Noida Latest News

नॉएडा अथॉरिटी ने NGT के नियमो का उल्लंघन करन े पर 18 बिल्डर्स को नोटिस जारी, 2 बिल्डर्स पर 50 ह ज़ार का जुर्माना.

नॉएडा अथॉरिटी ने NGT के नियमो का उल्लंघन करने पर 18 बिल्डर्स को नोटिस जारी, 2 बिल्डर्स पर 50 हज़ार का जुर्माना.

GAUTAM BUDH NAGAR SCHOOLS CLOSED OWING TO POLLUTION

जिलाधिकारी नागेंद्र प्रसाद सिंह के द्वारा फॉक को दृष्टिगत रखते हुए जनपद के समस्त स्कूलों में कक्षा नर्सरी से कक्षा 2 तक के सभी बच्चों की आगामी 2 दिनों के लिए अवकाश घोषित कर दिया गया है कक्षा 3 से कक्षा 12 तक के बच्चों के लिए सभी स्कूल प्रातः 9:00 बजे से दोपहर 1:00 बजे तक संचालित रहेंगे और सभी स्कूलों में अध्यापक गण एवं प्रधानचार्य यह सुनिश्चित करेंगे कि सभी बच्चों को क्लास रूम में रखा जाए और खेल की कोई एक्टिविटी गतिविधियां ने कराई जाए। DIO SHRI RAKESH KR CHAUHAN

बढ़ते प्रदूषण को लेकर नोएडा प्राधिकरण ने नोएडा में पानी का करवाया छिड़काव

NOIDA ROHIT SHARMA

बढ़ते प्रदूषण को लेकर एक तरफ जहां सभी लोग चिंता में बैठे हुए हैं वहीं नोएडा प्राधिकरण में बढ़ते प्रदूषण को लेकर कमर कसनी शुरू कर दी है आपको बता दें कि नोएडा प्राधिकरण द्वारा नोएडा की सड़कों पर पानी डालने का काम आज सुबह से शुरू कर दिया गया है नोएडा में अधिकतर रास्ते चिन्हित करें गए जहां पर धूल मिट्टी जैसे रास्ते हो रहे हैं उन सभी जगह पर नोएडा प्राधिकरण के द्वारा पानी डाला जाएगा यहां पर धूल उड़ती है नोएडा प्राधिकरण के डीसीओ सोम्य श्रीवास्तव ने बताया नोएडा प्राधिकरण के अधिकारियों द्वारा उन सेक्टरों को चिन्हित किया गया है जहां पर धूल भरा कार्य किया जा रहा है वही बिल्डर के बिल्डरों को भी हिदायत दी गई है कि आपके अगर कंस्ट्रक्शन साइड के आसपास सड़कों पर धूल जमा है तो उन जगह पर सुबह शाम पानी का छिड़काव करवाएं जिससे वहां से निकलने वाले लोगों को धूल भरी आंधी का सामना ना करना पड़े वही लगातार बढ़ रहे धूल के कारण में एक धुंद बनती जा रही है जिसकी वजह से नोएडा में रहने वालो को घूमने में काफी तकलीफों का सामना करना पड़ रहा है नोएडा प्राधिकरण की तरफ से यह पहल की गई है कि आज सड़कों पर साफ-सफाई रखी जाए और जो परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है उस में कुछ कमी है लेकिन अब देखना यह होगा नोएडा प्राधिकरण का अभियान कितने दिन तक चलता है

EFFECTIVE SOLID WASTE MANAGEMENT CAN REDUCE POLLUTION

By CMA M C BHARDWAJ

Noida : Effective Solid waste management is only the solution which is in our hand by creating awareness among the mass, taking strong cooperation of Noida Authority which needs to play a vital role. I did some work on this but seems NA has some other priorities now a days. At a time when no one wants the Dumpyard near to their place, decentralised waste management is only the key solution. I have seen the Drains where everyone putting their residues. Specufically , the residents among which this drains are passing. Very painful to see when I cross the drain bridge between sec 34 and village morna, villagers are dumping their total garbage in the drain. In absence of high wall , domestic waste is thrown there. All vendors, hawkers, weekly markets wastes, fish and meet vendors are throwing there wastes in these drains. Strong will power of NA and awareness among the residents only the best solution. Banning of crops and construction will not do much because it is not possible .

