Noida Latest News

मछली पकड़ना पड़ा मंहगा , 17 हुऐ गिरफ्तार

नोएडा – ओखला पक्षी विहार में प्रतिबंध के बावजूद मछली पकड़ रहे 17 लोगों को वन विभाग ने थाना सेक्टर 20 पुलिस की मदद से गिरफ्तार किया है। इनके पास से मछली पकडऩे का जाल, पकड़ी हुई मछली बरामद की गई है।जनपद गौतमबुद्घ नगर के प्रभागीय वनाधिकारी एच. वी. गिरीश ने बताया कि बीती रात को हमें सूचना मिली कि ओखला पक्षी विहार में कुछ लोग अवैध रूप से मछली पकड़ रहे हैं। सूचना के आधार पर देर रात 1.30 बजे के करीब थाना सेक्टर 20 पुलिस की मदद से पक्षी विहार में छापा मारा गया। छापेमारी के दौरान प्रतिबंधित क्षेत्र में मछली का शिकार कर रहे राम चरित्र, सुरेंद्र, परेश, राजा, सुमेर, सुशील, रोबिन, नयन, मोटू, गौतम, अर्जुन, रंजीत, जीवा, हरन को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। वन अधिकारी ने बताया कि गिरफ्तार किए गए लोगों के पास से मछली पकडऩे वाला जाल व पकड़ी हुई मछली बरामद की गई है। उन्होंने बताया कि इनके खिलाफ 1972 वन्य संरक्षण अधिनियम धारा 2, 9, 27, 29, 50, और 51 के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। उन्होंने बताया कि ओखला पक्षी विहार संरक्षित वन क्षेत्र है जहां किसी भी तरह का शिकार करना या मछली पकडऩा प्रतिबंधित है।

गंगाजल से अब बुझेगी नोएडावासियो की प्यास

नोएडा में सभी लोगो को गंगा जल पिने के लिए पर्याप्त मात्रा में मिले उसके लिए नोएडा प्राधिकरण काफी प्रयास करने में लगा है पेयजल के रूप में शहर में सौ फीसद गंगाजल उपलब्ध कराने के लिए इस समय नोएडा प्राधिकरण के पास दस मिलियन लीटर डेली एमएलडी गंगाजल की कमी है। आने वाले दिनों में इस कमी को पूरा करके शहर व गांव में पेयजल के रूप में सौ फीसद गंगाजल की आपूर्ति की जाएगी। इसके बाद 90 एमएलडी गंगाजल की परियोजना पर कार्य चल रहा है। हालांकि इतने गंगाजल की मांग वर्ष 2021 में होगी, लेकिन इस परियोजना को इस वर्ष के अंत तक पूरा करके शहर के लोगों को सौ फीसद गंगाजल पेयजल के रूप में उपलब्ध कराया जाएगा। नोएडा प्राधिकरण के पास इस समय पेयजल की आपूर्ति के तीन मुख्य श्रोत हैं। पहला गंगाजल, दूसरा ट्यूबवेल और तीसरा रैनीवेल से मिलने वाला भूजल। अभी शहर में पेयजल की मांग 250 एमएलडी है और प्राधिकरण के पास गंगाजल के रूप में 240 एमएलडी पानी की उपलब्धता है। दस एमएलडी पानी की कमी को पूरा करने के लिए भूजल के रूप में पानी निकालकर इसमें गंगाजल मिश्रित पानी की आपूर्ति की जाती है। जिससे लोगों को सिर्फ भूगर्भ से निकलने वाले भारी पानी के कारण परेशानी न हो। नोएडा प्राधिकरण द्वारा वेपकॉस द्वारा कराए गए सर्वे के अनुसार शहर में दस प्रतिशत के हिसाब से प्रतिवर्ष मांग बढ़ेगी। इस हिसाब से पानी की उपलब्धता के लिए मास्टर प्लान तैयार किया गया। इसके तहत वर्ष 2021 में नोएडा प्राधिकरण के पास 330 एमएलडी गंगाजल उपलब्ध होगा। 2026 में यह क्षमता बढ़कर 452 एमएलडी और वर्ष 2031 के मास्टर प्लान के अनुसार नोएडा प्राधिकरण के पास 560 एमएलडी गंगाजल की उपलब्धता होगी। एक सर्वे रिपोर्ट के मुताबिक नोएडा क्षेत्र में अब आबादी में जो बढोतरी होनी है, वह दस प्रतिशत प्रति वर्ष से भी कम हो जाएगी। वजह, नोएडा में अधिकांश सेक्टरों में पूरी तरह से आबादी बस चुकी है। जिन नए सेक्टरों में आबादी बढ़नी हैं, उनके हिसाब से आने वाले दिनों में भी जितने पानी की जरूरत होगी, उतनी आपूर्ति गंगाजल के माध्यम से की जा सके। इसकी दूसरी बड़ी वजह यह मानी जा रही है कि पार्क, ग्रीन बेल्ट व अन्य रूप में सिंचाई कार्य में प्रयोग होने वाले पानी के रूप में सीवरेज ट्रीटमेंट से निकलने वाले शोधित पानी का प्रयोग किया जाएगा। वहीं निर्माण कार्य के दौरान भी सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट से निकले शोधित पानी का प्रयोग किया जाएगा। ऐसे में जो मांग आबादी बढ़ने पर बढ़ेगी, उतने पेयजल की आपूर्ति गंगाजल से पूरी की जा सकेगी।

