Noida Latest News

YOGI ADITYANATH CABINET FULL LIST

Yogi Adityanath Cabinet 2017: Full list of ministers and their portfolios in Uttar Pradesh

Here is the complete list of Adityanath’s Cabinet ministers along with their portfolios:

Cabinet Ministers

Yogi Adityanath: Chief Minister, Home, Revenue, Housing and Urban Planning, Food Security, Mining, Flood Control, Tax Management, Jail, General Administration, State Property, Administrative Reform, Consumer Protection etc

Keshav Prasad Maurya: Public Works Department, Food Processing, Entertainment Tax, Public Labour department (additional responsibility)

Dinesh Sharma: Secondary and Higher Education, Science and Technology, Electronics, IT department (additional responsibility)

Surya Pratap Shahi: Agriculture, Agricultue Education, Agriculture Research

Suresh Khanna: Legislative affairs, Urban development, Sahari Samgra Vikas

Swami Prasad Maurya: Labour and Service planning, Urban employment and Poverty alleviation

Satish Mahana: Industrial development

Rajesh Agarwal: Finance

Rita Bahuguna Joshi: Women Welfare, Family Welfare, Maternity and Child Welfare, Tourism

Dara Singh Chauhan: Forest and Environment, Zoos

Dharampal Singh: Irrigation, Irrigation (mechanical)

S. P. Singh Baghel: Livestock, Minor Irrigation, Fishery

Satyadev Pachauri: Khadi, Rural industry, Resham, Textile indistry, Small and medium enterprises, and exports encouragement

Ramapati Shastri: Social Welfare, SC and ST welfare

Jai Pratap Singh: Excise department, Liquor prohibition

Om Prakash Rajbhar: Backward Classes Welfare, Disabled People development

Brajesh Pathak: Law and Justice, Additional Energy Resources, Political Pention

Laxmi Narayan Chaudhary: Dairy development, Religious works and culture, Minority Welfare

Chetan Chouhan: Sports and Youth welfare, Commercial Education and Skill Development

Srikant Sharma: Power

Rajendra Pratap Singh: Rural Electricity Service

Siddharth Nath Singh: Health

Mukut Bihari Verma: Cooperative department

Ashutosh Tondon: Technological and Medical Education

Nand Kumar Nandi: Stamp and Court rates, Civil Aviation

State Ministers (Independent)

State Ministers (Independent)

Anupama Jaiswal: Basic education, Child development and nutrition, Revenue (MoS), Finance (MoS)

Suresh Rana: Sugarcane Development and Sugar Mills, Industrial development (MoS)

Upendra Tiwari: Water compensation, Land Development, Water Resources, Barren Land Development, Forest and Environment, Uddyan, Cooperatives (MoS)

Mahendra Singh: Rural Development, Samagra Rural Development, Healthcare (MoS)

Swatantradev Singh: Transport, Protocol, Power (MoS)

Bhupendra Singh Chaudhary: Panchayati Raj, PWD (MoS)

Dharam Singh Saini: Medicine, Contingency Grant, Rehabilitation

Anil Rajbhar: Soldiers’ welfare, Food Processing, Homeguards, Regional Security Force, Civil Security

Swati Singh: NRI, Flood Control, Agriculture Import, Agriculture Marketing, Agriculture Foreign Trade, Women Welfare, Family Welfare, Maternity and Child Welfare

State Ministers

Gulabo Devi: Social Welfare, SC and ST Welfare

Baldev Aulakh: Minority Welfare, Agriculture, Agriculture (Mechanised)

Atul Garg: Fertiliser supply, Rent Control, Consumer Protection, Food Security etc.

