Monthly Archive: July 2017

अस्थाई कर्मचारियों ने अपनी माँगो को लेकर प ्राधिकरण के दफ्तरों में लगाया ताला

नोएडा प्राधिकरण में तेनात अस्थाई कर्मचारियो ने अपनी माँगो को लेकर 4 दिन से प्रदर्शन कर रहे है | नोएडा प्राधिकरण के सभी दफ्तरों पर आज सैकड़ो अस्थाई कर्मचारियों ने ताला जड़ दिया | सेकड़ो की तादात में अस्थाई कर्मचारी इकटा हुए और नॉएडा प्राधिकरण के खिलाफ जमकर नारेबाजी कर प्राधिकरण का घेराव कर रोष जाहिर किया | अस्थाई कर्मचारियों का कहना है की नोएडा प्राधिकरण ने कर्मचारियों के साथ धोखा दिया है | काफी सालो से ये कर्मचारी प्राधिकरण में काम कर रहे है लेकिन आज तक 4700 कर्मचारियों को स्थाई नहीं किया |

वकील से अभद्रता को लेकर पुलिस और वकीलों मे ं तनातनी

ग्रेटर नोएडा -चोरी के एक मामले मेें जिला बार एसोसिएशन के अधिवक्ता को हिरासत में लेकर पुलिस ने पूछताछ की। आरोप है कि इस दौरान पुलिसकर्मियों ने उससे मारपीट भी की। जिससे बार एसोसिएशन के अधिवक्ता आक्रोशित हो गए। उन्होंने शुक्रवार को हड़ताल कर कोर्ट परिसर का मुख्य द्वार बंद कर दिया और पुलिस अधिकारियों से आरोपी पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई की मांग की है। सीओ अमित किशोर सक्सेना ने मौके पर पहुंचकर अधिवक्ताओं को कार्रवाई का आश्वासन दिया।
बार एसोसिएशन के महासचिव देवेंद्र राहुल ने बताया कि नोएडा के सेक्टर-71 निवासी अधिवक्ता मोहित वत्स को बृहस्पतिवार रात नोएडा के कुछ पुलिसकर्मी सेक्टर-51 स्थित पुलिस चौकी ले गए। आरोप है कि यहां मोहित वत्स से पुलिसकर्मियों ने एक चोरी के मामले में न केवल पूछताछ की, बल्कि अभद्रता व मारपीट भी की। परिजनों के आला अधिकारियों से शिकायत करने पर मोहित वत्स को छोड़ा गया।
इस घटना की जानकारी जैसे बार एसोसिएशन के अधिवक्ताओं को हुई। वे आक्रोशित हो गए। शुक्रवार को अधिवक्ताओं ने हड़ताल कर काम ठप कर दिया। सुबह लगभग दस बजे अधिवक्ताओं ने कोर्ट परिसर के मुख्य द्वार को बंद कर दिया। अधिवक्ताओं ने आरोपी पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई की मांग की।
सूरजपुर कोतवाली प्रभारी मनीष सक्सेना ने बताया कि सूचना पर पुलिस अदालत परिसर में पहुंच गई थी। बाद में सीओ अमित किशोर श्रीवास्तव भी वहां पहुंचे। उन्होंने अधिवक्ताओं को आरोपी पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई का आश्वासन दिया। इसके बाद मुख्य द्वार को खोल दिया गय

ट्रैफिक अलर्ट : कालिंदी मार्ग पर वाहन ख़राब होने से धीमा है नॉएडा की ओर यातायात

दिल्ली से आने वाले कालिंदी मार्ग पर नदी पार करके एक डम्फर अचानक खराब हो जाने के कारण यातायात धीमी गति से चल रहा है

