Author Archive: attachowk.com

About attachowk.com

www.attachowk.com : Noida Live Blog - News, Events, Issues, Developments , Comments on issues, suggestions, Public grievances - as it happens

Wave Infratech Signs MoU with Construction Skill Development Council of India (CSDCI).

Noida, 13th December, 2018: Taking a step forward to recognise and certify their skilled workforce, Wave Infratech signed a memorandum of understanding (MoU) with Construction Skill Development Council of India (CSDCI) in Best in Class Employer scheme of Recognition of Prior Learning (RPL 4). The group has taken this step to certify and empower their workforce, across all its projects.

A huge section of India’s workforce are unskilled or semi-skilled. Only 4.69% of the total workforce in India have a formal training. As a result, most of them pick up skills in an informal channels, which could not be assessed. To recognise these skills, RPL was launched. Ministry of Skill Development and Entrepreneurship (MSDE) & National Skill Development Corporation (NSDC), through RPL, ensures wider reach to large uncertified workforce across the country.

To recognise & assess the workforce in the construction sector, CSDCI was constituted under the mandate of NSDC. RPL was launched as a component under Pradhan Mantri Kaushal Vikas Yojna (PMKVY) and it targets to certify over 40 lakh people in work force in various trades by 2020. RPL recognises prior competencies of the assessed candidates and provide them with a certificate and monetary reward on successful completion of assessments.

With this MoU with CSDCI, Wave Infratech, will get 4000 (approx.) of its construction sector workers, across all its projects, in various trades, certified. The MoU was signed between Mr. H.S. Khandari, Director Wave Infratech and Col. AK Singh (Retd.), CEO, Construction Skill Development Council of India (CSDCI). The certification will help the workforce access future opportunities in the formal eco system.

On this occasion, Mr. H.S. Khandari, Director, Wave Infratech said, “Construction sector is the second largest industry when it comes to manpower employment, and the workforce required here is huge. There is continuous need for upgradation of skills and certification. With this MoU, we are helping our workers, across all our projects, in various trades, get formally recognised and give them an avenue to up-skill and grow further. Through this certification, we are recognising the ‘value of learning’ acquired in an informal setting”.

Speaking on the occasion, Col. AK Singh (Retd.), CEO, CSDCI, said, “Over 60 million of skilled workforce in our country are yet to be assessed. These workers, learned their trade through informal channels, as there were inadequate training facilities. To bridge these gaps, MSDE & NSDC launched RPL. Through RPL 4, we, at CSDCI, facilitate the assessment of the workforce. We are happy to be associated with Wave and we appreciate this initiative taken by them. This association is a step forward for us to achieve our target of certifying the skilled workforce in the construction sector. Our collaboration will work towards honouring, certifying and bringing these workers to the mainstream.”

नवरत्न का स्कूली बच्चों को ठिठुरती ठंड से बचाने का अभियान: “शीत कवच”

आज नोएडा के सेक्टर 17 के स्लम इलाके में चल रहे "अपना स्कूल" पहुंचा और वहाँ पर शिक्षा ग्रहण करे रहे अति निर्धन परिवार के 100 बच्चों को स्कूल यूनिफार्म स्वेटर्स उपहार स्वरूप प्रदान किये गये.

इस अवसर पर सेक्टर की स्लम की प्रधान और स्कूल की समाज सेविका संचालक श्रीमती ऋतू सिन्हा ने व्यवस्था को बेहतर बनाये रखने में अपना पूर्ण सहयोग प्रदान किया
. इस कडकडाती ठंड में बच्चों को बिगैर गर्म कपड़ों एवं जूते को देख कर एक प्रश्न उठ रहा था की यह बच्चे इस ठंड का सामना कैसे करते हैं . इनमे इतनी शक्ति कहाँ से आती है की ठंड में भी मुस्कारते हुए दिखाई पड़ते हैं. वाकई कोई न कोई ईश्वरीय शक्ति है जो इनको इतना बल देता है. मन में आया की चलो कुछ और किया जाए इनके नौनिहालों के लिए और इनको जूते भी उपहार स्वरुप दिए जाएं .

यह भी शीत कवच का ही हिस्सा है. नोएडा में कई जूतों के निर्माता है हो सकता है की कुछ सस्ता भी मिल जाए .
वैसे हमारे मित्र कुलदीप कटियार जो की जूतों के निर्माता और नोएडा में ही फैक्ट्री है और काफी उदार ह्रदय के हैं और हमारे नवरत्न ज्ञानपीठ की बच्चों को सहयोग भी करते हैं उनसे यही ही निवेदन किया जाए तो शायद बात बन सकती है इन मासूम बच्चों के नंगे पैर को ढकने के लिए.
चलिए
शुरुआत करते हैं शीत कवच को और व्यापक बनाने के लिए.