Sandeep Singh: Basic, Secondary, Higher, Professional and Medical education

Mohsin Raza: Science and Technology, Electronics, IT, Muslim Waqf, Haj

Archana Pandey: Mining, Excise, Prohibition

Ranvendra Pratap Singh: Agriculture, Agriculture Education and Research

Mannu Kori: Labour Service Planning

Jai Prakash Nishad: Livestock and fisheries, State Property, Urban Land

Girish Yadav: Urban Development, Rehabilitation, Abhav Sahayata

Neelkanth Tiwari: Law and Justice, Information, Sports and Youth Welfare

Suresh Paasi: Housing, Commerical education, Skill department

Jai Kumar Jaiky: Jail, Civil Service Management

NAI PEHAL KAVI SAMMELAN ON 25th MARCH

नयी उभरती हुई प्रतिभाओं को मंच देने के उद्देश्य से सुप्रसिद्ध संस्था "नई पहल" द्वारा आयोजित अठारहवाँ कवि सम्मेलन शनिवार 25 मार्च 2017 को सांय 6 बजे से नोएडा स्टेडियम के गेट नम्बर ४ पर योगा सेन्टर में होने जा रहा है।कवि सम्मेलन में पूर्व आई.ए.एस.,प्रतिष्ठित लेखक, नाटककार,नाट्यकर्मी, निर्देशक व चर्चित इतिहासकार श्री दया प्रकाश सिन्हा जी का सानिध्य प्राप्त होगा।साहित्य कला परिषद,दिल्ली प्रशासन के सचिव, भारतीय उच्चायुक्त,फिजी के प्रथम सांस्कृतिक सचिव,उत्तर प्रदेश संगीत नाटक अकादमी व ललित कला अकादमी के अध्यक्ष,उत्तर प्रदेश हिन्दी संस्थान,लखनऊ के निदेशक जैसे सर्वोच्च पद को सुशोभित कर चुके श्री दया प्रकाश सिन्हा जी की गौरवमयी अध्यक्षता में सर्वश्री डॉ टी एस दराल,अरुण चंद्र राय,भूपेंद्र त्यागी,कवियित्री दीपाली जैन,युवा कवि उदय द्विवेदी,नवोदित कवि कमल हरफनमौला एवं दीपक शंखधार जी काव्य -पाठ करेंगे।कवि सम्मेलन के साथ इस बार श्रीमती कीर्ति सिंह जी अपने लघुकथा का पाठ करेंगी जो नई पहल की योजना का एक हिस्सा है ताकि कविता के साथ-साथ गद्य लेखन को भी मंच पर बढ़ावा मिले।इस बार कवि सम्मलेन में मुख्य अतिथि के रूप में एस.पी. (एस.टी.एफ, उत्तर प्रदेश ) श्री राजीव नारायण मिश्र जी उपस्थित रहेंगे।हर बार की तरह इस बार भी नोएडा एवं आसपास के कई गणमान्य अधिकारी एवं साहित्यप्रेमी उपस्थित होकर सुन्दर कविताओं का रसपान करेंगे और कवि सम्मलेन को सफल बनाने में अपना महत्वपूर्ण योगदान सुनिश्चित करेंगे।नोएडा एवं आस-पास के सभी कला एवं साहित्यप्रेमियों का हार्दिक स्वागत है।नई पहल कवि सम्मेलन में आप सभी सादर आमंत्रित हैं ।

धन्यवाद
विनोद पांडेय
संयोजक, नई पहल

National Seminar on Positive Psychology and Spirituality for Holistic health at Amity University.

एमिटी इंस्टीटयूट आॅफ साइकोलाॅजी एंड एलाइड सांइस द्धारा आयुष मंत्रालय के मोरारजी देसाई नेशनल इंस्टीटयूट आॅफ योगा एंव नई दिल्ली के भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद के सहयोग से ‘‘सम्रग स्वास्थय हेतु सकारात्मक मनोविज्ञान एंव आध्यात्म ’’ विषय पर राष्ट्रीय सम्मेलन का आयोजन एफ टू ब्लाक सभागार, एमिटी विश्वविधालय में किया गया। इस सम्मेलन का शुभारंभ भारत सरकार के खनन मंत्रालय के पूर्व सचिव (रिटार्यड आईएएस) श्री बलविंदर कुमार, पंजाब विश्वविधालय के मनोविज्ञान के प्रोफेसर जितेंद्र मोहन, राजस्थान के माउंट आबु स्थित ग्लोबल हाॅस्पीटल एंड रिर्सच सेंटर की रिजनल डायरेक्टर डा बिन्नी सरीन, आयुष मंत्रालय के मोरारजी देसाई नेशनल इंस्टीटयूट आॅफ योगा के निदेशक डा आई वी बासावाराड्डी, एमिटी विश्वविधालय
की वाइस चांसलर डा (श्रीमती) बलविंदर षुक्ला, एमिटी सांइस टेक्नोलाॅजी इनोवेशन फांउडेषन के अध्यक्ष डा डब्लू सेल्वामूर्ती, एमिटी लाॅ स्कूल के एक्टिंग चेयरमैन डा डी के बंदोपाध्याय एंव एमिटी इंस्टीटयूट आॅफ साइकोलाॅजी एंड एलाइड सांइस की निदेशिका डा आभा सिंह ने पांरपरिक दीप जलाकर किया।

