Daily Archive: August 26, 2017

भारतीय किसान यूनियन ने महापंचायत कर बनाई प्राधिकरण के खिलाफ आगे की रणनीति

भारतीय किसान यूनियन के कार्यकर्ताओं ने अपनी मांगों को लेकर प्राधिकरण के खिलाफ महापंचायत कर आगे की रणनिति तैयार की जा रही है | साथ ही भारतीय किसान यूनियन के भानू गुट ने प्राधिकरण के खिलाफ पंचायत अभियान चला रहा है । किसान प्रतिनिधियों ने बरौला स्थित कार्यालय पर पंचायत की गई। इसमें निर्णय लिया गया कि गाव गेझा में होने वाली 81 गावों की महापंचायत अब 27 अगस्त की सुबह छपरौली गांव के बरात घर में होगी। इसमें नोएडा प्राधिकरण की नीतियों के खिलाफ किसानों की लड़ाई लड़ने के लिए आगे की रणनीति तय की जाएगी। बैठक में मेघराज गुर्जर, राजेश उपाध्याय, राजेंद्र चौहान, रवि यादव, ओंकार चौहान, बीसी प्रधान आदि मौजूद रहे।

राजन श्रीवास्तव ने बाढ़ पीड़ितों के लिए भेज ी ३ ट्रक राहत सामग्री

चित्रगुप्त सभा ट्रस्ट नोएडा व श्री नारायण सांस्कृतिक चेतना न्यास के अध्यक्ष व सामाजिक कार्यकर्ता राजन कुमार ने मुजफ्फरपुर बिहार में बाढ पीड़ितों के लिए तीन ट्रक राहत समग्री व 3 लाख रुपया का चैक प्रधानमंत्री बाढ़ राहत कोष बिहार में भेजा |

डॉ. महेश शर्मा (संस्कृति एवं पर्यटन मंत्री) स्वतंत्रता प्रभार ने आकर इन ट्रकों को हरी झंडी दिखाई व कहा कि राजन कुमार हर तरीके से लोगों की सहायता करने के लिये तत्पर रहते हैं | उनके ये सब प्रयास अति सराहनीय हैं और हमें ये विश्वास है कि राजन कुमार आगे भी इस तरह के काम जारी रखेंगे | उनके इस प्रयास से बिहार के बाढ़ पीडितों को बहुत सहायता प्राप्त होगी | राजन कुमार ने तीन ट्रक बाढ़ पीडितों के लिए भेजे हैं जिस में बाढ़ पीडितों के लिए राशन का सामन, फोल्डिंग पलंग, चादर,मछरदानी आदि सामान हैं | राजन कुमार ने ट्रक रवानगी के समय कहा कि बिहार में लोगो को हमारी बहुत जरूरत है और हम सब को आगे आकर किसी भी तरह से उन लोगो की सहायता का पर्यास करना चाहिये |

ट्रक रवानगी के दौरान अंजनी कुमार, संजीव माथुर, ज्योति सक्सेना, श्री अतुल नागपाल, डॉक्टर चौधरी, करुणेश शर्मा, जी एस नेगी, आर के गुप्ता,रविन्द्रन पी एन, आदि भी मौजूद थे |

नोएडा जिला अस्पताल में 22 मलेरिया मरीज भर्त ी, 45 अन्य संदिग्ध⁠⁠⁠⁠

जिला अस्पताल में 22 मरीजों में मलेरिया की पुष्टि हुई है। वहीं, डेंगू के 45 नए संदिग्ध रोगी मिले हैं। जिला अस्पताल की पैथोलॉजी में डेंगू के संदिग्ध रोगियों के रक्त के नमूनों की जांच की जा रही है । वरिष्ठ फिजीशियन डॉ. रेनू अग्रवाल ने बताया कि शुक्रवार को 400 मरीजों की ओपीडी हुई थी । इनमें से 70 फीसदी रोगी बुखार से पीड़ित थे। ओपीडी में बुखार के रोगियों की संख्या बढ़ी है।

साथ ही पैथोलॉजिस्ट डॉ.एचएम लवानिया ने बताया कि डेंगू के एक हफ्ते में 45 संदिग्ध रोगियों के रक्त के नमूने जांच के लिए आए हैं। जिसको आज एलाइज किट से नमूनों की जांच की जा रही है । उन्होंने बताया कि एक माह में मलेरिया के 841 रोगियों के रक्त के नमूनों की जांच की गई है, जिनमें से 22 की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है।

वहीं, सेक्टर-24 स्थित ईएसआई अस्पताल में भी ओपीडी में इन दिनों 1600-1700 मरीजों की हो रही है। चिकित्सा निदेशिका डॉ. नीलिमा ने बताया कि फिजीशियन की ओपीडी में 200-250 रोगी इलाज के लिए पहुंच रहे हैं। इनमें से 80 फीसदी रोगी बुखार से पीड़ित हैं। यही हाल बच्चों की ओपीडी का भी है। निजी अस्पताल में भी बुखार पीड़ित मरीजों की फिजीशियन और इमरजेंसी में संख्या अधिक है। दूसरी तरफ, निजी अस्पताल और लैब भी मरीजों में डेंगू की पुष्टि कर रही हैं।

हालांकि, जिला अस्पताल की ओर से की गई जांच में किसी भी रोगी में डेंगू की पुष्टि नहीं हुई है। बुखार के मरीज बढ़े अस्पतालों में वायरल बुखार, टायफाइड, डायरिया, मलेरिया और चिकुनगुनिया व डेंगू संदिग्ध रोगियों की संख्या बढ़ती जा रही है। जिला अस्पताल में शुक्रवार को 3000 रोगी इलाज के लिए पहुंचे थे । इनमें नए मरीजों की संख्या 2200 के करीब थी।

स्कूल और कॉलेज सहित सभी संस्थानों में स्वाइन फ्लू के लक्षण दिखने पर एक सप्ताह छुट्टी देने के निर्देश प्रदेश सरकार ने दिए हैं। इसके लिए सीएमओ ने सभी संस्थानों को पत्र भेजने शुरू कर दिए हैं। स्वाइन फ्लू का प्रभाव बढ़ने के कारण यह निर्णय लिया गया है। जनपद में अब तक 54 स्वाइन फ्लू के मरीजों की पुष्टि की जा चुकी है।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. अनुराग भार्गव ने बताया कि बीमारी के लक्षण मिलने पर डॉक्टर से परामर्श लें, जांच में पुष्टि होने पर कम से कम 7 दिन तक घर पर रहें। गंभीर स्थिति पर अस्पतालों में भर्ती होकर इलाज कराएं।