Daily Archive: August 1, 2017

Noida , Greater Noida and Yamuna Expressway Authorities employees to be transferred

नोएडा ,ग्रेटर नोएडा व यमुना प्राधिकरणो के कर्मचारियों का होगा प्रदेश भर के सभी औधौगिक प्राधिकरणौं में तबादला प्रदेश सरकार ने कैबिनेट की बैठक में किया है फ़ैसला नोएडा के विधायक पंकज सिंह की माँग पर हुआ है यह ऐतिहासिक फ़ैसला. पकंज सिंह ने की है भ्रष्टाचार पर पर कड़ी चोट ..पूरी नौकरी एक ही प्राधिकरण में काट देते थे कर्मचारी..इससे ख़ूब फल फूल रहा था भ्रष्टाचार..अब भरष्टों पर गिरेगी दूर दराज़ तबादलों की गाज..जानकार बता रहे हैं एतिहासिक फ़ैसला

AMITABH BACHCHAN – SILSILA FILM SPECIAL SHOW IN NOIDA

नमस्कार
आवश्यक सूचना
कल 2 अगस्त को दोपहर 3:40 से नोएडा लॉजिक्स मॉल में स्थित PVR सिनेमा (ऑडिटोरियम नंबर 1) मे अमिताभ बच्चन फ्रेंस एसोसिएशन की विशेष डिमांड पर फिल्म सिलसिला का एक विशेष शो किया जाएगा.
इस आयोजन क एक विशेष महत्व है क्योंकि आज से ठीक 35 साल पहले 2 अगस्त का ही दिन था जिस दिन अमिताभ बच्चन साहब कुली फिल्म के दौरान हुए एक एक्सीडेंट से ठीक होकर हमारे बीच लौटे थे इसी मुबारक दिन को सेलिब्रेट करने के लिए हम लोग पीवीआर सिनेमा पर उनकी विशेष फिल्म सिलसिला का शो करवा रहे हैं आप उसमें आमंत्रित हैं.
हर वर्ष इस दिन को हम बच्चन प्रेमी रीबर्थ डे के रुप में मनाते हैं हमारा आपसे अनुरोध है हमारी इस प्रार्थना को स्वीकार है आपकी अति कृपा होगी
आपका
विनीत चौधरी

PRESENT NOIDA CEO IS TYPICAL BUREAUCRAT WHO WISH TO AVOID TOUGH ISSUES : NOIDA RESIDENT

Dear All,
I have been reading various messages reflecting the feeling of helplessness amongst the well meaning citizens of Noida.
*We all now remember Saumya Ji with fondness and as a rare civil servant who had the zeal to perform. He always rose to the challenge posed to him*.
But Saumya Ji had to move on for progression of his career. That is the fate of a civil servant.
I share your disappointment with the current dispensation of Noida Authority. I had attended the first meeting in NA Conference Hall and had opportunity to silently judge and evaluate the CEO based on his response to various issues presented to him by flat buyers.
*To put it mildly I was disappointed with the new CEO. His response was like that of a typical bureaucrat who wanted to avoid these tough issues. My disappointment still continues*.

*I am convinced that he is certainly far below the standards set by Saumya Ji*.

*But please do not despair. Power of citizens is not something to be ignored*.

*So instead of remembering Saumya Ji let us start a petition against Noida Authority. If we all are really serious start this petition for change in important positions in NA*.

*Or accept what we have been served with and continue with being WhatsApp Champions*.

*No hard feelings please*.

With Regards
Col P Chandra (Retd)