नोएडा प्राधिकरण लाएगा सेक्टर-155 में आदर्श औद्योगिक केंद्र योजना

नोएडा प्राधिकरण अब बेरोजगारों के लिए रोजगार का अवसर देने जा रहा है | नोएडा प्राधिकरण द्धारा नोएडा-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेस वे स्थित सेक्टर-155 को आदर्श औद्योगिक केंद्र के तौर पर विकसित करेगा। इस सेक्टर में नोएडा प्राधिकरण अगस्त महीने के अंत में औद्योगिक भूखंड की योजना लाएगा। नोएडा प्राधिकरण ने एक्सप्रेस वे पर 500 हेक्टेयर भूमि औद्योगिक विकास के लिए आरक्षित कर रखी है। इस भूमि के कुछ हिस्से पर ही सेक्टर-155 में औद्योगिक प्लॉट की योजना लाई जाएगी। शेष भूमि को भी औद्योगिक विकास के लिए उपयोग में लाया जाएगा। इससे दो अन्य औद्योगिक सेक्टर-156 और 157 विकसित किए जाएंगे। छोटे औद्योगिक भूखंड की योजना लाकर नए उद्यमियों को आगे लाने का प्रयास भी प्राधिकरण द्धारा किया जाएगा । प्राधिकरण की इस पहल से बेरोजगार और निवेशकों को अच्छा मौका मिलेगा |

युवती ने पहले दुष्कर्म का लगाया आरोप ,फिर श िकायत ली वापस

नोएडा – प्यार में इंसान कितना अंधा हो जाता है । जब तक साथ बना रहता है तो सबकुछ सही रहता है और जब साथ रहते हुए जब एक दुसरे में कमी निकलना शुरू हो जाती है। तो वहाँ प्यार नही कड़वाहट शुरू हो जाती है । ऐसा ही एक मामला नोएडा सेक्टर थाना 20 का है जहाँ एक युवती ने साथ मे रहने वाले साथी के ऊपर दुष्कर्म का शिकायत थाने में दर्ज करा दिया । और कुछ समय बाद वही युवती अब शिकायत वापस लेने के लिय पुलिस से निवेदन कर रही है । देवरिया की रहने वाली युवती सेक्टर 8 में स्थित एक कंपनी में काम करती है। उसी कंपनी में एक युवक से मुलाकात हो गई। धीरे धीरे दोनो दोस्ती हुई । दोस्ती प्यार में बदल गई। बात शादी तक पहुच गई। युवक ने शादी का झूठा दिलाशा देकर 3 महीने तक युवती के साथ दुष्कर्म करता रहा । अब युवक ने शादी से इंकार दिया है । युवती ने थाना 20 में युवक के खिलाफ शिकायत दर्ज करा दी । युवती ने आरोप लगाया कि युवक ने निठारी स्थित अपने आवास पर ले जाकर कई बार दुष्कर्म किया । पुलिस ने शिकायत के आधार पर युवक को हिरासत में ले लिया है। आपस मे समझौता होने के बाद अब युवती अपनी शिकायत वापस लेली है और युवक को पुलिस ने छोड़ दिया है ।

बिना रजिस्ट्री वाले फ्लैट्स होंगे अमान्य , बिल्डर की होगी जाँच

नोएडा – जब से रेरा लागु हुआ है तब से बिल्डर्स के खिलाफ सूबे की सरकार ने सख्त तेवर अपना लिए है। जिस तरह से अबतक बिल्डर ने बायर्स को फ्लैट्स के नाम पर लुटा है और गुमराह किया है। वो अब नहीं होगा। फ्लैट की रजिस्ट्री करवाए बिना बिल्डर खरीदारों को कब्जा दे रहे हैं। जिला प्रशासन ने इस मामले को सख्ती से लिया है और बिना रजिस्ट्री कब्जा देने वाले बिल्डरों पर केस दर्ज कराने की तैयारी शुरू कर दी। उत्तर प्रदेश की महानिरीक्षक स्टांप एवं निबंधन आयुक्त ने इस गोरखधंधे को पकड़ा है। उन्होंने रजिस्ट्रारों से रिपोर्ट मांगी है। नोएडा और ग्रेटर नोएडा में पिछले पांच-छह वर्षों के दौरान बिल्डरों ने करीब 70 हजार फ्लैटों पर कब्जा दिया है। संपत्ति रजिस्ट्रार के यहां इन फ्लैटों की रजिस्ट्री नहीं करवाई गई है। बिना रजिस्ट्री घरों पर कब्जा दे दिया गया है। इससे सरकार को आर्थिक नुकसान हुआ है। दूसरी ओर फ्लैटों की अवैध खरीद-फरोख्त चल रही है। यूपी की स्टांप आयुक्त कामिनी चौहान रतन ने यह गड़बड़ी पकड़ी है। उन्होंने अपने विभाग के अधिकारियों से इस पर रिपोर्ट मांगी है। जिले के सारे रजिस्ट्रार सोसाइटियों में सर्वे कर रहे हैं। जिलाधिकारी बीएन सिंह ने मंगलवार को सर्किल रेट तय करने के लिए बैठक की थी। इस दौरान यह मुद्दा उठा। डीएम ने कहा, जो बिल्डर रजिस्ट्री करवाए बिना फ्लैटों पर कब्जा दे रहे हैं। उन्हें तत्काल नोटिस जारी किए जाएं। जो तत्काल रजिस्ट्री नहीं करवाएंगे, उनके खिलाफ मुकदमा दायर किया जाएगा ।

