Noida Latest News

नॉएडा : सिक्यॉरिटी मनी नाम पर ठगी कर रफूचक् कर हुई सॉफ्टवेयर कम्पनी

नॉएडा : नॉएडा शहर में आये दिन ठगी के मामले जाएदा देखने को मिल रहे है। ऐसा ही एक अपर मामला थाना 20 के सेक्टर 2 का है जहा एक सॉफ्टवेयर कम्पनी ने सिक्यॉरिटी मनी के नाम पर लाखो रुपये की ठगी कर चपंत हो गयी है। ठगी के शिकार पीड़ितों ने सेक्टर-20 पुलिस से मामले की शिकायत की है। पुलिस के अनुसार, 6 महीने पहले सेक्टर-2 में इस कंपनी ने नौकरी के लिए भर्तियां निकाली थीं। कंपनी ने इंटरव्यू के बाद 200 लोगों को चुना था। सिक्यॉरिटी मनी के नाम 50-50 हजार रुपये मांगने पर सिर्फ 20 लोगों ने ही रुपये दिए। कंपनी में बीते अक्टूबर से काम शुरू हो गया। दो महीने बीत जाने के बाद भी उन्हें सैलरी नहीं दी गई। इसके बाद नवंबर महीने में कंपनी बंद हो गई। कंपनी प्रबंधक से बात होने पर उन्हें 13 दिसंबर से कंपनी खुलने का झांसा दिया गया। दिसंबर में भी कंपनी नहीं खुली और प्रबंधक का फोन भी बंद जा रहा है। पुलिस ने ठगी के शिकार लोगो की शिकायत दर्ज कर ली है जाँच कर रही है।

आजकल तो साहित्यकारों की उपलब्धि ही बदल गय ी

कल दोपहर मेट्रो की सीढ़ियों पर दौड़ते हुए एक मूर्धन्य साहित्यकार पर मेरी नजर पड़ी ।वो भागते हुए भी साहित्यकार ही लग रहे थे | उनके हाथ में उन्हीं का लिखा हुआ एक महाकाव्य था जो शायद आज के बाद किसी और के आलमारी की शोभा बढ़ाने वाला है । महाकाव्य इसलिए कहा कि उसमें लिखी कविताएँ असाधारण थी । उनकी कविताओं में काव्य के सारे तत्व मौजूद थे बस दिखायी नहीं देते थे ।उनसे मिलने वाला या यूँ कहें उनको दिख जाने वाला कोई भी व्यक्ति बिना उस महाकाव्य को लिए घर नहीं जा सकता ।मेरे पर उनका विशेष प्रेम था,अब तक उस महाकाव्य की तीन प्रतियाँ घर ला चुका हूँ ।हर बार सप्रेम भेट कर देते और मैं उनके सप्रेम भेट को मुस्कुराते हुए स्वीकार कर लेता क्योंकि मैंने सुन रखा था कि शीश तोड़ों ,पत्थर तोड़ों पर किसी का दिल मत तोड़ों ।

खैर ,मेट्रों स्टेशन पर उनको दूर से देखते हुए मैं उनसे और दूरियां बनाते हुए मेट्रों की प्रतीक्षा में खड़ा हुआ । मेट्रों से ज्यादा मेरा ध्यान इस बात पर था कि महोदय जी मुझको देख न लें ।मेट्रों आयी ।चूँकि मैं भीड़ के बीचोबीच खड़ा था अतः बिना किसी प्रयास के भीड़ द्वारा अंदर ठूस दिया गया ।मुझे केवल हाथ-पैर बचाने की मेहनत करनी पड़ी और मैं मेट्रों में अंदर आ गया ।मगर यह क्या ,काटो तो खून नहीं,वो इसलिए की सामने नजर पड़ी तो वृद्ध एवं विकलांग सीट पर साहित्यकार महोदय चश्मा साफ करते दिखाई पड़े ,मुझे देखते ही वो चीख पड़े इससे यह भी साफ़ हो गया था कि चश्मा लगाना उनके पर्सनालिटी का एक हिस्सा है ।