जीपीएस सिस्टम से रहेगी हर पुलिसकर्मी पर न ज़र

नोएडा – पुलिस कर्मी अब कोई झूठ ना कोई बहाना नहीं बना पाएंगे। अब जीपीएस सिस्टम से हर पुलिस वाले पर नजर रहेगी , गश्त के दौरान वाहनों पर तैनात पुलिसकर्मी अधिकारियों को लोकेशन बताने के मामले में गलत जानकारी नहीं दे पाएंगे। गश्ती वाहनों की निगरानी के लिए बिसरख कोतवाली पुलिस ने सभी वाहनों को जीपीएस से लैस कर अन्य थानों व कोतवाली के लिए मिसाल पेश की है। अब, बिसरख क्षेत्र में गश्त कर रहे पुलिसकर्मियों पर मोबाइल से ही अधिकारी नजर रख सकेंगे।
बता दें कि क्षेत्र के गश्त के दौरान कई बार वायरलेस पर लोकेशन बताने के दौरान पुलिसकर्मी सही जानकारी नहीं देते हैं। वह अपने क्षेत्र के गश्त के बजाय कई बार कहीं अन्यत्र चले जाते हैं और लोकेशन पूछने पर ड्यूटी वाले क्षेत्र में मौजूद होने की बता बताते हैं।
इससे कई बार अपराध की सूचना मिलने पर गश्त पर निकले पुलिसकर्मियों को मौके पर पहुंचने में देरी होती है। इस समस्या से छुटकारा पाने के लिए बिसरख कोतवाली पुलिस ने दो लैपर्ड (बाइक) और पांच पीसीआर वाहनों को जीपीएस से लैस कर दिया है।
अब, अधिकारी उनकी लोकेशन मोबाइल पर चेक कर संबंधित क्षेत्र के करीब मौजूद वाहन को सूचना देकर मौके पर भेज सकेंगे। इससे पीड़ित को समय पर मदद मिल पाएगी और गश्ती वाहनों की निगरानी भी हो सकेगी।
लोकेशन देखकर भेजे जाएंगे वाहन
स्टाफ की कमी से होने वाली समस्या को दूर करने के लिए संसाधनों का प्रयोग करना जरूरी हो गया है। जीपीएस की मदद से गश्ती वाहनों पर नजर रखी जा सकेगी और उनकी लोकेशन देखकर करीब मौजूद रहने वाले वाहन को घटना स्थल पर भेजा जा सकेगा।- राजेश शर्मा, बिसरख कोतवाली प्रभारी

इंटरनेट से मिलेगा अब ड्राइविंग लाइसेंस

नोएडा – अब लोगो को ड्राइविंग लाइसेंस के लिए दफ्तरों के चक्कर लगाने की जरुरत पड़ेगी है। अब आपको घर बैठे ही मिल जायेगा ड्राइविंग लाइसेंस। जल्द ही यह स्कीम 15 अगस्त से शुरू हो जाएगी। परिवहन विभाग (एआरटीओ) ने प्रक्रिया में चल रही पांच योजनाओं को अमली जामा पहनाने के लिए 15 अगस्त तक तैयारी की जा रही है। उसके बाद से लर्निंग लाइसेंस इंटरनेट से डाउनलोड किया जा सकेगा। इसके अलावा भी वाहन स्वामियों और लाइसेंस धारकों को वाहनों के नवीनीकरण से लेकर अन्य जानकारियां समय ये पहले मिलेंगी।
एआरटीओ प्रशासन महेश शर्मा ने बताया कि अभी तक सारथी-3 और वाहन-3 सॉफ्टवेयर से काम किया जा रहा था। मगर अब इसे अपडेट किया गया है। सारथी-4 और वाहन-4 कर दिया गया है। 15 अगस्त तक उम्मीद है कि इसी सॉफ्टवेयर से काम शुरू करा दिया जाएगा।
इसके लिए कार्यालय भवन पर भारत दूर संचार निगम की ओर से टावर लगा दिया है। जिससे रेडियो फ्रिकवेंसी से तेज इंटरनेट का लाभ मिलेगा। उन्होंने बताया कि लखनऊ में बीपीएन की कनेक्टिविटी शुरू होने के बाद से ही काम शुरू हो जाएगा।
एआरटीओ कार्यालय में सभी कार्य पूरे किए जा चुके हैं। एआरटीओ ने बताया कि सारथी-4 के माध्यम से व्यक्ति ऑनलाइन आवेदन करेगा और ऑनलाइन ही फीस जमा करेगा। इसके बाद टेस्ट का समय बताया जाएगा। टेस्ट में पास होने के बाद आवेदक के पास फोन पर ओटीपी नंबर आ जाएगा और वह अपने लर्निंग लाइसेंस को इंटरनेट से अपलोड कर सकेगा।
उन्होंने बताया कि वाहन-4 साफ्टवेयर से ऐसे लोगों के पास मैसेज जाएंगे जिससे किसी का फिटनेस होना, नवीनीकरण होना, टैक्स जमा होने की तिथि से पहले सूचना देना, किसी भी व्यक्ति को वाहन का नंबर अलाट होगा तो उसका भी मैसेज आएगा। अधिकतर काम की जानकारी मोबाइल मैसेज से ही मिल जाएगी।

