Noida Latest News

कैट ने लैस कैश का व्यापाक राष्ट्रीय अभिया न चलाने की करी घोषणा

कॉन्फ़ेडरेशन ऑफ़ आल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) द्वारा नई दिल्ली में कल से चल रही दो दिवसीय लैस कैश इंडिया सम्मिट के आज दूसरे दिन देश भर से आये व्यापारी नेताओं नेप्रधानमंत्री श्री नरेंद्रमोदी के डिजिटल भुगतान को अपनाने के आवाहन को गति देने के लिएदेश भर में एक व्यापक राष्ट्रीय अभियान चलाने का निर्णय लिया है ! इस अभियान केअन्तर्गत न केवल व्यापारियों बल्कि व्यापारिकप्रतिष्ठानों पर आने वाले ग्राहकों को भी डिजिटल भुगतान अपनाने हेतु प्रोत्साहित किया जायेगा ! सम्मिट ने सर्वसम्मति से एकदिल्ली घोषणा भी जारी की जिसमें नोटबंदी के कारण व्यापार के गिरते हालातों को संभालने के लिए एवं प्रस्तावित जीएसटी कर प्रणाली को अपनाने के लिए डिजिटल भुगतान कोव्यापार से जोड़ने की जरूरत पर जोर दिया गया है ! जीएसटीतार प्रणाली में डिजिटल भुगतानबेहद महत्वपूर्ण है क्योंकि इसप्रणाली में कर जमा करने का साधन केवल डिजिटलभुगतान ही है !

देश भर के व्यापारी नेताओं को संबोधित करते हुए केंद्रीय मंत्रीश्री पियूष गोयल ने कहा अर्थव्यवस्था में व्यापारियों के योगदान को अद्भुत बताते हुए कहा की व्यापारी भामाशाह हैं जोकिसी भी परिस्थिति में सदैव किसी भी सहायता को तत्पर रहते हैं ! उन्होंने जोर देकर कहा की कुछ लोग सरकार या सरकार के नेताओं के विषय में भ्रम फैला रहे हैं की सरकार व्यापारीविरोधी है ! उन्होंने कहाकी यह बिलकुल भ्रामक है और सरकार में व्यापारियों के प्रति बहुत सम्मान है ! उन्होंने कहा की परिवर्तन के इस दौर में लोग इस बात का संकल्प ले की कलतक जो कुछ हुआ अब आगे से व्यापार ईमानदारी से करेंगे तो सरकार इस बात पर विचार कर सकती है की उन लोगोंको छोड़कर जो जानबूझकर कर वंचनाकरते हैं, किसी को भीपिछली बातों के लिए दोषी नहीं ठहराएगई !उन्होंने डिजिटल भुगतान को देश में स्वस्थ, अच्छा और सच्चा व्यापार का एक बड़ा अवसर बताते हुएकहा की सब लोग इस से जुड़े क्योंकिभविष्य के व्यापार का यही मूलमंत्र है !

सम्मिट ने चेतावनी देते हुए कहाकी सरकार को यह सुनिश्चित करनाचाहिए की बैंक नोटबंदी को अपनेलाभ कमाने का जरिया न बना लें क्योंकि हाल ही में बैंकों ने जमा राशि परब्याज की दर कम की है ! सम्मिट ने सरकार से आग्रह किया है की वो बैंको को सलाह ब्याज दर कम करने का निर्देश दे जिससे बाजार में करेंसी की तरलता ज्यादा से ज्यादा हो !नोटबंदी के कारण व्यापार को हो रही हानि और नकदी की किल्लत पर सरकार का ध्यान आकृष्ट करते हुए कहा की इस से व्यापार में काफी गिरावट आयीहै ! व्यापारी उपभोक्ता सेसम्बन्ध की आखरी कड़ी है और सरकार के लिए कर एकत्र करने का सबसे मजबूत साधन है, इस दृष्टि से करेंसीके चलन को तेजी देने के लिए बैंकों में व्यापारियों के लिए एक काउंटरसे लग से खोला जाए जिसमेंव्यापारी अपनी बैंकिंग आवश्कताओं की पूर्ती कर सकें ! नोटबंदीके बाद से बैंकों में रोज़मर्राका बैंकिंग का काम बुरी तरह प्रभावित हुआ है !

