Daily Archive: March 30, 2017

एमिटी में ˝नेशनल लीगल इन्साइट थीयेटर प्रत ियोगिता – तमसील 2017 का आयोजन

एमिटी लाॅ स्कूल नोएडा द्वारा ˝ द्वितीय नेशनल लीगल इन्साइट थीयेटर प्रतियोगिता – तमसील 2017 का आयोजन एमिटी विश्वविधालय नोएडा सैक्टर 125 में किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ नाट्य उस्ताद के क्रियेटिव हेड श्री माधव शर्मा , ए एस प्रोडक्शन की कास्टिंग निदेशक

सुश्री अंषी शर्मा , अभिनेत्री श्रीमती पूनम माथुर, एमिटी लाॅ स्कूल के एक्टींग चेयरमैन डा डी के बंदोपाध्याय, एमिटी लाॅ स्कूल सेंटर टू के एडिशनल निदेशक डा आदित्य तोमर ने पारंपरिक दीप जलाकर किया। इस प्रतियोगिता में 5 टीमों ने हिस्सा लिया जिसमें से जाकिर हुसैन काॅलेज, मोतीलाल नेहरू काॅलेज, पन्नालाल गिरधरलाल दयानंद एंग्लो वैदिक काॅलेज, राजस्थान के मणिपाल विश्वविधालय , नोएडा के शारदा विश्वविधालय एंव एमिटी विश्वविधालय के छात्रों की टीमों ने हिस्सा लिया।

Multiple Rules For School Buses in Noida, Not All Followed

RTO office in Noida adorns a crisp and clear poster of rules and regulation for School Buses in Noida.

These rules include terms such as every bus must have charts of all the students travelling along with their blood group and route details.
Another important rule is that every bus must have working Fire Extinguisher and a complete first Aid-box.

Size of seats must be less than the normal seat size of adult persons. It also says that there must be a speed-governor in the bus to ensre that it not crosses the speed of 40KM/hr.

There are many reputable schools in Gautam Buddh Nagar district. Thousands of kids travel into school buses every day.

Yet not All buses plying in Noida- Greater Noida follow these rules while carrying students.

सलाम नमस्ते में द वाईस के विजेता ने की शिरक त

इंस्टीट्यूट ऑफ मैंनेजमेंट स्टडीज आईएमएस नोएडा के सामुदायिक रेडियो सलाम नमस्ते 90.4 में “द वॉयस इंडिया सीजन 2” के विजेता फरहान सबीर ने शिरकत की। बृहस्पतिवार को सेक्टर 62 स्थित संस्थान परिसर में फरहान ने संगीत की तौयारी एवं और द वॉयस में सफलता की कहानी पर चर्चा की।

फरहान ने बताया कि मैं खुद को भाग्यशाली मानता हूं कि मेरे पिता तबला वादक है, मामा सारंगी वादक एवं चाचा संगीत नर्देशक हैं, जिसकी वजह से मुझे परिवार में संगीत का माहौल मिला। मैंने पांच वर्षों की उम्र से ही संगीत की शिक्षा लेनी शुरू की। 19 साल की उम्र में मैंने एक लोकल कैफे में गाना शुरू किया। द वॉइस में मेरे मेंटर शान ने मेरी काफी मदद की जिसकी वजह से मैं इस मुकाम को पा सका। उन्होंने बताया कि पिछले कई सारे रियालिटी शो में विफलता के बाद भी मैंने हार नहीं मानी। सतत प्रयत्न रहते हुए मैं इस वार “द वॉयस इंडिया सीजन 2” का विजता बना।

सोशल मीडिया को अपनी सफलता का मित्र बताते हुए फरहान ने बताया कि संगीत में सफलता के लिए जरूरी है कि आप शास्त्रीय संगीत को अपना आधार बनाएं। लगातार परिश्रम से ही आप मुकाम को पा सकते हैं, शॉटकॉट में सफलता चाहने वाले कभी भी शिखर पर नहीं पहूंच सकते। सलाम नमस्ते की स्टेशन हेड बर्षा छबारिया ने बताया कि आज के कार्यक्रम में फरहान ने संगीत में रूचि रखने वाले छात्रों को सफलता के टिप्स दिए। वहीं कार्यक्रम के दौरान फरहान ने अपने मधुर आवाज का भी जादू बिखेरा।

Incomplete Public Convenience Facility Being Used As Private Shelter In Noida

A much needed public convenience facility has remained incomplete since last many years in a posh Noida locality. The matter concerns to Sector 44 residents who are facing great inconvenience because of this issue. The public facility that was intended to benefit the citizens of the sector has become an useless installation in the area.

Instead of its intended public use, it is being used as a private shelter by some unknown people.

Mr. Sudhir Sood, Joint Secretary, Sector-44 RWA spoke with Ten News about the plight of citizens of this sector. He informed that matter has been brought in the notice of concerned authorities but still remains unresolved. The facility has not been made functional even after many years of its partial completion.

At a time when honorable PM Narendra Modi is stressing hard upon open defecation free India it becomes really necessary that public funds meant for such utilities are used sensibly.

Citizens of the society hope that relevant authorities will take necessary action and would ensure the immediate resolution of the matter.