Noida Latest News

सीईओ से मिलकर पर्यावरण बचाने का दिया ज्ञा पन

> यूथ लीडर्स ऑफ़ नॉएडा संस्था आज नॉएडा के सीईओ श्री दीपक अग्गरवाल से मिली एवं शहर किस समस्याओं के बारे में उन्हें अवगत करवाया , इस दौरान नॉएडा के सेक्टर 91 में प्राधिकरण की ग्रीन बेल्ट में सूखते सैंकड़ो पेड़ों की जानकारी सीईओ को दी ,यहाँ कई महीनो से सीवर का पानी भरा हुआ है जिससे बहुत से पेड़ मरर चुके हैं एवं बाकी मरने की कगार पर हैं , जिसके बाद उन्होंने इस तुरंत हॉर्टिकल्चर विभाग के डायरेक्टर को निर्देश जारी किये के जल्द से जल्द कार्यवाही कर गन्दा पानी वहां से निकाला जाए एवं नए पेड़ लगाए जाएं एवं उन सरकारी कर्मचारियों के खिलाफ कार्यवाही करने की बात भी की जिन्होंने लापरवाही बारात कर यह घटना घटित होने दी ,इसी दौरान संस्था ने सेक्टर 135 की इसी प्रकार की समस्या का ब्यौरा अफसर को दिया !
>
> यूथ लीडर्स की ने इस दौरान ‘नॉएडा सिटीजन चार्टर ‘ में आ रही खामियों की जानकारी भी सीईओ को दी एवं उन कमियों को सुधारने के तरीके भी एक ज्ञापन के रूप में उन्हें दी , सीईओ ने स्वीकार किआ के इस सुविधा में कुछ कमियां आरही हैं और जल्द ही संस्था एवं अन्य सुझावों की मदद से सिटीजन चार्टर को अपडेट किआ जायेगा !इन खामियों के साथ साथ संस्था एवं नॉएडा अथॉरिटी इस सुविधा के बारे में जान चेतना जगायेंगे एवं डिजिटल क्रांति में अपना योगदान देने पर भी सिविल सोसाइटी एवं प्राधिकरण में समझौता हुआ ! इस दौरान संस्था के संस्थापक सदस्य श्री रंजन तोमर ,आदित्य श्रीवास्तव , पुनीत राणा , अंकित अग्गरवाल एवं प्रवीण चौहान उपलब्ध रहे !

एमिटी विश्वविधालय में डिजिटल इंडिया, स्ट ार्ट अप, स्टैन्ड अप इंडिया पर आयोजित अंतरराष् ट्रीय सम्मेलन का समापन

एमिटी काॅलेज आॅफ काॅमर्स एंड फाइनेंस द्वारा आयोजित ‘‘उद्यमिता में उभरते प्रवृत्तियों का प्रभाव – डिजिटल इंडिया, स्टार्ट अप स्टैन्ड अप इंडिया इनिश टिव पर फोकस’’ सम्मेलन का आज समापन हो गया। इस अवसर पर टीएमटीसी नोएडा के सीईओ श्री मनोज टंडन, विज़न एक्चुलाइज के सीईओ श्री संजीव दुग्गल एंव एमिटी काॅलेज आॅफ काॅमर्स एंड फाइनेंस की निदेशिका डा सुजाता खंडाई ने छात्रों को प्रोत्साहित किया ।

यूथ लीडर्स ऑफ़ नॉएडा संस्था ने नॉएडा के सीई ओ दीपक अग्रवाल को समस्याओं के बारे में अवगत क रवाया