देश के 26 राज्यों के 300 से अधिक प्रमुख व्यापारी नेता सम्मिट में भाग ले रहे हैं ! यह उल्लेखनीय है की व्यापारी एवं नॉन कॉर्पोरेट सेक्टर को टेक्नोलॉजीअपनाने में काफी कमजोरसमझ जाताहै और अब डिजिटल भुगतान को अपनाने की दिशा में देश भर के व्यापारी सबसे आगे खड़े दिखाई दे रहेहैं, यह अर्थव्यवस्था के लिए बेहद महत्वपूर्ण है क्योंकि भारत मेंव्यापार मुख्य रूप से नकद परआधारित है लेकिन डिजिटल तकनीक और भुगतान को अपनाने में कैट एवं व्यापारियों द्वारा किये जा रहे प्रयासों ने व्यापारियों को अबअग्रणी पंक्तिमें खड़ा कर दिया हुई ! कैट ने यह भी कहा है की डिजिटल भुगतान पर सरकार को एक विशेष टास्क फाॅर्स बनानी चाहिए जिसमें वरिष्ठ सरकारी अधिकारी, व्यापार एवं उद्योग केप्रतिनिधि, बैंक एवं वित्तीय संसथान, टेक्नोलॉजी प्रदान करने वाली कंपनियां आदि को शामिल करना चाहिए !

कैट द्वारा जारी दिल्ली घोषणा में प्रधानमंत्री द्वारा डिजिटल भुगतान को अपनाने के आवाहन को समर्थन देते हुए कहा की देश के व्यापारियों में वित्तीय ढांचे को मजबूत करने औरउन्हें तकनीक के साथ राष्ट्रीय एवं राज्य स्तर पर जोड़ने की बेहद जरूरत है ! घोषणामें वित्तीय समावेशी पर बल देते हुए सभी बैंकों, वित्तीय संस्थानों, तकनीक प्रदान करने वालीकंपनिया, नॉन बैंकिंग फाइनेंसकंपनी, माइक्रो फाइनेंस इंस्टीट्यूशन्स, ट्रस्ट, सोसाइटी आदि को एक साथ मिलकर काम करते हुए देश की अर्थव्यवस्था के विकास की मुख्य धारा मेंजुड़ना चाहिए ! दिल्ली घोषणा में कैट ने अपने दस सूत्रीय लैस कैश मैनिफेस्टो पर बल देते हुए कहा की डिजिटल; भुगतान में लगने वाले ट्रांजक्शन कॉस्ट की भरपाई सर्कार बैंकों कोकरे वहीँ दूसरी ओर प्रत्येक डिजिटल भुगतान पर सरकार की ओर से एक प्रोत्साहन

कैट ने लैस कैश का व्यापाक राष्ट्रीय अभिया न चलाने की करी घोषणा

कॉन्फ़ेडरेशन ऑफ़ आल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) द्वारा नई दिल्ली में कल से चल रही दो दिवसीय लैस कैश इंडिया सम्मिट के आज दूसरे दिन देश भर से आये व्यापारी नेताओं नेप्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के डिजिटल भुगतान को अपनाने के आवाहन को गति देने के लिए देश भर में एक व्यापक राष्ट्रीय अभियान चलाने का निर्णय लिया है ! इस अभियान केअन्तर्गत न केवल व्यापारियों बल्कि व्यापारिक प्रतिष्ठानों पर आने वाले ग्राहकों को भी डिजिटल भुगतान अपनाने हेतु प्रोत्साहित किया जायेगा ! सम्मिट ने सर्वसम्मति से एकदिल्ली घोषणा भी जारी की जिसमें नोटबंदी के कारण व्यापार के गिरते हालातों को संभालने के लिए एवं प्रस्तावित जीएसटी कर प्रणाली को अपनाने के लिए डिजिटल भुगतान कोव्यापार से जोड़ने की जरूरत पर जोर दिया गया है ! जीएसटी तार प्रणाली में डिजिटल भुगतान बेहद महत्वपूर्ण है क्योंकि इस प्रणाली में कर जमा करने का साधन केवल डिजिटलभुगतान ही है !

