Daily Archive: March 7, 2018

नोएडा के सेक्टर 18 में स्पा में छापेमारी ,12? ल ड़कियों और 6 लड़कों को पुलिस ने लिया हिरासत में ।

नोएडा के सेक्टर 18 में स्पा में छापेमारी ,8 से 10 लड़कियों को पुलिस ने लिया हिरासत में ।–

Note : Do whatsapp/e mail us news, newsworthy photos/audios/videos, press invites/ releases, news articles at 8888618045/sunita

TEN NEWS
tennews.in : Latest & Top
attachowk.com : Noida News – Information Portal
parichowk.com : Greater Noida – Yamuna Expressway : News – Information Portal
vijaychowk.com : New Delhi News – Information Portal

Tennews Dot In – YouTube Video Channel
https://www.facebook.com/tennews.in/
@tennewsdotin – Twitter Handle

Ten News – WhatsApp Groups

Ten IT Services

Ten PR Services

नॉएडा : मसाज के नाम कर्मचारी ने छात्रा से क ी छेड़छाड़, पुलिस ने आरोपी युवक को किया गिरफ्ता र

नॉएडा : मसाज के नाम पर एक छात्रा से छेड़छाड़ का मामला सामने आया है। जिसमे कर्मचारी ने मसाज करवाने आयी छात्रा से

यौन उत्पीड़न

करने की कोशिश की गयी , छात्रा ने इसका विरोध किया साथ ही पुलिस थाने में मसाज पार्लर के कर्मचारी के खिलाफ शिकायत दर्ज कर दी है। साथ ही पुलिस शिकायत के आधार पर मौके से महिला सहित एक युवक को गिरफ्तार किया है मामला थाना 20 के सेक्टर-18 का है। पुलिस के अनुसार, सेक्टर-110 में रहने वाली छात्रा बीते सोमवार की शाम सेक्टर-18 में स्काई स्टाइल नाम के मसाज पार्लर में गई थी। यहां सिर की मसाज करवाने के दौरान मसाज कर रहे कर्मचारी ने रूम की लाइट कम कर दी इसका फायदा उठाकर छात्रा से गलत हरकत करने की कोशिश की। इस पर छात्रा शोर मचाते हुए वहां से बाहर निकल गई। एसएचओ सेक्टर-20 अनिल कुमार शाही ने बताया कि मामले में सेक्टर 18 में मसाज पार्लर चलाने वाली मयूर विहार निवासी आशा और त्रिलोकपुरी निवासी सोनू को गिरफ्तार किया गया है।

नॉएडा : बदमाशों ने नेता की पत्नी से की लूटप ाट, पुलिस बनी तमाशबीन

नॉएडा : कानून की धज्जिया उड़ाते हुए बदमाशों ने दिनदहाड़े लूट की घटना को अंजाम दिया , साथ ही मौके पर पुलिस तमाशबीन बनी रही। घटना थाना 20 के सेक्टर 19 पुलिस चौकी के पास की है। सेक्टर 15 ए में रहने वाले कांग्रेस नेता विक्रम ¨सह की पत्नी कनिका निजी स्कूल में शिक्षिका हैं। मंगलवार को वह स्कूल की छुट्टी के बाद ई-रिक्शा में बैठकर घर लौट रहीं थीं। ई-रिक्शा सेक्टर19 पुलिस चौकी के पास पंहुचा था जहा दो बाइक सवार बदमाशों ने उनका पर्स लूट लिया। घटना के वक्त चौकी पर तैनात पुलिस तमाशबीन बनी रही। पीड़िता के शोर मचाने पर पुलिस ने बदमाशों का पीछा भी नहीं किया। सिर्फ वायरलेस पर सूचना फ्लैश कर खानापूर्ति कर दी गई। पुलिस की खाना पूर्ति देख पीड़िता का गुस्सा सातवे आसमान पर पहुंच गया और मौके पर पीड़िता ने पुलिस की कार्यप्रणाली को लेकर खूब खरी-खोटी सुनाई। साथ ही पीड़िता ने चौकी पर तहरीर लिखकर रिपोर्ट दर्ज करने के लिए दिया। उन्हें कोतवाली सेक्टर 20 भेज दिया गया। लेकिन यहाँ भी पीड़िता का पुलिस साथ देने की बजाए ,उल्टा ही थाने में तैनात पुलिस कर्मियों ने में पीड़िता से तहरीर बदलने को कहा गया। पुलिस ने लूट की तहरीर लेने से इनकार कर दिया। पुलिस ने पीड़िता पर लूट की बजाय गुमशुदगी की तहरीर देने के लिए कहा। लेकिन पीड़िता ने तहरीर बदलने से इन्कार कर दिया। इस पर पुलिस ने उन्हें कार्रवाई का भरोसा देकर घर भेज दिया। इस संबंध में सीओ पीयूष ¨सह ने बताया कि महिला की तहरीर पर पुलिस रिपोर्ट दर्ज कर कानूनी कार्रवाई करेगी। साथ पुलिस कार्य – प्रणाली की भी जांच होगी

