Daily Archive: August 18, 2017

एक्सक्ल्यूसिव सेमसंग शोरूम का सैक्टर-18 मे ं हुआ उदघाटन

नौएडाः सैक्टर-18 में सेमसंग का नया एक्सक्ल्यूसिव शोरूम का उदघाटन किया गया। यह सेमसंग का उत्तम श्रेणी का शोरूम है जहाॅ पर आप सेमसंग के स्मार्ट फोन का अनुभव ले सकते है इसी के साथ नये उत्पादों के बारे में अधिक से अधिक जानकारी भी ले सकते है। साथ ही साथ फोन विशेषज्ञ से फोन के बारे में और तकनीकि स्र्पोट भी पा सकते है। यहाॅ पर आपको सेमसंग के ओरिजनल ऐससरिज व प्रोडक्टस मिलेंगें। एफ-1, सैक्टर-18 के सेमसंग के शोरूम का उद्घाटन कम्पनी के क्षेत्रिय बिक्री प्रबंधक श्री राहुल अरोड़ा ने फीता काट कर व द्वीप प्रज्जवलित करते हुए किया। उन्होंने इस अवसर पर कहाँ कि यह रिटेल आउट लेट है तथा यहा सेमसंग की सभी रेंजस उपलब्ध होंगी। नोएडा सेमसंग डिस्ट्रीब्यूटर श्री एच0 के0 दूआ ने बताया कि यहाॅ सेमसंग के सभी मोबाइल रेंजस को ग्राहकों की सुविधा के अनुसार रखा गया है। जिससे उन्हें उत्तम श्रेणी के फोन और अन्य डिवाईस आसानी से मिल सके। इस तरीके का नोएडा में यह पहला शोरूम होगा जहाॅ उपभोक्ताओं को सभी सेमसंग के ऐससरिज व प्रोडक्टस एक ही स्थान पर उपलब्ध होंगी। इस अवसर पर क्षेत्रिय मार्किटिंग हैड अनुभव बंसल जोनल सेल्स हैड अविनाश शर्मा आदि लोग मौजूद थे।

मयूर इंटरनेशनल स्कूल में बड़ा हादसा, दो दर ्ज़न मज़दूर घायल, 1 की मौत, डीएम ने दिए जाँच की आदेश

नोएडा : नोएडा के सेक्टर 126 स्थित मयूर इंटरनेशनल स्कूल में हुए एक बड़े हादसे में करीब दर्जन भर के आस पास लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। बताया जा रहा है कि घायलों में से एक की मौत हो गई। सभी घायल मज़दूर बताये जा रहे हैं, जो हादसे के वक्त स्कूल में काम कर रहे थे। बता दें कि स्कूल की छत गिरने से ये हादसा हुआ। घटना की सुचना पर आलाधिकारी मौके पर पहुंचे। घायलों को इलाज़ के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जबकि मामले में संज्ञान लेते हुए डीएम ने घटना की जांच के आदेश दे दिए हैं

एक तरफ जहाँ हादसे में एक मजदुर की मौत हो गई और लगभग दो दर्ज़न मज़दूर गंभीर रूप से घायल स्थिति में अस्पताल में भर्ती हैं, वहीँ इस पुरे मामले में मयूर इंटरनेशनल स्कूल मैनेजमेंट की बड़ी लापरवाही भी सामने आई है। स्कूल मैनेजमेंट की तरफ से मीडिया को आधे घंटे से अधिक समय तक गेट के बाहर रोका गया। जिला प्रशासन व पुलिस अधिकारियों के पहुंचने के बाद मीडिया को अंदर प्रवेश कराया गया। ऐसे में इस बात का अंदेशा है कि पुरे मामले में स्कूल प्रशासन की कहीं ना कहीं बहुत बड़ी लापरवाही रही है, जिस लापरवाही को छुपाने के लिए मीडिया को घटनास्थल पर पहुंचने नहीं दिया जा रहा था–