औद्योगिक विकास को मिलेगी नई गति , सतीश महान ा

नोएडा -प्रदेश सरकार बहुत ही जल्द नई औद्योगिक नीति लागू करने जा रही है। इसमें उद्यमियों को लालफीताशाही से मुक्ति मिल जाएगी। औद्योगिक विकास को गति प्रदान होगी। यह बात बृहस्पतिवार को उत्तर प्रदेश औद्योगिक मंत्री सतीश महाना ने उद्यमियों ने कही। वह सेक्टर-6 स्थित नोएडा प्राधिकरण कार्यालय पर औद्योगिक समस्या से उद्यमियों के साथ बैठक कर रहे थे। उद्यमियों का एक प्रतिनिधि मंडल नोएडा एंटरप्रिनियोर्स एसोसिशन अध्यक्ष विपिन मल्हन के नेतृत्व में बैठक में शामिल होने पहुंचा था। इस मौके पर उद्यमियों की ओर से विपिन मल्हन ने मंत्री को पुष्पगुच्छ देकर उनका जोरदार स्वागत किया और औद्योगिक विकास में उनके निरंतर प्रयासों की सराहना की। इस अवसर पर एनईए महासचिव वीके सेठ, वरिष्ठ उपाध्यक्ष धर्मवीर शर्मा, उपाध्यक्ष सुधीर श्रीवास्तव, मोहन सिंह, मोहम्मद इरशाद, सचिव कमल कुमार, हरीश जोनेजा, कोषाध्यक्ष शरद चन्द्र जैन, सह कोषाध्यक्ष नीरू शर्मा, अमित तारा, अनिल अग्रवाल, किशोर कुमार, एचके गौतम, रमन वासन, अजय अग्रवाल, राहुल नय्यर, राजीव गोयल, इन्दरपाल खाडपुर, सुभाष चोपड़ा, एचके गौतम, आरके सूरी, राजन खुराना, संदीप अग्रवाल, एचके अरोड़ा, अतुल कात वर्मा उपस्थित रहे।

उद्यमियों ने ये रखी मांग :