मैंने उन्हें चुप कराते हुए उनके नजदीक पहुँचा तो वो भी मुझे एडजस्ट करने के लिए मेहनत करने लगे,थोड़ा जगह बना कर मुझे जबरदस्ती बिठाने की उनकी कोशिश तब बेकार चली गयी जब बगल में बैठी एक मैडम जी झटपट अपने शौहर का हाथ पकड़ खींच कर बिठा लिया ।फिर क्या करते साहित्यकार महोदय जी भी कुछ लाज-शर्म की बात करके चुप हो गए ।मैं उनकी बातों में रूचि न लेने का बहाना कर रहा था पर वो बातचीत के जुगाड़ में थे ।मुझे भी पता था कि वो ज्यादा देर रुक नहीं सकते थे ,क्योंकि दो साहित्यकार एक जगह हो और दोनों मौन रहें ऐसा संभव ही नहीं ।थोड़ी देर इधर उधर देखते रहे फिर बोल ही पड़े ,कि भाई साहब ,मेरी किताब आप को कैसी लगी । अब मैं क्या बोलूँ क्योंकि मैंने तो आजतक उनकी महाकाव्य के एक पन्ना नहीं पलटा । "बहुत शानदार लगी "इसका विशेषण ढूढ़ ही रहा था कि वहीं झट से बोल पड़े,अच्छी ही लगी होगी ,आजतक जिसने भी पढ़ा सभी ने तारीफ ही की है । मैंने मुँह खोल कि वो फिर बोल पड़े कि जुलाई में दूसरी किताब भी आ जाएगी ,विमोचन में आप को रहना है । विमोचन से मुझे याद आया कि इनके पहले विमोचन में मैं गया था ,मुश्किल से दस लोग आये थे ,फोटों खींचते वक्त तो जलपान वाले लड़कों को भी किताब पकड़ाकर खड़ा कर दिए थे । पाँच मिनट में विमोचन हो गया था पर बन्दे ने डेढ़ घंटे तक सबको कविताएँ सुनाई,जलपान के नाम पर चाय पकौड़े तो आये थे पर इनकी कविता सुनकर सब पेट में जाने से मुकर गए और मुँह तक आकर बाहर आने की जिद करने लगे मैंने तो उनकी जिद तुरंत पूरी कर दी थी ,बाकि लोगों ने शायद बाद में की होगी ।

ऐसी सुखद पल मुझे पचते नहीं हैं अतः मैंने निर्णय लिया कि दोबारा ऐसे कार्यक्रमों में नहीं जाऊँगा और ये भाई साहब दोबारा निमंत्रण दे रहे हैं । खैर मैंने "देखा जायेगा" कह कर बात को टाल दिया । इससे पहले कि वो फिर मुँह खोलते मैंने ही पूछ लिया ,कहाँ जा रहे हो आप ? । "एक साहित्यिक कार्यक्रम में " वो मुस्कुराते हुए बोले।मुझे बिलकुल आश्चर्य नहीं हुआ क्योंकि मुझे ही नहीं बल्कि शहर के एक चौथाई साहित्यकारों पता है कि ये नित्य ही किसी न किसी साहित्यिक कार्यक्रम में ही जाते हैं ।मैंने बात को आगे बढ़ाया और पूछा की कैसा कार्यक्रम है । उन्होंने शहर के एक बड़े साहित्यकार का नाम लेते हुए बताया कि उन्होंने एक विचार गोष्ठी रखी है जिसमें शहर ही नहीं बल्कि देश के बड़े बड़े साहित्यकार व्याख्यान देंगे ।मैंने मजाकिया अंदाज में पूछा कि आप भी व्याख्यान देंगे क्या ,जो तीस रुपये खर्च करके ,पाँच घंटे का सत्यानाश करके इतना बड़े कार्यक्रम में जा रहे हैं ।महोदय जी ने मुँह लटकाते हुए कहा ,"अरे नहीं हम कहाँ " ,हम तो बस व्याख्यान सुनने जा रहें हैं और कुछ लोगों से मुलाकात होगी तो अच्छा लगेगा । मैं साहित्यकार की इस संतुष्टि पर अवाक् रह गया । ऐसा महान साहित्यकार जो केवल व्याख्यान सुनकर संतोष कर लेगा किसी बड़े आश्चर्य से कम नहीं था । मैंने मन ही मन सोचा ये इनका महाकाव्य किसी व्याख्यान का ही नतीजा है,भगवान जाने अब भविष्य में ये और क्या गुल खिलाएंगे ।