यूथ लीडर्स ऑफ़ नॉएडा संस्था आज नॉएडा के सीईओ श्री दीपक अग्गरवाल से मिली एवं शहर किस समस्याओं के बारे में उन्हें अवगत करवाया , इस दौरान नॉएडा के सेक्टर 91 में प्राधिकरण की ग्रीन बेल्ट में सूखते सैंकड़ो पेड़ों की जानकारी सीईओ को दी ,यहाँ कई महीनो से सीवर का पानी भरा हुआ है जिससे बहुत से पेड़ मरर चुके हैं एवं बाकी मरने की कगार पर हैं , जिसके बाद उन्होंने इस तुरंत हॉर्टिकल्चर विभाग के डायरेक्टर को निर्देश जारी किये के जल्द से जल्द कार्यवाही कर गन्दा पानी वहां से निकाला जाए एवं नए पेड़ लगाए जाएं एवं उन सरकारी कर्मचारियों के खिलाफ कार्यवाही करने की बात भी की जिन्होंने लापरवाही बारात कर यह घटना घटित होने दी ,इसी दौरान संस्था ने सेक्टर 135 की इसी प्रकार की समस्या का ब्यौरा अफसर को दिया !

यूथ लीडर्स की ने इस दौरान ‘नॉएडा सिटीजन चार्टर ‘ में आ रही खामियों की जानकारी भी सीईओ को दी एवं उन कमियों को सुधारने के तरीके भी एक ज्ञापन के रूप में उन्हें दी , सीईओ ने स्वीकार किआ के इस सुविधा में कुछ कमियां आरही हैं और जल्द ही संस्था एवं अन्य सुझावों की मदद से सिटीजन चार्टर को अपडेट किआ जायेगा !इन खामियों के साथ साथ संस्था एवं नॉएडा अथॉरिटी इस सुविधा के बारे में जान चेतना जगायेंगे एवं डिजिटल क्रांति में अपना योगदान देने पर भी सिविल सोसाइटी एवं प्राधिकरण में समझौता हुआ ! इस दौरान संस्था के संस्थापक सदस्य श्री रंजन तोमर ,आदित्य श्रीवास्तव , पुनीत राणा , अंकित अग्गरवाल एवं प्रवीण चौहान उपलब्ध रहे !

होली को लेकर खाद्य सुरक्षा विभाग ने मिलावट खोरों के खिलाफ कसा शिकंजा

त्योहारों के आते ही मिलावटखोरों की भी मौज आ जाती है और दिल्ली एनसीआर में डिमांड ज्यादा होने के चलते त्योहारों में मिठाइयों को लेकर मिलावट का खेल शुरू हो जाता है जिसकों लेकर नॉएडा खाद्य सुरक्षा विभाग ने भी अपनी कमर कस ली है और होली के कई दिन पहले से ही इस तरह की मिठाई बनाने और बेचने वाले लोगों पर कारवाही शुरू कर दी है आज विभाग की तरफ से सेक्टर 18 के कई स्वीट हॉउस में छापेमारी की गयी और मिठाइयों के सेम्पल जब्त किये गए नॉएडा सेक्टर 18 का यह है नत्थू स्वीट्स, जहाँ जिले की खाद्य सुरक्षा विभाग ने त्योहारों के मद्देनजर छापेमारी की और वहां मिठाई के लिए प्रयोग किये जाने वाली सामग्री जैसे छेना और खोये का सेम्पल जब्त किया ,खाद्य सुरक्षा अधिकारी की माने तो होली के नजदीक होने के चलते मिलावट खोर भी सक्रिय होगे हैं जिसको लेकर विभाग की तरफ से भी छापेमारी की कारवाही शुरू कर दी गयी है और त्यौहार में किसी को भी एसी मिलावटी मिठाइयाँ ना मिले इस लिए ये छापेमारी लगातार जारी रहेगी .