इलेक्ट्रिसिटी ड्यूटी में मिले छूट

इलेक्ट्रिसिटी ड्यूटी में छूट मिले उत्तर प्रदेश सरकार के ऊर्जा विभाग ने वर्ष 2010 में अधिसूचना जारी की थी कि नई इकाइयों को दस वर्ष की अवधि के लिए इलेक्ट्रिसिटी ड्यूटी से छूट दी जाएगी लेकिन इसके बावजूद आज तक विद्युत निगम ने इसका पालन नही किया। उद्यमियों को इस लाभ से वंचित रखा कई वर्षो से आइटी /आइटीईएस उद्योग मंदी के दौर से गुजर रहा है। ऐसे में आइटी भूखंड को औद्योगिक भूखंड में परिवर्तित कर उद्यमी निर्माण इकाई लगाना चाहता है। ऐसे में आवंटित भूखंडों पर प्राधिकरण द्वारा अनुमन्य उद्योग लगाने की अनुमति प्रदान करें। यदि एक बार प्रोजेक्ट परिवर्तन करने की अनुमति के पश्चात भी यदि भवन का निर्माण कर इकाई कार्यशील नहीं की जाती है तो उसका आवंटन निरस्त कर दिया जाए।

लीज रेंट एक फीसद हो :

नोएडा में उद्योगों से लीज रेंट प्राधिकरण 2.50 फीसद की दर से वसूल रहा है। जो कि वर्तमान दर पर बहुत ज्यादा है। औद्योगिक भूखंडों की लीज रेंट की दर एक फीसद की जाए।

छोटी इकाइयां को सर्विस इंडस्ट्री घोषित की जाए :

नोएडा में उद्योगों में काम आने वाले रॉ-मैटेरियल की कोई मार्केट नही है। इस कारण उद्यमियों को अपने उत्पाद में काम आने वाले कच्चे माल के लिए अन्य पड़ोसी राज्यों पर पर निर्भर रहना पड़ता है। ऐसे में छोटे औद्यौगिक भूखंड पर इकाई चलाना संभव नही है। ऐसे में उद्योगों के विकास के लिए सेक्टर-9, 10 ( 50 वर्ग मीटर से 114 वर्ग मीटर तक) की इकाइयों को सर्विस इंडस्ट्रीज घोषित किया जाए।

छोटे उद्योगों का विस्तार कराया जाए :

कई वर्षो से छोटे औद्योगिक भूखंडों की योजना नहीं निकाली गई है। इस कारण कई उद्यमी अपनी इकाई का विस्तार नहीं कर पाए हैं। छोटे उद्योग लगाने के इच्छुक उद्यमी अपना उद्यम लगाने से वंचित रह गये। मास्टर प्लान के हिसाब से नोएडा छोटे उद्योगों का हब है। ऐसे में औद्योगिक भूखंडों 2000 वर्ग मीटर से कम (500, 800, 1000, 1200 वर्ग मीटर तक) की योजना लाने के लिए प्राधिकरण को निर्देश दिए जाएं ताकि छोटे उद्योगों को बढ़ावा मिले और रोजगार के नये अवसर बढ़ें।

लोगों को जागरूक करने के लिए यातायात अभिया न चलाया जायेगा, डीएम बीएन सिंह

नोएडा में किस तरह यातायात को सुचारु रूप से चलाया जाये ताकि कम से कम दुर्घटना घटित हो , डीएम कैम्प नोएडा पर जिला परिवहन एवं यातायात सलाहकार समिति एवं. सडक़ सुरक्षा समिति की बैठक करते हुए डीएम बीएन सिंह कम से कम सडक़ दुर्घटना घटित हो इसके लिए हाइवे पर ओवर वाहनों के विरुद्ध कडी कार्यवाही होगी , बार-बार ओवर स्पीड वाहन चलाने पर यदि कोई व्यक्ति पकड़ा जाएगा तो उसके लाइसेंस को जब्त करने की कार्रवाई की जाएगी ,डीएम ने कहा कि लोगों को जागरूक करने के लिए यातायात अभियान चलाया जाए ताकि लोगो को अधिक से अधिक यातायात नियमों की अधिक जानकारी दी जाए,

