Noida Latest News

एक ही बारिश में खुली नोएडा प्राधिकरण की पो ल, जलभराव क कारण घंटों जाम में फंसे लोग

नोएडा प्राधिकरण आखिर नोएडा की जनता को जाम से कब निजात दिलाएंगे ? सवाल काफी सालों से नोएडा प्राधिकरण पर लगता आया है | आपको बता दे की यूपी के हाईटेक शहर नोएडा सिर्फ इमारतों में तब्दील होता चला गया , लेकिन प्राधिकरण ने यह ध्यान नहीं दिया की एक ऐसी समस्या आएगी जिससे नोएडा में रहने वाले लोग उस परेशानी का हर रोज सामना करना पड़ेगा | जिसका नाम है जाम | ये ऐसी समस्या बनती जा रही है जिसका प्राधिकरण ने अब तक कोई भी निस्तारण नहीं निकाल पाया | वही दूसरी तरफ अभी तक प्राधिकरण के अधिकारियों ने कितनी बार भी बोर्ड बैठक में अहम निर्णय लिए हो लेकिन जाम को लेकर कोई निर्णय नहीं ले पाया |

बारिश ने पूरी कर दी रही सही कसर

साथ ही कल हुई तेज बारिश ने प्राधिकरण की पोल ही खोलकर रख दी | जी हाँ तेज बारिश होने से सड़को पर लम्बा जाम लग गया | वही नोएडा – ग्रेटर नोएडा की जनता को 4 किलोमीटर का सफर 1 घण्टे में तय करना पड़ा | अगर ट्रैफिक पुलिस की बात करे तो आधे से ज्यादा पुलिस कर्मी कावड़ियों में लगे हुए थे | वही दूसरी तरफ कल तेज बारिश की वजह से जो रास्ते में वाहन ख़राब हो गए थे उसको हटाने के लिए प्राधिकरण की तरफ से कोई व्यवस्था नहीं की गयी | इन सब समस्याओं ने मिलकर कर नोएडा -ग्रेटर नोएडा निवासियों को खूब परेशान किया। अब देखना महत्वपूर्ण होगा की आगे आने वाले बरसात के दिनों में भी क्या प्राधिकरण कुछ उचित व्यवस्था करता है या लोगों को फिर ऐसे ही परेशान होना पड़ेगा।

ट्रक ड्राइवर ने बाइक सवार के साथ की बदसलूक ी, सरेआम की गाली-गलौच

नोएडा के थाना सेक्टर-20 इलाक़े के हरौला में एक ट्रक ड्राइवर द्वारा एक बाइक सवार के साथ बदसलूकी का मामला सामने आया है। छोटी सी बात को लेकर ट्रक ड्राइवर ने न सिर्फ बाइक सवार के साथ बदसलूकी की, बल्कि सरेआम उसके गाली-गलौच भी किया।

घटना के बाबत बताया जा रहा है कि आइशर कैंटर गाड़ी, जिसका गाड़ी नंबर BL1LK0143 है, रोड से होकर गुज़र थी, कि तभी एक बाइक सवार गाडी को ओवरटेक करते हुए आगे निकल गया। बस इतनी सी ही बात पर ट्रक चालाक भड़क गया और बाइक सवार को रोक कर उसके साथ बदसलूकी और गाली-गलौच शुरू कर दी। अभी इस घटना को लेकर पुलिस शिकायत की जानकारी नहीं है।

नोएडा से लापता इंजीनियर को अब खोजेगी सीबी आई

एक मासूम पिता जिसने अपने बेटे को ढूढ़ने के लिए हर प्रयास किया लेकिन हमेशा एक नाकामयाबी हासिल हुई | जिसको लेकर उस पिता ने न्यायालय का सहारा लिया जिसके बाद लापता बेटे के पिता को उम्मीद की एक किरण नज़र आ रही है | आपको बता दे की नोएडा के सेक्टर 15 से 17 अक्तूबर 2013 को संदिग्ध परिस्थितियों में लापता हुए साफ्टवेयर इंजीनियर अभिनव मित्तल को सीबीआई खोजेगी। इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने केस की जांच नोएडा पुलिस की जगह सीबीआई को सौंप दी है। अभिनव के परिजनों ने उसकी हत्या कर शव ठिकाने लगाने की आशंका जताई है।