फोनरवा चुनाव में आरोप-प्रत्यारोपों ने पकड़ ा जोर : एन पी सिंह ने विरोधियों को बताया भ्रष्ट

फोनरवा के चुनाव को लेकर दोनों पैनलो ने एक दूसरे पर आरोप प्रत्यारोप लगाने शुरू कर दिए है | बुधवार को प्रेसवार्ता करते हुए बताया की काफी सालो से एनपी सिंह फोनरवा के अध्यक्ष पद पर तैनात है | उन्होंने नोएडा का कोई भी विकास नहीं कराया है | प्रत्याशी एनपी सिंह ने सुखदेव शर्मा पर निशाना साधते हुए कहा की सुखदेव शर्मा का पैनल भ्र्ष्टाचार में लिप्त है | सुखदेव शर्मा के पैनल के लोगो ने आज तक कोई भी नोएडा की जनता के हित काम नहीं किया | साथ ही एनपी सिंह का कहना है की सुखदेव पैनल में जो सदस्य है वो काफी सालों से सेक्टरों के अध्यक्ष बने हुए है |

पुलिस पर लापरवाही का लगा आरोप ,युवती सड़क पर लेटी

नोएडा के सेक्टर 11 में एक महिला का बात करते समय मोबाईल गिर गया, और ई रिक्शा के नीचे आ गया। इससे मोबाईल टूट गया। युवती ने ई रिक्शा चालक को पकड़कर हरिदर्शन पुलिस चौकी के गयी। चालक के खिलाफ करने के लिए चौकी प्रभारी पर दबाव बनाने की कोशिश करने लगी , चौकी प्रभारी ने उल्टा करवाई करने की बजाए चालक को छोड़ युवती से प्रेमी से बात करते समय लापरवाही से चलने का आरोप लगा दिया। और ई रिक्शा के खिलाफ करवाई इंकार कर दिया। इससे नाराज युवती चौकी के सामने सड़क पर लेट गयी ,जिससे दिल्ली जाने वाले मार्ग पर जाम लग गया। वाहन चालकों ने सौ नंबर पर इसकी सुचना दी। इसके बाद पुलिस अधिकारी मोके पर पहुंचे। युवती को सेक्टर 24 लाया गया। यहाँ पर भी इसकी शिकायत नहीं ली गईं। उसके युवती एसपी सिटी से शिकायत की। उन्होंने सीओ तृतीय को जाँच सौप दी।

बुलंदशहर की रहने वाली युवती ग्रेटर नॉएडा में रहती है। वह थोक के कपडे बेचने का काम करती है। वह बुधवार को सेक्टर 11 आई थी दोपहर 3.30 बजे युवती पैदल ऑटो पकड़ने के जा रही थी। युवती का कहना है उसे एक ऑटो ने टक्कर मार दी इससे उसका मोबाईल नीचे गिर गया। स्कूली बच्चो को लेकर आ रहा एक ई रिक्शा ने उसके मोबाईल पर पहिया चढ़ा दिया। इससे मोबाईल टूट गया। युवती ने उसे रोका तो वह भागने लगा। युवती ने ई रिक्शा चालक को दौड़कर पकड़ा। और उसे हरिदर्शन पुलिस चौकी पर ले आयी। युवती ने बताया की चौकी प्रभारी को पूरी घटना बताई। उल्टा चौकी प्रभारी ने युवती को गलत बताकर कहा। कि तुम लड़कियां राह चलते अपने प्रेमी से बात करती हो ,इसी कारण दुर्घटना हुई है। और शिकायत ले इंकार कर दिया।

