Daily Archive: January 9, 2018

उत्तर प्रदेश के विधायक मुफ़्तार अंसारी की हालत गंभीर, परिजनों ने लगाया चाय में जहर देने का आरोप

उत्तर प्रदेश और पूर्वांचल में आतंक के पर्याय बाहुबली विधायक मुफ़्तार अंसारी की हालत गंभीर, परिजनों ने लगाया चाय में जहर देने का आरोप

उत्तर प्रदेश के बहुचर्चित दबंग विधायक मुफ़्तार अंसारी 2 दशक से अधिक समय तक उत्तर प्रदेश की राजनीति में सक्रिय कभी निर्दलीय विधायक कभी समाजवादी पार्टी कौमी एकता दल के संस्थापक
(जिसका बसपा में विलय हो गया)
वर्तमान में बहुजन समाज पार्टी के टिकट पर मऊ से विधायक
मुफ़्तार इन दिनों बाँदा की जेल में बन्द थे उनपर विधायक की हत्या सहित कई संगीन मामले दर्ज है।

आज जेल में उन्हें अचानक दिल का दौरा पड़ गया साथ मे मिलने गयी उनकी पत्नी को भी दिल का दौरा पड़ गया
आनन फानन भारी संख्या में पुलिस बल के साथ उन्हें लखनऊ रवाना किया गया है जहाँ उनकी हालत नाजुक बताई जा रही है।
उनके परिजनों ने जहर देने का आरोप लगाया है।
पूर्व में भी स्वयं मुफ़्तार ने *रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा से जान का खतरा बताया था*

*गाजीपुर से निकल चुका है भाइयो का काफिला*- लखनऊ में अंसारी के तमाम समर्थक पहुंच चुके है इसी क्रम में उनके दोनों भाई अपने काफिले के साथ लखनऊ रवाना हो चुके है।

*बसपा प्रमुख जा सकती है अस्पताल* – बहुजन समाज पार्टी की मुखिया भी कल सुबह तक अंसारी का हाल जानने जा सकती है

*शिवपाल यादव से भी अंसारी परिवार की मुलाकात सम्भव* – राजनीति में रहते शिवपाल यादव और अंसारी परिवार के रिश्ते बहुत ही अच्छे रहे है।
भले ही अंसारी बहुजन में चले गए हो लेकिन आज भी शिवपाल के लिए अंसारी परिवार में अहम स्थान है।

नॉएडा : बॉयफ्रेंड युवती को डेढ़ लाख की चपत लग ाकर हुआ फरार

नोएडा : लोगो को अक्सर प्यार में सब कुछ गवा बैठते है दिल से लेकर धन दौलत तक , कभी लूट जाते है तो कभी लूट लेते है। ऐसा ही एक मामला थाना फेज 3 के सेक्टर 120 का है। जहां एक युवती से उसके बॉयफ्रेंड ने प्यार प्यार में लाखो रूपये के साथ एक आईफोन 6 साथ लेकर फरार हो गया है। अब युवती काफी परेशान है , सेक्टर-120 की एक सोसायटी में रहने वाली युवती ने सोमवार को फेज-3 थाना पुलिस में मामले की शिकायत दी है। पुलिस के मुताबिक, गुड़गांव की एक कंपनी की सॉफ्टवेयर इंजिनियर युवती सेक्टर-120 में रहती है। कंपनी में ही युवती का बॉयफ्रेंड अभिजीत भी काम करता है। युवती का आरोप है कि एक जनवरी को न्यू ईयर पार्टी के दौरान कुछ देर के लिए उसका क्रेडिट गायब हो गया था, जो बाद में मिल गया था। इसके बाद 4 जनवरी को युवती जब क्रेडिट कार्ड से शॉपिंग करने पहुंची तो उसमें पैसा न होने की जानकारी मिली। बैंक से पता चला कि एक जनवरी की रात उनके क्रेडिट कार्ड से कुछ खरीदारी हुई है। युवती ने फेज-3 पुलिस से मामले की शिकायत की है।