देश भर के व्यापारी नेताओं को संबोधित करते हुए केंद्रीय मंत्री श्री पियूष गोयल ने कहा अर्थव्यवस्था में व्यापारियों के योगदान को अद्भुत बताते हुए कहा की व्यापारी भामाशाह हैं जोकिसी भी परिस्थिति में सदैव किसी भी सहायता को तत्पर रहते हैं ! उन्होंने जोर देकर कहा की कुछ लोग सरकार या सरकार के नेताओं के विषय में भ्रम फैला रहे हैं की सरकार व्यापारीविरोधी है ! उन्होंने कहा की यह बिलकुल भ्रामक है और सरकार में व्यापारियों के प्रति बहुत सम्मान है ! उन्होंने कहा की परिवर्तन के इस दौर में लोग इस बात का संकल्प ले की कलतक जो कुछ हुआ अब आगे से व्यापार ईमानदारी से करेंगे तो सरकार इस बात पर विचार कर सकती है की उन लोगों को छोड़कर जो जानबूझकर कर वंचना करते हैं, किसी को भीपिछली बातों के लिए दोषी नहीं ठहराएगई !उन्होंने डिजिटल भुगतान को देश में स्वस्थ, अच्छा और सच्चा व्यापार का एक बड़ा अवसर बताते हुए कहा की सब लोग इस से जुड़े क्योंकिभविष्य के व्यापार का यही मूलमंत्र है !

सम्मिट ने चेतावनी देते हुए कहा की सरकार को यह सुनिश्चित करना चाहिए की बैंक नोटबंदी को अपने लाभ कमाने का जरिया न बना लें क्योंकि हाल ही में बैंकों ने जमा राशि परब्याज की दर कम की है ! सम्मिट ने सरकार से आग्रह किया है की वो बैंको को सलाह ब्याज दर कम करने का निर्देश दे जिससे बाजार में करेंसी की तरलता ज्यादा से ज्यादा हो !नोटबंदी के कारण व्यापार को हो रही हानि और नकदी की किल्लत पर सरकार का ध्यान आकृष्ट करते हुए कहा की इस से व्यापार में काफी गिरावट आयी है ! व्यापारी उपभोक्ता सेसम्बन्ध की आखरी कड़ी है और सरकार के लिए कर एकत्र करने का सबसे मजबूत साधन है, इस दृष्टि से करेंसी के चलन को तेजी देने के लिए बैंकों में व्यापारियों के लिए एक काउंटरसे लग से खोला जाए जिसमें व्यापारी अपनी बैंकिंग आवश्कताओं की पूर्ती कर सकें ! नोटबंदी के बाद से बैंकों में रोज़मर्रा का बैंकिंग का काम बुरी तरह प्रभावित हुआ है !

देश के 26 राज्यों के 300 से अधिक प्रमुख व्यापारी नेता सम्मिट में भाग ले रहे हैं ! यह उल्लेखनीय है की व्यापारी एवं नॉन कॉर्पोरेट सेक्टर को टेक्नोलॉजी अपनाने में काफी कमजोरसमझ जाता है और अब डिजिटल भुगतान को अपनाने की दिशा में देश भर के व्यापारी सबसे आगे खड़े दिखाई दे रहे हैं, यह अर्थव्यवस्था के लिए बेहद महत्वपूर्ण है क्योंकि भारत मेंव्यापार मुख्य रूप से नकद पर आधारित है लेकिन डिजिटल तकनीक और भुगतान को अपनाने में कैट एवं व्यापारियों द्वारा किये जा रहे प्रयासों ने व्यापारियों को अब अग्रणी पंक्तिमें खड़ा कर दिया हुई ! कैट ने यह भी कहा है की डिजिटल भुगतान पर सरकार को एक विशेष टास्क फाॅर्स बनानी चाहिए जिसमें वरिष्ठ सरकारी अधिकारी, व्यापार एवं उद्योग केप्रतिनिधि, बैंक एवं वित्तीय संसथान, टेक्नोलॉजी प्रदान करने वाली कंपनियां आदि को शामिल करना चाहिए !

