित महसूस कर रही थी ।कार्यक्रम की अगली कड़ी में गौरव सावंत जी एवं शहीदों के परिजनों का अनुभव सुनकर पूरा सदन भावविभोर हो गया साथ ही साथ सभी के चेहरे पर राष्ट्र के प्रति श्रद्धा,भक्ति एवं उत्साह के भाव भी साफ उभरते हुए दिखाई रहे थे ।

कवि सम्मलेन का आगाज कवियित्री स्नेह भारती जी जी के सरस सरस्वती वंदना से हुआ ।तत्पश्चात युवा कवि स्वदेश यादव पकिस्तान की दोगली नीतियों पर प्रहार करते हुए शानदार रचनाएँ सुनायी ।एक ओर जहाँ युवा कवि पीयूष मालवीय ने देश के अंदर की स्थितियों पर प्रहार करते हुए "ओवैसी पर जूतियाँ बजाने वाला चाहिए ,देश पे कुर्बान होने वाला चाहिए "जैसी पंक्तियों से देशभक्ति सार्थक की वही दूसरी ओर कवि योगेश समदर्शी ने "जिसे पढ़कर मिले हिम्मत कहानी वो गढ़ी जाये " कविता पढ़कर सदन वाहवाही लूट ली । स्नेह भारत जी ने "देश है महान मेरे देश को प्रणाम " कविता पढ़कर राष्ट्रवंदना की तो बरेली से आये चैतन्य चेतन जी ने शहीदों के परिजनों के भाव प्रस्तुत करते हुए "थाल में राखी सजा बैठी बहन खामोश है " कविता पढ़ी । अरविन्द पथिक ने "चेत सके तो चेत नही तो फिर कभी चेत ना पायेगा " कविता पढ़कर दुश्मन देशों की नीतियों पर प्रहार किया ।अभिमन्यु पांडेय "आदित्य " जी ने मुक्तक "सफर पे आखिरी जाऊँ तिरंगा ओढ़ के जाऊँ " पढ़ा तो पूरा प्रांगण तालियों से गूंज उठा । ब्रिगेडियर कौशिक जी ने अपने भाव शहीदों के प्रति कविता में व्यक्त किये और कवि विनोद पांडेय ने अपने छंदों से सभी को गुदगुदाया और राष्ट्रहित में शहीद हुए जवानों को नमन किया । पड़ोसी मुल्क को चेतावनी देते हुए उनके छन्द "टाँग न अड़ायें नहीं टाँग कट जायेगी "को सभी ने खूब पसंद किया गया । अंत में सुप्रसिद्ध कवि एवं पत्रकार चेतन आनंद जी ने अपनी कविताओं से सबको खूब आनंदित किया । उनकी शहीदों पर रचना "एक तार से तार तार सब तार हुए "खूब सराहा गया ।

कार्यक्रम के अंत में एस सी मिश्रा जी ने सभी का धन्यवाद व्यक्त किया । सभी उपस्थित गणमान्य अथितियों ने नई पहल के इस प्रयास को बहुत सार्थक बताया और विश्वास व्यक्त किया कि एक दिन नई पहल की गूँज पुरे देश में होगी ।उनका सुन्दर वक्तव्य सभी के लिए बेहद सार्थक और प्रेरणादायक रहा । उन्होंने सभी कवियों के कविताओं को खूब प्रशंसा की ,आयोजकों को एक सफल कार्यक्रम के लिए बधाई दी और भविष्य के लिए ढेर सारी शुभकामनाएँ दी।

कवि सम्मेलन में उपस्थित सभी सुधी श्रोताओं ने खूब कविताओं का आनंद लिया साथ ही साथ कवियों के उत्साहवर्धन में जरा भी तालियाँ कम नही पड़ने दी।कवि सम्मेलन में नोएडा के कई सम्मानित लोग उपस्थित रहें ।

विनोद पांडेय
संयोजक ,नई पहल

Hungama at Amrapali Silicon City Noida over no power

नॉएडा ब्रेकिंग–आम्रपाली सिलिकॉन सिटी के बाहर फ़्लैट मालिको का हंगामा,पिछले 12 घंटो से नहीं है अपार्टमेंट में बिजली,सड़को पर उतर फ्लैट मालिको ने लगाया जाम,सेक्टर 76 से सेक्टर 71 तक लगा भीषण जाम,हज़ारो लोग फसे है जाम में,बिल्डर ऑटो बैकअप के नाम पर लेता है फ्लैट मालिको से पैसे फिर भी 12 घण्टो से नहीं है सोसायटी में बिजली,सेक्टर 76 स्थित आम्रपाली सिलिकॉन सिटी का मामला