कोतवाली 49 के साठगांठ से चल रहा है अवैध कारो बार ,पुलिस बनी अंजान

नोएडा : यूपी में योगी सरकार के गठन के बाद प्रदेश की कानून व्यवस्था को सुधारने को लेकर कई बड़े फैसले लिए गए, साथ हीं पुलिसकर्मियों से अपना रवैया बदलने को कहा गया और अपराधियों पर नकेल कसने को कहा गया, लेकिन लगता है कि शासन और प्रशासन की किसी भी तरह की कोई हिदायत पुलिसकर्मियों के लिए कोई मायने नहीं रखती। बात दिल्ली से सटे हाईटेक सिटी नोएडा की करें तो, यहाँ पुलिसकर्मियों द्वारा अपराधियों पर नकेल कसने की बजाय उन्हें संरक्षण दिया जा रहा है, जिससे गैर-क़ानूनी धंधा तेज़ी से फल-फूल रहा है। मामला कोतवाली सेक्टर 49 क्षेत्र का है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार कोतवाली सेक्टर 49 क्षेत्र में कई तरह के अवैध कारोबार धड़ल्ले से चल रहे हैं, जिनमें अवैध शराब का कारोबार, जुआ, गांजे का व्यापार, देह व्यापार आदि शामिल हैं। सूत्र इस बात की भी तस्दीक करते हैं कि अवैध कारोबार करने वालों को पुलिस का संरक्षण प्राप्त है। बता दें कि कोतवाली सेक्टर 49 प्रभारी का पद परशुराम संभाल रहे हैं, तो ऐसे में उनपर सवाल उठने लाज़िमी हैं। वहीँ ये सवाल तब और भी गहरा जाता है, जब इस मामले में कोतवाली प्रभारी परशुराम से बात की जाती है और वो कोई संतोषजनक जवाब नहीं दे पाते। बहरहाल अवैध कारोबार करने वाले इन अपराधियों को कब तक पुलिस का संरक्षण मिलता रहेगा ? और नोएडा पुलिस प्रशासन ऐसे पुलिसकर्मियों के खिलाफ उचित जांच करा कर किस तरह की कार्यवाही करेगी ? ये तो आनेवाला वक्त ही बता सकता है, लेकिन फिलहाल नोएडा पुलिस की कार्यशैली सवालों के घेरे में जरूर है।

नोएडा में मिला 40 वर्षीय व्यक्ति का शव, कार क ी टक्कर से हुई महिला की मौत

नोएडा : सेक्टर 9 में सोमवार सुबह एक 40 वर्षीय व्यक्ति का शव मिला। सूचना पर पहुंची कोतवाली सेक्टर 20 ने शव के शिनाख्त के प्रयास किए लेकिन शिनाख्त नहीं हो पाई। वहीं सेक्टर 10 में शनिवार शाम अज्ञात वाहन की चपेट में आकर एक 45 वर्षीय महिला की मौत हो गई। महिला की भी शिनाख्त नहीं हो पाई।

पुलिस के अनुसार सेक्टर-9 बी ब्लॉक में सोमवार सुबह एक शव पड़ा होने की पुलिस को सूचना दी गई थी। मृतक की उम्र करीब 40 साल बताई जा रही है। आस-पास रहने वाले लोगों से पूछताछ में मालूम पड़ा है कि युवक रिक्शा चलाता था और आये दिन नशे धुत रहता था। अभी मृतक की शिनाख्त नहीं हो पाई है। शव को बरामद कर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है। पुलिस के अनुसार मौत की वजह पीएम रिपोर्ट पर ही पता चल सकेगी।

अज्ञात वाहन की टक्कर ये महिला की मौत

वहीं सेक्टर 10 मर्सिडीज शोरूम के सामने शनिवार शाम अज्ञात वाहन चालक एक 45 वर्षीय महिला को टक्कर मारकर फरार हो गया। टक्कर लगने से महिला की मौके पर ही मौत हो गई। घटनास्थल के आस-पास के लोग घायल महिला को लेकर सेक्टर 30 स्थित जिला अस्पताल पहुंचे। जहां डॉक्टर ने जांच के बाद महिला को मृत घोषित कर दिया। सूचना पर कोतवाली सेक्टर 20 पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस ने मौजूद लोगों के जरिए महिला के शिनाख्त के प्रयास, लेकिन शिनाख्त नहीं हो पाई।

नोएडा में दो युवकों ने की युवती से छेड़छाड़

नोएडा : नोएडा के मामूरा गांव में युवती से छेड़छाड़ के मामले में मौके पर पहुंची पीआरवी पर दो युवक हमला कर फरार हो गए। आरोपियों के खिलाफ युवती की शिकायत और पुलिस से बदसलूकी का मुकदमा कोतवाली फेज 3 पुलिस ने दर्ज कर लिया है। पुलिस दोनों आरोपियों को तलाश रही है।

