ATTACHOWK.COM

Noida news, events, developments, issues, comments on issues

जब बहरुपियों के साथ बच्चे भी बन गये बहरुपि ये

जब बहरुपियों के साथ बच्चे भी बन गये बहरुपिये
बहरुपिया उत्सव में बच्चों की थियेटर वर्कशॉप

नई दिल्ली। इंदिरा गांधी राष्ट्रीय कला केन्द्र में आयोजित बहुरुपिया उत्सव में उड़ान— द सेंटर आफ थियेटर आर्ट एण्ड चाइल्ड डवलपमेंट द्वारा एक बाल रंगमंच शिविर का आयोजन किया गया। इस शिविर में बच्चों ने भी बहुरुपियों के संग जहां विभिन्न पात्रों के अभिनय को सीखा वहीं खेल खेल में बच्चे खुद भी बहुरुपिये बन गये।
आईजीएनसीए परिसर में उड़ान— द सेंटर आफ थियेटर आर्ट एण्ड चाइल्ड डवलपमेंट द्वारा एक बाल रंगमंच प्रशिक्षण कार्यशाला में बच्चों ने ना केवल खूब मनोरंज किया वहं अभिनय की बारीकियां भी सीखी। उड़ान के निदेशक संजय टुटेजा के निर्देशन में आयोजित कार्यशाला में देश के विभिन्न राज्यों से आये लगभग पांच दर्जन से अधिक बहुरुपियों ने बच्चों के बीच आकर बच्चों के साथ जहां मौज मस्ती की वहीं अपने पात्रों में खो जाने की विधि से बच्चों को अवगत कराया।
कार्यशाला में बच्चों ने सभी बहुरुपियों के साथ उनका अभिनय किया और बहुरुपियों से कई सवाल भी पूछे। कार्यशाला में शामिल आये बच्चों हिमांशी, जलज, आरून व अदिति ने बताया कि इस कार्यशाला में आकर उन्होंने बहुरुपिया कला के बारे में जाना। ऋषि, विवेक, आयान, आर्यन गुप्ता गौरव व गुन्तास का कहना था कि इस कार्यशाला में आकर उन्हें खूब मौज मस्ती करने का मौका मिला। लक्ष्य, नियति, मनन, कनिष्क व कनिष्का का कहना था कि बहुरुपियों के साथ उनका अभिनय करके उन्हें खूब मजा आया। पार्थ, वंश, लविश,यश,दिशा व नेत्रा ने कहा कि उन्होंने इस तरह की कार्यशाला में इससे पहले कभी हिस्सा नहीं लिया। हेमंत, शनाया, भूमिका, अतिश्य, आरम्भ, अनिरूद्ध, कार्तिक, ईशान, इरेश,सिद्धि, मानस,मनस्वि,प्रबुद्ध व प्रकृति ने कहा कि इस कार्यशाला में बहुरुपियों के साथ अभिनय करना अपने आप में नया अनुभव था।

विरासत क्विज प्रतियोगिता में अदिति प्रथम

नई दिल्ली। इंदिरा गांधी राष्ट्रीय कला केन्द्र तथा उड़ान द सेंटर आफ थियेटर आर्ट एण्ड चाइल्ड डवलपमेंट द्वारा भारत की विरासत पर आयोजित एक क्विज प्रतियोगिता में माउंट आबू पब्लिक स्कूल की छात्रा अदिति ने प्रथम स्थान प्राप्त किया।
आईजीएनसीए तथा उड़ान—द सेंटर आफ थियेटर आर्ट एण्ड चाइल्ड डवलपमेंट द्वारा भारत की विरासत के प्रति छात्र छात्राओं में जागरुकता उत्पन्न करने के लिये एक आज आईजीएनसीए सभागार में एक भारतीय विरासत क्विज प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। इस अवसर पर आईजीएनसीए कलादर्शन विभाग के विभागाध्यक्ष अचल पण्डया मुख्य अतिथि रहे। उड़ान के निदेशक संजय टुटेजा व परख के संयोजन में आयोजित प्रतियोगिता में भारतीय विरासत व भारत की प्रख्यात एलोरा गुुफाओं में बनाये गये कैलास मंदिर से संबधित सवाल पूछे गये। इस प्रतियोगिता में माउंट आबू पब्लिक स्कूल की छात्रा अदिति सिंह ने प्रथम स्थान प्राप्त किया जबकि दूसरा स्थान नियति तथा तीसरा स्थान अदिति पाठक ने प्राप्त किया। इसके अलावा विवेक भोला तथा कनिष्क खण्डेलवाल को सांत्वना पुरुस्कार मिला।
मुख्य अतिथि अचल पण्डया ने विजेता छात्र छात्राओं को स्मृतिचिहन प्रदान किये। इस अवसर पर अपने संबोधन में उन्होंने बच्चों से अपनी संस्कृति व विरासत के बारे में जानकारी हासिल करने का आहवान किया।