22 और 23 मार्च को बिजली कटौती से नोएड़ा की जनता हो सकती है परेशान

नोएडा में 22 और 23 मार्च को बिजली कटौती से नोएड़ा की जनता परेशान हो सकती है । आपको बता दे की रेलवे लाइन के निर्माण को लेकर बिजली के टावरों को विस्थापित किया जायेगा । जिसको लेकर पीवीवीएनएल सेक्टर 129 स्थित 220 केवीए के करीब दो दर्जन से अधिक सेक्टरों की बिजली बन्द रखेगा। वही पीवीवीएनएल के अधिकारियो का कहना है की सेक्टर 129 बिजली घर से 25 सेक्टरों में बिजली कटौती रहेगी । जोकि 22 और 23 मार्च में सुबह 10 से दोपहर 2 बजे तक बिजली कटौती रहेगी । वही गर्मी बढ़ने के साथ बिजली कटौती से नोएडा के लोगों को परेशानी झेलनी पड़ सकती है । इन सब को देखते हुए हालांकि बिजली विभाग अन्य सबस्टेशनों से बिजली आपूर्ति कराने की वैकल्पिक व्यवस्था कर सकता है । वही आपको बता दे की किन किन सेक्टरों में रह सकती है बिजली कटौती नोएडा के सेक्टर 32, 35, 40, 46, 47, 80, 83, 100, 108, 124, 126, 128, 129, 130, 131, 132, 134, 135, 136, 137, 142, 153 और 168 है जिसमे हो सकती है बिजली की कटौती अब देखने वाली ये बात होगी की कितनी जल्दी बिजली विभाग वैकल्पिक व्यवस्था करके इन सेक्टरों को नो कट जोन बनाएगा ।

जो खोया सम्मान हमारा, उसे दिला दो योगी जी । श्रीराम जैसा यू.पी. में, राज चला दो योगी जी । KAVI AMI T SHARMA @yogi_adityanath @BJP4UP @MARENDRAMODI

राजतिलक की करो तैयारी,,,,, भगवाधारी आया है ।
सत्य सनातन वैदिक धर्म का,,,, एक पुजारी आया है ।

हथियार हाथ में जब पकड़ा तो आप शिवाजी शान लगे ।
गोरखपुर में जब गरजे तो,,,,, भारत की पहचान लगे ।

राजपूताना साफा बांधा,,,,,,,,, पृथ्वीराज चौहान लगे ।
जब कन्या के पैर छुए तो,,,, संस्कार की खान लगे ।

गौ माता को चारा डाला, लगते कृष्ण कन्हाई से ।
भाषण तुमने किया शुरू तो लगे अटल परछाई से ।

शतरंज सियासी जब जीता तो विश्वनाथ आनंद लगे ।
जब तुमने भगवा पहना तो,,,, स्वयं विवेकानंद लगे ।

हे देवभूमि के लाल तुमहे पाकर गर्वित परिवेश हुआ ।
कुर्सी भी हरसायी है,,,,,,और धन्य हमारा देश हुआ ।

भगवधारी सब मंचों पर,,,,,,,,, सदा दिखाई देता हूँ ।
मैं कलमपुत्र एक अदना बालक तुम्हें बधाई देता हूँ ।