NOIDA AUTHORITY OFFICER COMMITS CYBER CRIME – SHARES PORN LINK ON WHATSAPP

*पोर्न साइट का लिंक डाला वाट्स एप ग्रुप पर प्राधिकरण अधिकारी ने*

देश और शहर को साफ करने की मुहिम छेड़ने वाली सरकार के अधिकारियों का दिमाग जो गंदगी भरी है उनके लिए भी मुहिम छेड़ने की आवश्यकता है। ये अधिकारी क्या काम करते होगे और कितना काम करते होगे इसका कोई पैमाना नहीं है। लेकिन आफिस मे बैठ कर पॉर्न फिल्मे देखने का इनके पास समय ही समय है। तभी तो मीडिया व पत्रकारों के बीच सूचनाओं के आदान प्रदान के लिए बनाए गए नोएडा प्राधिकरण के वाट्स एप ग्रुप पर प्राधिकरण के अधिकारी ने पोर्न साइट का लिंक डाल दिया। हालांकि अधिकारी ने गलती से लिंक पोस्ट होने की बात कहते हुए माफी भी मांगी, लेकिन इस ग्रुप पर इस तरह का लिंक डाले जाने को लेकर उच्च अधिकारियों में नाराजगी है।

देश की सबसे प्रभावशाली प्राधिकारणों की लिस्ट मे नोएडा प्राधिकरण अव्वल नंबर पर आता है। लेकिन इसके अधिकारिओ की कारगुजरिया लोगो से छिपी नहीं है। नोएडा प्राधिकरण के सूचनाओं के आदान प्रदान के लिए वाट्स एप पर ग्रुप बनाकर इसमें प्राधिकरण अधिकारी और मीडिया कर्मियों को जोड़ा गया है। बुधवार शाम को एक अधिकारी ने ग्रुप पर अश्लील वेबसाइट का एक लिंक डाल दिया। इस लिंक पर क्लिक करते हुए अश्लील फिल्म चलने लगी। मामला तूल पकड़ता इससे पहले ही अधिकारी ने ग्रुप पर गलती से पोस्ट किए जाने की बात कहते हुए माफी भी मांगी। ग्रुप पर इस तरह का लिंक डाले जाने को लेकर उच्च अधिकारियों में नाराजगी है। लेकिन इस मामले मे क्या कार्रवाही हुए है इस पर अधिकारी मौन है।

मेरा घर भाजपा का घर के नारे से जनजागरण अभि यान की शुरूआत, नबाव सिंह नागर

नोएडा। नोएडा में पंडित दीन दयाल शताब्दी के अवसर पर नोएडा के हर इलाके में एक प्रचार अभियान चलाया गया , लोगो को पंडित दीन दयाल के विचारो से अवगत कराया गया इसके साथ साथ बीजेपी पार्टी से जुड़ने का संकल्प भी दिलाया गया , पंडित दीन दयाल शताब्दी कार्यक्रम के दौरान पूर्व मंत्री नबाव सिंह नागर के नेतृत्व में जनजागरण अभियान की शुरूआत बिश्नपुरा गांव से की गई। ब्लॉक अध्यक्ष बिल्लू नागर के आवास पर शुरू हुये जनजागरण अभियान में उनके आवास पर भाजपा का झंडा लगाया गया और मेरा घर भाजपा का घर का स्टीकर लगाया गया। इसके बाद पूरे गांव में लोगों को सरकार की उपलब्धियों से अवगत करवाया गया व पं दीन दयाल उपाध्याय की कार्यशैली व उनके विचारों के बारे में चर्चा की गई। आज के जनजागरण अभियान में कुलदीप तंवर, बिल्लू नागर, रिन्कू तंवर, सुन्दर धामा, राहुल नागर, धनश्याम यादव, सुनील नागर, उदयपाल नागर, संदीप तोमर सूरज धामा, बेगराज सिंह आदि मौजूद थे।