कैट द्वारा जारी दिल्ली घोषणा में प्रधानमंत्री द्वारा डिजिटल भुगतान को अपनाने के आवाहन को समर्थन देते हुए कहा की देश के व्यापारियों में वित्तीय ढांचे को मजबूत करने औरउन्हें तकनीक के साथ राष्ट्रीय एवं राज्य स्तर पर जोड़ने की बेहद जरूरत है ! घोषणा में वित्तीय समावेशी पर बल देते हुए सभी बैंकों, वित्तीय संस्थानों, तकनीक प्रदान करने वालीकंपनिया, नॉन बैंकिंग फाइनेंस कंपनी, माइक्रो फाइनेंस इंस्टीट्यूशन्स, ट्रस्ट, सोसाइटी आदि को एक साथ मिलकर काम करते हुए देश की अर्थव्यवस्था के विकास की मुख्य धारा मेंजुड़ना चाहिए ! दिल्ली घोषणा में कैट ने अपने दस सूत्रीय लैस कैश मैनिफेस्टो पर बल देते हुए कहा की डिजिटल; भुगतान में लगने वाले ट्रांजक्शन कॉस्ट की भरपाई सर्कार बैंकों कोकरे वहीँ दूसरी ओर प्रत्येक डिजिटल भुगतान पर सरकार की ओर से एक प्रोत्साहन

जेपी हॉस्पिटल ने 2 ग्रीन कॉरिडोर बनाकर 6 लो गो की जान बचायी

ब्रेन डेड मरीज के अंग दान से जेपी हॉस्पिटल ने बचाई 6 लोगों की जान
सतीश तावड़े ने किडनी, लिवर, हार्ट एवं कॉर्निया का किया गया अंगदान

नॉएडा सेक्टर 128 स्थित मल्टी सुपर स्पेशयलिटी चिकित्सा संसथान जेपी हॉस्पिटल ने एक बार फिर अंग प्रत्यारोपण चिकित्सा में उल्लेखनीय योगदान देते हुए 6 मरीजो को नया जीवन प्रदान किया है । मुम्बई निवासी 1 मरीज के ब्रेन डेड हो जाने के बाद उसके अंगो को 6 लोगो को दान कर जेपी हॉस्पिटल ने सराहनीय काम किया है ।

गौरतलब है की सतीश तावड़े अपने कार्यालय के काम से दिल्ली आये थे । 2 दिसम्बर की रात अचानक उनकी तबियत खराब हो गयी जिसके बाद उसे जेपी हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया । जेपी हॉस्पिटल लाये जाने पर मरीज की जांच की गयी तो पता चला की उनकी सब-आर्कनोइड हेमरेज बीमारी से पहले ही मृत्यु हो चुकी थी । इसके बाद विश्व प्रसिद्ध डॉक्टरों की टीम ने सुबह 3 बजे एवं 9 बजे – 2 बार की जांच के बाद मरीज को ब्रेन डेड घोषित किया । मरीज के ब्रेन डेड हो जाने के बाद परिवार वालों की सहमति से उनके अंगो का दान किया गया ।

इस मिशन को सफलतापूर्ण अंजाम देने के लिए बनायीं गयी चिकित्सकीय दल का नेतृत्व जेपी हॉस्पिटल के वरिष्ठ लिवर ट्रांसप्लांट सर्जन डॉ. अभिदीप चैधरी एवं वरिष्ठ किडनी ट्रांसप्लांट सर्जन डॉ. अमित देवरा द्वारा किया गया ।

डॉ मनोज लूथरा (सीईओ) जेपी हॉस्पिटल, ने बताया कि मरीज की मृत्यु हो जाने के बाद उसकी सुचना राष्ट्रीय अंग प्रत्यारोपण संसथान को दी और उसके दिशा निर्देशानुसार मरीज के अंगो को विभिन्न हॉस्पिटल में लोगो को दान किया गया । मरीज के तीन अंगो, जिसमे लिवर, कॉर्निया और किडनी को जेपी हॉस्पिटल के मरीजों को दान किया गया । दूसरी किडनी को फोर्टिस हॉस्पिटल नॉएडा तथा हार्ट को मैक्स हॉस्पिटल साकेत के मरीज को दान किया गया । एक हॉस्पिटल से दूसरे हॉस्पिटल तक अंगो को पहुचाने के लिए प्रशाशन की मदद से ग्रीन कोर्रिडोर का निर्माण किया गया ।