नॉएडा : संविदा कर्मचारियों के नाम पर हुआ फर ्जीवाड़ा ,यूपीपीसीएल ने दिय जाँच के आदेश

नॉएडा : यूपीपीसीएल के लिए काम करने वाले हज़ारो संविदा कर्मचारियों पर गाज गिरने को शुरुवात हो गयी है । काफी दिनों से

संविदा कर्मचारियों के फर्जीवाड़े की मिल रही शिकायत के आधार पर

यूपीपीसीएल के मेरठ मंडल अधिकारियो ने ने सर्तकता दिखाते हुए आदेश दिया है , जो भी ऐसे कर्मचारी है जिनका विभाग के पास कोई भी लेखा जोखा का प्रमाण पत्र नहीं है उनको तत्काल प्रभाव से हटाने के आदेश दिए है। जानकारी के अनुसार आरटीआई के द्वारा मिली खामियां के दौरान ये आदेश दिया गया। दरसल

यूपीपीसीएल में हर माह करोडो रुपये का फर्जी बिल संविदा कर्मचारियों के नाम पर विभाग से पास किया जाता है जबकि में उतने संविदा कर्मी बिजली विभाग ने नहीं है। इस पहले भी संविदा कर्मचारियों पर नॉएडा व् गाज़ियाबाद में ऐसे सवाल उठते रहे है। गौतमबुद्ध नगर में संविदा कर्मचारियों की कुल संख्या 750 की है परन्तु वेतन पास होता है एक हज़ार संविदा कर्मचारियों का । एक निजी संस्था ने आईटीआर के आधार पर इस मामले पर जवाब माँगा गया , जिसमे ये फर्जीवाड़े निकलकर आया है। जब संविदा कर्मचारियों का मामला प्रकाश में आया था। इसी मामले में को लेकर प्रबंध निदेशक ने सख्त कदम उठाते हुए यूपीपीसीएल के पुरे मेरठ मंडल में अधिकारियो से संविदा कर्मचारियों की सूची मांगी गयी , साथ ही प्रबंध निदेशक आशुतोष निरंजन ने निर्देश दिया की जिन कर्मचारियों का कोई रिकॉर्ड या चरित्र प्रमाण पत्र नहीं है उन कर्मचारियों को बिजली घर से तुरंत हटा दिया जाये। अब देखते है जो इस फजीवाड़े में अधिकारी फसे है उन पर

यूपीपीसीएल क्या कारवाई करता है।

हाईटेक शहर नोएडा के सरकारी विभाग लगा रहे ह ै राजस्व को चूना

नोएडा – ग्रेटर नोएडा में बिजली बकायेदारों को लेकर एक तरफ बिजली विभाग रोजाना बड़ी कार्यवाही कर रहा है | वही दूसरी तरफ एक ऐसा सरकारी विभाग है जिसने कई सालों से बिजली का बिल नहीं जमा किया है | जी हाँ हम बात करे रहे नोएडा – ग्रेटर नोएडा के थानों के बारे में |

आपको बता दे की नोएडा के कुछ ऐसे थाने है जो अभी तक बिजली का बिल जमा नहीं किया है , जिससे राजस्व को बहुत ज्यादा नुकसान हो रहा है | फ़िलहाल इस मामले में अभी तक बिजली विभाग की तरफ से कोई कार्यवाही नहीं की गयी है , साथ ही बिजली विभाग ने इन सरकारी विभागों को पहले भी बिल जमा करने के लिए नोटिस भी जारी कर चूका है | सूत्रों के मुताबिक नोएडा – ग्रेटर नोएडा के 16 विभागों पर बिजली का एक हज़ार करोड़ बकाया है | अब देखने वाली बात होगी की इन सरकारी विभाग के बकायेदारों के खिलाफ बिजली विभाग क्या कार्यवाही करता है |

नॉएडा : बच्ची को मिला जीवनदान, जेपी हॉस्पि टल में की गई बच्ची की लीवर ट्रांसप्लान्ट सर्ज री