नॉएडा : मारवाड़ी युवा मंच ने चलाया स्वच्छता अभियान , 500 डस्टबीन किए वितरण

नॉएडा : प्रधानमंत्री मोदी के स्वछता अभियान से प्रभावित होकर मारवाड़ी युवा मंच ने सेक्टर 18 स्थित गार्डन गैलेरिया के प्रांगण में अनमोल बिस्किट व् एंटरटेनमेंट सिटी के सहयोग से फ्री कार डस्टबिन का वितरण किया गया। साथ ही स्वछता को लेकर लोगो को जागरूक भी किया गया।

इस अवसर पर मारवाड़ी युवा मंच नॉएडा के युवा अध्यक्ष कृष्णा ने बताया कि अक्सर हम लोगों ने देखा है कि कार में बैठे लोग भी कभी-कभी अपना कूड़ा सड़क पर ही फेंक देते हैं. जो कि बहुत गलत है। समयानुसार उसे उचित स्थान पर फेंका जाए तो इससे अच्छा क्या हो सकता है.

आज हमारी संस्था मारवाड़ी युवा मंच ने विशेष रूप से कार के लिए कूड़ा दान बनवाया है, जिसका निःशुल्क वितरण किया जा रहा है। साथ ही लगभग 500 डस्टबिन वितरित किये गए। संस्था का आने वाले समय शहर के अंदर 3000 डस्टबिन बांटने का लक्ष्य है।

इस मोके पर अनमोल बिस्किट चैयरमेन व् एंटरटेनमेंट के सिटी के वरिष्ठ अधिकारियो के साथ संस्था सेकड़ो कार्यकर्त्ता मौजूद थे।

नॉएडा : लूट के इरादे से बदमाशों ने बुजर्ग क ो मारी गोली , अस्पताल में बुजर्ग की मौत

नॉएडा : आज गड़ी चौखंटी गांव में एक बुजर्ग की हत्या से गांव में कोहराम मच गया ,जहा लूट के इरादे से आये बदमाशों ने 69 साल के बुजर्ग को गोली मार दी ,घायल को तुरंत नजदीक के अस्पातल में भर्ती कराया गया , जहा इलाज के दौरान बुजर्ग की मृत्य हो गयी। मोके पर पहुंची पुलिस जाँच में जुटी है। पुलिस जानकारी के अनुसार थाना फेस थ्री के अंतर्गत गड़ी चौखंटी गांव में लूट के इरादे से बदमाशों ने 69 साल के बुजर्ग को गोली मार दी। और मोके से फरार हो गए। जहा इलाज के दौरान उसकी मौत हो गयी। मोके पर पुलिस ने पहुँचकर मामले की छानबीन में लग गयी है और थाने बदमाशों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया है साथ ही बदमाशों की तलाश में दबिश दी जा रही है। और गांव में पुलिस की टीम को भेज दिया है ताकि शांति व्यवस्था बानी रहे ,

No More Rape Flash Mob at TGIP brings out the pain and agony of the Rape Victims

The Great India Place (TGIP) Mall also known as one of the prime locations in Delhi-NCR for all the fun, food and leisure needs in India recently stood witness to a heartrending ‘NO More Rape’ Flash Mob by Being Social, an NGO. Hundreds of participants from all age groups participated in the flash mob that was aimed at creating awareness and alertness relating to social problems like rape and eve teasing. Unlike, the common flash mobs, this one was focused at urging the females to speak up, stay strong and take instant action against any such incidents. The volunteers from the NGO along with Kumar Gaurav (President, Being Social) and Praveen Prem Shukla (General Secretary, Being Social) were there motivating crowds to come together and pledge to stop such incidents and make the nation’s women feel safe and secure in every part of the country.

Keeping aside all their weekly tensions and stress, people came on the Being Social’s desk registered themselves, pledged for creating a rape & eve teasing free nation and voluntarily started becoming a part of the mob. The flash-mob which was started with a very few participants started increasing rapidly and within the 20-minutes of mob performance, there were over hundreds in the mall that supported the noble cause.