अध्यपिका ने प्रधानाचार्या पर अपमानित करन े का लगाया आरोप,

नोएडा। सेक्टर 44 महामाया बालिका इंटर कॉलेज की प्रधानचार्य समैत दो लोगों के खिलाफ स्कूल में पढ़ाने वाली एक अध्यापिका ने अपमानित करने व निजि दस्तावेज का दुरपयोग करने का आरोप लगाया है। पीड़ित अध्यापिका ने इस मामले में कोतवाली सेक्टर-39 पुलिस से शिकायत की है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

जानकारी के मुताबिक रूचिका बंसल महामाया बालिका इंटर कॉलेज में अध्यापिका है। उनका पति विकास बंसल से विवाद चल रहा था। जिसका परिवाद अदालत में चल रहा है। आरोप है कि स्कूल की प्रधानाचार्या प्रतिमा चौधरी व विपुल नागर ने विकास बंसल से मिलकर उन्हें कॉलेज में अपमानित करने और निजी दस्तावेज का दुरूपयोग किया है। इस मामले में प्रधानाचार्या विकास बंसल का साथ दे रही है। साथ ही मुझे अपमानित कर बेवजह परेशान किया जा रहा है। पीड़िता की शिकायत पर कोतवाली सेक्टर-39 पुलिस मामले की जांच कर रही है।

नोएडा पुलिस का कारनामा , जांच से पहले बंद क ी फाइल

नोएडा : किसी भी घटना से पीड़ित बड़ी उम्मीद लेकर थाने जाते हैं कि पुलिस उनका केस दर्ज कर जांच कर उनकी मदद करेगी। लेकिन मोबाइल चोरी और लूट के पीड़ितों के लिए एफआईआर दर्ज करवानी भी चुनौतीपूर्ण है। एफआईआर दर्ज हो गई तो पुलिस बिना जांच किए ही मामले में एफआर लगाकर जांच बंद कर देती है। एक ऐसा ही मामला कोतवाली सेक्टर-24 में आया है।

मूल रूप से सुल्तानपुर के रहने वाले ब्रिजेश पांडेय सेक्टर-61 के पंचाचुली अपार्टमेंट में रहते हैं। उन्होंने बताया कि बीती पांच जून को सेक्टर-53 स्थित गिझौड़ में खरीदारी करने गए थे। वहां पर किसी ने उनकी जेब से मोबाइल चोरी कर लिया। उन्होंने घटना की एफआईआर कोतवाली सेक्टर-24 में की। पहले तो पुलिस ने गुमशुदगी लिखवानी चाही। हलांकि सिफारिश लगाने के बाद उनकी एफआईआर दर्ज हुई।

उन्होंने बताया कि जांच के दौरान जांच गिझौड़ा चौकी प्रभारी ने उनसे एक भी दिन बात नहीं किया। गुरुवार को उन्हें पता चाला कि पुलिस ने उनके एफआईआर में एफआर लगाकर जांच बंद कर चुकी है। आरोप है कि पुलिस ने घटना की जांच ही नहीं की बिना ही जांच बंद कर दी। इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि पुलिस मामले को कितनी गंभीरता से लेकर जांच करती है। यह मोबाइल चोरी होने के एक हफ्ते पहले भी वहीं से उनका एक और मोबाइल चोरी हो गया था। उनका कहना है कि यहां पर युवकों का गैंग सक्रिय है। वह इस गैंग को पकड़वाने में पुलिस को अपना सहयोग देना चाहते थे। लेकिन पुलिस ने घटना के बाद से अब तक बात ही नहीं की।

मोबाइल चोरी और लूट की मामलों को दर्ज कर पुलिस को जांच करने की हिदायत दी गई है। यदि मामले की बिना जांच किए एफआर लगा दी गई है तो दोबारा जांच करने का आदेश दिया जाएगा। – लव कुमार, एसएसपी ने कहा ।