क्या है पूरा मामला

17 अक्तूबर 2013 की रात 8:15 बजे के बाद अभिनव घर से लापता हो गया उसके बाद से आज तक उसका कोई सुराग नहीं है। उसका पैन ड्राइव और मोबाइल घर पर ही रखा हुआ था। परिजनों ने उसकी पत्नी पर भी उसके लापता होने में शक जताया था। 18 अक्तूबर को सेक्टर-20 थाने में उसकी गुमशुदगी दर्ज हुई। चार साल की जांच के बाद नोएडा पुलिस अभिनव का कुछ पता नहीं लगा पाई है।

घरवालों को था अभिनव की पत्नी पर शक

अभिनव के परिजनों का आरोप है कि अभिनव और उसकी पत्नी ज्योति में मनमुटाव था। ज्योति वर्ष 2009 से 2011 तक राष्ट्रमंडल खेल आयोजन समिति में डोपिंग मैनेजर थी। उसके वरिष्ठ मुनीश चंद्र डोपिंग विशेषज्ञ थे। दोनों में दोस्ती थी। गुमशुदगी वाले दिन जहां आखिरी बार अभिनव को उसी तल पर देखा गया जहां उसकी पत्नी मौजूद थी, लेकिन उसे नहीं पता उसका पति कब घर से चला गया। गुमशुदगी के अगले दिन ज्योति मुनीश चंद्र के साथ पति को तलाशने घर से निकलने के पांच घंटे बाद वापस आई थी। परिजनों का आरोप है कि लापता होने में पत्नी का हाथ हो सकता है | ज्योति और मुनीश एकसाथ बैंकाक भी घूमने गए थे। उन्हें शक है कि उनके पुत्र के लापता होने में ज्योति का हाथ है। अभिनव के लापता होने के एक माह बाद ज्योति मायके चली गई थी।

पुलिस ने तीन शातिर बदमाशो को किया गिरफ्तार

नोएडा- अपराध और अपराधियों पर नकेल कसने को लेकर नॉएडा पुलिस प्रशासन पूरी तरह से मुस्तैद नज़र आ रही है। आज नॉएडा पुलिस के द्वारा अलग-अलग घटनाओं में कुल तीन शातिर बदमाशों को गिरफ्तार किया गया है। जिन बदमाशों को गिरफ्तार किया गया है, उनकी पुलिस को काफी लंबे समय से तलाश थी। आपको बता दें कि पुलिस प्रशासन ने अपराधियों के खिलाफ अभियान शुरू कर रखा ही।

पहली घटना में उप-निरीक्षक धर्मेन्द्र सिंह, थाना सैक्टर 20 जनपद गौतमबुद्धनगर द्वारा पुलिस टीम के साथ आरोपी लखन पुत्र मुन्नालाल निवासी कवई जिला महोबा को गिरफ्तार किया गया है। दूसरी घटना में उप-निरीक्षक नीरज, थाना फेज़-2 जनपद गौतमबुद्धनगर द्वारा पुलिस टीम के साथ आरोपी ताज मोहम्मद पुत्र नसीद निवासी मौजा परसराम थाना जामो जिला अमेठी को गिरफ्तार किया गया है। वहीँ तीसरे मामले में उप निरीक्षक सुधीर कुमार, थाना सैक्टर 39 जनपद गौतमबुद्धनगर द्वारा पुलिस टीम के साथ आरोपी धनसिंह पुत्र घासी सिह निवासी ग्राम ढाबका थाना हेमन्तगढ जिला बुलन्दशहर को गिरफ्तार किया गया है। सभी गिरफ्तार अभियुक्तों को न्यायालय में प्रस्तुत कर जेल भेजा गया है।

