Daily Archive: May 23, 2017

10 रुपये अधिक देने से किया मना, व्यक्ति के सा थ की मारपीट

नोएडा में तीन सेल्समैन ने एक 45 साल के व्यक्ति की पिटाई कर दी। बात केवल इतनी सी थी कि उसने देसी शराब की बोतल के लिए 10 रुपए अधिक देने से मना कर दिया। ये घटना शनिवार को सेक्टर 41 अगाहपुर गांव में हुई। नरेश यादव के परिवार वालों ने आरोप लगाया कि सेल्समैन ने शराब की बोतल के लिए 70 रुपए की मांग की जबकि इसकी कीमत केवल 60 रुपए थी, जिससे यादव और सेल्समैन के बीच बहस हुई।
नरेश की पत्नी ममता यादव ने आरोप लगाया कि बाबू जो शराब की दुकान के मैनेजर में से एक था, उसने कोर्ट के बाहर मामले को निपटाने के लिए 5000 रुपए देकर उन पर दबाव बनाना चाहा। पुलिस ने इस मामले में 26 साल के मोनू कसाना को हिरासत में ले लिया है बाकी आरोपियों की खोज जारी है।
पुलिस ने अपराध के लिए अज्ञात व्यक्तियों के खिलाफ गैर संज्ञेय रिपोर्ट (एनसीआर) दर्ज कर ली है। अभी तक एफआईआर दर्ज नहीं किया है। एनसीआर में, एक वारंट के बिना कोई गिरफ्तारी नहीं की जाती है और बिना एक अदालती आदेश के बिना जांच शुरू की नहीं किया जा सकता। पुलिस मामले की इंवेस्टिगेशन कर रही है।

31 मई को जनपद में मनाया जायेगा विश्व तम्बाकू निषेध दिवस- डीएम बीएन सिंह

नोएडा – जिलाधिकारी बीएन सिंह ने जानकारी देते हुये अवगत कराया है कि शासन के निर्देश पर आगामी 31 मई को विश्व तम्बाकू निषेध दिवस से पूर्व जनपद में स्वास्थ्य विभाग के तत्वाधान में तम्बाकू निषेध सप्ताह का आयोजन किया जा रहा है जिसमें विभिन्न कार्यक्रम आयोजित करते हुये जनसामान्य को तम्बाकू से होने वाली हॉनि एवं उसके दुष्प्रभाव के सम्बन्ध में जानकारी दी जायेगी ताकि तम्बाकू सेवन करने वाले व्यक्ति इसके दुष्परिणाम को जानकर तम्बाकू का प्रयोग बन्द कर सकें।
डीएम श्री सिंह ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग के सौजन्य से दिनॉक 25 मई को सेक्टर 8 नोएडा की मस्जिद में मुस्लिम धर्मगुरूओं की तम्बाकू प्रशिक्षण कार्यशाला का आयोजन किया गया है। दिनॉक 26 मई को श्रम एवं स्वास्थ्य विभाग के संयुक्त तत्वाधान में गौड़ सिटी ग्रेटर नोएडा वेस्ट में प्रातः 9 बजे से श्रमिकों के बीच लेबर कैम्प का आयोजन करते हुये उन्हें तम्बाकू से होने वाले नुकसान के सम्बन्ध में विस्तार से जानकारी दी जायेगी। सायं 8 बजे अम्बेडकर छात्रावास ग्रेटर नोएडा में इस सम्बन्ध में कैंडल मार्च निकाला जायेगा। इसीप्रकार 27 मई को ईएसआई अस्पताल सेक्टर 24 नोएडा में हस्ताक्षर अभियान एवं जागरूकता कैम्प का आयोजन किया जायेगा और इसी दिन दूसरे चरण में ग्राम सबोता, जेबर में तम्बाकू जागरूकता कैम्प का आयोजन होगा।
उन्होनें बताया कि 29 मई को बॉटनिकल मैट्रो स्टेशन नोएडा में नुक्कड नाटक एवं हस्ताक्षर अभियान, आईटीएस डेन्टल कालेज ग्रेटर नोएडा में पोस्टर एवं रंगोली प्रतियोगिता तथा जिला संयुक्त चिकित्सालय सेक्टर 30 नोएडा में तम्बाकू जागरूकता कैम्प एवं हस्ताक्षर अभियान का संचालन होगा। दिनॉक 30 मई को जीआईसी सेक्टर 18 नोएडा से काशीराम दलित प्रेरणा पार्क तक तम्बाकू जागरूकता आटो रैली का आयोजन होगा तथा सिटी सेन्टर मैट्रो स्टेशन पर नुक्कड़ नाटक एवं हस्ताक्षर अभियान चलाया जायेगा। डीएम ने बताया कि विश्व तम्बाकू दिवस 31 मई को आईटीएस डेन्टल कालेज ग्रेटर नोएडा में तम्बाकू जागरूकता रैली एवं गौष्ठी का आयोजन, जिला कलेक्टेªट सूरजपुर से परीचौक तक ऑटो रैली, राजकीय जिला संयुक्त चिकित्सालय सेक्टर 30 नोएडा, मुख्य चिकित्साधिकारी कार्यालय सेक्टर 39 नोएडा तथा ग्राम सलारपुर विसरख नोएडा में जागरूकता कैम्प एवं हस्ताक्षर अभियान चलाते हुये जनसामान्य को तम्बाकू के प्रयोग से होने वाले नुकसान के प्रति जागरूक किया जायेगा और आयोजित कार्यक्रमों का यही मुख्य उद्देश्य है कि तम्बाकू सेवन करने वाले व्यक्ति इससे होने वाले नुकसान की जानकारी प्राप्त करते हुये अपने जीवन भविष्य को सुखद बनाने के लिये तम्बाकू का प्रयोग करना छोड़ सके।-