नॉएडा : नकली सामान को असली बताकर बेचने वाल े 4 लोग हुए को गिरफ्तार

नॉएडा : नॉएडा पुलिस बड़ी करवाई करते हुए ब्रांडेड कंपनियों के लेबल लगा कर बाइक के पुर्जे बेचने वाले 4 दुकानदारों को गिरफ्तार किया है। मामला थाना 39 के सेक्टर 44 का है , सेक्टर-44 के छलेरा गांव में सोमवार को एक नामी कंपनी का लेबल लगाकर बाइक के नकली पुर्जे बेच रहे 4 दुकानदारों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने आरोपियों के पास से करीब 70 हजार रुपये के नकली पुर्जे भी बरामद किए हैं। पुलिस आरोपी दुकानदारों से पूछताछ कर रही है। पुलिस के अनुसार, सोमवार को एक बाइक कंपनी के अधिकारियों को सूचना मिली थी कि छलेरा मार्किट में उनकी कंपनी का लेबल लगाकर नकली पुर्जे बेचे जा रहे हैं। उन्होंने इसकी शिकायत सेक्टर-39 पुलिस से की। मौके पर पहुंची पुलिस ने 4 दुकानदारों को हिरासत में ले लिया। इनके पास से पुलिस ने बाइक के नकली रिंग-पिस्टन, ब्रेक, बैरिंग, टायर बरामद किए हैं। पुलिस के अनुसार आरोपी पिछले काफी समय से पुर्जों को असली ब्राण्ड का बताकर ग्राहकों के साथ धोखाधड़ी कर रहे थे।

नॉएडा: कलयुगी बेटी ने प्रेमी के साथ मिलकर ल ी पिता की जान

नॉएडा : कलयुगी बेटी ने अपने प्रेमी के साथ मिलकर अपने पिता को तीसरी मंजिल से धक्का देकर मार डाला। घटना सेक्टर 20 थाने के अट्टा गांव की है।पिता ने दोनों को कमरे में एकसाथ देख लिया था। इसी बात से खफा होकर बेटी ने अपने प्रेमी के साथ मिलकर पहले पिता के साथ मारपीट की फिर उसके बाद तीसरी मंजिल से धक्का दे दिया , जिस कारण इलाज के दौरान पिता की मौत हो गयी। हादसे के बाद बेटी प्रेमी के साथ फरार हो गई। उधर, मां ने बेटी और उसके प्रेमी के खिलाफ सेक्टर-20 थाने में केस दर्ज करवाया। इस मामले में पुलिस ने बेटी को पिता की गैरइरादतन हत्या के आरोप में गिरफ्तार कर लिया पुलिस की जानकारी के मुताबिक, मूलरूप से बस्ती के विश्वनाथ साहू (48) परिवार समेत अट्टा गांव में रहते थे। वह प्राइवेट कंपनी में काम करते थे। रविवार तड़के करीब 4 बजे जब विश्वनाथ साहू की नींद खुली, तो उन्हें बेटी के कमरे से आवाज सुनाई दी। वह बेटी के कमरे में पहुंचे तो वहां पड़ोसी युवक धर्मेंद्र भी दिखा। गुस्से में विश्वनाथ साहू ने दोनों को खरी-खोटी सुनानी शुरू की। आरोप है कि उसके बाद बेटी और उसके प्रेमी ने पिता के साथ हाथापाई की। इस दौरान विश्वनाथ तीसरी मंजिल की बालकनी से गिर गए। नीचे गिरने की आवाज पर विश्वनाथ की पत्नी गायत्री की नींद खुल गई। गंभीर हालत में उन्होंने पति को जिला अस्पताल पहुंचाया, जहां से उन्हें दिल्ली सफदरजंग अस्पताल रेफर किया गया। वहां पर रविवार दोपहर करीब 2:30 बजे उनकी मौत हो गई। गायत्री ने रविवार की शाम सेक्टर-20 पुलिस स्टेशन में बेटी पूजा और उसके प्रेमी धर्मेंद्र के खिलाफ गैरइरादतन हत्या का केस दर्ज करवाया। इस मामले में पुलिस ने आरोपी बेटी को सोमवार को गिरफ्तार कर लिया है। सोमवार को उसे कोर्ट में पेशकर जेल भेज दिया गया। फरार धर्मेंद्र की तलाश की जा रही है। परिजनों के अनुसार, पूजा और धर्मेंद्र के बीच 2 साल से प्रेम-प्रसंग चल रहे थे। पूजा उसके साथ शादी करना चाहती थी, लेकिन परिजन टाल रहे थे।
एसएचओ सेक्टर-20 अनिल कुमार शाही ने बताया है कि पूजा को सेक्टर-27 में ही घर से कुछ दूरी पर सोमवार सुबह गिरफ्तार कर लिया गया। हालांकि उसने धर्मेंद्र के बारे में जानकारी होने से इनकार कर दिया। पुलिस उसकी तलाश कर रही है।