नोएडा : सेक्टर 128 स्थित जेपी हॉस्पिटल ने आज उस मां को सम्मानित किया, जिसने अपने लीवर का कुछ हिस्सा अपनी डेढ़ साल की बेटी को दान कर उसे नई जिंदगी दी है। दरअसल ईराक से आई डेढ़ साल की बेबी फातिम़ा कॉन्जेनाईटल हेपेटिक फाइब्रोसिस ब्भ्थ्द्ध से पीड़ित थी, यह लीवर की दुर्लभ,जन्मजात एवं आनुवंशिक बीमारी है और उसके मॉ बाप उसे लेकर दिसंबर के महीने में भारत आए थे और यहां उन्होंने नोएडा के जेपी अस्पताल से अपनी बच्ची का इलाज करवाया। 18 जनवरी 2018 को लीवर ट्रांसप्लान्ट के डॉ अभिदीप चैधरी ने हाइपर-रीड्यूस्ड लेफ्ट लेटरल लीवर ग्राफ्ट सर्जरी द्वारा बच्ची का इलाज किया। मरीज़ को कुछ कार्डियक समस्या भी थी, ऐसे में पीडिएट्रिक कार्डियोलोजिस्ट डॉ आशुतोष मारवाह ने भी उसका इलाज किया। ईराक की बेबी फ़ातिमा के केस पर बात करते हुए डॉ अभिदीप चैधरी ने बताया, बेबी फातिमा को पैदा होने के तुरंत बाद जॉन्डिस (पीलिया) हो गया था, समय के साथ यह बढ़ता गया। जन्म के 6 सप्ताह बाद पता चला कि वह एक आनुवंशिक बीमारी एलेगिले सिन्ड्रोम से पीड़ित है। यह एक ऐसी बीमारी है जिसका असर लीवर, दिल और शरीर के अन्य हिस्सों पर पड़ता है। जांच करने पर पाया गया कि वह कॉन्जेनाइटल हेपेटिक फाइब्रोसिस की शिकार है। यह बीमारी लीवर और बाईल डक्ट को प्रभावित करती है। जन्म के 6 सप्ताह से लेकर 1 साल की उम्र तक बच्ची का वज़न 6 किलोग्राम ही रहा। वह कुछ खा नहीं पाती थी और सिर्फ तरल आहार ही ले पाती थी। बेबी फातिमा को कार्डियक समस्या (दिल) भी थी; ऐसे में पहले हॉस्पिटल की कार्डियोलोजी टीम ने उसका इलाज किया। साथ ही उन्होंने बताया कि बेबी फातिमा की हाइपर-रीड्यूस्ड लेफ्ट लेटरल लीवर ग्राफ्ट सर्जरी की। लीवर ट्रांसप्लान्ट सर्जरी के दौरान हमें एक और मुश्किल का सामना करना पड़ा। फातिमा की उम्र और वज़न के चलते उसका शरीर अपनी मां के लीवर को सपोर्ट नहीं कर रहा थ,इसलिए हमें हाना (फातिमा की मां) के लीवर का साइज़ बच्ची की ज़रूरत के अनुसार छोटा करना पड़ा। सर्जरी के दौरान हमने लीवर को काटा, इसकी मोटाई कम करने के बाद इसे ट्रांसप्लान्ट किया। अब मरीज़ को इम्यूनोसप्रेसेन्ट और अन्य ज़रूरी दवाएं दी जा रही हैं। मरीज़ और डोनर दोनों ठीक हो रहे हैं और अपने देश लौटने के लिए तैयार हैं।

जिले में होंगे जल्द ही दो लीवर प्रत्यारोपण केंद्र

गौतम बुद्ध नगर के नागरिकों के स्वास्थ को लेकर उत्तर प्रदेश सरकार ने तोहफा दिया है | आपको बता दे की गौतम बुद्ध नगर में दो लीवर प्रत्यारोपण केंद्र बनाए जाएंगे | दरसल स्वास्थ विभाग से हर महीने करीब 12 से 15 मरीज लीवर प्रत्यारोपण के लिए सम्पर्क करते है | लेकिन जिले सरकारी स्वास्थ सेवाओं में यह सुविधा उपलब्ध न होने के कारण प्राइवेट अस्पतालों से सम्पर्क करके इसका ऑपरेशन कराया जाता था |

जिसको लेकर स्वास्थ विभाग ने काफी समय से सरकार को इस संबंध में पत्र भी लिखा | वही जिले में

लीवर प्रत्यारोपण केंद्र बनाने को लेकर शासन ने मंजूरी दे दी है | जिसके बाद जल्द ही जिले में दो लीवर प्रत्यारोपण केंद्र बनाए जाएंगे | साथ ही इस मामले में जिले के सीएमओ डॉ अनुराग भार्गव ने बताया की जिले में

दो लीवर प्रत्यारोपण केंद्र बनेगा , इनमे सेक्टर 30 में स्थित जिला अस्पताल और ग्रेटर नोएडा स्थित मेडिकल कॉलेज शामिल है | साथ ही सेवाएं जल्द ही शुरू हो जाएगी | वही दूसरी तरफ नोएडा की बात करे तो सेक्टर 30 से सेक्टर 39 में जिला अस्पताल स्थानांतरित होने के बाद वह प्रक्रिया शुरू होगी |