सत्ता बड़ी नशीली है,, तुम झूल ना जाना योगी जी ।
कर्तव्य सदा सब याद रहे तुम भूल ना जाना योगी जी ।

गौ की गर्दन पर चलती,,, वो पैनी छुरी भी याद रहे ।
रामलला जंहा खेले है ,,,, वो अवधपुरी भी याद रहे ।

अवैधनाथ जो संत हमारे,,, उनकी साख भी याद रहे ।
निर्दोष बहन जो मुस्लिम है,, वो तीन तलाक भी याद रहे ।

ना फैले उन्माद धर्म का,,,,, ना मजहबी अखाड़ा हो ।
नही मुज्जफरनगर चाहिए,,, नाही कोई बिसाडा हो ।

हर मंदिर से रोज़ सुबह,,, आरती जय जगदीश चले ।
अगर भावना हो आहत तो लप्पड़ उसके शीश चले ।

जो खोया सम्मान हमारा,,, उसे दिला दो योगी जी ।
श्रीराम जैसा यू. पी. में ,,, राज चला दो योगी जी ।

—कवि अमित शर्मा (गाँव सैनी-ग्रेटर नोएडा)
9818516189
9891516189
(कृपया नाम हटाने का पाप ना करे)

एमिटी में भारतीय वन सेवा के उम्मेदवार हेतु प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन

एमिटी स्कूल आॅफ नेचुरल रिसोर्स एंड सस्टैनबल डेवलेपमेंट एंव एमिटी इंस्टीटयूट आॅफ ग्लोबल वाॅर्मिंग एंड ईकलाजिकल स्टडीज द्वारा भारतीय वन सेवा के उम्मेदवार हेतु एक सप्ताह के प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन एमिटी विश्वविधालय सैक्टर 125 नोएडा में किया गया। इस कार्यक्रम में भारतीय वन सेवा के 12 उम्मेदवार ने हिस्सा लिया जोकि देश के अलग अलग राज्यों जैसे पश्चिम बंगाल, तमिलनाडु, मणिपुर, हरियाणा आदी से है। 20 से 24 मार्च तक चलने वाले इस कार्यक्रम का शुभारंभ नेशनल मीशन फाॅर क्लीन गंगा, नई दिल्ली के महानिदेशक श्री यूपी सिंह,

संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम नई दिल्ली के राष्ट्रीय समन्वयक श्री प्रभुज सोधी, एमिटी स्कूल आॅफ नेचुरल रिसोर्स एंड सस्टैनबल डेवलेपमेंट के सलाहकार प्रोफेसर बी के पी सिन्हा, एमिटी विश्वविधालय लखनऊ के प्रोफेसर रानीव कुमार, एमिटी इंस्टीटयूट आॅफ ग्लोबल वाॅर्मिंग एंड ईकलाजिकल स्टडीज के सलाहकार श्री जे सी काला ने पारंपरिक दीप जलाकर किया। नेशनल मीशन फाॅर क्लीन गंगा, नई दिल्ली के महानिदेशक श्री यूपी सिंह ने उम्मेदवारों को बधाई देते हुए कहा कि आप सभी ने कैरियर बनाने के लिए अच्छा क्षेत्र का चुनाव किया है। यह क्षेत्र एक प्राइम सेक्टर है। किसी भी प्रकार की चुनौतियों से न डरे चुनौतियां तो आपको हर प्रकार के क्षेत्र में मिलेगी। मेहनत एंव सच्चाई का कभी विकल्प न निकाले। कार्य से सन्तुष्टि तभी मिलेगी जब आपने पेशे से लोगों को मद्द करेंगे।

उत्तर प्रदेश का चुनाव और मायावती की हार वि षय पर सम्भवत काव्य कटाक्ष बड़े कवियों द्वारा

उत्तर प्रदेश का चुनाव और मायावती की हार विषय पर सम्भवत काव्य कटाक्ष बड़े कवियों द्वारा

*प्रसंग है*___

ताजा चुनाव के नतीजों के बाद बहुत ही उदास मन से एक छज्जे पर मायावती बैठी है,

केश खुले हुए हैं और उदास मुख मुद्रा देखकर लग रहा है कि जैसे वह छत से कूदकर आत्महत्या करने वाली हैं

सोचिये विभिन्न कवि इस प्रसंग पर कैसे लिखते…..