व‌र्ल्ड ऑफ वंडर्स में व्यक्ति झूले से गिर ा , घटना फेसबुक पर हुई वायरल

नोएडा : सेक्टर-38ए स्थित जीआइपी मॉल के व‌र्ल्ड ऑफ वंडर्स में एक व्यक्ति झूले (राइड)नोएडा : सेक्टर-38ए स्थित जीआइपी मॉल के व‌र्ल्ड ऑफ वंडर्स में एक व्यक्ति झूले (राइड) से गिरकर घायल हो गया। घटना की चश्मदीद और उसी झूले पर मौजूद दिल्ली की आस्था जैन ने फेसबुक पर घटना को पोस्ट किया। यह वायरल हो गया। उधर, पीड़ित की तरफ से मामले की शिकायत पुलिस से नहीं की गई है। हादसा 25 जून की शाम करीब साढ़े छह बजे का है। आस्था जैन ने दो दिन बाद 27 जून को घटना फेसबुक पर पोस्ट की। फेसबुक पोस्ट के अनुसार झूला जैसे ही शुरू हुआ, उनकी सीट के ठीक आगे बैठे व्यक्ति की सेफ्टी बेल्ट खुल गई और वह नीचे गिर पड़ा। वह भी ठीक इसी तरह गिरते-गिरते बची। घायल व्यक्ति केगिरने के बाद भी काफी देर तक झूला चलता रहा। मामले में एसपी सिटी अरूण कुमार सिंह ने बताया कि मॉल प्रबंधन ने घायल का इलाज करा दिया था। उसकी तरफ से पुलिस को कोई शिकायत नहीं दी गई थी। घायल कोई पुलिस कार्रवाई नहीं चाहते थे। जीआइपी मॉल के उपाध्यक्ष (ऑपरेशन) अरूण मनिकोंडा ने बताया कि हादसे केतुरंत बाद घायल को एंबुलेंस से कैलाश अस्पताल ले जाया गया था। उसकी पूरे शरीर की जांच कराई गई। उसे कोई गंभीर चोट नहीं आई थी। इससे पहले कभी भी ऐसा हादसा नहीं हुआ है। व‌र्ल्ड ऑफ वंडर के प्रत्येक झूले की दैनिक, साप्ताहिक व मासिक स्तर पर सुरक्षा जांच होती है। विश्व की सर्वश्रेष्ठ कंपनी इन झूलों की सुरक्षा की जांच तथा रखरखाव करती हैं। घटना वाले दिन झूले थोड़ी देरी के लिए इसलिए रुके, क्योंकि सुरक्षा के मद्देनजर इनमें आपातकालीन ब्रेक नहीं होते है। सात-आठ मिनट की राइड के बाद झूला रुका। 15 मिनट के अंदर ही सभी लोगों को झूले से उतार लिया गया था।

डीएम ने अवैध खनन माफिया के खिलाफ जारी किया 7 0 लाख रूपये का नोटिस

गौतमबुद्ध नगर – जिलाधिकारी बीएन सिंह ने जानकारी देते हुये बताया है कि अवैध खनन के सम्बन्ध में गुप्त सूचना प्राप्त होने पर तत्काल राजस्व एवं खनन विभाग की सयुक्त टीम को यमुना नदी क्षेत्र के तहत ग्राम सिकन्दरपुर एवं मुरशदपुर का आकस्मिक निरीक्षण के लिये भेजा गया जहॉ पर गहनता के साथ संयुक्त टीम के द्वारा जॉच करने पर सिकन्दरपुर गॉव में 10638 घनमीटर तथा मुरशदपुर में 7488 घनमीटरद अवैध बालू का खनन टीम को मौके पर मिला। इस सम्बन्ध में प्राथमिक रिर्पोट खनन विभाग के द्वारा दर्ज कराते हुये 70 लाख 69 हजार रूपये के नोटिस सम्बन्धित काश्तकारों को भेजे जा रहें। डीएम ने बताया कि यह कार्यवाही उप जिलाधिकारी सदर अंजनी कुमार के नेतृत्व में की गयी साथ ही जिला खनन अधिकारी नवीन कुमार दास एवं खनन स्टाफ एवं पुलिस विभाग के अधिकारी भी टीम में सम्मलित रहे।-

Ceiling Plaster falls in Skytech Mariott’s apartment, residents question poor quality construction!

Poor quality constructions in many gated communities of Noida and Greater Noida has become a cause of worry for its inhabitants. Last month also a small kid was barely saved when large portion of ceiling atop his bed came crashing with the fan.

Today also reports have emerged that Plaster was falling from an apartment of Skytech Mariott. Residents who have paid high amounts for purchasing these flats are questioning the intentions of builders to use such low quality construction tactics for these high rise buildings.

24 घंटे बिजली के दावे हुए फेल, नोएडा में 8 घंट े की बिजली कटौती

नोएडा – प्रदेश सरकार बिजली आपूर्ति में सुधार को लेकर चाहे जितने बड़े दावे कर ले, लेकिन हकीकत कुछ और ही है। रविवार की रात को सेक्टर 12 के निवासियों को बिजली संकट का सामना करना पड़ा। यहां लगभग 8 घंटे की बिजली कटौती हुई। वहीं, सोमवार को बारिश के चलते शहर में चार से पांच घंटे की बिजली आपूर्ति बाधित रहने से लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। इसे विडंबना ही कहें कि बिजली विभाग के अधिकारियों को इस कटौती के बारे में जानकारी तक नहीं थी। सेक्टर 12 में रविवार को रात 11.30 बजे के करीब बिजली कटौती हुई जो सोमवार सुबह साढ़े 7 बजे जाकर बिजली सुचारू हो सकी। जब इस बारे में डिवीजन अधिकारी से बात की गई तो उन्होंने कहा कि उन्हें इसकी जानकारी नहीं है। इसके लिए एसडीओ से मालूम करने की बात कही। एसडीओ नरेंद्र ने बताया कि विद्युत उपकेंद्र से 8 घंटे हुई बिजली कटौती की जानकारी उन्हें नहीं दी गई है, जब लाइनमैन से इस बारे में पूछा गया तो उन्होंने बताया कि लाइन में लोकल फॉल्ट आने के चलते बिजली कटौती करनी पड़ी, बिजली विभाग के अधीक्षण अभियंता राकेश कुमार राणा ने बताया कि बिजली कटौती शहर में नहीं की जा रही है। यह कटौती लोकल फॉल्ट के चलते हो रही है, जिसे जल्द से जल्द दूर कर लिया जाएगा।