Talking about the flash mob, Mahim Singh, Mall Head, The Great India Place said, In the atmosphere of complete family fun, located in a prime location of Delhi & NCR region, TGIP Mall is a perfect destination for the families to enjoy, relax and get refreshed, away from the city’s chaos. But along with delivering the best to our customers’ shopping, leisure and entertainment needs, we also take working for the upliftment of our society as our due priority. By sharing our mall space for social cause events like NO More Rape Flash Mob by Being Social we do our bit in creating a safe, secure and better society for all.”

Sharing his opinions on women safety & security in the nation, Kumar Gaurav, President of Being Social said, “With rising rape and eve-teasing incidents in the nation, it’s high time for all to come together and help the women gain confidence to speak up and fight against such horrible people who indulge in such heinous activities. We can’t commit a safe and secure place for the females of the country unless and until we support them in speaking up against any harassment faced by them. And, NO More Rape Flash Mob was our one such initiative to seek support in helping the women voice their problems freely in the society.”

cleardot.gif

सेक्टर 8 में विश्व हिंदू परिषद कार्यकर्ता अजय को गोली मारी।

सेक्टर 8 में विश्व हिंदू परिषद कार्यकर्ता अजय को गोली मारी।जिससे उसकी मौत हो गयी।क्षेत्र में भारी तनाव।थाना सेक्टर 20 और कैलाश अस्पताल के बाहर भारी संख्या में पुलिस फोर्स तैनात।

नॉएडा : दबंग नेता के रेस्टोरेंट पर आभकारी व िभाग का छापा , लाखो की शराब बरामद

नॉएडा : पुलिस प्रशासन ने शहर में चल रहे अवैध शराब के खिलाफ अभियान चलाया हुआ है जिसमे अब तक दर्जनों अवैध के शराब के अड्डों पर छापेमारी शराब तस्करो के साथ लाखो की शराब को पकड़ा है।
बीती रात भी आबकारी विभाग की टीम ने सेक्टर 122 में रेस्टोरेंट पर छापेमारी की ,जिसमे भारी मात्रा में शराब बरामद की और साथ ही रेस्टोरेंट के मालिक पिंटू यादव को भी मोके से गिरफ्तार किया। विभाग ने आरोपी के खिलाफ थाना फेस थ्री में केस दर्ज करा दिया है।
पुलिस जानकारी के अनुसार सेक्टर-122 में ठेकों के पास बने एक रेस्टोरेंट में छापेमारी की। यहां से विभाग ने 26 पव्वे शराब और दो कैन बीयर की मौके से बरामद की है। ये रेस्टोरेंट किसी सपा पार्टी के गद्दावर नेता के बही का था टीटू यादव के नाम नेता ने अपने क्षेत्र में अपने साथ खिंचे अखिलेश यादव के फोटो दिखाकर प्रभाव जमा रखा था। आबकारी विभाग की टीम की छापेमारी के बाद अपने भाई को छुडवाने के लिए अपने राजनीतिक रसूख का इस्तेमाल कर रहा था। इसको को लेकर लाखों रुपये की डील भी की गई थी।

लेकिन आबकारी विभाग की सख्ती के चलते पुलिस भी कुछ नहीं कर सकी। इसके बाद आरोपी को न्यायालय में पेश कर जेल भेज दिया गया।

नॉएडा : आधुनिक युग में पत्रकारिता के बदलते विमर्श, चौथे स्तम्भ की भूमिका में एक पाठक और प त्रकार के पर्याय

पत्रकारिता को देश का चौथा स्तम्भ कहा जाता है , वो स्तम्भ जिस पर देश की नींव टिकी होती है। यह उन चार स्तम्भों में से है जिसे देश की जनता की आवाज माना जाता है और वैचारिक रूप से जनता का इनपर विश्वास होता है। बदलते समय के साथ पत्रकारिता में पत्रकारों की भूमिका पहले से ज्यादा संवेदनशील होती जा रही है। समय की मांग है कि इस पेशे में आपके द्वारा किया गया कार्य किसी को निजी तौर पर निराश ना करे , समय के साथ आज प्रिटं , इलेक्ट्रॉनिक मीडया के साथ साथ डिजिटल मीडिया ने अपनी महत्वपूर्ण जगह बना ली है।

