Daily Archive: August 21, 2018

नॉएडा : निजी अस्पताल की बड़ी लापरवाही , महिला की जगह पुरुष की डेडबॉडी को परिवार को सौपी

नॉएडा : अक्सर अस्पतालों में लापरवाही को देखने को मिलती है और कभी कभी ये लापरवाही इतनी बड़ी हो जाती है कि इंसानियत भी शर्मशार हो जाये ,
ऐसा ही वाकिया नॉएडा के चर्चित हॉस्पिटल फोर्टिस में देखने में आया , जहा महिला की डेडबॉडी की जगह पुरुष की डेडबॉडी बदल दी। जब परिवार के लोग डेडबॉडी को गांव में लेकर पहुंचे तो काफी दुःख हुआ। तुरंत ही परिवार के लोगो ने अस्पताल प्रशासन को डेडबॉडी बदलने की सुचना दी , तब अस्पताल प्रशासन हरकत में आया। तुरंत ही महिला की डेडबॉडी को ले जाकर परिवार को सौपा , दरसल बादलपुर के पास किसी गांव की महिला इलाज फोर्टिस अस्पताल में चल रहा था , इलाज के दौरान महिला की मौत हो जाती है। अस्पताल में महिला की डेडबॉडी की जगह पुरुष की डेडबॉडी को एम्बुलेंस से परिवार के गांव में पहुंचा दिया जाता है। जब परिवार को पता चलता है तो बड़ा आश्चर्य होता है। कि अस्पताल वाले किस तरह लोगो की भावनाओ के साथ खेलते है

Three mobile snatcher held during checking drive

?ui=2&ik=6ea9cf41ab&view=att&th=1655c7966a8e381d&attid=0.1&disp=safe&realattid=ii_jl3owp6p0_1655c7966a8e381d&zw

Today Noida Police had arrested three mobile thieves during a routine checking drive from near Ginger hotel in sector 63. They mostly use to target pedestrian they use to snatch mobile from their hands as well some time cash also.

Arrest was made by phase 3 police station police. Police had recovered two country made gun one of 12 bor and one 315 bor along with live cartridges, a Knife , 15 mobile phones, 800 rupees cash from them.

All of them are identified as Praveen, Sandeep and Narendra all resident of Ghaziabad. All are being sent to jail

नॉएडा : निजी अस्पताल की बड़ी लापरवाही , महिला डेडबॉडी की जगह पुरुष की डेडबॉडी को परिवार को सौपी

नॉएडा : अक्सर अस्पतालों में लापरवाही को देखने को मिलती है और कभी कभी ये लापरवाही इतनी बड़ी हो जाती है कि इंसानियत भी शर्मशार हो जाये ,
ऐसा ही वाकिया नॉएडा के चर्चित हॉस्पिटल फोर्टिस में देखने में आया , जहा महिला की डेडबॉडी की जगह पुरुष की डेडबॉडी बदल दी। जब परिवार के लोग डेडबॉडी को गांव में लेकर पहुंचे तो काफी दुःख हुआ। तुरंत ही परिवार के लोगो ने अस्पताल प्रशासन को डेडबॉडी बदलने की सुचना दी , तब अस्पताल प्रशासन हरकत में आया। तुरंत ही महिला की डेडबॉडी को ले जाकर परिवार को सौपा , दरसल बादलपुर के पास किसी गांव की महिला इलाज फोर्टिस अस्पताल में चल रहा था , इलाज के दौरान महिला की मौत हो जाती है। अस्पताल में महिला की डेडबॉडी की जगह पुरुष की डेडबॉडी को एम्बुलेंस से परिवार के गांव में पहुंचा दिया जाता है। जब परिवार को पता चलता है तो बड़ा आश्चर्य होता है। कि अस्पताल वाले किस तरह लोगो की भावनाओ के साथ खेलते है

नोएडा प्राधिकरण के वर्क सर्किल-5 के प्रभार ी श्री एस पी सिंह वरिष्ठ प्रबंधक ने दौरा किया