नोएडा के सनातन धर्म मंदिर में मनेगा फूलो क ी होली का जश्न

श्याम प्रेमीजन एवं श्री सनातन धर्म सेवा समिति द्वारा एक प्रेसवार्ता का आयोजन किया गया। जिसमें दशम श्री श्याम फाल्गुन महोत्सव के बारे में प्रेस को जानकारी दी गई। संजय बाली संरक्षक ने बताया कि निरंतर श्याम फाल्गुन द्वादषी महोत्सव पिछले दस वर्शो से निरंतर किया जा रहा है और इस बार बड़े ही धूमधाम के साथ 10वें वर्श का कार्यक्रम मनाया जायेगा। जो 9 मार्च 2017 (गुरूवार) सायं 6ः30 बजे से चलेगा। जिसमें परम श्रदेय श्री सुरेष चन्द गुप्ता जी का स्नेह व आशीर्वाद प्राप्त होगा। प्रसिद्व श्याम सुरीले के मुख से भजनों की ष्याम होगी। जिसमें चमल लाल गर्ग व सविता राघव प्रसिद्ध कलाकार मेरठ के द्वारा श्री श्याम खाटू के भजनों व होली के गीतों के

साथ इस कार्यक्रम शुभ आरंभ होगा। मथुरा वृन्दावन के प्रसिद्ध कलाकारों द्वारा सांस्कृतिक एवं परम्परागत नृत्य, महारश के साथ होली में फूलों के होली का आनंद लेंगे।

नोएड़ा- गायत्री प्रजापति के 2 साथी नोएड़ा से गिरफ्तार.

नोएड़ा । गायत्री प्रजापति के 2 साथी नोएड़ा से गिरफ्तार । अब तक गायत्री मामले में 3 लोग हो चुके है गिरफ्तार । गायत्री का अभी तक सुराग नही । आशिष और अशोक गिरफ़्तार

संत नीरज कृष्ण महाराज ने कृष्ण की बाल लीला ओं के बारे श्रद्धालु को बताया

सनातन धर्म मन्दिर, सैक्टर – 19 नोएडा में चल रही श्रीमदभागवत कथा के पांचवें दिन पर राष्ट्रिय संत नीरज कृष्ण महाराज ने कृष्ण की बाल लीलाओं के उपरान्त गिरिराज पूजन बड़े उल्हास व उत्साह से किया गया ! जब ब्रिज गोपियाँ पूजन के समय अपने थालों को सजा कर कृष्ण बलराम के साथ गिरिराज पूजन को गई उस समय की छठा सब के मन को आकर्षित कर रही थी ! सभी ने बड़े आन्नद से गिरिराज महाराज का पूजन किया ! नाचते गाते जयकारे लगाते हुए गिरिराज जी की परिक्रमा की ! जब इंद्र को पता लगा की श्रीकृष्ण के बहकावे में आकर ब्रिजवासियों ने मेरा पूजन बंद करके गिरिराज पर्वत को पूजा है ! यह जानकार इंद्र ने प्रलय करने वाले मेघों को ब्रिज को नस्ट करने का हुक्म दिया ! श्रीकृष्ण ने गिरिराज पर्वत को अपने नख पर उठालिया ! ब्रिजवासी सब गिरिराज पर्वत के निचे आगये ! सुदर्शन चक्र ने सारे जल को शोषित कर लिया ! इस तरह से श्रीकृष्ण भगवान ने इन्द्र के घमण्ड को तोड़ा ! कथा वाचक नीरज कृष्ण महाराज ने बताया कि श्रीकृष्ण द्वारा जो भी लिलाएं की गई थी उनका उद्देश्य जीवन में सीख देना था।

आज के मुख्य गणमान्य लोगों में ओ पी बंसल, डॉ जी एस बंसल, के सी गुप्ता, आर पी माहेश्वरी, महेंद्र शाह, संजय बाली, पवन शर्मा, ओमप्रकास, बासुदेव बंसल, के एल बैद, सपना बंसल सहित कई गणमान्य लोग सामिल हुए।

संत नीरज कृष्ण महाराज ने कृष्ण की बाल लीला ओं के उपरान्त गिरिराज पूजन बड़े उल्हास व उत्स ाह से किया