पत्रकारिता के सदैव ही दो महत्वपूर्ण अंग होते है , एक पत्रकार व् दूसरा पाठक। लेकिन इसमें पत्रकार की भूमिका खास होती है , जो अपनी आँख कान खोल खबरों के प्रति वफ़ादारी व् ईमानदारी से चयन कर ,उस खबर को समाज व् देश के प्रति समर्पित करता है। पत्रकार समाज का आईना होता है और पत्रकार की ताकत उसकी कलम में होती है। पाठक इस संदर्भ में अपनी राय और विचारों के साथ एक पत्रकार को सही राह पर चलने हेतु उत्साहित करता है।

पत्रकार की पत्रकारिता उसकी निडरता व् दिलेरी पर निर्भर करती है , क्योकि बिना निडरता से आप सच्चाई से लिख नहीं सकते है , और पत्रकारिता की पहचान सच्चाई से होती है।

पत्रकारिता एक चुनौतीभरा व् जिम्मेदारी वाला कार्य है जिसमे एक गलत खबर, पत्रकार व् उसके संस्थान को भारी नुकसान पहुंचा सकती है और हर पत्रकार को अपनी सीमा का ध्यान रखना होता है। बेहद जरूरी है की पत्रकार को अपनी व्यावसायिक निष्ठा और गोपोनियता का अनुपालन करना चाहिए और साथ ही पत्रकार को अपने पद व् पहुंच का उपयोग किसी गैर संस्था के साथ नहीं करना चाहिए ।

पत्रकार को कभी भी किसी गलत खबर को लालच व् पेड न्यूज़ के तरीके से नहीं छापना चाहिए और पत्रकारिता की मूल भावना के अंतर्गत कभी किसी भी खबर के साथ खिलवाड़ नहीं करना चाहिए जो जैसी खबर है उसको वैसी ही दिखाना चाहिए क्योंकि एक पत्रकार का मकसद किसी को ठेस पहुंचना नहीं होना चाहिए ।

यह बेहद जरूरी है की पत्रकार को हर समय न्यायनिष्ठ व् निष्पक्ष होना चाहिए , और खबर की पूरी जानकारी उसके पास होनी चाहिए । किसी के निजी दुःख व् समाज ,धर्म , अपराध जगत से जुडी खबरों को पूरी जानकारी होने बाद ही पत्रकार प्रिंट ,इलेक्ट्रॉनिक मीडिया व् डिजिटल मीडिया में प्रकाशित करे, क्योकि जरा सी गलती आपकी पत्रकारिता को ठेस पहुंचा सकती है।

इन सबके साथ ही पत्रकार को समाज के सभी वर्गों के साथ तालमेल मिला कर चलना चाहिए। खबरों को गतिपूर्ण तरीके से एकत्रित करना और अपने जिम्मेदारी का पूर्ण पालन सुनिश्चित करना दैनिक रूप से अनिवार्य है।

बढ़ती प्रतिस्पर्धा के साथ बदलाव की जरूरत

बदलते वक्त के साथ ही पत्रकारिता बेहद प्रतिस्पर्धापूर्ण होती जा रही हैं जहाँ प्रतिदिन नए विचारों को सीखना और नए ज्ञानवर्धन स्त्रोतों का इस्तेमाल करना बढ़ता जा रहा है। आज समाज और संस्थाओं को ऐसी पत्रकारों की जरूरत है जो समाज के विभिन्न वर्गों से तालमेल स्थापित कर उनकी समस्याओं को रेखांकित कर सकें।

पत्रकार में तर्क करने की छमता और शैली बेहद आवश्यक और साथ ही यह ज्ञान भी जरूरी है की कौन सी बात किस ढंग से कहाँ पर कही जाए। आम जनता, अधिकारियों, जनप्रतिनिधियों से लगातार तालमेल मिला कर चलने वाले इस कार्यक्षेत्र में बेहद आवश्यक है की एक पत्रकार की भाषा शैली, बोलचाल और बातों को रखने का ढंग उत्कृष्ट हो।