गौरतलब है की पुरे दिल्ली एनसीआर में अंग प्रत्यारोपण चिकित्सा के क्षेत्र में जेपी हॉस्पिटल का अपना एक खास महत्त्व है । अभी 17 नवम्बर को ही जेपी हॉस्पिटल ने 100 से अधिक अंगों (लिवर एवं किडनी) के प्रत्यारोपण संबंधी उपलन्धि हासिल की थी और इस सम्बन्ध में प्रेस वार्ता भी आयोजित किया गया था ।

अब तक जेपी हॉस्पिटल में 114 से अधिक लिवर एवं किडनी का सफल प्रत्यारोपण कर लोगो की जिंदगी बचायी गयी है । जेपी हॉस्पिटल ने ये उपलब्धि केवल 1 वर्ष अंदर ही हासिल की है जो अपने आप में किसी भी हॉस्पिटल के लिए प्रेरणा की बात है । जेपी हॉस्पिटल में विश्व की अत्याधुनिक तकनीक की सुविधा उपलब्ध है एवं विश्व प्रसिद्ध चिकित्सकों द्वारा 24 घंटे सेवा प्रदान की जाती हैं ।

जेपी हॉस्पिटल ने 2 ग्रीन कॉरिडोर बनाकर 6 लो गो की जान बचायी

ब्रेन डेड मरीज के अंग दान से जेपी हॉस्पिटल ने बचाई 6 लोगों की जान
सतीश तावड़े ने किडनी, लिवर, हार्ट एवं कॉर्निया का किया गया अंगदान

नॉएडा सेक्टर 128 स्थित मल्टी सुपर स्पेशयलिटी चिकित्सा संसथान जेपी हॉस्पिटल ने एक बार फिर अंग प्रत्यारोपण चिकित्सा में उल्लेखनीय योगदान देते हुए 6 मरीजो को नया जीवन प्रदान किया है । मुम्बई निवासी 1 मरीज के ब्रेन डेड हो जाने के बाद उसके अंगो को 6 लोगो को दान कर जेपी हॉस्पिटल ने सराहनीय काम किया है ।

गौरतलब है की सतीश तावड़े अपने कार्यालय के काम से दिल्ली आये थे । 2 दिसम्बर की रात अचानक उनकी तबियत खराब हो गयी जिसके बाद उसे जेपी हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया । जेपी हॉस्पिटल लाये जाने पर मरीज की जांच की गयी तो पता चला की उनकी सब-आर्कनोइड हेमरेज बीमारी से पहले ही मृत्यु हो चुकी थी । इसके बाद विश्व प्रसिद्ध डॉक्टरों की टीम ने सुबह 3 बजे एवं 9 बजे – 2 बार की जांच के बाद मरीज को ब्रेन डेड घोषित किया । मरीज के ब्रेन डेड हो जाने के बाद परिवार वालों की सहमति से उनके अंगो का दान किया गया ।

इस मिशन को सफलतापूर्ण अंजाम देने के लिए बनायीं गयी चिकित्सकीय दल का नेतृत्व जेपी हॉस्पिटल के वरिष्ठ लिवर ट्रांसप्लांट सर्जन डॉ. अभिदीप चैधरी एवं वरिष्ठ किडनी ट्रांसप्लांट सर्जन डॉ. अमित देवरा द्वारा किया गया ।

डॉ मनोज लूथरा (सीईओ) जेपी हॉस्पिटल, ने बताया कि मरीज की मृत्यु हो जाने के बाद उसकी सुचना राष्ट्रीय अंग प्रत्यारोपण संसथान को दी और उसके दिशा निर्देशानुसार मरीज के अंगो को विभिन्न हॉस्पिटल में लोगो को दान किया गया । मरीज के तीन अंगो, जिसमे लिवर, कॉर्निया और किडनी को जेपी हॉस्पिटल के मरीजों को दान किया गया । दूसरी किडनी को फोर्टिस हॉस्पिटल नॉएडा तथा हार्ट को मैक्स हॉस्पिटल साकेत के मरीज को दान किया गया । एक हॉस्पिटल से दूसरे हॉस्पिटल तक अंगो को पहुचाने के लिए प्रशाशन की मदद से ग्रीन कोर्रिडोर का निर्माण किया गया ।