धर्मेन्द्र शर्मा

आप सभी को बड़े हर्ष के साथ अवगत कराना है कि आज *नोएडा प्राधिकरण के वर्क सर्किल-5 के प्रभारी श्री एस पी सिंह वरिष्ठ प्रबंधक महोदय के नेतृत्व में प्राधिकरण का प्रतिनिधिमंडल ने बी-3 अरावली अपार्टमेन्ट सैक्टर-34 का दौरा किया और सभी समस्याओं को बहुत ही गम्भीरतापूर्वक देखा और सुना* ,कुछ समस्याओं जैसे नालियो के जाल एवँ बाहर की झाडियों को कटाई आदि को तत्काल कराने तथा अन्य समस्याओं जिसमे फ्लेट नम्बर प्लेट,नालियो को रिपेयर करने के बाद कवर करने,फालतू गेटो की जगह बाऊड्रीवाल करने,इंटरलोकिन्ग टाईलस लगाने आदि का जल्द समाधान करने का आश्वासन दिया। प्रतिनिधिमंडल में श्री एच एस खम्पा प्रबंधक,श्री महेन्द्र सिंह नायल अवर अभियंता एवँ RWA से मैं स्वयं धर्मेन्द्र शर्मा अध्यक्ष, सविता केदार,आर पी वर्मा,के के गुप्ता, बी एस रन्धावा,शशी श्रीवास्तव,वी एन कुट्टी,रानी सुयाल,ऊषा गुप्ता,एम बी विश्वास,गीता गुप्ता आदि काफी निवासीगण उपस्थित रहे। मैं श्री राजीव त्यागीजी महाप्रबंधक महोदय और आमजन की समस्याओं को प्रमुखता से उठाने हेतु अमर उजाला टीम का हृदय से आभार व्यक्त करता हूँ। धन्यवाद

नॉएडा : सैमसंग कंपनी के बाहर किसानों का धरन ा, पुलिस ने किया गिरफ्तार

नॉएडा : काम करने वाले सैकड़ो कर्मचारियों ने सेक्टर 82 स्थित सैमसंग कम्पनी के बहार अपनी मांगो को लेकर धरना प्रदर्शन करने की कोशिश की। लेकिन मोके पर तैनात पुलिस फोर्स ने धरना स्थल से हटा दिया साथ ही विरोध कर रहे किसानो को गिरफ्तार कर पुलिस ले सूरजपुर स्थित पुलिस लाइन गयी।
आपको को बता दे कि पिछले कई दिनों से अपनी मांगो को लेकर कर्मचारी सेमसंग कम्पनी के अधिकारियो से बातचीत हो रही थी लेकिन किसी कारण से बात बन नहीं पाई ,और कर्मचारियों ने कम्पनी के खिलाफ धरना प्रदर्शन करने का मन बनाया। साथ ही कमचारियों ने 4 दिन पहले ही रणनीति बना ली थी। कम्पनी धरना प्रदर्शन होने से पहले ही सर्तक हो गयी और उसने पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने मोर्चा समालते ही सुबहे कपनी के बहार पुलिस फोर्स तैनात हो गयी।
आपको को बता दे कि कर्मचारियों इस लड़ाई में संयुक्त किसान अधिकार आंदोलन. मजदुर संगठन सीटू व् किसान सभा सहित कई संगठन के साथ आसपास के कई गाँवो के किसान भी शामिल हो गए और वो भी जिले के बेरोजगार के लिए रोजगार की मांग करने लगे। उनका कहना था कि कम्पनी के अंदर बहार के युवाओ को रोजगार दिया जा रहा है और गौतमबुद्ध नगर जिले के युवाओ को कम्पनी रोजगार देने में आनाकानी कर रही है। आगे बताया कि सैमसंग कम्पनी की स्थापना होने से पहले कम्पनी के प्रबंधको ने यहां के युवाओ को नौकरी देने की बात की थी। अब कम्पनी अपने किए वादे से पीछे हट रही है , इन्ही मांगो को लेकर जब सैकड़ो लोग कपंनी के पास पहुंचे और विरोध प्रदर्शन करने लगे ,तो वहा तैनात पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया , और सभी 80 किसानो को पुलिस की बस में बैठकर सूरज पुर पुलिस लाइन ले गयी। आगे की कारवाई सिटी मजिस्ट्रेट के आदेशनुसार की जाएगी।

नोवरा की कार्यकारिणी गठित , गाँवों को अधिक ार दिलाने की कार्यवाही शुरू

रंजन तोमर अध्यक्ष , अजय चौहान उपाध्यक्ष , पुनीत राणा सचिव एवं अंकित अग्रवाल कोषाध्यक्ष चुने गए

नॉएडा – नॉएडा विलेज रेसिडेंट्स एसोसिएशन द्वारा आज एक बैठक में संस्था की कार्यकारिणी गठित की गई , इस दौरान बैठक की अध्यक्षता हेतु श्री निर्विरोध अध्यक्ष चुना किआ गया है ,जिसका समर्थन उपस्थित सदस्यों ने हाथ उठाकर ,एक स्वर में सहमति व्यक्त की , इसी के साथ श्री अजय चौहान को उपाध्यक्ष चुना गया ,पुनीत राणा को सचिव एवं अंकित अग्गरवाल को कोषाध्यक्ष पद पर चुना गया ,इसी दौरान श्री अलोक मेहता , प्रतीक सेठी एवं कंचन लोहिया को संस्थापक सदस्य चुना गया।