मूलरूप से मेरठ ककंरखेड़ा निवासी 23 वर्षीय युवती मामूरा में अपने सहेली के साथ किराये पर रहती है। युवती सेक्टर-63 स्थित एक कंपनी में नौकरी करती है। रविवार रात करीब 10 बजे वह मामूरा मार्केट में खरीदारी कर घर लौट रही थी। तभी रास्ते में पड़ोस में रहने वाले आरोपी सुंदर और अमरजीत ने उसे रोक लिया। युवती ने उन्हें रास्ते से हटने के लिए कहा, लेकिन उसमें से एक युवक ने उसका हाथ पकड़ लिया। शोर मचाने पर आरोपी वहां से भाग गए। युवती ने घटना की शिकायत 100 नंबर पर पुलिस को दी। सूचना पाकर पीआरवी मौके पर पहुंची और दोनों आरोपियों को पकड़ पूछताछ करने लगी। पूछताछ के दौरान दोनों

आरोपी पुलिसकर्मियों को धक्का देकर गिराकर वहां से फरार हो गए।

इस संबंध में कोतवाली फेज 3 प्रभारी अवनीश दीक्षित का कहना है कि युवती की शिकायत के आधार पर दोनों युवकों के खिलाफ छेड़छाड़ का मुकदमा दर्ज किया गया है। इसके साथ पुलिसकर्मियों से बदसलूकी किए जाने पर भी आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। पुलिस फिलहाल दोनों आरोपियों को तलाश रही है।

नोएडा : रिटायर्ड डीएसपी ने पत्रकार पर लगाय ा 10 लाख की रंगदारी का आरोप

नोएडा : नोएडा प्राधिरकण से पुलिस उपाधीक्षक के पद से रिटायर्ड हर्षवर्धन सिंह भदौरिया ने एक अखबार के संपादक पर मानहानि और लाखों रुपए मांगे जाने का आरोप लगाया है। रिटायर्ड डीएसपी का आरोप है कि संपादक ने उनके खिलाफ मनगढ़त कहानी बनाकर उसे अपने अखबार में प्रकाशित किया। फिर खबर को लेकर उन्हें ब्लैकमेल करने रहे थे। कोर्ट के आदेश पर कोतवाली सेक्टर 49 में संपादक के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

पुलिस के मुताबिक पुलिस उपाधीक्षक के पद से रिटायर्ड हर्षवर्धन सिंह भदौरिया डी 11 सेक्टर 47 में रहते हैं। उनका आरोप है कि सोरखा जाहिदाबाद निवासी प्रमोद कुमार यादव यूपी न्यूज एक्सप्रेस के संपादक हैं। उनका सेक्टर 35 मोरना में ऑफिस हैं। आरोप है कि जब वह नोएडा प्राधिकरण में तैनात थे। उस समय प्रमोद यादव ने उनके खिलाफ मनगढ़त कहानी बना खबर प्रकाशित कर दी। प्रमोद यादव 26 अप्रैल 2017 को रिटायर्ड डीएसपी से सेक्टर 27 में मिले। आरोप है कि वहां पीडि़त से प्रमोद ने सेक्टर 18 पार्किंग का ठेका मांगा। लेकिन पीडि़त ने ठेका देने से मना कर दिया। पार्किंग का ठेका नहीं देेने से प्रमोद बिफर गया उसने 10 लाख रुपए की मांग कर दी। पीडि़त रिटायर्ड डीएसपी ने 10 लाख रुपए भी देने से मना कर दिया। आरोप है कि इसके बाद प्रमोद यादव ने अपने अखबार में उनके खिलाफ कई गलत खबर उनकी फोटो के साथ प्रकाशित की।

फेसबुक और वाट्सअप गु्रप पर भी किया बदनाम

रिटायर्ड डीएसपी हर्षवर्धन सिंह भदौरिया ने आरोप लगाया कि प्रमोद ने उनके बारे में गलत बातों को लिखकर उसे फेसबुक पर शेयर कर दिया। इसके बाद आरोपी ने वाट्सअप ग्रुप पर भी उनकोंं बदनाम करने के लिए कई बार गलत पोस्ट शेयर कर दी। जिसके बाद से पीडि़त काफी परेशान चल रहे थे।
इस संबंध में कोतवाली सेक्टर 49 प्रभारी परशुराम का कहना है कि कोर्ट के आदेश पर मुकदमा दर्ज किया गया है। मामले की जांच की जा रही है। आरोप सिद्ध होने पर गिरफ्तारी की जाएगी।