मैं भी टाइम पास कर रहा था इसलिए बात आगे बढ़ाया कि आप को अच्छा लगेगा कि महान साहित्यकारों के बीच आप कुछ अपनी न ठेल पाएं तो । उन्होंने बोला भाई यह तो मौके की बात है,अगर जरा मौका मिल गया तो चुप थोड़े ही रहूँगा,कुछ नहीं तो माइक के सामने जाकर एक फोटो तो खिंचवा ही लूँगा ,इसके लिए कौन रोकेगा । इन महोदय की असली बात मेरी समझ अब आयी ,उन्होंने फिर बोले कि भाई इससे पहले भी कई कार्यक्रमों में गया हूँ ,कहीं मौका नहीं मिलता ,मौका छिनना पड़ता है। हम ऐसे ही इतने महान थोड़े ही हुए हैं । फेसबुक पर रोज फोटो अपडेट करता हूँ तो पोज देखकर लोग दाँतों तले उँगली दबा लेते हैं ।हिंदी के साहित्यकार फर्राटा अंग्रेजी बोलने लगे कि बड़ी माई अचीवमेंट इज माई फेसबुक प्रोफाइल पेज,गो एन्ड सी । लोग मुझे कमेंट करते है,लाइक करते हैं,कहते हैं कि बड़े साहित्यकार हो गए हो ,बस और क्या चाहिए । किसको पता कि कार्यक्रमों में क्या होता है ।बस फोटो अच्छी आनी चाहिए ,तो भी बड़े बड़े साहित्यकारों के साथ । फिर तुम भी बड़े हो जाओगे,हम ऐसे बड़े थोड़े ही हुए हैं । उनकी बात ख़त्म हुई और मेरा स्टेशन आ गए । मैं भी नमस्कार करते हुए मेट्रों से उतर गया यह सोचते हुए कि आजकल तो साहित्यकारों की उपलब्धि ही बदल गयी है ,बस फोटों खिंचवाना है,फेसबुक प्रोफाइल चमकना चाहिए,बाकी कौन देखता है ।

—-विनोद पांडेय

Noida MLA Pankaj Singh pushes for mandatory Parents Teacher meeting at Government Schools, speaks to DM!

(16/01/2018) Noida :

In what could be claimed as a significant step in improving the quality of education in Government school, Noida Legislator Pankaj Singh has advocated measures for initiating regular and mandatory PTM in Government schools of the district.

Noida MLA Pankaj Singh today Spoke to B.N. Singh, District Magistrate, Gautam Budh Nagar, about introducing a mandatory Parent-Teacher Meeting (PTM) at regular intervals, in all government schools in Noida.

The young MLA from Noida has been pursuing reforms in Government schools in his constituency since long and has also initiated development and upgradation of various schools through CSR finds.

Speaking on significance of such meeting, MLA Panakj Singh said, " It will surely help in assessing the students’ progress at school and in finding solutions to his/her academic or behavioural problems. A face-to-face meeting between the teachers and parents of a student provides a platform for discussing the child’s academic progress and overall development. Somehow, this has been limited to private schools only".

He further added, "However, I firmly believe, it is every parent’s right to be well informed about their child’s development and accordingly provide direction to it. A regular interaction between parents and teachers will play an important role in this regard".

It is to be seen as to from when such measures are adopted and implemented in government schools of Noida.