स्वास्थ्य विभाग की एंटी टोबैको सेल ने एक द ूकान पर मारा छापा, भांग की 16 पुड़िया बरामद

नोएडा – सेक्टर 168 स्थित एक नामी स्कूल के सामने (100 गज के भीतर) स्वास्थ्य विभाग की एंटी टोबैको सेल ने एक दुकानदार के पास से 16 पुड़िया भांग बरामद की है। एंटी टोबैको सेल ने इसकी सूचना तत्काल पुलिस को दी। इस पर कार्रवाई करते हुए एक्सप्रेस-वे कोतवाली की पुलिस ने विक्रेता को भांग समेत गिरफ्तार कर लिया।

नोडल अधिकारी डॉ. भरत भूषण शर्मा व जिला सलाहकार डॉ. श्वेता खुराना ने बताया कि स्कूल के गेट से महज 100 गज के दायरे में नशे (भांग व तंबाकू) का कारोबार किया जा रहा था। इसकी सूचना तत्काल पुलिस को दी गई। इस दौरान मौके पर छह तंबाकू विक्रेताओं का चालान भी काटा गया। उन पर कुल 2750 रुपये का जुर्माना लगाया गया। उन्होंने बताया कि तंबाकू विक्रेता सिगरेट एंड अदर टोबैको प्रोडक्ट एक्ट (कोटपा)-2003 की धारा 05 व 06 का उल्लंघन करते पाए गए। इसमें शैक्षणिक संस्थान से 100 गज की परिधि में धारा 06 के अंतर्गत तंबाकू उत्पाद बेचना प्रतिबंधित है। वहीं धारा 05 के अंतर्गत तंबाकू उत्पादों के प्रत्यक्ष व परोक्ष विज्ञापन पर पूर्ण प्रतिबंध है। इसका दोषी पाए जाने पर छह दुकानदारों का चालान काटा गया। भांग विक्रेता रामबल मूलरूप बिहार का रहने वाला है, जो स्कूल के गेट के पास चाय की दुकान चलाता है। वह नोएडा के छपरौली में रहता है।