सनातन धर्म मन्दिर, सैक्टर – 19 नोएडा में चल रही श्रीमदभागवत कथा के पांचवें दिन पर राष्ट्रिय संत नीरज कृष्ण महाराज ने कृष्ण की बाल लीलाओं के उपरान्त गिरिराज पूजन बड़े उल्हास व उत्साह से किया गया ! जब ब्रिज गोपियाँ पूजन के समय अपने थालों को सजा कर कृष्ण बलराम के साथ गिरिराज पूजन को गई उस समय की छठा सब के मन को आकर्षित कर रही थी ! सभी ने बड़े आन्नद से गिरिराज महाराज का पूजन किया ! नाचते गाते जयकारे लगाते हुए गिरिराज जी की परिक्रमा की ! जब इंद्र को पता लगा की श्रीकृष्ण के बहकावे में आकर ब्रिजवासियों ने मेरा पूजन बंद करके गिरिराज पर्वत को पूजा है ! यह जानकार इंद्र ने प्रलय करने वाले मेघों को ब्रिज को नस्ट करने का हुक्म दिया ! श्रीकृष्ण ने गिरिराज पर्वत को अपने नख पर उठालिया ! ब्रिजवासी सब गिरिराज पर्वत के निचे आगये ! सुदर्शन चक्र ने सारे जल को शोषित कर लिया ! इस तरह से श्रीकृष्ण भगवान ने इन्द्र के घमण्ड को तोड़ा ! कथा वाचक नीरज कृष्ण महाराज ने बताया कि श्रीकृष्ण द्वारा जो भी लिलाएं की गई थी उनका उद्देश्य जीवन में सीख देना था।

आज के मुख्य गणमान्य लोगों में ओ पी बंसल, डॉ जी एस बंसल, के सी गुप्ता, आर पी माहेश्वरी, महेंद्र शाह, संजय बाली, पवन शर्मा, ओमप्रकास, बासुदेव बंसल, के एल बैद, सपना बंसल सहित कई गणमान्य लोग सामिल हुए।

जीएसटी लागू करने में वित्त मंत्री अरुण जे टली की भूमिका को कैट ने सराहा

जीएसटी कॉउन्सिल द्वारा सर्वसम्मति से सीजीएसटी एवं आईजीएसटी कानून के प्रारूप पारित करने पर कंफेडेरेशन ऑफ़ आल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ने केंद्रीय वित्त मंत्री श्रीअरुण जेटली की प्रशंसा करते हुए कहा है की इस महत्वपूर्ण कदम से देश में अब जीएसटी लागू करने का मार्ग पूरी तरह साफ़ हो गया है !इसी बीच कैट ने केंद्रीय वित्त मंत्रीसे आग्रह किया है की संसद में यह बिल रखने से पूर्व सरकार व्यापारियों को भी विश्वास में ले ! कैट ने कहा है की जीएसटी एक गंतव्य आधारित कर प्रणाली है औरजीएसटी के अंतिम गंतव्य उपभोक्ता के साथ सीधा एवं अंतिम संपर्क व्यापारियों का ही होता है इस दृष्टि से व्यापारियों के साथ संवाद इस कानून को देश भर में सरलता केसाथ लागू करने में महत्वपूर्ण होगा और जीएसटी को राजस्व एकत्र करने में एक सफल मॉडल बनाएगा !