गौरतलब है की पुरे दिल्ली एनसीआर में अंग प्रत्यारोपण चिकित्सा के क्षेत्र में जेपी हॉस्पिटल का अपना एक खास महत्त्व है । अभी 17 नवम्बर को ही जेपी हॉस्पिटल ने 100 से अधिक अंगों (लिवर एवं किडनी) के प्रत्यारोपण संबंधी उपलन्धि हासिल की थी और इस सम्बन्ध में प्रेस वार्ता भी आयोजित किया गया था ।

अब तक जेपी हॉस्पिटल में 114 से अधिक लिवर एवं किडनी का सफल प्रत्यारोपण कर लोगो की जिंदगी बचायी गयी है । जेपी हॉस्पिटल ने ये उपलब्धि केवल 1 वर्ष अंदर ही हासिल की है जो अपने आप में किसी भी हॉस्पिटल के लिए प्रेरणा की बात है । जेपी हॉस्पिटल में विश्व की अत्याधुनिक तकनीक की सुविधा उपलब्ध है एवं विश्व प्रसिद्ध चिकित्सकों द्वारा 24 घंटे सेवा प्रदान की जाती हैं ।

नोएडा के आम्रपाली सफायर के लिफ्ट में फसे 78 वर्षीय बुजुर्ग

नोएडा के सेक्टर 45 में स्थित आम्रपाली सफायर सोसाइटी में कुछ दिनों पहले लिफ्ट में 78 वर्षीय बुजुर्ग आधे घंटे तक फसे रहे है आपको बता दे की मंगलवार की शाम को जेएन बत्रा अपने फ्लैट से लिफ्ट के दुवारा नीचे आ रहे थे अचानक से लिफ्ट ख़राब हो गयी जिससे जेएन बत्रा आधे घंटे से फसे रहे वही इस मामले को लेकर थाना 39 की पुलिस को शिकायत दी

नोएडा में खुलेंगे चार नए स्वास्थ केन्द्र

गौतमबुद्ध नगर में बढ़ती बीमारियों को लेकर स्वास्थ विभाग ने एक और नयी पहल शुरू कर दी है आपको बता दे की नए साल पर नोएडावाशियो को चार नए स्वास्थ केंद्र का तोहफा मिलेगा जिसकी मंजूरी स्वास्थ निदेशालय ने दे दी है वही गौतमबुद्ध नगर के सीएमओ का कहना है की नोएडा में स्वास्थ निदेशालय ने चार नए स्वास्थ केंद्र खोलने की मंजूरी दे दी है जिसको लेकर केंद्र स्थापित करने के लिए तैयारी शरू कर दी है जिसे जनवरी में नए केंद्र शरू कर दिए जायेंगे वही सीएमओ का कहना है एक स्वास्थ केंद्र नोएडा के सर्फाबाद में खोला जायेगा आपको बता दे की पिछले दिनों में सर्फाबाद गॉव में रहस्यमय बुखार से कई मोते हो चुकी थी जिसको लेकर ग्रामीणों ने स्वास्थ केंद्र खोलने की मांग कर रहे थे जिसको लेकर स्वास्थ निदेशालय ने स्वास्थ केंद्र खोलने की मंजूरी दे दी है

नोएडा की दादी की रसोई एनजीओ ने अनोखा कदम उठ ाया

तनखा का समय है लोगों को बैंक से पैसे निकालने में दिक्कत आ रही है एनजीओ ने दादी की रसोई में 10 तारीख तक जिनके पास पैसे नहीं है खाना खिलाने का फैसला किया है वही अनूप खन्ना कहना है की शासन की कमियां निकालने से अच्छा है हम एक दूसरे का सहयोग करें वही नोकरीपेशे वाले लोगो को पैसा निकालने में दिक्कत आ रही है और खाना खाने को पैसा नही है उनके लिए ये अनोखा कदम उठाया है