मैथिली शरण गुप्त

अट्टालिका पर बैठकर क्यों अनमनी सी हो अहो
किस वेदना के भार से संतप्त हो देवी कहो ?
धीरज धरो संसार में, किसके नहीं है दुर्दिन फिरे
हे राम! रक्षा कीजिए, माया न भूतल पर गिरे।

*काका हाथरसी*-

माया बैठी छत पर, कूदन को तैयार
नीचे पक्का फर्श है, भली करे करतार
भली करे करतार, न दे दे कोई धक्का
ऊपर मोटी नार, नीचे पतरे कक्का
कह काका कविराय, अरी मत आगे बढ़ना
उधर कूदना मेरे ऊपर मत गिर पड़ना।

*गुलजार*-

वो बरसों पुरानी ईमारत
शायद
आज कुछ गुफ्तगू करना चाहती थी
कई सदियों से
उसकी छत से कोई कूदा नहीं था।
और आज
उस
तंग हालात
परेशां
स्याह आँखों वाली
उस लड़की ने
ईमारत के सफ़े
जैसे खोल ही दिए
आज फिर कुछ बात होगी
सुना है ईमारत खुश बहुत है…

*हरिवंश राय बच्चन*-

किस उलझन से क्षुब्ध आज
निश्चय यह तुमने कर डाला
घर चौखट को छोड़ त्याग
चढ़ बैठी तुम चौथा माला
अभी समय है, जीवन सुरभित
पान करो इस का बाला
ऐसे कूद के मरने पर तो
नहीं मिलेगी मधुशाला

*प्रसून जोशी*-

जिंदगी को तोड़ कर
मरोड़ कर
गुल्लकों को फोड़ कर
क्या हुआ जो जा रही हो
सोहबतों को छोड़ कर

*रहीम*-

रहिमन कभउँ न फांदिये, छत ऊपर दीवार
हल छूटे जो जन गिरि, फूटै और कपार

*तुलसी*-

छत चढ़ नारी उदासी कोप व्रत धारी
कूद ना जा री दुखीयारी
सैन्य समेत अबहिन आवत होइहैं रघुरारी

*कबीर*-

कबीरा देखि दुःख आपने, कूदिंह छत से नार
तापे संकट ना कटे , खुले नरक का द्वार”

*श्याम नारायण पांडे*-

ओ घमंड मंडिनी, अखंड खंड मंडिनी
वीरता विमंडिनी, प्रचंड चंड चंडिनी
सिंहनी की ठान से, आन बान शान से
मान से, गुमान से, तुम गिरो मकान से
तुम डगर डगर गिरो, तुम नगर नगर गिरो
तुम गिरो अगर गिरो, शत्रु पर मगर गिरो।

*गोपाल दास नीरज*-

हो न उदास रूपसी, तू मुस्काती जा
चुनाव की हार में भी जिन्दगी के फूल खिलाती जा
जाना तो हर एक को है, एक दिन जहान से
जाते जाते मेरा, एक गीत गुनगुनाती जा

*राम कुमार वर्मा*-

हे सुन्दरी तुम मृत्यु की यूँ बाट मत जोहो।
जानता हूँ चुनाव का
खो चुकि हो चाव तुम
और चढ़ के छत पे भरसक
खा चुकि हो ताव अब तुम
उसके उर के भार को समझो।
जीवन के उपहार को तुम ज़ाया ना खोहो,
हे सुन्दरी तुम मृत्यु की यूँ बाँट मत जोहो।

*हनी सिंह*-

कूद जा डार्लिंग क्या रखा है
मुख्यमंत्री बन जाने में
यो यो की तो सीडी बज री
डिस्को में हरयाणे में
रोना धोना बंद कर
कर ले डांस हनी के गाने में
रॉक एंड रोल करेंगे कुड़िये
फार्म हाउस के तहखाने में..