गौरतलब है के शहर के सेक्टरों के लिए आर डब्लू ए , फोनरवा , कोनरवा जैसी संस्थाएं बनी हुई हैं किन्तु गाँवों के लिए पहली बार ऐसी संस्था स्थापित हुई है जो नॉएडा के अंदर आने वाले 81 गाँवों के अधिकारों के लिए लड़ रही है , यह संस्था लोकतंत्र सशक्तिकरण , पर्यावरण संरक्षण ,सतत विकास लक्ष्यों की प्राप्ति ,शिक्षा ,युवा विकास आदि के लिए कार्यरत है। संस्था के अध्यक्ष श्री रंजन तोमर ने कहा के प्राधिकरण एवं सरकार की त्रुटिपूर्ण नीतियों एवं भेदभाव के खिलाफ ,और सरकार की सामाजिक हित की योजनाओं को जनता तक पहुँचाने का कार्य संस्था करती है एवं करती रहेगी।

Regards
Advocate Ranjan Tomar
Delhi High Court

नॉएडा : नॉएडा से ग्रेटर नॉएडा मेट्रो का ट् रायल देखने पहुँचे , सीओ अलोक टंडन

नॉएडा : शहर में चल रही परियोजनाओं का जायजा लेने के लिए आज प्रधिकरण के सीओ व् चैयरमेन आलोक टंडन दौरे पर है। इसलिए सेक्टर 71 स्थित बन रहे मेट्रो स्टेशन का जायजा लिया।
ग्रेटर नॉएडा से ग्रेटर नॉएडा मेट्रो का ट्रायल देखने के गए , मेट्रो की गुणवक्ता भी देखी। और साथ ही एनएमआरसी के अधिकारियो से भी जानकारी ली। इसके बाद सीओ नॉएडा में चल रही अन्य योजनाओ का दौरा किया इनके साथ प्रधिकरण के अन्य अधिकारी मौजूद थे ,
आपको बता दे की कल ही ग्रेटर नॉएडा से नॉएडा मेट्रो ट्रायल शुरू किया , जो पहले ट्रायल ग्रेटर नॉएडा से सेक्टर 82 तक किया जाना था , लेकिन किसी कारण वश ये सिर्फ सेक्टर 82 से लेकर सेक्टर 71 ही किया गया। ट्रायल के बाद एनएमआरसी के कार्यकारी निदेशक ने बताया की निर्धारित समय के अनुसार मेट्रो का ट्रायल शुरू हो गया है। और जल्द ही आम जनता के लिए चालू कर दी जायेगी।

उत्तर प्रदेश पुलिस ने लांच किया UPCOP मोबाइल एप, घर बैठे दर्ज होगी FIR

*उत्तर प्रदेश पुलिस ने लांच किया UPCOP मोबाइल एप, घर बैठे दर्ज होगी FIR*

UPCOP
उत्तर प्रदेश पुलिस ने जनता की सेवा में एक मोबाइल एप लांच किया है जिसकी मदद से आप घर बैठे शिकायत या एफआईआर दर्ज करा सकते हैं। इस एंड्रॉयड मोबाइल एप का नाम UPCOP है जिसे आप गूगल के प्ले-स्टोर से डाउनलोड कर सकते हैं। इस एप के जरिए पुलिस का मकसद लोगों के एफआईआर के लिए लोगों के समय को बचाना है।

UPCOP एप में खोया-पाया और गुमशुदगी की भी रिपोर्ट लिखावाने का विकल्प दिया गया है। इसके अलावा इस एप के जरिए प्रदर्शन और रैली के लिए भी इजाजत ली जा सकती है। साथ ही UPCOP एप में चरित्र प्रणाम पत्र, शव की शिनाख्त के लिए शिकायत और पोस्टमार्टम रिपोर्ट भी ली जा सकती है।

यूपी पुलिस के इस एप में कुख्यात अपराधियों की भी सूची फोटो के साथ मिलेगी। कुल मिलाकर इस एप के जरिए 22 सेवाओं का लाभ उठाया जा सकता है। इसकी जानकारी सोमवार को पुलिस के डायरेक्टर जनरल ओपी सिंह ने दी। उन्होंने बताया कि एप के जरिए शिकायत दर्ज कराने पर लोगों को ऑनलाइन रसीद भी मिलेगी।

UPCOP एप में वरिष्ट नागरिकों और दिव्यांगों के लिए अलग से एक फीचर दिया गया है। इसके अलावा एप के जरिए जागरुकता फैलाने का भी काम किया जाएगा। एप के जरिए लोगों को बताया जाएगा कि एटीम कार्ड और क्रेडिट कार्ड के इस्तेमाल के दौरान किस तरह की सावधानी बरतें।