नॉएडा : एमिटी यूनिवसिर्टी के कर्मचारी मांग ो लेकर धरने पर बैठे , पुलिस बल तैनात

नॉएडा : सेक्टर 125 स्थित एमिटी यूनिवर्सिटी के सफाई कर्मचारियों ने अपनी मांगो को लेकर अचानक गेट नंबर 4 पर बैठे , कर्मचारी काफी समय से अपने वेतन बढ़ाने के साथ पदों में उन्नति मांग कर रहे थे और उनको काफी समय से एमिटी यूनिवर्स्टी से केवल अस्वाशन ही मिल रहा था। कर्मचारियों के धरने पर बैठने से एमिटी यूनिवर्सिटी प्रशासन में हड़कंप मच गया। तुरंत ही पुलिस को सुचना दी गयी। अभी तक एमिटी यूनिवर्सिटी के बहार भारी पुलिस बल तैनात है

नॉएडा : नॉएडा में आधुनिक मशीनो वाला खुला ज िम

नॉएडा: निठारी सेक्टर 31 के आज आधुनिक मशीन व् सुविधाओं से युक्त एवरलास्ट जिम का उद्धघाटन हुआ जिसका उद्धघाटन विश्व के मिस्टर ओलंपिया काई ग्रीन के द्वारा रिबन काटकर किया गया। इस समारोह के दौरान नॉएडा के कई बड़े पुलिस अधिकारी समेत गड्मान्य लोग उपस्थित रहे, काई ग्रीन को लेकर युवाओं में खासा उत्साह देखने को मिला . वहीँ नॉएडा के युवाओं ने काई ग्रीन को अपने बीच पाकर युवाओ का जोश बढ़ गया , ग्रीन के साथ लोगो सेल्फी भी खिचवाई। इस दौरान ग्रीन ने मीडिया के सामने अपने अनुभव साझा किये, वहीँ ग्रीन देश के युवाओं को स्वास्थ्य को ले कर सन्देश दिया और कहा की भारत में भी युवाओं को बॉडी बिल्डिंग में बड चढ़ कर हिस्सा लेना चाहिए। वहीँ एवरलास्ट जिम के ओनर संदीप शर्मा ने बताया की जिम में काफी आधुनिक मशीनों को लगाया गया है .. जिम में बॉडी बिल्डिंग के अलावा जोम्बा , एरोबिक्स आदि की ट्रेनिंग भी दी जायेगी .. वहीँ संदीप ने ये भी कहा की अंतराष्ट्रीय व राज्य स्तर के खिलाड़ी उनके यहाँ जिम में आकर निशुल्क एक्ससरसाईज कर सकते हैं .. इसके लिए उनसे किसी भी तरह का चार्ज नहीं लिया जाएगा

नॉएडा : पुलिस की वर्दी में चोरी करने वाला य ुवक हुआ गिरफ्तार

नॉएडा : जहा 26 जनवरी के अवसर पर देश के साथ साथ एनसीआर में सुरक्षा को लेकर पुलिस प्रशासन से लेकर खुफिया एजेंसियां चौकस हैं और स्थानीय पुलिस भी अलर्ट पर तैयार है लेकिन इतना सब कुछ होने के बाद भी चोरो के हौसले कितने बुलंद है कल सेक्टर 16 में फिल्म सिटी में पुलिस वर्दी में युवक गाड़ी चुरा ली। गनीमत ये रही की समय पर गार्ड ने चोर को पहचान लिया। मामला थाना सेक्टर 20 का है। एक वाहन चोर ने मीडिया हब के रूप में अतिसुरक्षित समझे जाने वाले सेक्टर-16ए की फिल्मसिटी की पुलिस चौकी से वर्दी चुरा ली। इतना ही नहीं, उसने सेक्टर को चोरी की गाड़ियां खड़ी करने का ठिकाना बना रखा था। चुराई गई एक कार को ले जाने के लिए पुलिस की वर्दी पहनकर आए चोर को गार्डों ने पहचान लिया और उसकी धुनाई कर डाली। उधर, चोरी गई वर्दी की खोजबीन करते एक दरोगा भी वहां पहुंच गए और आरोपी को गिरफ्तार कर लिया।