CROP BURNING LEADING TO SMOG SAYS NOIDA RESIDENTS

GOPAL THAKUR

When this situation will get over. I think wind and rain can only remove such situation. What permanent solution i see are below.
1. Ban crackers completely
2. Control on builders and infra co.
3. Smoke treatment plant for factories releasing smoke.
4. Ban burning of crops.
5. Removal of old vehicles from road.
6. Ban entry of trucks who have no pollution certificate.
7. Strict norms for vehicle not having pollution certificate.

ANUJ JAIN

But do we have any alternative to these problems, it’s easy to say control on building and infrastructure companies, ban burning of crops and everything it’s valid what you are saying, but also come up with a solution, without a solution, raising these issues is pointless

DIWAKAR SINGH

Crop burning is a practice in North specially in Punjab and Haryana, you may be knowing that this is not in other places of country…. Those farmers can follow the trend beings practiced in the rest of country…. In order to save few bucks, it is continuing…..

VINOD SHARMA

सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट पर ठोस काम किया जाये, ड्रेन में बह रहे कचरे खास तौर पर शाहदरा ड्रेन को लेकर दिल्ली सरकार से प्रोटेस्ट दर्ज किया जाये, गाजीपुर कचरे में लगी आग से भी हवा हो रही जहरीली

उप राष्ट्रपति ने प्रदूषण पर जताई चिंता नै सकॉम के अधिकारियों से पूछा प्रदूषण नियंत्रण का उपाय

उप राष्ट्रपति ने प्रदूषण पर जताई चिंता नैसकॉम के अधिकारियों से पूछा प्रदूषण नियंत्रण का उपाय
नैसकॉम चेयरमैन ने तकनीक से समाधान की उम्मीद जताई
राजधानी समेत एनसीआर में बढ़े प्रदूषण ने उप राष्ट्रपति हामिद अंसारी की चिंता बढ़ा दी है। शनिवार को नोएडा में नैसकॉम मुख्यालय का उद्घाटन करने आए उप राष्ट्रपति ने नैसकॉम के अधिकारियों से इसका कारगर समाधान पूछा। इस पर नैसकॉम चेयरमैन सीपी गुरनानी ने कहा कि तकनीक से ही इसका कारगर उपाय तलाशा जा सकता है।
नोएडा समेत एनसीआर के अन्य शहरों में इन दिनों प्रदूषण स्तर खतरनाक स्तर पर है। शनिवार को प्रदूषण का स्तर इतना ज्यादा था कि दोपहर 12 बजे उप राष्ट्रपति हामिद अंसारी जब नोएडा में नैसकॉम के मुख्यालय का उद्घाटन करने पहुंचे तो 100 मीटर तक भी स्पष्ट दिखाई्र नहीं दे रहा था। प्रदूषण की वजह से छठ के मौके पर शनिवार को पूरे दिन लोगों को सूर्य के दर्शन नहीं हुए।
उप राष्ट्रपति हामिद अंसानी जब नैसकॉम मुख्यालय पहुंचे तो उन्होंने धुंध को देखते हुए, चेयरमैन सीपी गुरनानी समेत अन्य अधिकारियों से पूछा कि आप लोग काफी स्मार्ट हैं। क्या आप लोगों के पास इस प्रदूषण से निपटने का ठोस उपाय है। उप राष्ट्रपति ने कहा कि प्रदूषण की वजह से एनसीआर के स्कूलों में अवकाश और मरीजों की बढ़ती संख्या बहुत गंभीर मामला है।
नैसकॉम चेयरमैन सीपी गुरनानी ने कहा कि उप राष्ट्रपति का सवाल बहुत आसान है, लेकिन इसका उत्तर बहुत कठिन है। दरअसल हम लोगों को अभी समस्या की मूल वजह ही पता नहीं है। हालांकि उन्होंने उम्मीद जताई कि बेहतर तकनीक से इसका समाधान निकाला जा सकता है। उन्होंने कहा कि विकास के लिए बेहतर पर्यावरण बहुत जरूरी है।