ठंड में बढ़ जाता ब्रेन स्ट्रोक का खतरा

नौएडा सहित राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) में तापमान के छह डिग्री सेल्शियस से भी नीचे पहुंच जाने के कारण कंपकंपी और ठिठुरन बढ़ने से ब्रेन स्ट्रोक के मामले बढ़ रहे हैं और ऐसे में न्यूरो विशेषज्ञों ने लोगों से ठंड से बचकर रहने की सलाह दी है।

नौएडा के फोर्टिस हाॅस्पिटल के ब्रेन स्ट्रोक विशेषज्ञ एवं न्यूरो सर्जन डाॅ. राहुल गुप्ता ने बताया कि पिछले करीब एक सप्ताह से उनके पास हर दिन ब्रेन स्ट्रोक के मरीज आ रहे हैं। पिछले कुछ दिनों के दौरान उनके पास ब्रेन स्ट्रोक के तीन गुना अधिक मरीज आ रहे हैं और ब्रेन स्ट्रोक के मामलों में वृद्धि के लिए ठंड जिम्मेदार है।

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश में भीषण ठंड के कारण 70 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है।
डाॅ. राहुल गुप्ता बताते हैं कि अत्यधिक ठंड में होने वाली मौतों का मुख्य कारण ब्रेन स्ट्रोक एवं हार्ट अटैक होता है। उनके अनुसार सर्दियों में ब्रेन स्ट्रोक और खास तौर पर हेमोरेजिक स्ट्रोक के मामले अन्य महीनों की तुलना में करीब तीन गुना अधिक बढ़ जाते हैं।
उनके अनुसार सर्दियों में शरीर का रक्त चाप बढ़ता है जिसके कारण रक्त धमनियों में क्लाॅटिंग होने से स्ट्रोक होने के खतरे बढ़ जाते हैं। ब्रेन स्ट्रोक का एक प्रमुख कारण रक्त चाप है। रक्तचाप अधिक होने पर मस्तिष्क की धमनी या तो फट सकती है या उसमें रुकावट पैदा हो सकती है।
इसके अलावा इस मौसम में रक्त गाढ़ा हो जाता है और उसमें लसीलापन बढ़ जाता है, रक्त की पतली नलिकाएं संकरी हो जाती है, रक्त का दबाव बढ़ जाता है। धमनियों की लाइनिंग अस्थायी रूप से क्लाॅट के प्रति अधिक संवेदनशील हो जाती हैं। अधिक ठंड पड़ने या ठंडे मौसम के अधिक समय तक रहने पर खासकर उच्च रक्तचाप से पीड़ित लोगों में स्थिति अधिक गंभीर हो जाती है। इसके अलावा सर्दियों में लोग कम पानी पीते हैं जिसके कारण रक्त गाढ़ा हो जाता है और इसके कारण स्ट्रोक का खतरा बढ़ जाता है। उनका सुझाव है कि सर्दियों में अधिक मात्रा में पानी तथा तरल पीना चाहिये।
डाॅ. राहुल गुप्ता के अनुसार बहुत ठंड के कारण हृदय के अलावा मस्तिष्क और शरीर के अन्य अंगों की धमनियां सिकुड़ती हैं, जिससे रक्त प्रवाह में रुकावट आती है और रक्त के थक्के बनने की आशंका अधिक हो जाती है। ऐसे में ब्रेन स्ट्रोक, दिल के दौरे तथा शरीर के अन्य अगों में पक्षाघात होने के खतरे अधिक होते हैं।