1033 लोगों के ड्राइविंग लाइसेंस होंगे निरस्त ्र।

1033 लोगों के ड्राइविंग लाइसेंस होंगे निरस्त्र।

नोएडा: आर.टी.ओ विभाग ने एक हजार लोगों के ड्राइविंग लाइसेंस निलंबित कर दिए हैं। वहीं पिछले तीन महीनों में 2400 लोगों के लाइसेंस निलंबित किया जा चुका हैं। इसमे सबसे ज्यादा चालान यातायात पुलिस ने किया हैं।इन लोगों के नाम जो वाहन हैं उससे संबंधित परिवहन विभाग में कई कार्य 3 महीने तक नही हो पायेगा।एआरटीओ हिमेश तिवारी का कहना है कि जिलाधिकारी के निर्देश पर जिले में अभियान चलाया जा रहा हैं।जो लोग तीन से अधिक बार यातायात का उल्लंघन करते हुए पाए जाते हैं उनके लाइसेंस के लिलंबन की कार्यवाही की जा रही हैं। सोमबार को एसपी ट्रैफिक अनिल झा की तरफ से 1033 लोगों के लाइसेंस निलंबन की सूची भेजी हैं।ये कार्यवाही अगस्त,सितंबर, अक्टूबर, और नवंबर की हैं। अभी तक 3433 लोगों के 4 महीनों में ड्राइविंग लाइसेंस निरस्त्र किया जा चूका हैं।

सलारपुर स्कूल हादसे में प्रिंसिपल गिरफ्त ार। छः के खिलाफ मामला दर्ज।

नोएडा ब्रेकिंग:
नोएड़ा सलारपुर में कल हुए के.एम पब्लिक स्कूल दीवार हादसे में पहली गिरफ्तारी । पुलिस ने स्कूल के प्रिंसिपल संजीव झा को महर्षि आश्रम गेट सेक्टर 107 के पास से किया गिरफ्तार । हादसे में दो बच्चों की मौत और चार बच्चें घायल हुवे थे । पुलिस ने इस मामले में अब तक 6 लोगो लोगो खिलाफ एफआईआर दर्ज की हैं ।

स्कूल की दीवार गिरी कई बच्चे दवे,दो बच्चे क ी मौके पर मौत।।

नोएडा ब्रेकिंग — प्राइवेट स्कूल की दीवार गिरने से मची अफरातफरी , कई बच्चे दीवार के नीचे दबे , तमाम आलाधिकारी समेत भारी पुलिस बल मौके पर मौजूद , बच्चों को निकालने के प्रयास में जुटी पुलिस , नोएडा के सलार पुर गाँव में है के.एम.पब्लिक स्कूल , 4 बच्चों को घायल अवस्था में निजी अस्पताल में कराया भर्ती , 2 बच्चों की मौके पर ही मौत , और भी बच्चे मलबे दबे होने की आशंका , नोएडा सेक्टर 49 थाना क्षेत्र की घटना ।

Another Fake Call Centre Busted In Noida

Noida, (15/12/2018): Fake call centres have become the main target for the Noida police.

After the praise from the US itself last month for the busting of fake call centres, Noida SSP Ajay Pal Sharma seems to have decided to bust them all and, end this fake call centre business in Noida.

On Friday, another fake call centre was busted in Noida by the special task force during a raid and 36 people were arrested. The STF also recovered Rs 5600 in cash, three computer sets, three ATM cards, stamps of different fake companies and five cheque books.

The call centre is running from a building in Noida sector 10 for the past 6 months.

According to the STF officers, the three main accused, Dilip Kumar Saroj from Sant Ravidas Nagar, Akhilesh Kumar from Badohi District, and Kamlesh Saroj from Jaunpur, are the main masterminds of this call centre.

The accused would cheat people by claiming they had won cash prizes in a lucky draw and take a certain amount of money from them as registration fees.

STF SSP, Abhishek Singh said “they had received a complaint from a Varanasi resident who allegedly been cheated of Rs 2 lakh by the fake centre”.

“During interrogation, the accused told police they had opened fake accounts in various banks in the name of different companies. They took SIM cards with forged papers and offered people cash prizes against lucky draws. They would ask the victims to transfer an amount of money as registration fee in the e-wallets. Once people gave the money, the accused would snap all contacts with the victims. In a day, they would collect anything between Rs 15 lakh to 20 lakhs from them”, he added.

He also said that “we recovered a huge amount of data of customers of online shopping, insurance, etc. This data is of people from different parts of the country”.