इन सबके बीच यह भी कहना आवश्यक है की वैसे तो पत्रकार देश व् समाज का आईना होता हैं लेकिन पत्रकार के अंदर कुछ ऐसे अवगुण होते है या समय के साथ उत्पन्न हो जाते है , जिसकी वजह से पत्रकरिता क्षेत्र को कभी कभी शर्म से झुकना पड़ता है । आज के दौर में यह बेहद जरूरी है की कभी पत्रकार को खबरों को बढ़ा चढ़ा नहीं छापनी चाहिए , इससे समाज की एकता और समरसता को खतरा हो सकता है। सबसे महत्वपूर्ण यह है कि पत्रकारों को पेड न्यूज़ खबरों से बचना चाहिए । पत्रकारिता में व्यावसायिक जरूरत और वित्तीय जरूरतों के लिए प्रचार, विज्ञापन और स्पॉन्सर्ड न्यूज़ भले ही आज की जरूरत और सच्चाई है परंतु जरूरी हैं की ऐसी खबरें सदैव संतुलित हों और किसी को नुकसान पहुंचाने का कार्य न करें।

पत्रकारिता के क्षेत्र में आज का कड़वा सच

यह कहना अतिश्योक्ति ना होगी की आज के समय में पत्रकरिता में भी काफी बदलाव आ चूका है और अनेकों माध्यमों में पत्रकारिता पूरी तरह से पूंजीवाद के आगोश में आ चूका है जिसमें खबरों पर बाजार और सत्तानिष्ठ दृष्टिकोण हावी होता जा रहा है । इसके लिए कई कारणों में से एक यह भी है कि एक पाठक के रूप में हम त्वरित और सम्पूर्ण तथ्यपूर्ण खबरें तो पढ़ना चाहते हैं पर ऐसी पहल को तन-मन-धन से सहयोग करने में पीछे रह जाते हैं। खबरों को पूंजीवाद से मुक्त रखने के लिए समाज को आगे बढ़कर सहयोग करना चाहिए। पाश्चात्य शैली की सब्सक्रिप्शन बेस्ड न्यूज़ शैली भारत में लोगों की अत्याधिक रुचि ना होने के साथ अत्यंत सफल नहीं हो सकी। ऐसे में यह आज के युग का कड़वा सच है की लगभग सभी पत्रकारिता संस्थान पूर्णतः विज्ञापन और विज्ञापनदाताओं पर निर्भर हो कर रह गए है। इस पद्धति में बदलाव भी एक जागरूक पाठक ही ला सकता है।

पत्रकारों पर संकट

पत्रकारिता में बढ़ती प्रतिस्पर्धा के कारण अब इस जगत में समय के साथ कदम मिला कर ना चल पाने और सीखने से परहेज करने वाले पत्रकारों पर नया संकट आता जा रहा है। पत्रकारिता के बदलते स्वरूप जिसमे सोशल मीडिया से खबरें तुरंत तेजी से प्रसारित होती हैं वहाँ गतिशीलता से काम ना कर सकने वाले लोगों को अनेक तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। समस्या तब और गंभीर हो जाती है जब एक पत्रकार के रूप में हम अपनी गलतियों को सुधारने की बजाए उन्हें ढाँकने के लिए कुतर्क का सहारा लेने लगते हैं। आज जरूरी है कि पत्रकार ना सिर्फ ईमानदारी व् निष्ठावान हो बल्कि अपने कार्य में दक्षता भी रखता हो।

जब से डिजिटल मीडिया ने अपने कदम इस क्षेत्र में पसारे है तब से स्थिति बेहद बदल गई है । प्रिटं, इलेक्ट्रॉनिक और डिजिटल पत्रकारिता के संस्थान काफी बढ़ गए है और इस बढ़ी हुई प्रतिस्पर्धा में पत्रकारों की जिम्मेदारियों में भी इजाफ़ा हुआ है। आज के दौर में पत्रकारों को अपने हक़ के साथ- साथ अपनी जिम्मेदारियों का भी पूरा ज्ञान होना बेहद आवश्यक है। पत्रकार को अपनी छमता का मूल्यांकन स्वयं करना चाहिए। खबरों पर उसकी पकड़, प्रतिदिन उसके द्वारा लिखी जा रही खबरों की महत्ता और उससे उसके संस्थान से पाठक के रूप में जुड़ते हुए लोग ही एक पत्रकार की मेहनत का मूल फल हैं। सीखने से परहेज करने वाले पत्रकारों के लिए अब रास्ते बेहद मुश्किल होते जा रहें है। ऐसे में नए बेहतर अवसरों और पारश्रमिक में वृद्धि के लिए समय के साथ सीखतें रहना और अपनी दक्षता का बेहतर प्रदर्शन करना बेहद जरूरी हो जाता है।