हालाकिं कैट देश में जल्द जीएसटी लागू करने का पक्षधर है किन्तु कैट ने केंद्र सरकार से आग्रह किया है की इस कानून की बारीकियों को समझने एवं इसे अपने वर्तमानव्यापारिक मॉडल में आवश्यक बदलाव करने हेतु व्यापारियों को कुछ वक्त दिया जाना जरूरी है ! जीएसटी विशूद्द रूप से टेक्नोलॉजी पर आधारित एक कर प्रणाली हैजिसका पालन केवल ऑनलाइन माध्यम से ही किया जाना तय है और उधर दूसरी तरफ यह भी सच है की देश में लगभग 70 % छोटे व्यवसायिओं को अभी भी अपनेवर्तमान व्यापारिक ढांचे को कंप्यूटरीकृत करना शेष है, इस वजह से 1 जुलाई 2017 की तारीख को कुछ समय के लिए आगे बढ़ाया जाए और इसी बीच सरकार व्यापारिकसंगठनों के सहयोग से बड़े पैमाने पर देश भर में जीएसटी को लेकर एक राष्ट्रीय जागरूकता अभियान चलाये ! कैट इसमें सरकार का पूरा सहयोग करेगी ! हालाकिं कैट नेदेश में अकाउंटिंग सॉफ्टवेयर की बड़ी कंपनी टैली सॉल्यूशंस लिमिटेड के साथ मिलकर पहले से ही जीएसटी के मुद्दे पर एक राष्ट्रीय अभियान चलाया हुआ है लेकिन सरकारयदि सहयोग करती है तो जल्द ही यह अभियान देश के कोने कोने में पहुँच सकता है !

कैट के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री बी.सी.भरतिया एवं राष्ट्रीय महामंत्री श्री प्रवीन खंडेलवाल ने कहा की जीएसटी कानून के कुछ प्रस्तावित प्रावधान व्यापारियों के लिए कुछपरेशानियां कड़ी कर सकते हैं और जिन पर एक बार दोबारा विचार करने की जरूरत है जिससे कर की पालना करने वाले व्यापारियों को दूसरे किसी व्यक्ति की लापरवाहीका दंड न भुगतना न पड़े ! इसी क्रम में इनपुट क्रेडिट एक बड़ा मुद्दा है जिसमें माल खरीदने वाले व्यक्ति को इनपुट क्रेडिट जभी मिलेगा जब माल बेचने वाला व्यक्ति करजमा कर दे ! यह प्रावधान बेहद अस्पष्ट है और किसी एक व्यक्ति की गलती या लापरवाही की सजा उस व्यक्ति को मिलेगी जो कर की पालना कर रहा है जिससे करपालना हतोत्साहित होगी ! उन्होंने कहा की सरकार को निश्चित रूप से कर वंचना करने वालों को दण्डित करने का अधिकार है और जीएसटी के प्रावधानों के मुताबिक हरव्यक्ति को जीएसटी नेटवर्क से अपना पंजीकरण करना होगा और अपनी बिक्री की हर जानकारी नेटवर्क को देनी होगी जिसके चलते जिस व्यक्ति ने कर लिया है उसे करजमा करना अनिवार्य होगा, ऐसे में जो जब माल खरीदने वाला माल बेचने वाले को कर दे ही चूका है तो यदि माल बेचने वाला कर न जमा कराये तो खरीदने वाले को दण्डितक्यों किया जाए ! यह प्रावधान एक तरीके इसे अन्यायपूर्ण है !

कैट ने सरकार को सुझाव दिया है की इनपुट क्रेडिट को वैध रिटर्न से न जोड़ा जाए !वैध रिटर्न वो हो जिसमें कर पूरे तौर पर लिया गया है एवं जो कर लेने वाले कीजिम्मेदारी तय करता है ! इस दृष्टि से इनपुट क्रेडिट प्राप्त करने के लिए वैध रिटर्न को आधार बनाया जाये न की कर जमा करने को ! यदि इस सुझाव को स्वीकार कियाजाता है तो यह व्यापारियों को एक बड़ी परेशानी से बचाएगा और कर पालना को मजबूत करेगा तथा कर वंचना को रोकेगा !

कैट ने यह भी कहा है की अंतरराज्यीय व्यापार में ई परमिट लागू करना सारे देश को एक मंडी – एक कर बनाने के सिद्धांत के विरुद्ध होगा ! जब सभी व्यक्ति सीधे जीएसटीनेटवर्क पर पंजीकृत है और हर व्यक्ति हर गतिविधि सरकार की निगाहों में है , ऐसे में ई परमिट की कोई आवश्यकता नहीं है ! जीएसटी में इस प्रावधान को न रखा जाए,यह आग्रह भी कैट ने किया है !