Daily Archive: August 19, 2017

खाते से आधार लिंक कराने के नाम पर ठगे 80,000 हजा र रुपये

नोएडा – भंगेल निवासी एक युवक से आधार लिंक कराने के नाम पर 80 हजार रुपये ठग लिए गए। आरोपी ठग ने बैंक खाते से आधार कार्ड को लिंक कराने के नाम पर पीड़ित से ठगी की। पीड़ित युवक ने घटना की शिकायत फेज-2 पुलिस से की।
पुलिस ने युवक को साइबर सेल में भेज दिया। मूलरूप से देहरादून उत्तराखंड निवासी निमेश रावत भंगेल में किराये पर रहते हैं। उन्होंने बताया कि सोमवार शाम वह घर पर थे। तभी उनके मोबाइल पर एक कॉल आया।
कॉल करने वाले शख्स ने खुद को बैंक कर्मी बताते हुए आधार लिंक कराने की बात कही। शख्स ने उन्हें झांसे में लेकर खाते की पूरी जानकारी ले ली। फोन कटने के करीब 2 घंटे बाद उनके मोबाइल पर खाते से रुपये निकलने के 6 मेेसेज आए।
ठग ने उनके खाते से 3 बार में 60 हजार रुपये और एक बार में 10 हजार रुपये और दो बार में 10 हजार रुपये खाते से निकाल लिए। उन्होंने तुरंत कस्टमर केयर पर कॉल कर घटना के बारे में जानकारी दी। तब जाकर उनके खाते से रुपये निकलना बंद हुए। उन्होंने घटना की शिकायत साइबर सेल पुलिस से की है।

नाबालिक से रेप के आरोपी को 7 साल की कठोर सजा

नोएडा जिला कोर्ट ने साल 2013 में एक नाबालिग से रेप के आरोपी को 7 साल के कठोर कारावास की सजा सुनाई है। कोर्ट ने आरोपी पर 1 हजार का आर्थिक जुर्माना भी लगाया है। प्रथम अतिरिक्त सत्र न्यायधीश रामनरेश मौर्य की कोर्ट में मामले की सुनवाई हुई। इस दौरान पीड़िता सहित कुल साल लोगों की गवाई हुई। सजा सुनाये जाने के बाद आरोपी को हिरासत में लेकर जेल भेज दिया गया। अतिरिक्त जिला शासकीय अधिवक्ता ओमप्रकाश यादव के अनुसार मूलरूप से बिहार के छपरा का रहने वाला एक परिवार नोएडा सेक्टर-10 स्थित झुग्गियों में रहता था। परिवार मेहनत मजदूरी करता था। 16 सितम्बर 2013 को परिवार के सभी सदस्य काम पर गये थे। 13 साल की नाबालिग लड़की घर पर अकेली थी। तभी पड़ोस में ही रहने वाले समस्तीपुर निवासी कुशेश्वर सिंह का बेटा श्रवण सिंह नाबालिग को घर पर अकेली पाकर उसके पस पहुंच गया। आरोपी ने जबरन पीड़िता के साथ रेप किया और उसकी अश्लील विडियो बना ली। आरोपी ने इस बारे में किसी को बनाते पर विडियो को वायरल करने और उसको जान से मारने की धमकी दी। डर के कारण पीड़िता ने किसी को अपने साथ हुई घटना के बारे में कुछ नहीं बताया। आरोपी को पीड़िता का भाई भी जानता था। एक दिन उसने आरोपी के मोबाइल से गाने अपलोड करने के लिए उसका मोबाइल ले लिया। इस बीच पीड़िता के भाई ने आरोपी द्वारा बनाई विडियो देख ली। घर पहुंचकर पीड़िता के भाई ने परिजनों को घटना के बारे में बताया।पीड़िता से पूछने पर उसने सारी घटना परिजनों को बता दी। परिजनों ने 25 सितम्बर 2013 को मामले की शिकायत कोतवाली सेक्टर-20 में की। पुलिस ने मामला दर्ज कर पीड़िता को मेडिकल के लिए भेज दिया। मेडिकल में रेप की पुष्टि हो गई। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था।