चकाचौंध भरी नजर आती टीवी स्टूडियो की दुनिया के भी कई काले सच है। प्रतिस्पर्धा के इस दौर में कई बार संस्थानों के पास अपने खर्चे पुरे करने के लिए पैसे नहीं होते और कई बड़े संस्थानों तक द्वारा बड़ी मात्रा में एक साथ कई लोगों की छंटनी कर दी जाती है। अभी पिछले ही सप्ताह देश की एक अग्रणी समाचार संस्था ने अज्ञात कारणों से लगभग तीन सौ से ज्यादा पत्रकारों को एक साथ ही सेवा विरक्त कर दिया। इसलिए ऐसी दौर में एक पत्रकार को अपना स्वयं-मूल्यांकन करना और भी जरूरी हो जाता है।

ऐसी विचित्र स्थिति में यह भी बेहद आवश्यक हो जाता है कि एक पाठक और पत्रकार के रूप में हम अपनी जिम्मेदारियों को ना सिर्फ समझें बल्कि उन्हें पुरा करने के लिए पूर्ण ततपरता के साथ अग्रसर रहें।

अंत में एक बार पुनः संस्मरण करते हैं वो जो सदियों पूर्व संत कबीर ने कहा था :

ऐसी बानी बोलिए, मन का आपा खोय |
औरन को शीतल करै, आपहु शीतल होय ||

फ्रीहोल्ड कराने को लेकर प्राधिकरण के खिला फ नोएडा के सामाजिक संगठनों ने निकाला विरोध म ार्च

फ़्रीहोल्ड के मुद्दे पर नोएडा प्राधिकरण के साथ समाजिक संगठनों की वार्ता फेल होने पर आज नोएडा के सारे सामाजिक संगठनों के लोगों ने विरोध मार्च निकाला ।

आपको बता दे की नोएडा के सभी व्यापारी , निवासी हज़ारों की संख्या में नोएडा संदीप पेपर मील पर पहुँचे , जहाँ से विरोध मार्च की शुरुआत हुई ।

फ्री होल्ड की मांग को लेकर सड़क पर उतरे नोएड ा के संघठन

फ्री होल्ड नोएडा और पार्किंग व्यवस्था में बदलाव की मांग को लेकर बड़ी संख्या में नोएडा के संगठन अब सड़कों पर उतर आए हैं। एनईए के कई सदस्य इस दौरान तख्तियाँ लेकर अपनी माँगों को जोर शोर से उठाते हुए नज़र आ रहे हैं।

नेशनल रोप स्किपिंग प्रतियोगिता में नोएडा का नाम किया रोशन , प्रतिभागी जैद ने जीता सिल्व र मेडल

दिल्ली के इंदिरा गांधी स्टेडियम में चल रही आल इंडिया इंटर स्कूल रोप स्किपिंग प्रतियोगिता में नोएडा के रहने वाले 9 साल जैद ने अंडर इलेवन केटेगिरी में हिस्सा लेकर सिल्वर मेडल जीता है। इस प्रतियोगिता में दिल्ली प्रथम स्थान पर रही है वही दूसरे स्थान पर महाराष्ट्र रही है इस प्रतियोगिता में दिल्ली, महाराष्ट्र, पंजाब, हरियाणा, और उत्तर प्रदेश समेत 9 राज्यो ने हिस्सा लिया।

आपको बता दे कि मात्र तीन महीने के अभ्यास और कोच की मेहनत से 9 साल के जैद ने अंडर इलेवन केटेगिरी में हिस्सा लेकर सिल्वर मेडल जीता है। नोएडा के रहने वाले जैद एवरग्रीन पब्लिक स्कूल दिल्ली के 3rd क्लास के छात्र है।

वहीं ज़ैद की कोच पूजा तिवारी का कहना है कि एवर ग्रीन स्कूल के स्टूडेंट्स अच्छा गेम खेलते है लेकिन ज़ैद उनके लिए बिलकुल नया है लेकिन फिर भी बहुत कम समय मे बड़ा मुकाम हासिल किया है मुझे इस पर गर्व है।

वही दूसरी तरफ ज़ैद के परिजनों का कहना है अभी बहुत छोटा है लेकिन बेहद मेहनती है। इस कम्पटीशन के लिए बहुत मेहनत कर पसीना बहाया है और उसका फल भी मिला है हम बहुत खुश है और आगे मेहनत जारी रहेगी। ज़ैद का कहना है कि अभी तो शुरुआत है , मैं आगे और भी अच्छा कर देश का नाम रोशन करूँगा।