Daily Archive: March 21, 2017

National Seminar on Positive Psychology and Spirituality for Holistic health at Amity University.

एमिटी इंस्टीटयूट आॅफ साइकोलाॅजी एंड एलाइड सांइस द्धारा आयुष मंत्रालय के मोरारजी देसाई नेशनल इंस्टीटयूट आॅफ योगा एंव नई दिल्ली के भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद के सहयोग से ‘‘सम्रग स्वास्थय हेतु सकारात्मक मनोविज्ञान एंव आध्यात्म ’’ विषय पर राष्ट्रीय सम्मेलन का आयोजन एफ टू ब्लाक सभागार, एमिटी विश्वविधालय में किया गया। इस सम्मेलन का शुभारंभ भारत सरकार के खनन मंत्रालय के पूर्व सचिव (रिटार्यड आईएएस) श्री बलविंदर कुमार, पंजाब विश्वविधालय के मनोविज्ञान के प्रोफेसर जितेंद्र मोहन, राजस्थान के माउंट आबु स्थित ग्लोबल हाॅस्पीटल एंड रिर्सच सेंटर की रिजनल डायरेक्टर डा बिन्नी सरीन, आयुष मंत्रालय के मोरारजी देसाई नेशनल इंस्टीटयूट आॅफ योगा के निदेशक डा आई वी बासावाराड्डी, एमिटी विश्वविधालय
की वाइस चांसलर डा (श्रीमती) बलविंदर षुक्ला, एमिटी सांइस टेक्नोलाॅजी इनोवेशन फांउडेषन के अध्यक्ष डा डब्लू सेल्वामूर्ती, एमिटी लाॅ स्कूल के एक्टिंग चेयरमैन डा डी के बंदोपाध्याय एंव एमिटी इंस्टीटयूट आॅफ साइकोलाॅजी एंड एलाइड सांइस की निदेशिका डा आभा सिंह ने पांरपरिक दीप जलाकर किया।

22 और 23 मार्च को बिजली कटौती से नोएड़ा की जनता हो सकती है परेशान

नोएडा में 22 और 23 मार्च को बिजली कटौती से नोएड़ा की जनता परेशान हो सकती है । आपको बता दे की रेलवे लाइन के निर्माण को लेकर बिजली के टावरों को विस्थापित किया जायेगा । जिसको लेकर पीवीवीएनएल सेक्टर 129 स्थित 220 केवीए के करीब दो दर्जन से अधिक सेक्टरों की बिजली बन्द रखेगा। वही पीवीवीएनएल के अधिकारियो का कहना है की सेक्टर 129 बिजली घर से 25 सेक्टरों में बिजली कटौती रहेगी । जोकि 22 और 23 मार्च में सुबह 10 से दोपहर 2 बजे तक बिजली कटौती रहेगी । वही गर्मी बढ़ने के साथ बिजली कटौती से नोएडा के लोगों को परेशानी झेलनी पड़ सकती है । इन सब को देखते हुए हालांकि बिजली विभाग अन्य सबस्टेशनों से बिजली आपूर्ति कराने की वैकल्पिक व्यवस्था कर सकता है । वही आपको बता दे की किन किन सेक्टरों में रह सकती है बिजली कटौती नोएडा के सेक्टर 32, 35, 40, 46, 47, 80, 83, 100, 108, 124, 126, 128, 129, 130, 131, 132, 134, 135, 136, 137, 142, 153 और 168 है जिसमे हो सकती है बिजली की कटौती अब देखने वाली ये बात होगी की कितनी जल्दी बिजली विभाग वैकल्पिक व्यवस्था करके इन सेक्टरों को नो कट जोन बनाएगा ।