वकील ने लगाया मारपीट का आरोप , नोएडा पुलिस जाँच में जुटी

नोएडा (05/04/19 ) :– नोएडा -दिल्ली बॉर्डर के पास एक वाक्य समाने आया है , जहाँ एक वकील को पुलिस ने जमकर पिटाई की है , लेकिन यह साफ नहीं हो पाया है की आखिर वो पुलिस नोएडा की थी या फिर दिल्ली की | दरअसल  दिल्ली से नोएडा में दोस्त की पार्टी में जा रहे एक वकील को पुलिस ने दिल्ली बॉर्डर पर रोक लिया। आरोप है कि वकील के पास शराब की बोतल मिलने पर पुलिस ने उसके साथ जमकर मारपीट की। जिसमें पीड़ित घायल हो गया।

आरोप है कि पीड़ित से पुलिस ने माफीनामा लिखवाकर उसे छोड़ दिया। पीड़ित ने यूपी और दिल्ली पुलिस को ट्वीट कर कार्रवाई की मांग की है। हालांकि, अभी यह पुष्टि नहीं हो सकी है कि मारपीट करने वाली पुलिस नोएडा की थी या दिल्ली की।

दिल्ली के बसंत विहार निवासी आयुष गुप्ता वकील हैं। वह ठेकेदारी का भी काम करते हैं। नोएडा में रहने वाले एक दोस्त के घर पर पार्टी थी। 30 मार्च को वह अपनी गाड़ी में शराब की बोतल लेकर दोस्त के घर जा रहे थे।

कालिंदी कुंज से जब वह दिल्ली बॉर्डर पर पहुंचे तो उन्हें पुलिस ने रोक लिया। पुलिस ने उनकी गाड़ी चेक की तो उसमे शराब की बोतल रखी हुई थी। पुलिस ने अचार संहिता के उल्लंघन का हवाला देकर कार्रवाई करने को कहा।

वकील ने इसका विरोध किया। इस पर पुलिस और वकील के बीच नोकझोंक हो गई। इस दौरान ककील ने पुलिस को यार शब्द से संबोधित कर दिया। पुलिस को यार शब्द कहने पर गुस्सा आ गया।

आरोप है कि यहां पुलिस ने वकील को चौकी में बंद कर पीटा। जिसमें वह घायल हो गया। पुलिस ने वकील को गंभीर धाराओं में जेल भेजने की भी धमकी दी। काफी देर बाद पुलिस ने वकील से माफीनामा लिखवाकर छोड़ दिया। इस मामले में एसएसपी वैभव कृष्ण का कहना है कि अभी ये पता नहीं कि मामला दिल्ली पुलिस का है या नोएडा पुलिस का। इसकी जांच कर आगे की कार्रवाई की जाएगी।