नॉएडा : बच्ची से रेप की कोशिश , आरोपी हुआ गिर फ्तार

नोएडा : नॉएडा में एक आठ साल की बच्ची से मदरसे में बलात्कार करने की घटना सामने आयी है। हालांकि घटना दो दिन पहले की है पुलिस ने शिकायत के आधार पर आरोपी को आज एक धर्म गुरु को गिरफ्तार कर लिया है। घटना सेक्टर 49 के बरौला गांव की है। थाना सेक्टर-49 के प्रभारी निरीक्षक पंकज पंत ने बताया कि बरौला गांव में रहने वाली 8 वर्षीय बच्ची शनिवार को गांव में ही स्थित मदरसे में पढ़ने गई थी। दोपहर में सबा करीम ने सभी बच्चों की छुट्टी कर दी लेकिन इस बच्ची रोक लिया। इसके बाद आरोपी ने उससे कथित रूप से रेप करने का प्रयास किया। थाना प्रभारी ने बताया कि इस बाबत बच्ची के पिता ने सेक्टर-49 थाने में शिकायत दर्ज कराई।
पुलिस ने करीम को गिरफ्तार करने के बाद आज अदालत में पेश किया, जिसने उसे 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया है।

GST COUNCIL MEETING – REAL ESTATE MAY BE TRAPPED

The GST Council at its meeting on Thursday is likely to discuss the entry of natural gas in the indirect tax regime and rationalise the rates on a few items such as farm equipment and electric vehicles. Bringing the real estate sector under the GST is also on the agenda.

The council may cut the rate on farm and irrigation equipment to 12 per cent from 18 per cent and on bio-diesel and electric vehicles to 18 per cent from 28 per cent.

It could also reduce the rate on digital cameras to 18 per cent from 28 per cent following representations by companies such as Nikon, Canon and Sony, which are facing stiff competition from smartphones.
The fitment committee of the council has finalised the rate reduction and the matter will be taken up for discussion by the council at its meeting on January 18, the last before the budget.

The GST Council on November 10 reduced the rates on more than 175 items, thereby taking them out of the highest slab of 28 per cent.

The council is also expected to take up the issue of bringing in natural gas within the GST. Alternative fuels to natural gas such as naphtha, fuel oil and LPG were already included in the GST.

If natural gas is included, the GST paid on inputs and services used for producing natural gas can be set off against taxes on its sale. This will cut the losses to the industry by one-fifth. The move will benefit companies such as ONGC as well as gas retailers such as IGL.

The meeting is also expected to discuss how to bring in the real estate sector within the GST as the move could be opposed by states since it is a major revenue earner for them.

State levies such as stamp duty, registration charges and property tax, which is a municipal levy, are currently outside the GST. At present, the GST rate applicable on the real estate sector (that is, on the sale of flats) is 12 per cent of the sales consideration. The council would have to find the resources to compensate the loss in revenue of the states.
GST revenues for November stood at Rs 80,808 crore, falling from Rs 94,063 crore collected in August.

The revenue shoftfall under the new indirect tax regime has forced the government to announce extra borrowing of Rs 50,000 crore to fund the spending in some key sectors of the economy.

Sushil Kumar Jain

आरडब्ल्यूए के पदाधिकारियों ने मुख्य सचिव को नोएडा की समस्याओं से कराया अवगत

जिलाधिकारी गौतम बुद्ध नगर ब्रजेश नारायण सिंह के द्वारा उत्तर प्रदेश शासन के मुख्य सचिव राजीव कुमार जी के भ्रमण के दौरान नोएडा प्राधिकरण के सभागार में आरडब्ल्यूए के पदाधिकारियों की मुलाकात मुख्य सचिव राजीव कुमार से कराई गई । इस अवसर पर फोनरवा के अध्यक्ष एन पी सिंह के द्वारा नोएडा की समस्याओं के संबंध में मुख्य सचिव को अवगत कराया और साथ ही उन्होंने नोएडा में पुलिस स्टाफ बढ़ाने की मांग रखी । फायर ब्रिगेड विभाग पर यंत्रों की कमी के संबंध में अवगत कराया तथा नोएडा निवासियों को फ्री हैल्थ सुविधा उपलब्ध कराने का निवदेन किया । इस संबंध में मुख्य सचिव राजीव कुमार ने फोर्नवा के सभी पदाधिकारियों को आश्वस्त किया कि उनके द्वारा नोएडा शहर के संबंध में जो समस्या उठाई गई हैं उसके संबंध में समयबद्धता के साथ संबंधित विभागीय अधिकारियों के द्वारा कारवाई सुनिश्चित कराई जाएगी और साथ ही विकास संबंदी कामो पे विशेष ध्यान दिया जायेगा।