तीन तलाक पर राजनीती करना गलत है, मौलाना मुस ्लिम, नोएडा

नोएडा -तीन तलाक को लेकर पुरे देश में एक बहस का मुद्दा बना हुआ है तीन तलाक के मुद्दे पर राजनीती रोटी सेखी जा रही है एक तरफ तो बड़े बड़े चैनल इस तलाक के मुद्दे को अपने चैनल पर चलाकर टीआरपी बड़ा रहे है , तो दूसरी तरफ नेताओ का गुट भी दो भागो में बटा है कुछ नेता तो ठीक तलाक के हक़ में है कुछ इस इस्लाम धर्म का मुद्दा बनाकर उसके हाल पर छोड़ने पर अड़े है अब एक तबका तो कोर्ट के फैसले को सही मानता है वही दूसरे तबके के लोग कोर्ट फैसले को गलत मानते है ,मंगलवार को भी यही हुआ कोर्ट के फैसले पर, इलाहबाद हाईकोर्ट ने मंगलवार को तीन तलाक पर टिप्पणी करते हुए कहा कि पर्सनल लॉ के नाम पर मुस्लिम महिलाओं के अधिकारों का हनन नहीं किया जा सकता। पर्सनल लॉ बोर्ड संविधान से ऊपर नहीं है। ये टिप्पणी एक याचिका को खारिज करते हुए की गई। फजलुर्रहमान, सेक्टर 8 मस्जिद नोएडा ने कहा इस पर मुस्लिम समुदाय सहमत नहीं है। उनका कहना है कि वे देश की न्याय व्यवस्था पर पूरी आस्था रखते हैं और सम्मान करते हैं, लेकिन शरीयत के साथ किसी प्रकार का समझौता नहीं किया जा सकता। तीन तलाक के मामले को बिना वजह तूल दिया जा रहा है। ऐसे मामलों की संख्या काफी कम है। इसे राजनीतिक रंग दिया जा रहा है। इस्लाम में महिलाओं का सम्मान अन्य सभी धर्मो की तरह है। इसे बेफजूल का मुद्दा बनाया जा रहा है।

इस टिप्पणी को मैं गैर जरूरी समझता हूं। हालांकि देश की न्याय व्यवस्था पर पूरा एहतराम है। इस मुद्दे को राजनैतिक रंग दिया जा रहा है। इस तरह के मामले कुछ फीसद है। इसे गलत तरीके से पेश किया जा रहा है। इस्लाम महिलाओं का पूरा सम्मान करता है। महिलाओं के सम्मान को धर्म में न बांटे। जो तलाक के तरीके को गलत इस्तेमाल कर रहा है उस पर कार्रवाई होनी चाहिए।

इस्लाम की नींव कुरान और हदीस पर है। इसके नियमों के खिलाफ नहीं जाया जा सकता। न्याय व्यवस्था पर पूरी आस्था है, लेकिन शरीयत के खिलाफ कोई कार्य नहीं किया जा सकता है। ये टिप्पणी गलत है। तीन तलाक को मुद्दा बनाया जा रहा है, जोकि पूरी तरह से गलत है। महिलाओं का सम्मान इस्लाम में उतना ही जितना अन्य धर्मो में है। इस मुद्दे को धर्म विशेष पर केंद्रित न किया जाए।

बिजली पानी से परेशान लोगो ने किया थाने घेर ाव

नोएडा : नोएडा एनसीआर में जिस तरह भीषण गर्मी पड़ रही है लोग काफी परेशान हो रहे है खासतौर से बिजली पानी को लेकर , जैसे जैसे गर्मी बढ़ रही है तो शहर में बिजली की समस्या बढ़ जाती है शहर में बिजली की कटौती जायदा होती है जिसके कारण पानी की परेशानी बढ़ जाती है , कोतवाली सेक्टर 49 क्षेत्र अन्तर्गत सेक्टर 76 स्थित एक सोसायटी में रहने वाले लोग बिजली की समस्या से परेशान हैं। सोमवार देर रात लोग कोतवाली पहुंचे व पुलिस से शिकायत की। इंस्पेक्टर विजेन्द्र भड़ाना ने बताया कि देर रात बिजली समस्या को लेकर एक सोसायटी के लोगों के कोतवाली आने की सूचना मिली है, लेकिन कोई लिखित शिकायत पुलिस के पास नहीं है। न ही कोई केस दर्ज हुआ है। अगर कोई शिकायत मिलती है तो जांच होगी।