नोएडा के हर बैंको के बहार लोंगो की लगी भीड़ , बैंको में नही है पैसा

नोएडा के हर बैंको के बहार लगा हुआ बोर्ड जिसमे लिखा है की नो कॅश आपको बता दे की आज बता दे की नोट बंदी का आज 25वा दिन है और एटीएम और बैंको के बहार भीड़ बढ़ती जा रही है जिससे लोगो को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है वही सैलरी का आज तीसरा दिन है जो लोग नोकरी करते है उनको काफी दिक्कते आ रही है क्योंकि अभी तक उनको पैसा नही मिला है वही दूसरी तरफ कल बैंक का अवकाश रहेगा जिससे नोकरी वाले लोगो को पैसा नही मिल पायेगा और एटीएम की बात करते है तो नोएडा के आधे से ज्यादा एटीएम ख़राब है जो एटीएम चल रहे है वहाँ लोगो की काफी भीड़ उमड़ रही है

बच्चों की फिल्मों का अपना एक सिनेमा है — मा धवी आडवानी

बच्चों की फिल्मों का अपना एक सिनेमा है जिसमे एनीमेशन या प्रेरक फिल्मे बनाई व दिखाई जाती है जिनसे उनका विकास भलीभांति हो सके। आजकल हिंदी और वर्ल्ड सिनेमा दोनों ही बच्चो को लेकर एक अच्छा सिनेमा तैयार कर रहे है जिससे बच्चो के मनोरंजन के साथ साथ उन्हें नया ज्ञान और अच्छी जानकारी मिल रही है यह कहना था चिल्ड्रेन्स फिल्म फोरम के अन्तर्गत हुए पैनल डिस्कशन में माधवी आडवानी का। जो बच्चो के उत्थान के लिए कई सामाजिक कार्यो से जुडी हुई है। इस अवसर पर संदीप मारवाह ने कहा की हमने आज के ज्वलंत मुद्दों जैसे सफाई, शिक्षा, ड्रग्स, बाल मजदूरी पर कई शार्ट फिल्म बनायीं है जिन्हें हम स्लम एरिया में जाकर लोगो के साथ साथ बच्चो को भी दिखाते है ताकि वह अपने अधिकारों को जान सके और शिक्षा व स्वछता दोनों को अपना सके। इस अवसर पर बबीता शर्मा ने कहा की किसी भी बात को कोई बच्चा दस बार कहने पर भी नही समझ पता पर फिल्म और मूविंग इमेज से वह उसे आसानी से समझ जाता है और सीखता है इसलिए हमें हमेशा बच्चो को एक अच्छा सिनेमा देना चाहिए। इस अवसर पर बच्चो द्वारा बनाई गयी कई फिल्मे भी दिखाई गयी जिसमे एक है चिट्ठी जिसका निर्देशन किया है मोहित अरोड़ा ने जो कहानी है एक माँ की जिसका बेटा एक फौजी है जिसके घर से चले जाने के बाद उस माँ पर क्या बीतती है यह दिखाया गया है।

NOIDA LATEST NEWS

मेरा निवेदन है कि सरकार को कैशलेस व्यापार करने के लिये प्रोत्साहित करने हेतु विभिन्न तरहा के इंसेंटिव एवं करो मे विशेष छूट एक निश्चित समयावधि के लाये तुरन्त कार्यक्रम बनाना चाहिए जिससे कि लोग स्वय्म ही कैशलेस की ओर अग्रसर हो।
व्यापार के अलावा व्यक्तिगत रूप से कैशलेस कए लिये सम्पूर्ण तरीके से कार्य करने एवं अपना सभी कार्य कैशलेस करने हेतु आयकर आदि मे विशेष छूट देनी चाहिये एवं अन्य तरहा की करो की छूट का प्रावधान लाना चाहिये जिससे कि लोगो को डिजिटल खरीदारी सस्ती मिले।

सुशील कुमार जैन
जिलाध्यक्ष
उत्तर प्रदेश उधोग व्यापार मंडल
गौतम बुद्ध नगर