ऑटो गैंग ने बंधक बनाकर सॉफ्टवेयर इंजीनियर को लुटा

नोएडा – सेक्टर-2 में ऑटो गैंग ने सॉफ्टवेयर इंजीनियर को बंधक बना लिया। बदमाशों ने पीड़ित से मारपीट कर उससे लैपटॉप बैग, मोबाइल और पर्स लूट लिया। बदमाश पीड़ित को सेक्टर-26 के पास फेंककर फरार हो गए। पीड़ित ने सेक्टर-20 थाने में घटना की एफआईआर दर्ज कराई है। इंदिरापुरम (गाजियाबाद) निवासी नीरज द्विवेदी सेक्टर-2 स्थित एक कंपनी में सॉफ्टवेयर इंजीनियर हैं। वह 14 जुलाई की रात कंपनी से घर के लिए निकले। सेक्टर-2 से सेक्टर-62 जाने के लिए एक ऑटो में बैठे।

ऑटो में पहले से ही तीन युवक थे। कुछ दूर चलने पर ऑटो सवार बदमाशों ने पीड़ित से मारपीट कर उसे बंधक बना लिया। विरोध करने पर चाकू मारने की धमकी दी। इस दौरान बदमाशों ने पीड़ित का लैपटॉप, मोबाइल और पर्स लूट लिया।
बदमाश पीड़ित को चलते ऑटो से सेक्टर-26 के पास फेंककर फरार हो गए। पीड़ित ने किसी तरह घटना की सूचना परिजनों को दी। पीड़ित अगले दिन सेक्टर-20 थाने पहुंचा और घटना की एफआईआर दर्ज कराई। पुलिस बदमाशों की तलाश में जुटी है।

महिला ने महिला को लगाया 20 हजार रुपए का चूना, मामला दर्ज़

सेक्टर 12 स्थित एक एटीएम पर महिला ने महिला का एटीएम कार्ड बदलकर उसकेे खाते से 20 हजार रुपए निकाल लिए। महिला के मोबाइल पर जब खाते से रुपए निकलने का मैसेज आया तो उन्हे घटना का पता चला। पीड़िता ने कोतवाली सेक्टर 24 पुलिस से घटना की शिकायत की। पुलिस ने महिला को सेक्टर 6 स्थित साइबर सेल भेज दिया। मूलरूप से सिंगेश्वर बिहार निवासी अनु, परिवार के साथ चौड़ा गांव में किराये पर रहती है। वह शनिवार शाम सेक्टर 12 स्थित एक एटीएम मशीन से रुपए निकालने पहुंची। महिला ने बताया कि जब कई बार ट्राई करने पर भी रुपए नहीं निकले, तो इसी दौरान बाहर खड़ी एक महिला एटीएम मशीन केबिन में आ गई। आरोपी महिला ने उनसे दोबारा एटीएम मशीन में कार्ड डालने को कहा। जब वह पिन नंबर डाल रही थी उसी समय आरोपी महिला ने वह देख लिया। लेकिन फिर भी रुपए नहीं निकले। वह वापस घर चली गई। महिला ने बताया कि रात करीब 9 बजे उनके मोबाइल पर खाते से 20 हजार रुपए निकलने का मैसेज आया। जिसे देखकर वह चौंक गई। उन्होंने तुरंत कस्टमरकेयर कॉल कर एटीएम कार्ड बंद कराया। वह सोमवार सुबह एटीएम कार्ड लेकर 62 स्थित बैंक पहुंची। वहां मौजूद बैंक अधिकारी ने बताया कि उनके पास मौजूद एटीएम कार्ड किसी ओर का है, जो पहले से ही बंद पड़ा है। पीड़िता ने घटना की शिकायत सेक्टर 6 स्थित साइबर सेल में की है।