-स्वास्थ्य विभाग की सूचना के आधार पर पुलिस ने मौके से पहुंचकर भांग विक्रेता रामबल को गिरफ्तार कर लिया है। उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज किया जा रहा है। मौके से 16 पुड़िया भांग बरामद की गई है।

नोएडा प्रशासन की मिलीभगत से चल रहा है पानी का अवैध कारोबार

नोएडा में पानी का अवैध कारोबार शहर में तेजी से फल-फूल रहा है। जगह-जगह इसके अवैध प्लांट लगे हुए हैं। इन अवैध प्लांटों से रोजाना पांच लाख लीटर से अधिक पानी शहर में बेचा जा रहा है। यह पानी अशुद्ध, गैर शोधित व टीडीएस युक्त हो सकता है। इसमें कई तरह के खतरनाक तत्व हो सकते हैं, जो पानी को जहर बना देते हैं। लेकिन, लोग पैसे देकर भी यही जहर पीने को मजबूर हैं ज्यादातर प्लांट ग्रामीण क्षेत्रों में व सेक्टर से लगे क्षेत्रों में गुप्त रूप से संचालित किए जा रहे हैं। पानी का अवैध कारोबार कर रहे एक संचालक ने बताया कि उसका अपना खुद का बोर है। इसमें से पानी निकलकर टंकियों में आता है। संचालक ने दावा किया कि वह पानी को शोधित करके जार में भरता है। हालांकि, पानी को शोधित करने की प्रक्रिया वह नहीं समझा सका। पानी का प्लांट चलाने के लिए मानक के बारे में भी उसे कोई जानकारी नहीं है। इतना ही नहीं इसके लिए संचालक के पास कोई लाइसेंस भी नहीं है। अनुमान के मुताबिक वह रोजाना आठ सौ से 1000 बोतलें बेचता है। यानी, करीब 20 हजार लीटर पानी रोजाना। शहर में इस तरह के 50 से ज्यादा प्लांट हैं, जहां से रोजाना पांच-छह लाख लीटर पानी 20-20 लीटर वाले जार में भरकर बेचा जाता है।

20 से 30 रुपये होती है कीमत :

एक बोतल की कीमत संचालक 10 से 12 रुपये लगाता है। वह पानी को थोक में बेचता है। प्लांट पर रोजाना कई गाड़ियां आती हैं, जो 20-20 लीटर के 100 से 200 जार ले जाती हैं। इसे ले जाने के बाद वह लोगों तक पहुंचाने के लिए 20 से 30 रुपये का चार्ज वसूलती हैं। इसके बावजूद पानी की शुद्धता की कोई गारंटी नहीं होती। न ही इसकी पैकिंग, लेवलिंग का कोई मानक होता है।

होटल, ढाबा, सेक्टर, गांव व झुग्गियों में होती है सर्वाधिक बिक्री: अवैध प्लांट से पानी की सर्वाधिक खपत छोटे-मोटे होटलों ढाबों, रेहड़ियों, सेक्टरों, गांवों व झुग्गियों में सर्वाधिक होती है। यह कारोबार शहर में बड़े पैमाने पर फैल चुका है।

अधिकारी देते हैं पानी माफिया को संरक्षण:

पड़ताल में पता चला कि ये सभी अवैध प्लांट अधिकारियों की नजर में हैं, लेकिन वह सभी पानी माफिया को संरक्षण देने का काम कर रहे हैं। प्रशासन इन पानी माफिया पर कोई कार्रवाई नहीं करता। कभी करता भी है तो सिर्फ दिखावे के लिए। सूत्र बताते हैं कि संरक्षण प्राप्त करने के बदले पानी माफिया मोटी रकम अधिकारियों को भी पहुंचाते हैं। इसमें सभी संबंधित विभागों के अधिकारियों का हिस्सा होता है।

यहां हैं सर्वाधिक अवैध प्लांट:

पानी के अवैध प्लांट शहर में जगह-जगह कुकुरमुत्ते की तरह फैले हुए हैं। सर्वाधिक अवैध प्लांट सेक्टर 08, 09, बरौला, हरौला, छिजारसी, मामूरा, झुंडपुरा, सर्फाबाद, सोरखा, गढ़ी चौखंडी, छलेरा, भंगेल, मोरना, सदरपुर इत्यादि जगहों पर हैं।

बड़े पैमाने पर हो रहा भूजल का दोहन :

इन अवैध प्लांटों से रोजाना लाखों लीटर भूजल का दोहन हो रहा है। संबंधित विभागों के अधिकारी सबकुछ जानते हुए भी कोई कार्रवाई करने से बच रहे हैं। लिहाजा पानी माफिया शहर के अधिकांश क्षेत्रों में लगातार अपना कब्जा जमाते जा रहे हैं। हालत यह है कि आधा से ज्यादा शहर इसी पानी पर निर्भर हो चुका है।

अशुद्ध पानी पीने से हो सकती हैं यह बीमारियां:

कैलाश अस्पताल के वरिष्ठ फिजियोलोजिस्ट डॉ. एके शुक्ला के अनुसार इस तरह के पानी में बैक्टीरिया वायरस, कई तरह के खतरनाक रसायन, भारी धातु जैसे लेड, जिंक, कॉपर इत्यादि हो सकते हैं, जो सेहत के लिए अत्यंत खतरनाक हैं। इस तरह का अशुद्ध पानी पीने से हेपेटाइटिस ए, बी व सी हो सकता है। इसके अलावा वायरल व बैक्टीरियल इंफेक्शन, टायफाइड, पीलिया, गैस्ट्रोइंटेटाइटिस, डिहाइड्रेशन जैसी समस्या हो सकती है। लगातार इस तरह का अशुद्ध पानी पीने से किडनी व लीवर तक खराब हो सकते हैं।

हिन्दू मुस्लिम ने एक दूसरे को किडनी देकर भ ाईचारे कि मिसाल कायम की

नोएडा – हिन्दू मुस्लिम की एकता को बरक़रार रखने के लिए दोनों धर्मो के लोगो ने एक दूसरे को किडनी देकर अपने लोगो की जान बचाई। और एक मिशाल भी पेश की। समाज के कुछ अराजक तत्व भले ही ¨हदू-मुस्लिम के नाम पर अपनी राजनीतिक रोटियां सेंकने का काम करते हों, लेकिन एक ¨हदू व एक मुसलमान महिला ने एक दूसरे के पति की जान बचाकर एकता की अद्भुत मिसाल पेश की है। जेपी अस्पताल में भर्ती दोनों महिलाओं के पति को किडनी की जरूरत थी, लेकिन दोनों की किडनी अपने पति के ग्रुप से मैच नहीं कर रही थी। इसके बाद दोनों महिलाओं ने एक दूसरे के पति को अपनी किडनी दान करने का सराहनीय फैसला ले डाला।

ये दोनों महिलाएं भले ही विपरीत धर्म से थीं, लेकिन वह न तो ¨हदू बनना चाहती थीं और न ही मुसलमान। ऐसे मौके पर वह सिर्फ इंसान बनना चाहती थी। आखिरकार उन्होंने इंसानियत की बड़ी मिसाल पेश की। ग्रेटर नोएडा निवासी 29 वर्षीय मरीज इकराम को बागपत निवासी 36 वर्षीय मरीज राहुल की पत्नी पवित्रा ने एवं राहुल को इकराम की पत्नी रजिया ने अपनी किडनी दान की।

इन मरीजों का ऑपरेशन किडनी प्रत्यारोपण विभाग के वरिष्ठ सर्जन डॉ. अमित देवड़ा, डॉ. मनोज अग्रवाल, डॉ. अब्दुल मनन एवं नेफ्रोलॉजी विभाग के वरिष्ठ चिकित्सक डॉ. अनिल भट्ट, डॉ. भीम राज, डॉ. हारूल की टीम ने किया। डॉक्टरों ने महिलाओं को इस तरह किडनी दान करने को भी प्रेरित किया।