6 लेन एलिविटेड मार्ग को मिली मंजूरी, नोएडा-द िल्ली के लोगों को मिलेगी जाम से मुक्ति

नोएडा – ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेस से दिल्ली एवं नोएडा आने जाने वाले एक्सप्रेस वे पर भारी यातायात के कारण अक्सर जाम की स्थिति बनी रहती है। इस यातायात समस्या के निस्तारण के लिए नोएडा प्राधिकरण द्वारा दिल्ली स्थित चिल्ला रेगुलेटर से महामाया फ्लाईओवर तक शाहदरा ड्रेन के किनारे 6 लेन के एलिविटेड कॉरिडोर की परियोजना की फिजिबिलिटी रिपोर्ट वर्ष 2013 में यूटीटीपीईसी एवं शाहदरा ड्रेन पर निर्माण कराने के लिए दिल्ली सिचाई एवं बाढ़ नियंत्रण विभाग से अनापत्ति प्राप्त कराने के लिए भेजा गया था।

दिल्ली सिचाई एवं बाढ़ नियंत्रण विभाग से अनापत्ति प्राप्त ने होने के कारण इस परियोजना को दिल्ली के राजयपाल द्वारा वर्ष 2016 को गवर्निंग बॉडी की 57वीं बैठक में में भी स्वीकृति प्रदान नहीं की गई थी। इस परियोजना के लिए स्वीकृति प्राप्त करने के लिए फिर से दिल्ली सिचाई एवं बाढ़ नियंत्रण विभाग एवं

यूटीटीपीईसी परियोजना के लिए 2018 में भेजा गया। जिस पर दिल्ली सिचाई एवं बाढ़ नियंत्रण विभाग ने 4 दिसंबर को अपनी अनापत्ति दर्ज करा दी है। आज यूटीटीपीईसी की 58 वीं गवर्निंग बॉडी बैठक में दिल्ली से जोड़ने की स्वीकृति प्रदान कर दी है। यह एलिविटेड रोड मयूर विहार फ्लाईओवर से प्रारंभ होकर नोएडा सेक्टर-14,15,16 एवं 18 से होते हुए महामाया फ्लाईओवर के पास नोएडा-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेस-वे पर समाप्त होगा।

इस परियोजना में कुल 650 करोड़ रूपये की लागत आएगी। लागत की 50 प्रतिशत धनराशि नोएडा प्राधिकरण व 50 प्रतिशत उत्तर प्रदेश सरकार वहन करेगी। परियोजना की कुल लंबाई साढ़े 5 किलोमीटर होगी और इसे जनवरी 2019 में शुरू कर दिया जाएगा। जिसे पूरा होने में करीब 42 माह का समय लगेगा

Aqua Line Metro Inspection Ended On A Positive Note, Likely To Be Inaugurated On 25 December

Noida, (14/12/2018): The Aqua Line Metro inspection came to an end.

The inspection is done by the Commissioner of Metro Rail Safety (CMRS) team and ended on a positive note. The final test includes tests for speed, emergency break test and the automatic protection system on the entire aqua line.

The CMRS, however, pointed out many incomplete works like under construction road, dividers, parking spaces and the manholes which will be completed by Noida Authority which requires them to work faster because of the proposed launch date of the Aqua Line metro.

The metro is proposed to be inaugurated on December 25 as the “Good Governance Day”.

On the final day, the CMRS tested the full rolling stock trial, ATP (automatic train protection0 run test and emergency breaking test along with speed test from sector 51 station to depot station.

An official said “the train ran up to a speed of 90 kmph and covered the 29.7 km track in 40 minutes.

A report will be shared with the Ministry of Railways and the Ministry of Housing and Urban Affairs (MHUA). The metro will be ready for running once the CMRS gives its report stating that the metro can be commissioned. Either the government can share a date or we can ourselves invite the government to inaugurate the line. We will wait for the report. PD Upadhyay, NMRC Executive Director, said.

RWA-BCD, Sector 48 – जैविक खाद बनाने का आधुनिक संयंत्र

पवन गोयल
हमें आपको यह सूचित करते हुए अत्यंत हर्ष का अनुभव हो रहा है कि अपने शहर को स्वच्छ एवं सुंदर बनाने और पर्यावरण की सुरक्षा के लिए हमारे सैक्टर 48 में नव पंजीकृत RWA-BCD, Sector 48 द्वारा सैक्टर के घरों की रसोइयों से निकलने वाले कूड़े, वृक्षों से झड़ने वाले पत्तों और उनकी छंटाई के बाद निकलने वाले हरे पत्तों और शाखाओं से जैविक खाद बनाने का आधुनिक संयंत्र नोएडा प्राधिकरण के सहयोग से लगाया जा रहा है। जिसका शिलान्यास स्टेप फाउंडेशन स्कूल के सामने दिनांक 14 दिसंबर प्रातः 10 बजे किया जाएगा। इस अवसर पर जनप्रतिनिधियों के साथ साथ फोनरवा के अधिकारी, प्राधिकरण के अधिकारी और सैक्टर वासी भी उपस्थित रहेंगे। सभी पत्रकार बंधुओं से निवेदन है कि इस अवसर पर उपस्थित हों और इसके समाचार के प्रचार और प्रसार द्वारा अन्य शहर वासियों को भी प्रेरित करें।