डाॅ. राहुल गुप्ता के अनुसार कई अध्ययनों से पता चला है कि कम तापमान होने पर स्ट्रोक होने तथा स्ट्रोक के कारण मौत होने का खतरा बढ़ता है, खास तौर पर अधिक उम्र के लोगों में। इसलिये लोगों को अपने शरीर को गर्म रखने के लिये अतिरिक्त सावधानी बरतनी चाहिए। इसके अलावा स्ट्रोक से बचने के लिये शराब और धूम्रपान का सेवन कम करना चाहिए।

सर्दी के महीनों में, जिन लोगों को न्यूरोलाॅजिकल समस्याएं हैं उनकी समस्याएं बढ़ सकती है। तापमान घटने से नर्व में दर्द बढ़ सकता है। डाॅ. राहुल गुप्ता का सुझाव है कि जिन लोगों को नर्व दर्द, रीढ़ में दर्द, ट्राइजेमिनल न्यूरेल्जिया, मांसपेशियों में कड़ापन और संवेदना में कमी जैसी न्यूरोलाॅजिकल समस्याएं हैं उन्हें अधिक ठंड से बचना चाहिए।
अत्यधिक ठंड का मौसम शुरु होते ही, बच्चों में सिर दर्द होने का खतरा 15-20 प्रतिशत तक बढ़ जाता है। ऐसा विशेष रूप से उन बच्चों को अधिक होता है जो माइग्रेन से ग्रस्त होते हैं।
छोटे बच्चे सिर दर्द या अन्य समस्याओं के बारे में ठीक से नहीं बता पाते हैं, बल्कि वे इसे अन्य तरीकों से प्रकट करते हैं। जैसे, वे चिड़चिड़े और जिद्दी हो जाते हैं और उन्हें सोने और खाने में समस्या हो सकती है।
इसके अलावा अधिक ठंड में चेहरे में लकवा मारने (फेसियल पारालाइस) का भी खतरा होता है इसलिए अगर आप सुबह और शाम को घर से बाहर निकलें तो चेहरे को अच्छी तरह ढक लें। फेसियल परालाइसिस के मरीज आंखें नहीं खोल पाते, चेहरा टेढ़ा हो जाता है और मुंह के जरिए कुछ भी उगल नहीं पाते।

उन्होंने कहा कि बहुत ठंड में खुले में मोटरसाइकिल चलाना खतरनाक हो सकता है क्योंकि मस्तिष्क की सात नर्व कान के जरिए गुजरती है और बहुत अधिक ठंड होने पर जिस टनल के जरिए ये नर्व गुजरते हैं उसमें सूजन आ जाती है जिससे फेसियल पारालाइसिस होता है। यह समस्या युवकों को भी हो सकती है।

Noida District Administration signs MoU for CSR funded upgradation of District Schools

(09/01/2018) Noida :

Gautam Buddha Nagar district administration today signed two more MoU’s with Power Corporation of India Limited and DLF Charitable Trust for upgrading government schools of the district.

Power Grid Corporation of India Limited is adopting 26 schools for improving sanitation facilities in these schools.

Similarly DLF Charitable Trust is adopting 20 Schools out of which 4 will be taken on priority initially in first phase.

DM BN Singh, Noida MLA Panakj Singh and senior officials of PGCIL and DLF were present during signing of MoU.